Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर टाइम्स
झुंझुनूं (निसं)। आयुर्वेदाचार्य डॉ. अनिल सोहू ने कोरोना को लेकर एक संदेश जारी किया है। जिसमें उन्होंने लिखा हैकि तीन मई के बाद क्या कोरोना खत्म हो जाएगा और हम पहले की तरह जीवन जीने लगेंगे? वायरस से होने वाली महामारी हो या साधारण बीमारी ये मानव जीवन में जड़ें जमा चुके हैं, जीवन भर इनके साथ जीने की कला सीखनी होगी। क्योंकि सरकार इस बार काबू पाने के लिए कब तक लॉक डाउन या लोगों के बाहर निकलने पर पाबंदी रखेगी। हमें स्वयं ऐसी परिस्थितियों से लडऩा होगा और ये सब तब तक संभव नहीं होगा।जब तक हम अपनी जीवनशैली में बदलाव करके अपनी इम्यूनिटी यानी रोग प्रतिरोधक क्षमता मजबूत नहीं करेंगे। इसके लिए हमें अपनी दिनचर्या, ऋतुचर्या, खान-पान में बदलाव करके वेदों में वर्णित नियमों का अपनाना पड़ेगा। रात को जल्दी सोना, सुबह ब्रह्ममुहूर्त में जगना, योग करना, पौष्टिक आहार सेवन करना, एल्युमिनियम/स्टील खाना पकाने के बर्तन के स्थान पर पीतल कांसा लोहे के बर्तन आदि में परिवर्तन करके प्राकृतिक रूप से अपनी इम्यूनिटी मजबूत करके ही ऐसी बीमारियों से खुद को बचा सकतें है। सैंकड़ों सालों पहले आयुर्वेद के ज्ञाताओं ने बीमार व्यक्ति को दवा से ठीक करने से पहले आयुर्वेद के इस सिद्धांत को प्रमुख माना था कि स्वस्थ इंसान के स्वास्थ्य की रक्षा कैसे की जाए ये ज्यादा 
महत्वपूर्ण है।

Searching Keywords:

facebock whatsapp