Updated -

mobile_app
liveTv

नई दिल्लीः रूसी पेट्रोलियम कंपनी रोसनेफ्ट के स्वामित्व वाली एस्सार आयल लिमिटेड ने अपनी कॉरपोरेट पहचान बदलकर नायरा एनर्जी लिमिटेड करने का फैसला किया है। कंपनी ने आज यह जानकारी दी। रोसनेफ्ट और उसके भागीदारों ने पिछले साल अगस्त में 12.9 अरब डॉलर के सौदे में एस्सार आयल का अधिग्रहण पूरा किया था, जिससे वह दुनिया के सबसे तेजी से बढ़ते ऊर्जा बाजार में उतर पाई है। कंपनी ने बयान में कहा कि एस्सार आयल ने अपनी कॉरपोरेट पहचान को बदलकर नायरा एनर्जी लिमिटेड करने के लिए मंजूरी मांगी है। एस्सार आयल के लिए नई कॉरपोरेट पहचान कंपनी को नया ब्रांड और पहचान बनाने की रणनीति के अनुरूप है। रोसनेफ्ट के पास कंपनी की 49.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है। वहीं वैश्विक ट्रेडिंग और लॉजिस्टिक्स कंपनी ट्रैफिगुरा और रूस की यूसीपी इन्वेस्टमेंट समूह के पास 49.13 प्रतिशत हिस्सेदारी है। एस्सार आयल गुजरात के वाडिनार में सालाना दो करोड़ टन की रिफाइनरी का परिचालन करती है। इसके 4,473 पेट्रोल पंप हैं। एस्सार आयल की नई मालिक कंपनी का पेट्रोल पंप नेटवर्क को 6,000 आउटलेट्स तक पहुंचाने का लक्ष्य है।       

Searching Keywords:

whatsapp

Comments

Leave a comment

Your email address will not be published.