Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर टाइम्स
इस्लामाबाद (एजेंसी)। वेस्टइंडीज के पूर्व कप्तान डेरेन सैमी को पाकिस्तान सरकार देश में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी के लिए मानद नागरिकता देगी। सरकार ने इसकी घोषणा की। सैमी इस वक्त पाकिस्तान सुपर लीग के पांचवें सीजन में टीम पेशावर जल्मी की कप्तानी कर रहे हैं। उन्हें मानद नागरिकता के साथ देश के सर्वोच्च नागरिक सम्मान निशान-ए-हैदर से भी 23 मार्च को सम्मानित किया जाएगा। पाकिस्तान के राष्ट्रपति आरिफ अल्वी उन्हें यह सम्मान देंगे। वे किसी देश की मानद नागरिकता हासिल करने वाले तीसरे अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर हैं। इससे पहले ऑस्ट्रेलिया के मैथ्यू हेडन और दक्षिण अफ्रीका के हर्शल गिब्स को 2007 वर्ल्ड कप के बाद सेंट किट्स सरकार ने यह सम्मान दिया था। जब से पाकिस्तान में पीएसएल की शुरुआत हुई है, तब से ही सैमी इस लीग का हिस्सा हैं। पाकिस्तान में अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट की वापसी में उनका अहम योगदान रहा है। वे साल 2017 में लाहौर में पीएसएल का फाइनल खेलने पर सहमति देने वाले इकलौते विदेशी थे। तब ज्यादातर विदेशी खिलाडि़य़ों ने सुरक्षा का हवाला देते हुए वहां खेलने से मना कर दिया था। उन्होंने लाहौर में हुए फाइनल में पेशावर जाल्मी टीम की कप्तानी की और पीएसएल का खिताब जिताया। 
पेशावर जाल्मी टीम के मालिक जावेद अफरीदी ने कहा कि हमने सैमी के देश में क्रिकेट में दिए योगदान को देखते हुए राष्ट्रपति से उन्हें पाकिस्तान की मानद नागरिकता देने का अनुरोध किया। डेरेन सैमी ने अपनी कप्तानी में वेस्टइंडीज को दो बार टी- 20 वर्ल्ड का कप खिताब दिलाया है।


 पहली बार 2012 में श्रीलंका को हराकर और दूसरी बार 2016 में इंग्लैंड को शिकस्त दी थी।  

Searching Keywords:

facebock whatsapp