Updated -

बादाम याददाश्त के लिए रामबाण कहा जाता है। इसमें तमाम आवश्यशक विटामिन और मिनरल्स पाए जाते हैं, जैसे- विटामिन ई, जिंक, कैल्शियम, मैग्नीशियम और ओमेगा-3 फैटी एसिड। लेकिन बादाम से ज्यादा से ज्यादा लाभ पाने के लिए जरुरी है कि उसे रात भर पानी में भिगोकर खाना चाहिए। ऐसा इसलिए करना चाहिए,क्योंकि बादाम के छिलके में टनीन होता है,जो पोषक तत्वों के अवशोषण को मुश्किल बनाता है।
पाचन बढ़ाता है, वजन घटाता है 
छह-सात घंटे तक भीगे रहने के बाद बादाम से उसका छिलका बड़ी आसानी से उतर जाता है और इस तरह उसके सभी पोषक तत्व आसानी से हासिल हो जाते हैं। भीगा हुआ बादाम आसानी से पच भी जाता है। भीगने के बाद इससे लाइपेज नामक एंजाइम निकलता है, जो कि पाचन के लिए बहुत ही फायदेमंद होता है। भीगे हुए बादाम स्वास्थ्य के लिए और भी कई तरह से फायदेमंद होते हैं। मसलन ये वजन घटाने में भी मददगार साबित होते हैं। इसमें मोनो अनसैचुरेटेड फैट होता है जो भूख को रोकता है। भीगा हुआ बादाम एंटीआॅक्सीडेंट का भी अच्छा स्रोत है। इसलिए यह उम्र बढ़ने की प्रक्रिया को रोकता है। भीगे बादाम में विटामिनफोलिक एसिड पाया जाता है,इसलिए यह कैंसर से लड़ने में भी सहायक होता है।
उच्च रक्तचाप से दूर रखता है 
उच्च रक्तचाप से भीगा बादाम न केवल बचाता है बल्कि जिन्हें यह समस्या होती है, उन्हें इससे छुटकारा दिलाता है उसे कम करता है। बादाम का सेवन करने से ब्लड में अल्फाक टोकोफेरॉल नामक तत्व की मात्रा बढ़ जाती है, जिससे रक्तचाप नियंत्रण में मदद मिलती है। नियमित रूप से बादाम खाने पर ब्लड प्रेशर नीचे आ जाता है। यह 30 से 70 वर्ष की उम्र के बीच के पुरुषों के लिए विशेष रूप से लाभ पहुंचाता है। बादाम, खाना खाने के बाद शुगर और इंसुलिन का लेवल बढ़ने से रोकता है, जिससे हम डायबिटीज से बच सकते हैं। बादाम खाने से भूख तो कम होती ही है, वजन भी घटता है साथ ही शरीर में चुस्ती भी रहती है। 30 भीगे हुए बादाम नियमित खाने से शरीर में विटामिन ई की मात्रा बढ़ती है, गुड फैट के स्तर में भी सुधार होता है,वजन नहीं बढ़ता है।
लिवर कैंसर से बचाता है 
हर दिन कम से कम 10 भीगे बादाम खाने से  लिवर कैंसर का खतरा कम होता है,क्योंकि इसमें विटामिन ई काफी मात्रा में होता है।  बादाम में बड़ी मात्रा में मौजूद यह विटामिन ई अधिक उम्र में आंखों और दिल को होने वाले नुकसान से भी बचाती है। चूंकि बादाम की तासीर गर्म होती है, इसलिए नियमित रूप से बादाम खाने का सिलसिला शुरू करने से पहले किसी स्वास्थ्य विशेषज्ञ से सलाह ले लेनी चाहिए।
अच्छे कॉलेस्ट्रॉल का दोस्त
उच्च कोलेस्ट्रोल हृदय रोग और दिल की धमनियों में रुकावट सहित कई प्रकार के रोगों का एक कारक है। भीगा बादाम इस समस्या से निपटने में हमारी मदद करता है। बादाम शरीर में अच्छे कोलेस्ट्रोल की मात्रा को बढ़ाता है तथा खराब कोलेस्ट्रोल की मात्रा को घटाता है। इस तरह यह दिल को स्वस्थ रखने में मददगार होता है। अपने बुरे कोलेस्ट्रोल को नियंत्रित करने वाले गुण के चलते भीगा बादाम दिल को स्वस्थ रखने और पूरी हृदय प्रणाली को नुकसान और आॅक्सीडेटिव स्ट्रेस से बचाने में मदद करता है।

share on whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.

Give Us Rating :