Updated -

mobile_app
liveTv

समाज का निर्माण करने में जितना योगदान पुरुषों का है, उतना ही महत्वपूर्ण स्थान महिलाओं का भी रहा है। राजनीति हो या बैकिंग, लगभग हर क्षेत्र में वह अपनी अलग पहचान बनाए हुए हैं। आज शायद ही ऐसा कोई क्षेत्र हो जिसमें महिलाओं की हिस्सेदारी ना हो।

चलिए, वुमेन डे सैलिब्रेशन के खास मौके पर आज हम आपको उन महिलाओं के बारे में बताते हैं, जिन्होंने राजनीति के सफल करियर से दुनिया में एक मिसाल कायम की।

1. भारत की पहली महिला प्रधानमंत्री- इंदिरा गांधी
भारत की प्रथम महिला प्रधानमंत्री बनने का गौरव इंदिरा गांधी को प्राप्त है। उन्होंने दो बार प्रधानमंत्री का सम्मानीय पद संभाला। प्रथम बार 24 जनवरी 1966 को और 10 वर्ष लगातार सेवा देने के बाद उन्होने 24 मार्च 1977 को पदत्याग किया। इसके बाद 14 जनवरी 1980 को फिर से प्रधानमंत्री बनी तथा 31 अक्तूबर 1984 (मृत्यु) तक इस पद पर आसीन रहीं। इसके अलावा उन्होंने विदेश मंत्री, रक्षा मंत्री, ग्रह मंत्री, वित्त मंत्री आदि पद की सेवाएं भी दी। (सभी पद प्रधानमंत्री कार्यकाल के अंतर्गत आए) उनकी बेमिसाब प्रतिभा और राजनीतिक दृढ़ता के लिए 'लौह-महिला' के नाम से संबोधित किया जाता है। . सोनिया गांधी
सोनिया गांधी, गांधी परिवार की बहू हैं जिन्होंने 1997 में कांग्रेस अध्यक्ष की कुर्सी संभाली, उस समय कांग्रेस बिखरी हुई थी। 1999 के लोकसभा चुनाव में उन्होंने कांग्रेस को एक करने का प्रयास किया हालांकि उन चुनावों में कांग्रेस को सत्ता नहीं मिली लेकिन सोनिया गांधी लोकसभा में नेता प्रतिपक्ष के तौर पर चुनी गईं, लेकिन आने वाले चुनावों के लिए सोनिया ने कांग्रेस को जोड़ा और कई राज्यों के विधानसभा चुनावों में कांग्रेस के लिए जनसमर्थन हासिल किया। 2004 और 2009 के लोकसभा चुनावों में सोनिया गांधी के नेतृत्व में कांग्रेस ने उल्लेखनीय सफलता हासिल की और केंद्र में कांग्रेस के नेतृत्व में संप्रग की सरकार बनी। सोनिया गांधी 1997 से आज तक कांग्रेस अध्यक्ष हैं। यह कांग्रेस पार्टी के 125 सालों के इतिहास में पहला मौका है, जबकि कोई इतने लंबे समय तक अध्यक्ष पद पर बना रहा।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Similar News