Updated -

mobile_app
liveTv

झुंझुनूं । झुंझुनूं जिले में मानवता को शर्मसार करने वाली एक बड़ी घटना सामने आई है। जहां जिले में बेटी बचाओं बेटी पढ़ाओं के नारे जोर-शोर से लग रहे है, वहीं नवजात बेटियों को लावारिस हालत में छोडऩे के मामले भी सामने आ रहे है। सोमवार को देर रात्रि 2 बजे तेज सर्दी में मुकुंदगढ़ कस्बे के घोड़ीवारा बालाजी मंदिर के आगे कपड़ों में लिपटी लावारिश हालत में बच्ची मिली। प्राप्त जानकारी के अनुसार उक्त बच्ची की आवाज मंदिर के चौकीदार को सुनाई दी तो उसने बाहर जाकर देखा तो कपड़ों में लिपटी लावारिश हालत मेंं बच्ची मिली। उसी समय आस-पास होटल पर कार्य करने वाले कार्मिक मौके पर इक्टठा हो गए और लोगों द्वारा मुकुंदगढ़ थाने में सूचना दी गई। मगर मौके पर पुलिस नही पहुंची तो वहीं उपस्थित लोग एम्बुलेंस की मदद से बच्ची को राजकीय बीडीके अस्पताल लेकर आए एंव बच्ची को ईलाज के लिए भर्ती करवाया। अभी बच्ची का इलाज डॉ. बीडी बाजिया के देखरेख में चल रहा है। डॉ. बाजिया ने बताया कि बच्ची पूर्णतया स्वस्थ है। नवजात बेटियों को फेंक देने व लावारिस हालत में छोडऩे के मामले पहले भी जिले में कई मामले सामने आ चुके है। लेकिन इस तरह नवजात बच्ची को लावारिस हालत में छोड़ देना क्षेत्र में चर्चा का विषय बना हुआ है कि आखिर एक मां ने कैसे इस सर्दी में अपने कलेजे के टुकड़े को लावारिस हालत में छोड़ दिया। 

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Similar News