Updated -

mobile_app
liveTv

कोरोना से थर्राया शेयर बाजार: सेंसेक्स 870 पॉइंट गिरकर 49,160 पर बंद, निफ्टी में भी रही 230 अंकों की गिरावट; बैंकिंग और ऑटो शेयरों में भारी गिरावट
जयपुर टाइम्स
मुंबई(एजेंसी)। देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना मामलों ने सोमवार को शेयर बाजार का सेंटिमेंट बिगाड़ दिया। कई राज्यों में जगह-जगह लॉकडाउन से आर्थिक गतिविधियों पर भी असर पड़ा। इसका नतीजा यह रहा कि बाजार के प्रमुख इंडेक्स सेंसेक्स और निफ्टी1.54 तक गिरे। सुबह सेंसेक्स 9 अंकों की मामूली गिरावट के साथ 50,020 पर और निफ्टी 29 अंक नीचे 14,837.70 पर खुला था। लेकिन कारोबार बंद होने पर सेंसेक्स 870 पॉइंट गिरकर 49,159 पर आ गया। सेंसेक्स में शामिल 30 में से 25 शेयरों में गिरावट के साथ बंद हुए, जिसमें बजाज फाइनेंस और इंडसइंड बैंक के शेयरों में सबसे ज्यादा 5.6 तक गिरे। वहीं, टेक, और इंफोसिस के शेयरों में 2-2 से ज्यादा की बढ़त दर्ज की गई। कारोबार के दौरान इंडेक्स 1450 पॉइंट गिरकर दिन के सबसे निचले स्तर 48,580.80 तक भी आया। इससे पहले 26 मार्च को सेंसेक्स 49 हजार से नीचे आया था। निफ्टी भी 230 अंकों की गिरावट के साथ 14,637 पर बंद हुआ है। कारोबार के दौरान इंडेक्स 14,500 के अहम स्तर से भी नीचे आया। निवेशकों ने सबसे ज्यादा बैंकिंग और ऑटो सेक्टर के शेयर बेचे। बैंकिंग शेयरों ेमें सरकारी बैंकिंग शेयरों की सबसे ज्यादा बिकवाली हुई, जिसमें कैनरा बैंक 6त्न टूटा। इसी तरह ऑटो इंडेक्स भी 2.5त्न नीचे आ गया, जबकि इंडेक्स 511 पॉइंट यानी 2 ऊपर 26,491 पर बंद हुआ है। मोतीलाल ओसवाल फाइनेंशियल सर्विसेस टेक्निकल एंड डेरिवेटिव रिसर्च हेड चंदन तापडिय़ा के मुताबिक कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों और राज्यों में बढ़ते प्रतिबंधों के चलते बाजार नर्वस है।

 इसीलिए उतार-चढ़ाव के बीच भारी बिकवाली हुई।
रिलायंस सिक्योरिटीज में स्ट्रैटेजी हेड बिनोद मोदी के मुताबिक कोरोना के बढ़ते मामलों और प्रमुख राज्यों में लॉकडाउन से बाजार का मूड बिगड़ गया। इसमें सबसे ज्यादा दबाव बैंकिंग सेक्टर में देखने को मिला, क्योंकि कोरोना के चलते बैंकों द्वारा कर्ज वसूली में दिक्कत होगी, जिनका क्रेडिट कॉस्ट अभी सुधरना शुरु किया था।
जियोजित फाइनेंशियल सर्विसेस के रिसर्च हेड विनोद नायर के मुताबिक कोरोना की दूसरी लहर से आर्थिक रिकवरी प्रभावित हो रही है। नतीजतन ढ्ढञ्ज, मेटल और टेलीकॉम सेक्टर को छोड़ अन्य सभी सेक्टर में भारी गिरावट दर्ज की गई। इसके अलावा आने वाले दिनों में चौथी तिमाही के नतीजे और क्रक्चढ्ढ की रूक्कष्ट बैठक के फैसले आएंगे, जिससे बाजार में भारी उतार-चढ़ाव देखने को मिल रहा है।
1,899 शेयर गिरावट पर कारोबार कर रहे, मार्केट कैप 2 लाख करोड़ रुपए घटा
क्चस्श्व पर 3,141 शेयरों में कारोबार हुआ, जिसमें 1,059 शेयर बढ़त और 1,899 शेयर गिरावट के साथ बंद हुए हैं। इसमें 302 शेयरों में लोअर सर्किट लगा। एक्सचेंज पर लिस्टेड कंपनियों का कुल मार्केट कैप 205.15 लाख करोड़ रुपए हो गया है, जो 1 अप्रैल को 207.25 लाख करोड़ रुपए था।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News