Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर । प्रदेश में किसानों की आत्महत्या के मामले में राजनीति थमने का नाम नहीं ले रही है। वहीं प्रदेश के गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने किसानों की आत्महत्या के मामले में बड़ा बयान दिया है। 

प्रदेश भाजपा मुख्यालय में आयोजित एक प्रेस वार्ता में गृहमंत्री गुलाबचंद कटारिया ने कहा कि वर्तमान वसुंधरा सरकार के शासनकाल में वर्ष 2015 में सिर्फ 3 किसानों ने आत्महत्या की थी, वहीं पूर्ववर्ती गहलोत सरकार के शासन काल में एक भी किसान की आत्महत्या का मामला पुलिस रिकॉर्ड में दर्ज नहीं है। 

गृहमंत्री ने यह भी कहा कि अगर कोई किसान सुसाइड नोट लिखता है, कि वह कर्जे के कारण आत्महत्या कर रहा है, तो माना जा सकता है किसी किसान ने आत्महत्या की है। नहीं, तो पुलिस जांच के आधार पर तो सिर्फ वर्ष 2015 में 3 किसानों ने ही कर्जे के कारण आत्महत्या की है।

आपको बता दे कि बीते दिनों कोटा में लहसुन का दाम नहीं मिलने पर एक किसान ने आत्महत्या कर ली थी। इसके अलावा विपक्षी दल कांग्रेस का आरोप है कि वर्तमान वसुंधरा सरकार के कार्यकाल में 80 से ज्यादा किसान आत्महत्या कर चुके है।

Searching Keywords:

whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Similar News