Updated -

mobile_app
liveTv

मल्टीमीडिया डेस्क। गणेश महोत्सव पूरे देश में धूम-धाम से मनाया जा रहा है। इसके साथ ही अब समय आ रहा है, जब गणेश जी का विसर्जन किया जाएगा। 10 दिनों तक हमारे घरों में विराजित रहने के बाद अब उन्हें विसर्जित किया जाएगा। मगर, कई लोगों को शायद यह जानकारी नहीं होगी कि विसर्जन के लिए क्या किया जाए।

सबसे पहले तो यह जान लें कि गणेशजी की विदाई की तैयारी वैसे ही करनी चाहिए जैसे घर से किसी व्यक्ति के यात्रा पर जाने के समय तैयारी की जाती है। सबसे पहले आरती और पूजन कर विशेष प्रसाद का भोग लगाएं। 

इसके बाद श्री गणेश का स्वस्तिवाचन करें। एक स्वच्छ पाटा लेकर उस पर स्वास्तिक का चिह्न बनाकर उस पर अक्षत रखें। इस पर एक साफ वस्त्र बिछाएं। पाटे के चारों कोनों पर चार सुपारी रखें।

गणेश प्रतिमा को उनकी स्थापना वाले स्थान से जयकारा लगाते हुए उठाकर उन्हें इस पाटे पर विराजित करें। फल, फूल, वस्त्र, दक्षिणा, लड्डू, मोदक रखें। इसके एक छोटी लकड़ी पर चावल, गेहूं, पंच मेवा की पोटली और यथाशक्ति दक्षिणा रखकर उसे बांधकर नदी या तालाब के विसर्जन स्थल तक ले जाएं। 

विसर्जन से पहले गणेशजी की फिर से आरती करें। श्री गणेश से खुशी-खुशी बिदाई करें और उनसे धन, सुख, शांति, समृद्धि का आशीर्वाद मांगे। साथ ही गणेश स्थापना से लेकर विसर्जन तक यदि जाने-अनजाने में कोई गलती हुई है, तो उसके लिए क्षमा प्रार्थना भी करें।

इसके बाद गणेश प्रतिमा को पूरे आदर और सम्मान के साथ वस्त्र और समस्त सामग्री के साथ धीरे-धीरे बहाएं।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News