Updated -

mobile_app
liveTv

युसेना ने दो साल पहले इन लड़ाकू विमानों को लेकर टेंडर जारी किया था
सरकार और वायुसेना के बीच कीमत को लेकर मामला अटका था
पहले यह कीमत 50 हजार करोड़ रु. थी, जिसे बाद में कम किया गया
लाइट कॉम्बेट एयरक्राफ्ट (एलसीए) तेजस लड़ाकू विमान का एडवांस वर्जन है
जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय वायुसेना अगले दो सप्ताह में हिंदुस्तान एरोनॉटिक्स लिमिटेड (एचएएल) को 45,000 करोड़ रुपए का ऑर्डर देगी। एचएएल इस राशि से वायुसेना को 83 लड़ाकू विमान बनाकर देगी। इस कदम से रक्षा उत्पादन के सेक्टर को मजबूती मिलेगी। 
सूत्र के मुताबिक इस डील की 65 प्रतिशत राशि देश में ही रहेगी। इसके उत्पादन से देश में रोजगार के नए विकल्प भी पैदा होंगे। दरअसल, वायुसेना ने दो साल पहले 83 लड़ाकू विमानों का टेंडर जारी किया था। मगर सरकार और वायुसेना के बीच इसकी कीमत को लेकर मामला अटक गया था, क्योंकि एचएएल के द्वारा बताई गई कीमत ज्यादा थी।
 

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News