Updated -

mobile_app
liveTv

बीएसई 127 अंक और निफ्टी 56 पॉइंट ऊपर खुला, इमामी लिमिटेड के शेयर में 16त्न का उछाल

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। सोमवार को कारोबार के पहले दिन बीएसई 127.85 अंक ऊपर और निफ्टी 56.2 पॉइंट की बढ़त के साथ खुला। इससे पहले शुक्रवार को बीएसई को बीएसई और निफ्टी बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहे थे। कारोबार के अंत में बीएसई 15.12 अंक ऊपर 38,040.57 पर और निफ्टी 13.90 पॉइंट ऊपर 11,214.05 पर बंद हुआ था। शुक्रवार को जीएमएम पीफॉडलर लिमिटेड के शेयर में 18 फीसदी उछाल के साथ बंद हुए थे।
शुक्रवार को अमेरिकी बाजारों में उतार-चढ़ाव देखने को मिला था। अमेरिकी बाजार डाउ जोंस 0.17 फीसदी की बढ़त के साथ 46.50 अंक ऊपर 27,433.50 पर बंद हुआ था। वहीं, अमेरिका के दूसरे बाजार नैस्डैक 0.87 फीसदी गिरावट के साथ 97.09 अंक नीचे 11,011.00 पर बंद हुआ था। दूसरी तरफ, एसएंडपी 0.06 फीसदी बढ़त के साथ 2.12 पॉइंट ऊपर 3,351.28 पर बंद हुआ था। इधर, चीन का शंघाई कंपोजिट 0.41 फीसदी बढ़त के साथ 13.70 अंक ऊपर 3,367.73 पर बंद हुआ था। इटली, जर्मनी और फ्रांस के बाजार भी बढ़त के साथ बंद हुए थे। देश में कोरोना संक्रमितों की संख्या 22,14,149 हो गई है।

 इनमें 6,34,941 की रिपोर्ट पॉजीटिव है। वहीं 15,34,278 संक्रमित ठीक हो गए हैं। देश में अब तक कोरोना से मरने वालों की संख्या 44,466 हो चुकी है। ये आंकड़े ष्श1द्बस्र19द्बठ्ठस्रद्बड्ड.शह्म्द्द के अनुसार हैं। दूसरी तरफ, दुनियाभर में कोरोनावायरस से संक्रमित लोगों की संख्या 20,023,522 हो चुकी है। इनमें 733,995 की मौत हो चुकी है। अमेरिका में कोरोना से मरने वालों की संख्या 165,617 हो चुकी है।

रुढ्ढष्ट बंद हो चुकीं पॉलिसी को फिर से शुरू करने का दे रहा मौका, 9 अक्टूबर तक करा सकेंगे रिवाइव

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। अगर आपकी रुढ्ढष्ट पॉलिसी किसी कारण के चलते लैप्स हो गई है तो आप इसे फिर शुरू कर सकते हैं। भारतीय जीवन बीमा निगम इसे रिवाइव करने का शानदार मौका दे रहा है। पॉलिसीहोल्डर्स को 9 अक्टूबर तक लैप्स हो चुकी पॉलिसी रिवाइव करने का मौका मिल रहा है। लेट फीस में मिलेगी 30 फीसदी तक की छूट
रुढ्ढष्ट ने कहा कि इसके तहत उन्हीं पॉलिसी को रिवाइव करने का मौका मिलेगा जो प्रीमियम भरने की तारीख से 5 साल के अंदर की होंगी। पॉलिसीहोल्डर्स को लेट फीस पर 30 फीसदी तक की छूट मिलेगी। 1 लाख तक की लेट फीस पर 20 फीसदी के छूट मिलेगी। 1 लाख रुपए से लेकर 3 लाख रुपए के बीच के लेट फीस के लिए 25 फीसदी की छूट दी जाएगी। 3 लाख रुपए से अधिक के लेट फीस पर 30 फीसदी की छूट दी जाएगी। रुढ्ढष्ट की 2019-20 में नए प्रीमियम से मिली आय 25.2 फीसदी बढ़कर अब तक के सर्वोच्च स्तर 1,77,977 करोड़ रुपए तक पहुंच गई है। हालांकि, इस दौरान कंपनी ने 2,54,222 करोड़ रुपए की पॉलिसी का भुगतान किया जो 1.31 फीसदी अधिक रहा। 

रु
ढ्ढष्ट जीवन बीमा क्षेत्र में 75.90 फीसदी और पहले साल के प्रीमियम में 68.74 फीसदी हिस्सेदारी के साथ बाजार में टॉप पर बनी हुई है।

कुल 20 लाख करो? रुपए का निवेश
रुढ्ढष्ट देश में सबसे ब?ी संस्थागत निवेशक कंपनी भी है। इसका देश में कुल निवेश 20 लाख करो? रुपए है। 2019-20 में इसका शुद्ध लाभ 2.6 लाख करो? रुपए है। जो अन्य कंपनियों से कहीं ज्यादा है।

अमेजन, फेसबुक और गूगल के लिए बड़ी मुश्किल बनेगी नॉन पर्सनल डाटा पर नई सिफारिश, कंपनियों ने की विरोध की तैयारी

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। भारत की ओर से नॉन पर्सनल डाटा को रेगुलेट करने की योजना ने अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनियों अमेजन, फेसबुक और गूगल को बड़ा झटका दिया है। इन कंपनियों का प्रतिनिधित्व करने वाला एक ग्रुप भारत के प्रस्ताव का विरोध करने की तैयारी कर रहा है। इस ग्रुप की ओर से तैयार एक ड्राफ्ट पत्र के हवाले से रॉयटर्स की एक रिपोर्ट में यह बात कही गई है।
ये है भारत की नई नीति
सरकार की ओर से गठित एक पैनल ने जुलाई में उन जानकारियों के लिए एक रेगुलेटर की स्थापना की सिफारिश की है, जो व्यक्तिगत जानकारी से अलग होती है। यह जानकारी कंपनियों को अपना व्यवसाय मजबूत करने के लिए काफी महत्वपूर्ण होती है। पैनल ने कंपनियों के साथ डाटा शेयर करने के लिए एक मैकेनिज्म बनाने का प्रस्ताव दिया है। पैनल का कहना है कि इससे डिजिटल इकोसिस्टम को प्रोत्साहन मिलेगा। रिपोर्ट के मुताबिक, यदि सरकार पैनल की सिफारिशों को मान लेती है तो ऐसे डाटा को रेगुलेट करने के लिए नए कानूनों को आधार मिलेगा।
नई नीति से निवेश प्रभावित होगा
अमेरिका के चैंबर ऑफ कॉमर्स का हिस्सा यूएस-इंडिया बिजनेस काउंसिल (यूएसआईबीसी) ने डाटा शेयरिंग प्रतिबंधों को प्रतिस्पर्धा बढ़ाने के लिए अभिशाप बताया है। काउंसिल का कहना है कि सरकार के इस प्रयास से अमेरिकी कंपनियों की ओर से किया जाने वाला निवेश प्रभावित होगा। यूएसआईबीसी और यूएस चैंबर ऑफ कॉमर्स ने प्रोपराइटरी डाटा शेयरिंग की जरूरत को आवश्यक बनाने का विरोध किया है। इस संबंध में यूएसआईबीसी ने एक पत्र तैयार किया है जिसे अगले कुछ सप्ताह में भारत के आईटी मंत्रालय को सौंपा जा सकता है। यूएसआईबीसी का कहना है कि नई सिफारिशें निवेशकों की संपत्ति जब्त करने और बौद्धिक संपदा को कमजोर करने के समान है।
इंफोसिस के संस्थापक और सरकारी पैनल के प्रमुख क्रिस गोपालाकृष्णन का कहना है कि इंडस्ट्री से मिले इनपुट का रिव्यू करने के लिए ग्रुप सरकार के साथ काम करेगा। 


पत्र को लेकर यूएसआईबीसी के प्रवक्ता ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। इलेक्ट्रॉनिक्स एंड इंफॉर्मेशन टेक्नोलॉजी मंत्रालय, अमेजन, फेसबुक और अल्फाबेट इंक की गूगल ने भी कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। सरकारी पैनल की रिपोर्ट सार्वजनिक प्रतिक्रिया के लिए 13 सितंबर को खोली जा सकती है।

नॉन पर्सनल डाटा रेगुलेटर अमेरिकी कंपनियों की राह में नई बाधा

नॉन पर्सनल डाटा को रेगुलेट करने की भारत की नई योजना अमेरिका की दिग्गज टेक कंपनियों की राह में नई बाधा बन रही है। यह कंपनियां पहले से ही ई-कॉमर्स नियमों और डाटा स्टोरेज की शर्तों को लेकर पहले से ही कई देशों में संकट का सामना कर रही हैं। डिजिटल टैक्स और टैरिफ समेत कई मुद्दों को लेकर भारत और अमेरिका में पहले से ही मतभेद बना हुआ है।

पर्सनल फाइनेंस:पोस्ट ऑफिस की सीनियर सिटीजन सेविंग्स स्कीम में निवेश करके हर महीने पा सकते हैं 9500 रुपए से ज्यादा का रिटर्न

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। कई लोग रिटायरमेंट के बाद मंथली इनकम कैसे होंगे इस बात को लेकर चिंता में रहते हैं। रिटायरमेंट के बाद लोग सुकून से अपना जीवन बिता सकें इसके लिए सरकार ने कई तरह की योजनाएं शुरू की हैं इन्ही में से एक है पोस्ट ऑफिस सीनियर सिटीजन सेविंग स्कीम। इस स्कीम के तहत आपको 7.4 फीसदी ब्याज की पेशकश की जाती है, यानी इस स्कीम में बैंक की फिक्स्ड डिपॉजिट से ज्यादा ब्याज मिलता है। इसमें निवेश करके आप मोटा मुनाफा कमा सकते हैं। हम आपको आज इस स्कीम के बारे में बता रहे हैं।
इस स्कीम के तहत 1000 रुपए से अकाउंट खोला जा सकता है जबकि इसमें अधिकतम 15 लाख रुपए निवेश किए जा हैं। खाता खुलवाने के लिए 1 लाख रुपए से अधिक जमा करने पर चेक से देना होगा।
इस स्कीम के तहत 5 साल के लिए पैसा निवेश किया जा सकता है। मैच्योरिटी के बाद इस स्कीम को 3 साल के लिए बढ़ाया जा सकता है। मेच्योरिटी पीरियड 5 साल का है लेकिन 1 साल के बाद भी प्रीमेच्योर विद्ड्रोल किया जा सकता है। 1 साल बाद प्रीमेच्योर विदड्रॉल पर जमा राशि का 1.5 फीसदी शुल्क लिया जाता है।

 2 साल बाद 1 फीसदी राशि कटती है।
अगर आप सीनियर सिटीजन स्कीम में 15 लाख रुपए 5 साल के लिए निवेश करते हैं तो सालाना 7.4 फीसदी की ब्याज दर से 5 साल बाद आपको करीब 21.69 लाख रुपए मिलेंगे। यानि आपको 6.69 लाख रुपए ब्याज के रूप में मिलेंगे।
इस स्कीम के तहत निवेश करने पर 1 अप्रैल, 2007 से इनकम टैक्स एक्ट 1961 (ढ्ढठ्ठष्शद्वद्ग ञ्जड्ड& ्रष्ह्ल, 1961) के सेक्शन 80ष्ट के अंतर्गत टैक्स छूट का लाभ मिल रहा है।

कौन कर सकता है निवेश?
60 साल या उससे अधिक आयु के बाद अकाउंट खोला जा सकता है। ङ्कक्रस् लेने वाला व्यक्ति जो 55 वर्ष से अधिक लेकिन 60 वर्ष से कम है वो भी इस अकाउंट को खोल सकता है। इस स्कीम के तहत जॉइंट खाता भी खुलवा सकते हैं। अपने खाते में किसी को नॉमिनी भी बना सकते हैं।

कैसे और कहां खोल सकते हैं अकाउंट?
देश के किसी भी पोस्ट ऑफिस में सीनियर सिटीजन स्कीम के तहत अकाउंट खुलवाया जा सकता है। इसके तहत खाता खोलना बेहद आसान है आपको बस पोस्ट ऑफिस जाकर अकाउंट खोलने का फार्म भरकर आधार कार्ड के साथ जमा करना होगा। अगर आप ङ्कक्रस् लेने के बाद अकाउंट खोलते हैं तो आपको इसका प्रूफ देना होगा।

कंपनी की पहल: जोमैटो के कर्मचारियों को सुविधा; अब सभी महिला और ट्रांसजेंडर एम्प्लॉयज को मिलेगी पीरियड लीव

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। ऑनलाइन फूड डिलिवरी कंपनी जोमैटो अब महिला और ट्रांसजेंडर कर्मचारियों को माहवारी (पीरियड) के कारण छुट्टी देने का ऐलान किया है। कंपनी में अब महिला और ट्रांसजेंडर कर्मचारियों को एक साल में दस दिन का पीरियड लीव मिलेगा। कंपनी ने इस नियम को पीरियड पॉलिसी का नाम दिया है। जोमैटो के सीईओ दीपिंदर गोयल ने शनिवार को अपने कर्मचारियों के नाम एक ईमेल भेजा है। इसमें कहा गया है कि पीरियड की अवधि की छुट्टी को किसी भी शर्म या कलंक के साथ जोड़ कर न देखें और इस दौरान कर्मचारी छुट्टी लेने के लिए पूरी तरह स्वतंत्र हैं। जोमैटो के सीईओ दीपिंदर गोयल ने बताया कि जोमैटो में हम विश्वास, सच्चाई और स्वीकृति की संस्कृति को बढावा देना चाहते हैं। आज से जोमैटो में सभी महिलाएं साथ ही ट्रांसजेंडर एम्प्लॉयज 10 दिनों की अवधि के अवकाश का लाभ उठा सकती हैं।
महिला सहकर्मी की पीरियड लीव पर शर्मिंदा न हो पुरुष कर्मचारी
गोयल ने कहा कि जोमैटो समझती है कि महिला और पुरुष अलग-अलग बायोलॉजिकल रिएलिटी के साथ पैदा होते हैं। यह जीवन का एक हिस्सा है। यह सुनिश्चित करना हमारा काम है कि हम अपनी जरूरतों के लिए जगह बनाएं। इतना ही नहीं गोयल ने अपने पुरुष कर्मचारियों के लिए लिखा कि उन्हें कतई शर्मिदा नहीं होना चाहिए जब एक महिला सहकर्मी कहती है कि वे पीरियड लीव पर है। बता दें कि इंग्लैंड के शहर ब्रिस्टल में महिलाओं को पीरियड के दौरान ऑफिस से छुट्टी दी जाती है। इंग्लैंड के इस नियम को लेकर भारत में भी काफी बहस हुई थी। अब सोशल मीडिया पर कंपनी की इस पहल की तारीफ हो रही है। कंपनी ने कहा है कि भारत में लाखों महिलाओं और लड़कियों में आज भी मासिक धर्म के बारे में जागरूकता की कमी है। इसके कारण भेदभाव और स्वास्थ्य संबंधी समस्याओं का सामना करना पड़ता है।

पीएम किसान योजना के तहत सरकार ने आपके अकाउंट में 2 हजार की किस्त भेजी है या नहीं, घर बैठे ही कर सकते हैं चेक

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। प्रधानमंत्री किसान सम्मान सम्मान निधि योजना के तहत किसानों को हर साल 3 किश्त में 6000 रुपए दिए जा रहे हैं। इस योजना के तहत लाभार्थियों को 2000 रुपए की 5 किस्त भी जारी की जा चुकी हैं। अब सरकार ने 1 अगस्त से इसके तहत छठीं किस्त भेजना शुरू कर दी है। ऐसे में अगर आप ये पता करना चाहते हैं कि आपके खाते में स्कीम के तहत 2,000 रुपए की किस्त भेजी है या नहीं, तो आप इसे ऑनलाइन ही चेक कर सकते हैं।
ऐसे कर सकते हैं चेक
सबसे पहले प्रधानमंत्री किसान योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर लॉग ऑन करें। अब दाहिनी तरफ मौजूद 'स्नड्डह्म्द्वद्गह्म्ह्य ष्टशह्म्ठ्ठद्गह्म्' पर जाएं।
यहां आपको 'क्चद्गठ्ठद्गद्घद्बष्द्बड्डह्म्4 स्ह्लड्डह्लह्वह्य' का ऑप्शन मिलेगा।
'क्चद्गठ्ठद्गद्घद्बष्द्बड्डह्म्4 स्ह्लड्डह्लह्वह्य' के ऑप्शन पर क्लिक करें।
अब आपके सामने नया पेज खुलेगा।
नए पेज पर आप आधार नंबर, बैंक अकाउंट नंबर या मोबाइल नंबर में से कोई एक विकल्प चुनना होगा।
आपने जिस विकल्प को चुना है, वह नंबर दिए गए स्थान पर डालें।
अब आपको 'त्रद्गह्ल ष्ठड्डह्लड्ड' के लिंक पर क्लिक करना है। अब आपके सामने पूरा डेटा आ जाएगा।
खाते में नहीं आए पैसे तो क्या करें
अगर आपके खाते में पैसा नहीं आया है तो आप अपने लेखपाल, कानूनगो और जिला कृषि अधिकारी से बातचीत कर सकते हैं। इसके अलावा अगर वहां पर बात न बने तो आप केंद्रीय कृषि मंत्रालय के हेल्पलाइन नंबर की मदद ले सकते हैं। आप हेल्पलाइन नंबर 155261 या टोल फ्री 1800115526 नंबर पर संपर्क कर सकते हैं। इसके अलावा आप मंत्रालय के इस नंबर (011-23381092) से भी संपर्क कर सकते हैं।
ऐसे चेक करें आपका नाम इसमें जुड़ा या नहीं
अगर आपने योजना का फायदा लेने के लिए आवेदन किया है और अब अपना नाम लाभार्थियों की सूची में देखना चाहते हैं तो सरकारी वेबसाइट श्चद्वद्मद्बह्यड्डठ्ठ.द्दश1.द्बठ्ठ पर चेक कर सकते हैं। 

ये हैं इसकी प्रोसेस

पीएम किसान सम्मान निधि योजना की लिस्ट ऑनलाइन देखने के लिए सरकारी वेबसाइट श्चद्वद्मद्बह्यड्डठ्ठ.द्दश1.द्बठ्ठ पर क्लिक करें।
वेबसाइट खुलने के बाद मेन्यू बार देखें और यहां 'फार्मर कार्नरÓ पर जाएं. 'लाभार्थी सूचीÓ के लिंक पर क्लिक करें।
अपना राज्य, जिला, उप-जिला, ब्लॉक और गांव विवरण दर्ज करें।
इसके बाद आपको त्रद्गह्ल क्रद्गश्चशह्म्ह्ल पर क्लिक करना होगा, जिसके बाद आपको जानकारी मिल जाएगी।
जिन किसानों को इस योजना का लाभ सरकार की तरफ से दिया गया है उनके भी नाम राज्य/जिलेवार/तहसील/गांव के हिसाब से देखे जा सकते हैं।
10 करोड़ से ज्यादा किसान इससे जुड़े
अब तक इस स्कीम के जरिए 10 करोड़ से ज्यादा किसानों को जोड़ा जा चुका है। अब तक किसानों के खाते में 19,350.84 करोड़ रुपये की मदद भेजी जा चुकी है। अब तक किसानों को 5 किस्?त मिली हैं।

क्या है प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना?
इस योजना के तहत छोटे और सीमांत किसानों को 2-2 हजार रुपए की तीन किस्तें साल में (कुल 6000 रुपए) दी जाती हैं। योजना के पात्र लाभार्थी कॉमन सर्विस सेंटर (सीएससी) के जरिए भी अपना रजिस्ट्रेशन करा सकते हैं। इसके अलावा स्थानीय पटवारी, राजस्व अधिकारी और योजना के लिए राज्य सरकार की ओर से नामित नोडल अधिकारी ही किसानों का रजिस्ट्रेशन कर रहे हैं।

74 अंक लुढ़ककर खुले बीएसई में अब 114 अंकों की गिरावट, निफ्टी 31 पॉइंट से ज्यादा फिसला

देश में कोरोना के मामले 20 लाख के पार, दुनिया में 1.92 करोड़ केस
अमेरिका ने टिकटॉक पर बैन लगाया, राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने साइन किए
जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। एशियाई और यूरोपीय बाजारों में गिरावट के कारण घरेलू शेयर बाजार कारोबारी सप्ताह के अंतिम दिन शुक्रवार को गिरावट के साथ खुले। बंबई स्टॉक एक्सचेंज का बीएसई 74.38 अंकों की गिरावट के साथ 37,951.07 अंकों पर खुला। वहीं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी 13.5 पॉइंट की गिरावट के साथ 11,186.65 पॉइंट पर खुला। आरबीआई की मॉनिटरी पॉलिसी कमेटी (एमपीसी) के फैसलों की बदौलत घरेलू शेयर बाजार इस कारोबारी सप्ताह में गुरुवार को पहली बार बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहे थे। बंबई स्टॉक एक्सचेंज का बीएसई 362.12 अंकों की तेजी के साथ 38,025.45 अंकों पर बंद हुआ था। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (एनएसई) का निफ्टी 98.50 पॉइंट की तेजी के साथ 11,200.15 पॉइंट पर बंद हुआ था।
एशियाई बाजारों में गिरावट का माहौल
कोरोना संक्रमण के बढ़ते मामलों के कारण एशियाई बाजार गिरावट के साथ कारोबार कर रहे हैं। सिंगापुर का एसजीएक्स निफ्टी 28 अंकों की गिरावट के साथ 11,185 अंकों पर, जापान का निक्केई 144.53 अंकों की गिरावट के साथ 22,273.62 अंकों पर, हॉन्ग कॉन्ग का हैंग सैंग 397.81 अंकों की गिरावट के साथ 24,532.77 अंकों पर कारोबार कर रहे हैं। चीन का संघाई कंपोजिट 36.22 अंकों की गिरावट के साथ 3350.24 अंकों पर कारोबार कर रहा है। यूरोप के अधिकांश बाजार भी गुरुवार को गिरावट के साथ बंद हुए थे। हालांकि, डाउ जोंस, नैस्डैक समेत प्रमुख अमेरिकी बाजार भी बढ़त के साथ बंद होने में कामयाब रहे। देश में संक्रमितों का आंकड़ा 20 लाख के पार हो गया है। अब तक 20 लाख 25 हजार 338 लोग संमित पाए जा चुके हैं। पिछले 24 घंटे में रिकॉर्ड 62 हजार 99 नए मरीज बढ़े। 


अब तक एक दिन में मिले संक्रमितों के आंकड़ों में ये सबसे ज्यादा है। इसके पहले 31 जुलाई को सबसे ज्यादा 57 हजार 486 मरीज बढ़े थे। इसी के साथ अब एक्टिव केस की संख्या भी बढ़कर 6 लाख से अधिक हो गई है। मतलब अब देश में 6 लाख 7 हजार 130 मरीज बचे हैं जिनका इलाज चल रहा है। बाकी 13 लाख 77 हजार 384 लोग ठीक हो चुके हैं। दुनिया में कोरोनावायरस संक्रमण के अब तक 1 करोड़ 92 लाख 53 हजार 712 मामले सामने आ चुके हैं। इनमें 1 करोड़ 23 लाख 55 हजार 169 मरीज ठीक हो चुके हैं। 7 लाख 17 हजार 644 की मौत हो चुकी है। ये आंकड़े 222द् के मुताबिक हैं।

टिकटॉक की भारत में फिर हो सकती है एंट्री, इस चीनी ऐप के वैश्विक कारोबार को खरीद सकती है माइक्रोसॉफ्ट

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। चीन के पॉपुलर शॉर्ट वीडियो ऐप टिकटॉक की भारत में फिर से एंट्री हो सकती है। इसका कारण यह है कि अमेरिका की दिग्गज सॉफ्टवेयर कंपनी माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक का वैश्विक कारोबार खरीदने पर विचार कर रही है। इसमें भारत और यूरोप का कारोबार भी शामिल हो सकता है। इस मामले से वाकिफ सूत्रों के हवाले से फाइनेंशियल टाइम्स की एक रिपोर्ट में यह दावा किया गया है। टिकटॉक का कारोबार खरीदने को लेकर माइक्रोसॉफ्ट की इसकी पैरेंट कंपनी बाइटडांस से बातचीत चल रही है। हालांकि, इस मामले से वाकिफ एक सूत्र के हवाले से रॉयटर्स का कहना है कि माइक्रोसॉफ्ट ने टिकटॉक का पूरा कारोबार खरीदने का प्रस्ताव नहीं दिया है। रॉयटर्स के मुताबिक, माइक्रोसॉफ्ट टिकटॉक का नॉर्थ अमेरिका, ऑस्ट्रेलिया और न्यूजीलैंड का कारोबार खरीदने को लेकर मोलभाव कर रहा है। हालांकि, अभी तक इस सौदे की कीमत का खुलासा नहीं हो पाया है। बाइटडांस के एक्जीक्यूटिव टिकटॉक की वैल्यू 50 बिलियन डॉलर से ज्यादा आंक चुके हैं। भारत के बाद अमेरिका ने भी चाइनीज ऐप टिकटॉक को बैन कर दिया है। अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प ने टिकटॉक की पैरेंट कंपनी बाइटडांस पर बैन के आदेश पर गुरुवार को साइन कर दिए। इसके मुताबिक 45 दिन बाद रोक लागू हो जाएगी।


 टिकटॉक के साथ ही चाइनीज ऐप वीचैट को भी बैन किया गया है। ट्रम्प ने कहा है कि चाइनीज ऐप राष्ट्रीय सुरक्षा, विदेश नीति और इकोनॉमी के लिए खतरा बने हुए हैं। इस वक्त खासतौर से टिकटॉक पर कार्रवाई को लेकर आदेश जारी किया गया है। टिकटॉक ऑटोमैटिकली यूजर की जानकारी हासिल कर लेता है।

15 सितंबर से पहले करने होगा सौदा

माइक्रोसॉफ्ट के सीईओ सत्या नडेला ने अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप से मिलकर टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार को खरीदने को लेकर चल रही बातचीत की जानकारी दी है। माइक्रोसॉफ्ट और बाइटडांस को टिकटॉक के अमेरिकी कारोबार को लेकर 15 सितंबर से पहले यह सौदा करना होगा। यदि दोनों कंपनियां 15 सितंबर तक कोई भी सौदा करने में नाकाम रहती हैं तो इसके बाद टिकटॉक को अमेरिका में बैन कर दिया जाएगा। हालांकि, माइक्रोसॉफ्ट की तरफ से इस बारे में साफ-साफ नहीं बताया गया है कि डील होगी तो वह यूजर के डेटा की सेफ्टी के लिए क्या करेगी? टिकटॉक के अमेरिका में करीब 30 मिलियन एक्टिव यूजर हैं। इस साल अमेरिका में टिकटॉक की जॉब ग्रोथ तीन गुना रही है। जनवरी में 500 के मुकाबले अब अमेरिका में टिकटॉक के 1400 कर्मचारी हो गए हैं।

685 रुपए की बढ़त के साथ 56191 रु/दस ग्राम के ऑलटाइम हाई पर सोना, पांच सत्रों में चांदी 12965 रुपए महंगी हुई

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। वैश्विक स्तर बने अनिश्चित आर्थिक माहौल के कारण सोना-चांदी की मांग बनी हुई है। इस कारण दोनों धातुओं की कीमतों में लगातार बढ़ोतरी हो रही है। अंतरराष्ट्रीय बाजार के साथ घरेलू बाजारों में भी सोना-चांदी की कीमतें रोज नए रिकॉर्ड बना रही हैं। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) को शुक्रवार को सोना वायदा ने एक बार फिर ऑलटाइम हाई का नया रिकॉर्ड बनाया। सुबह सोना 55506 रुपए प्रति दस ग्राम पर खुला। थोड़ी ही देर में यह 685 रुपए की बढ़त के साथ 56191 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। यह सोने का नया ऑलटाइम हाई रिकॉर्ड है। हालांकि, यह तेजी ज्यादा देर नहीं रह सकी और टूटकर फिर 56 हजार के स्तर से नीचे आ गया। सुबह करीब 10 बजे यह 95 रुपए की गिरावट के साथ 55750 रुपए प्रति 10 ग्राम पर कारोबार कर रहा है। गुरुवार को सोना 55,845 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था। यह अक्टूबर की डिलिवरी का भाव है। वैश्विक स्तर पर सुरक्षित निवेश में दिलचस्पी बढऩे के कारण चांदी वायदा की कीमतों में भी लगातार उछाल दर्ज किया जा रहा है। एमसीएक्स में शुक्रवार को चांदी में 75,063 रुपए प्रति किलो पर कारोबार शुरू हुआ। थोड़ी ही देर में यह 2886 रुपए की बढ़त के साथ 77,949 रुपए प्रति किलो तक पहुंच गया। इस बढ़त के साथ चांदी 78 हजार रुपए प्रति किलो के करीब पहुंच गई है। यह इसका नया ऑलटाइम हाई रिकॉर्ड है। गुरुवार को चांदी 76,052 रुपए प्रति किलो पर बंद हुई थी। यह सितंबर की डिलिवरी का भाव है। एमसीएक्स में बीते पांच सत्रों में सोना-चांदी की कीमतों में जबरदस्त तेजी रही है। 31 जुलाई को सोना 53,445 रुपए प्रति दस ग्राम और चांदी 64,984 रुपए प्रति किलोग्राम पर बंद हुए थे। इसके बाद के पांच सत्रों में अब तक सोना 2746 रुपए प्रति दस ग्राम और चांदी 12965 रुपए प्रति किलोग्राम तक महंगी हो चुकी है।

अंतरराष्ट्रीय बाजार में 2060 डॉलर प्रति औंस पर पहुंचा सोना

अंतरराष्ट्रीय बाजार में भारी मांग के कारण सोना 2060 डॉलर प्रति औंस पर पहुंच गया है। वहीं, चांदी 28.36 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रही है। गुरुवार को सोने ने 2070 डॉलर प्रति औंस और चांदी ने 30 डॉलर प्रति औंस के ऊपर तक कारोबार किया था। सोना-चांदी कीमतों में 2006 के बाद एक सप्ताह में यह सबसे बड़ी तेजी थी। एक औंस में करीब 28 ग्राम होते हैं।

आगे भी जारी रहेगी तेजी

कमोडिटी विश्लेषक और एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता का कहना है कि चांदी 80,000 रुपए प्रति किलो तक जा सकती है और सोने का भाव भी 60,000 रुपए प्रति 10 ग्राम तक जा सकता है। उन्होंने कहा कि कोरोना काल में निवेश के सुरक्षित साधनों के प्रति लोगों की दिलचस्पी और डॉलर में आई कमजोरी से सोने और चांदी की तेजी को सपोर्ट मिल रहा है जो आगे भी जारी रह सकती है।

भ्रामक सूचना फैलाने पर गूगल ने चीन के 2500 यूट्यूब चैनल डिलीट किए, अप्रैल से जून के बीच की कार्रवाई

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। सर्च इंजन गूगल ने चीन से जुड़े 2500 यूट्यूब चैनल्स को डिलीट कर दिया है। गूगल का कहना है कि चीन से जुड़े यह चैनल वीडियो शेयरिंग प्लेटफॉर्म यूट्यूब पर भ्रामक सूचनाएं फैलाने की कोशिशों में जुटे थे। गूगल ने कहा है कि उसने इन यूट्यूब चैनल्स को अप्रैल से जून के बीच अपने प्लेटफॉर्म से हटाया है। यह कार्रवाई चीन के लिए काम करने वाले चैनल्स की जांच का हिस्सा रही है। भ्रामक ऑपरेशन्स पर तिमाही बुलेटिन में गूगल ने कहा है कि यह यूट्यूब चैनल सामान्य तौर पर स्पैमी और नॉन-पॉलिटिकल कंटेंट पोस्ट करते थे, लेकिन इस कंटेंट का एक छोटा सा हिस्सा पॉलिटिक्स से जुड़ा होता था। गूगल ने अपने तिमाही बुलेटिन में उन यूट्यूब चैनल्स की जानकारी दी है जो ट्विटर पर भी समान भ्रामक सूचनाएं फैलाते थे। इसके अलावा कंपनी ने डिलीट किए गए अन्य चीनी यूट्यूब चैनल्स की कोई जानकारी नहीं दी है। गूगल की ताजा कार्रवाई को लेकर अमेरिका में चीनी दूतावास ने कोई प्रतिक्रिया नहीं दी है। हालांकि, इससे पहले बीजिंग भ्रामक सूचना फैलाने के आरोपों से इनकार करता रहा है। विदेशी संस्थाओं की ओर से भ्रामक सूचनाएं फैलाने का मामला 2016 के राष्ट्रपति चुनावों से अमेरिकी राजनीतिज्ञों और तकनीशियनों के लिए गंभीर मुद्दा बना हुआ है। 

तब रूस की सरकार से जुड़ी सैकड़ों संस्थाओं ने हजारों भ्रामक मैसेज सोशल मीडिया में पोस्ट किए थे।

रेटिंग एजेंसी की सोच पर जरूरत से ज्यादा ध्यान न दे सरकार, आर्थिक जरूरतों के हिसाब से फैसला ले

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। भारतीय रिजर्व बैंक के पूर्व गवर्नर रघुराम राजन ने गुरुवार को कहा कि सरकार को सॉवरेन रेटिंग एजेंसी की सोच पर जरूरत से ज्यादा ध्यान नहीं देना चाहिए। इससे वह आर्थिक जरूरतों के हिसाब से फैसला लेने में असफल रह सकती है। राजन 4 सितंबर 2013 से लेकर 4 सितंबर 2016 तक आरबीआई के गवर्नर थे। राजन ने ग्लोबल मार्केट्स फोरम में कहा कि घरेलू और विदेशी निवेशकों को यह विश्वास दिलाना भी जरूरी है कि कोरोनावायरस महामारी का संकट खत्म होते ही सरकार मीडियम टर्म में वित्तीय जवाबदेही के रास्ते पर वापस लौट आएगी। उन्होंने कहा कि सरकार को यह विश्वास दिलाने के लिए ज्यादा से ज्यादा कोशिश करनी चाहिए। आरबीआई का गवर्नर बनने से पहले राजन केंद्र सरकार के मुख्य आर्थिक सलाहकार भी थे। वायरस संक्रमण में बढ़ोतरी से आर्थिक रिकवरी की उम्मीद घटी।

भारत ने कोरोनावायरस के प्रसार को रोकने के लिए मार्च के अंत में दुनिया का सबसे सख्त लॉकडाउन लगाया था, जो दो महीने से ज्यादा समय तक चला। हालांकि जून में पाबंदियों में ढील दिए जाने के बाद से संक्रमण का फैलना जारी है। इससे आर्थिक रिकवरी की उम्मीद सीमित हो गई है।

रेटिंग घटने के डर से सरकार राहत पर ज्यादा खर्च नहीं कर रही

राजन ने कहा कि सरकार ने गरीबों और छोटे मझोले उद्यमों को मदद करने के लिए कई राहत कार्यक्रमों की घोषणा की है। लेकिन इन कार्यक्रमों में वास्तविक खर्च जीडीपी के करीब 1 फीसदी के बराबर ही हो रहा है। कई लोगों का कहना है कि रेटिंग एजेंसी द्वारा रेटिंग घटाए जाने के डर से सरकार ने यह किफायत अपनाई है।

कुछ रेटिंग एजेंसियों ने देश की रेटिंग और आउटलुक को घटाया

जून के शुरू में वैश्विक रेटिंग एजेंसी मूडीज ने देश की रेटिंग और आउटलुक को घटा दिया था। इसके बाद एक अन्य वैश्विक रेटिंग एजेंसी फिच ने भी भारत के आउटलुक को घटा दिया। राजन 2003 से 2007 तक अंतरराष्ट्र्रीय मुद्रा कोष (आईएमएफ) के 7वें मुख्य अर्थशास्त्री रहे थे।

222 रुपए महंगा होकर 55320 रु/10 ग्राम पर पहुंचा सोना, चांदी में 769 रुपए का उछाल

जयपुर टाइम्स
नईदिल्ली(एजेंसी)। कोरोना के कारण वैश्विक अर्थव्यवस्था में बने अनिश्चितता के माहौल की बदौलत सोना-चांदी में तेजी की रफ्तार बनी हुई है। मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज (एमसीएक्स) में गुरुवार को सुबह के सत्र में एक बार फिर सोना-चांदी की कीमतों में तेजी दिखाई दी। एमसीएक्स में सोना वायदा 143 रुपए की तेजी के साथ 55241 रुपए प्रति दस ग्राम पर खुला। शुरुआती कारोबार में यह 222 रुपए तक महंगा होकर 55320 रुपए प्रति दस ग्राम पर पहुंच गया। सुबह 10.07 बजे यह 176 रुपए की तेजी के साथ 55274 रुपए प्रति दस ग्राम पर कारोबार कर रहा है। सोने का यह भाव अक्टूबर डिलिवरी के लिए है। सोने की तरह चांदी की कीमतों में भी उछाल बना हुआ है। आज एमसीएक्स में चांदी 617 रुपए की तेजी के साथ 72,510 रुपए प्रति किलोग्राम खुली। सुबह के करीब 1 घंटे के कारोबार में चांदी 769 रुपए तक महंगी होकर 72,662 रुपए प्रति किलोग्राम पर पहुंची। फिलहाल यह 707 रुपए की तेजी के साथ 72,600 रुपए प्रति किलोग्राम पर कारोबार कर रही है। चांदी का यह भाव सितंबर डिलिवरी के लिए है। बुधवार को सोने ने 55597 रुपए प्रति दस ग्राम और चांदी ने 72,980 रुपए प्रति किलोग्राम का ऑलटाइम हाई रिकॉर्ड बनाया था। अंतरराष्ट्रीय बाजार में भी सोने की कीमतों में तेजी का रुख बना हुआ है। अंतरराष्ट्रीय वायदा बाजार कॉमेक्स पर सोने के अक्टूबर वायदा भाव पांच डॉलर की तेजी के साथ 2043 डॉलर प्रति औंस पर कारोबार कर रहा है। वहीं, चांदी मामूली तेजी के साथ 27 डॉलर प्रति औंस के आसपास कारोबार कर रही है। एंजेल ब्रोकिंग के डिप्टी वाइस प्रेसीडेंट अनुज गुप्ता ने कहा कि सोने और चांदी में बहरहाल फंडामेंटल्स मजबूत हैं और तेजी का रुख आगे भी बना रह सकता है।