Updated -

mobile_app
liveTv

जोधपुर। मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे पूरी तरह चुनाव की तैयारी में जुट गई है। उन्होंने रुठे कार्यकर्ताओं को मनाना शुरू कर दिया है। इस कड़ी में सीएम राजे ने शनिवार को अपने चार साल के कार्यकाल में पहली बार जोधपुर में भाजपा पदाधिकारियों की बैठक ली। बैठक में पदाधिकारियों ने अपनी पीड़ा सुनाई। कहा कि प्रशासनिक अफसर उनकी मानते नहीं है, मंत्री उनकी कोई सुनवाई नहीं करते। जनता हमें कोसती है। बजरी खनन पर लगी रोक को लेकर जनता हमें खरी-खोटी सुनाती है। 
इस पर मुख्यमंत्री ने सभी को आश्वस्त करते हुए उचित समाधान का भरोसा दिलाया। उन्होंने चुनावी वर्ष के मद्देनजर पार्टी पदाधिकारियों को बूथ पर जाकर काम में जुटने को कहा।मुख्यमंत्री ने यहां सर्किट हाउस में करीब सवा घंटे तक भाजपा के शहर, देहात व फलोदी जिलाध्यक्षों, जिला महामंत्री व मंडल अध्यक्षों की बैठक ली। उन्होंने कहा कि कोई गिला-शिकवा हो तो बताएं। इस पर पदाधिकारियों ने कहा कि प्रशासनिक अधिकारी उन्हें तवज्जो नहीं देते हैं। इससे जनता में गलत संदेश जा रहा है।बैठक में मौजूद अधिकतर पदाधिकारियों ने अपनों के स्थानांतरण की बात रखी। इस पर मुख्यमंत्री ने कहा कि इसके लिए वे किसी विधायक या मंत्री के पास नहीं जाएं। जिलाध्यक्ष के मार्फत प्रदेशाध्यक्ष तक पत्र पहुंचाएं। महामंत्री व मंडल अध्यक्षों ने कहा कि उनके क्षेत्र में कई बार बड़े मंत्री के आने तक की सूचना नहीं होती। इसके बाद पार्टी उलाहना देती है कि पदाधिकारियों ने तैयारियां नहीं की।पदाधिकारी बोले-बजरी के लिए जनता हमें कोस रही
पदाधिकारियों ने बजरी पर रोक के मुद्दे को लेकर कहा कि जनता उन्हें कोस रही है। सीएम ने कहा कि इस समस्या का जल्द समाधान किया जाएगा। उन्होंने विशेषतौर से पार्टी पदाधिकारियों को बूथ पर प्रवास करने को कहा। जनता को पार्टी के कामकाज से रूबरू करवाने की बात कही। बैठक के बाद पार्टी पदाधिकारियों के चेहरों पर खुशी दिखाई दी।जलदाय मंत्री गोयल मीटिंग से बाहर भेजा 
सीएम के पास जिले के शहर, देहात व फलोदी जिलाध्यक्षों की कुर्सियां लगी थीं। कुछ देर के लिए फलोदी जिलाध्यक्ष रेवतसिंह राजपुरोहित बाहर चले गए। इस दौरान जलदाय मंत्री सुरेन्द्र गोयल उनकी कुर्सी पर आकर बैठ गए। फलोदी जिलाध्यक्ष रेवतसिंह के लौटने पर सीएम ने मंत्री गोयल को बाहर जाने को कहा। उन्होंने कहा कि यह बैठक केवल संगठन की है। इसके पर गोयल बाहर चले गए।पांच घंटे तक जोधपुर रुकी सीएम
मुख्यमंत्री शनिवार को जोधपुर में करीब पांच घंटे रुकीं। वे विशेष विमान से 11 बजकर 20 मिनट पर जोधपुर एयरपोर्ट पहुंचीं। वहां से सीधे सर्किट हाउस आईं। यहां उन्हें महिला पुलिस की टुकड़ी ने गार्ड ऑफ ऑनर दिया। इसके बाद वे सीधे सर्किट हाउस के कक्ष में बैठक लेने पहुुंच गई। करीब सवा घंटे उन्होंने भाजपा पदाधिकारियों से संवाद किया। इसके बाद एक निजी समारोह में भाग लेने चली गईं। मुख्यमंत्री वहां से पुन: सर्किट हाउस पहुंची। यहां मौजूद जनप्रतिनिधियों व आमजन से मिलने के बाद उन्होंने लंच लिया और करीब शाम 4 बजकर 5 मिनट पर सर्किट हाउस से एयरपोर्ट के लिए रवाना हो गईं।

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Similar News