Updated -

mobile_app
liveTv

चौमूं । कुल शौचालय 41 थे जिनमें 6 शौचालय का बिना निर्माण किए राशि ठेकेदार को भुगतान कर दिया गया बाकी शेष 35 शौचालय आज तक भी आधे अधूरे हैं। अब देखने की बात यह है कि आधे अधूरे शौचालय बनने के बाद ठेकेदार को राशि का भुगतान कर दिया गया और शौचालय के पात्र व्यक्तियों को इनका शौचालयों का लाभ नहीं मिल पा सका और वह आज भी शौचालय से वंचित है और खुले में शौच जाने को मजबूर हो रहे हैं।  चौंमू नगरपालिका क्षेत्र में स्वच्छ भारत मिशन के तहत अधूरे शौचालयों के बावजूद संवेदक को राशि भुगतान करने के मामले में स्थानीय निकाय विभाग के उप निदेशक असलम शेर खान ने नगरपालिका को पुन: नोटिस जारी करके 3 दिन में जवाब प्रस्तुत करने के निर्देश दिए हैं। उन्होंने कहा है कि अगर 3 दिन में पालिकाध्यक्ष ने जवाब नहीं दिया तो उन्हें भ्रष्टाचार में लिप्त मान लिया जाएगा और  सख्त से सख्त कानूनी कार्रवाई की जाएगी इसकी जिम्मेदार वे स्वयं होगी। क्योंकि उपनिदेशक असलम शेर खान ने नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना कुमावत को पहले भी नोटिस जारी किया था जिसका जवाब नगर पालिका अध्यक्ष अर्चना कुमावत ने नहीं दिया था इस कारण उपनिदेशक ने नगर पालिका अध्यक्ष को दुबारा नोटिस दिया है स्थानीय निकाय विभाग के उप निर्देशक खान ने 1 अक्टूबर को नोटिस भेजकर सूचित किया था कि 41 आंशिक शौचालयों के निर्माण का भुगतान 23 दिसंबर 2016 को कर दिया गया जो अनियमितता की श्रेणी में आता है। इसका जवाब मांगा गया था लेकिन कोई जवाब नहीं दिया गया इससे इसे लेकर उपनिदेशक ने 19 दिसंबर 2018 को जारी किए गए नोटिस में इस मामले में तीन दिवस में जवाब देने के निर्देश दिए हैं साथ ही  जवाब नहीं देने पर माना जाएगा कि यह आरोप सही है इसकी शिकायत वार्ड 4 की पार्षद अन्नू यादव ने भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो कार्यालय जयपुर में की थी प्रारंभिक जांच अनुसंधान के दौरान जांच सही पाई गई थी इसके बाद भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने पालिका अध्यक्ष तत्कालीन अधिशासी अधिकारी समेत अन्य के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया इसकी जांच विचाराधीन है इसकी शिकायत अन्नू यादव ने लोकायुक्त से भी की थी जिस पर स्थानीय निकाय विभाग की वस्तुस्थिति से अवगत करवाने के निर्देश दिए गए।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Similar News