Updated -

mobile_app
liveTv

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। दिल्ली विधानसभा चुनाव से चार दिन पहले कांग्रेस को बड़ा झटका लगा है। कांग्रेस नेता जनार्दन द्विवेदी के बेटे समीर मंगलवार को भाजपा में शामिल हो गए। अगस्त में भाजपा सरकार ने जब जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाया था, तब जनार्दन द्विवेदी ने मोदी सरकार की तारीफ की थी। उन्होंने कहा था कि मेरे राजनीतिक गुरु राम मनोहर लोहिया जी हमेशा से इसके खिलाफ थे। समीर ने कहा, ''मैं पहली बार किसी राजनीतिक दल का हिस्सा बन रहा हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कामों को देखकर मैंने भाजपा में जाने का फैसला किया।ÓÓ बेटे के भाजपा में शामिल होने पर जनार्दन ने कहा कि मुझे इस बारे में कोई जानकारी नहीं है। अगर वह शामिल हो रहे हैं तो यह उनका अपना फैसला है। 
दिल्ली में विधानसभा चुनाव होने से पहले कांग्रेस ने अपनी तैयारियों के लिए कई समितियों का गठन किया और चुनाव प्रबंधन समिति व प्रचार समिति में पूर्व महासचिव जनार्दन द्विवेदी को बतौर सदस्य जगह दी गई। 


द्विवेदी हाल के दिनों में कई मुद्दों को लेकर पार्टी के लिए अहम साबित हुए हैं।

30 मार्च 2018 को जनार्दन को संगठन महासचिव पद से हटाया गया था। इसका लेटर भी खुद उनके हस्ताक्षर से जारी किया गया था। इसके साथ ही माना जा रहा था कि जनार्दन सक्रिय राजनीति को अलविदा कह देंगे।

भागवत के साथ मंच पर दिखाई दिए थे
दिसंबर में दिल्ली के लाल किला मैदान में गीता प्रेरणा महोत्सव में संघ प्रमुख मोहन भागवत के साथ जनार्दन ने भी मंच साझा किया था, जिसके बाद उनके कांग्रेस छोडऩे की बात तेजी से फैली थी। कयास लगाए जा रहे थे कि जनार्दन जल्द ही बड़ा फैसला ले सकते हैं। 

Searching Keywords:

facebock whatsapp

Similar News