Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर टाइम्स
बिजौलियां (निसं)। पूज्य निर्यापक मुनिपुंगव सुधासागर जी महाराज संसघ के परम सानिध्य में श्री दिगम्बर जैन तपोदय तीर्थ क्षेत्र पर सोमवार को श्री पार्श्वनाथ जिनबिम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ का भव्य आगाज हुआ । इस अवसर पर जैन आर्मी की बेहतरीन प्रस्तुति के साथ ध्वजारोहण किया गया। जैन आर्मी द्वारा मार्च पास्ट,23 तोपों से सलामी, ध्वज वंदन, बैलून ट्रेन, ध्वज गीत का आयोजन हुआ। आकर्षक आर्मी ड्रेस के साथ सभी सदस्यों ने अनुशासन से शानदार कार्यक्रम प्रस्तुत किए। महिला मंडल की सदस्यों द्वारा मंगलाचरण का आयोजन हुआ। इस अवसर पर निर्यापक मुनिपुंगव सुधासागर जी महाराज, मुनिश्री महासागर जी महाराज, मुनिश्री निष्कंप सागर जी महाराज, क्षुल्लक श्री गंभीर सागर जी महाराज, क्षुल्लक धैर्यसागर जी महाराज का मंगल सानिध्य प्राप्त हुआ। पंचकल्याणक के कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रह्मचारी प्रदीप  भैया सुयश अशोकनगर के निर्देशन में संपन्न होंगे।
ध्वजारोहण का कार्यक्रम जैन गौरव-अभिनव चामुंडराय अशोक पाटनी परिवार द्वारा संपन्न हुआ। इस अवसर पर महाराष्ट्र से आए हुए बाढ़ पीड़ितों को जैन गौरव अशोक पाटनी परिवार द्वारा 90 मकान देने की घोषणा की गई। आज के कार्यक्रम में मेवाड़ प्रांत के सभी नगरों से साधर्मीजन उपस्थित हुए।
ध्वजारोहण के पश्चात पूज्य मुनि श्री का मंगल प्रवचन संपन्न हुआ। उसके बाद मंडप शुद्धि, मंडल शुद्धि का कार्यक्रम हुआ।
दोपहर में पात्र शुद्धि, सकलीकरण, इंद्र प्रतिष्ठा, मंगल कलश स्थापना, शांति कलश स्थापना, अखंड दीप स्थापना एवं श्री यागमंडल विधान पूजन का आयोजन होगा। इसके पश्चात सायंकाल आचार्य भक्ति, जिज्ञासा समाधान, आरती व प्रवचन के साथ गर्भ कल्याणक (पूर्व) सौधर्म इंद्र सभा, तत्व चर्चा, धनपति कुबेर द्वारा रत्नों की वृष्टि, स्वर्ग से सुंदर बनारस नगरी की रचना, माता की सेवा, सोलह स्वप्न दर्शन, गीत, नृत्य, अष्टकुमारियों द्वारा माता की सेवा, भेट समर्पण, मध्य रात्रि में गर्भ कल्याणक की आंतरिक क्रियाएं आयोजित होगी।
पंचकल्याणक महोत्सव में देश-विदेश से हजारों श्रद्धालु शिरकत करेंगे। इस   हेतु तीर्थ क्षेत्र कमेटी द्वारा उचित प्रबंधन किए गए हैं।70 बीघा क्षेत्र में आवास व्यवस्था की गई हैं। पंचकल्याणक महोत्सव में विश्व की प्रथम 225 कमल पुष्पों पर पद विहार करती हुई प्रतिमा और विश्व की प्रथम 27 फीट पद्मासन पाषाण पार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा की प्रतिष्ठा होनी हैं। 

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News