Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। आपको टेक्नोलॉजी से जुड़ी पसंद है, लेकिन समय कम होने की वजह से आप इससे जुड़ी खबरें नहीं पढ़ पाते, तब हम आपके लिए टेक डिस्क्राइबर लेकर आए हैं। इस एक खबर में हम आपको इस सप्ताह अपडेट हुए ऐप्स के साथ लॉन्च होने वाली नई टेक्नोलॉजी के बारे में बताएंगे। तो चलिए जल्दी से शुरू करते हैं वीकली डिस्क्राइबर। गूगल ने इस बात को कन्फर्म कर दिया है कि अगले महीने उन पिक्सल स्मार्टफोन में एंड्रॉयड 11 का अपडेट मिलेगा, जिसमें ये सपोर्ट करता है। कंपनी का कहना है कि ये ओएस पिक्सल 2 और उसके बाद आने लॉन्च होने वाले सभी पिक्सल फोन में मिलेगा। दरअसल, एंड्रॉयड 11 की ग्लोबल लॉन्चिंग के बाद कई भारतीय यूजर्स ने इसका अपडेट नहीं मिलने पर शिकायत की थी। गूगल के इस लेटेस्ट ओएस के खास फीचर्स 1. नोटिफिकेशन हिस्ट्री: पिछले 24 घंटे के नोटिफिकेशन फिर से देख पाएंगे
2. नेटिव स्मार्ट होम कंट्रोल: घर के सभी स्मार्ट होम डिवाइस फोन से कंट्रोल होंगे
3. चैट बबल्स: सभी मैसेजिंग ऐप्स को बिना खोले रिप्लाई कर पाएंगे
4. सिक्योरिटी अपडेट: गूगल प्ले स्टोर की मदद से सिक्योरिटी फिक्स होगी
5. स्क्रीन रिकॉर्डर: फोन में स्क्रीन रिकॉर्ड करने का फीचर सभी को मिलेगी
6. वन टाइम परमिशन: ऐप को सिर्फ एक बार लोकेशन परमिशन देनी पड़ेगी
2. जूम का टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन शुरू
क्लाउड बेस्ड वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग सर्विस जूम ने यूजर्स के लिए टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन (2स्न्र) रोल आउट किया है। जूम ऑथेंटिकेशन ऐप्स टाइम-बेस्ट वन-टाइम पासवर्ड (ञ्जह्रञ्जक्क) प्रोटोकॉल जैसे गूगल ऑथेंटिकेटर, माइक्रोसॉफ्ट ऑथेंटिकेटर और फ्री ओटीपी को सपोर्ट करेगा। साथ ही, अकाउंट ऑथेंटिकेशन स्रूस् या फोन कॉल-बेस्ड कोड से होगा। इस सेटिंग को ऐसे अप्लाई करें...

अकाउंट एडमिन को जूम डैशबोर्ड में साइन-इन करने की आवश्यकता है, और नेविगेशन मेनू में सिक्योरिटी टैब के तहत टू-फैक्टर ऑथेंटिकेशन ऑप्शन के साथ साइन की जांच करें।
यहां से वे अकाउंट में सभी यूजर्स के लिए स्पेसिफिक यूजर्स या स्पेसिफिक ग्रुप से संबंधित यूजर्स के लिए 2स्न्र सक्षम करने का विकल्प चुन सकते हैं।
आखिर में उन्हें अपनी 2स्न्र सेटिंग्स की कन्फर्म करने के लिए सेव पर क्लिक करना होगा। एक बार कन्फर्म होने के बाद यूजर्स को जूम पोर्टल में साइन इन करने पर 2स्न्र सेट करना होगा।
3. गड्ढे और ब्रेकर बताने वाला नेविगेशन
भारत की हैदराबाद बेस्ड टेक कंपनी इंटेंट्स मोबी प्राइवेट लिमिटेड ने ऐसे ऐसा नेविगेशन ऐप तैयार किया है, जो आपको रास्ता दिखाने के साथ सड़क पर आने वाले गड्ढों, जलभराव, ट्रैफिक, ब्रेकर, स्पीड कैमरों जैसी कई बातों का अलर्ट देगा। इस ऐप को गूगल प्ले स्टोर से डाउनलोड किया जा सकता है। फिलहाल ये बीटा यूजर्स के लिए उपलब्ध रहेगा।

इंटेंट्स गो ने पहले ही 20 लाख किलोमीटर की दूरी तय करने का दावा किया है। अब जबकि स्काउट्स की संख्या 2 लाख हो गई है, कंपनी का दावा है कि इसका मैप किया गया डेटा रोजाना 1.5 लाख किलोमीटर बढ़ता है। इंटेंट्स गो ने यह भी कहा है कि उसने 1.85 लाख से अधिक गड्ढों और स्पीड ब्रेकर की पहचान की है, और वर्तमान में प्रतिदिन लगभग ऐसी 9,000 पहचान कर रहा है। चूंकि यह एक रियल टाइम सिस्टम है, इसलिए कंपनी यह भी जानती है कि इनमें से कितने गड्ढों की मरम्मत हो रही है और यह संख्या लगभग 4,500 प्रतिदिन है।

4. फोन कैमरा से चेक होगी हार्ट रेट
मी हेल्थ (रूद्ब ॥द्गड्डद्यह्लद्ध) ऐप को अब एक नया अपडेट मिला है जो हार्ट रेट मॉनिटरिंग को सपोर्ट करता है। अपडेट वर्जन नंबर 2.7.4 के साथ आता है। ङ्गष्ठ्र डेवलपर्स की रिपोर्ट है कि मी हेल्थ ऐप को हार्ट रेट मॉनिटरिंग सपोर्ट मिल रहा है। यह फीचर हार्ट रेट डेटा को मापने के लिए फोन कैमरा का उपयोग करेगा। ऐप के अंदर एक नया हार्ट रेट सेक्शन है और इस सेगमेंट में स्क्रीन के नीचे दाएं ओर लाल आइकॉन है। इस पर टैप करने से हार्ट रेट मॉनिटरिंग शुरू हो जाएगी।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News