Updated -

mobile_app
liveTv

गोविंद सिंह डोटासरा कल शोभा सर में

जालान कॉलेज में विद्यार्थियों को दी कोरोना से बचाव की जानकारी

जयपुर टाइम्स रतनगढ़(निसं.)। राजकीय जालान कॉलेज में गुरुवार को राष्ट्रीय सेवा योजना के चयनित स्वयं सेवकों को कोरोना प्रोटोकॉल की पालना करते हुए इस बीमारी से बचाव व सावधानियां संबंधी जानकारी दी गई। वरिष्ठ आयुर्वेद चिकित्साधिकारी लीलाधर शर्मा ने कोरोना से बचाव की जानकारी देते हुए कहा कि स्वस्थ जीवन के लिए दैनिक दिनचर्या एवं खानपान पर विशेष ध्यान रखना चाहिए। कार्यक्रम अधिकारी डॉ सुशील त्यागी ने विद्यार्थियों से आह्वान किया कि वे मास्क का नियमित उपयोग करें तथा सैनिटाइजर से बार-बार हाथ साफ करें। कोरोना का खतरा अभी भी देश में मंडरा रहा है, ऐसे में भीड़ वाले स्थानों पर नहीं जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि प्रकृति एवं योग को यदि हम दैनिक दिनचर्या में शामिल कर लेते हैं, तो रोग प्रतिरोधक क्षमता को बढ़ा सकते हैं। प्राचार्य कल्याणसिंह चारण ने आगंतुकों का आभार प्रकट किया। कार्यक्रम को डॉ एपी गुप्ता ने भी संबोधित किया। इसके पश्चात आनंदम विषय के अंतर्गत एमए इतिहास व राजनीति विज्ञान के विद्यार्थियों ने अपने-अपने प्रोजेक्ट कॉलेज में जमा करवाए। उक्त प्रोजेक्ट मेंटोर डॉ धीरज बाकोलिया के निर्देशन में तैयार किए गए थे।

जेईई में पीसीपी के अंशु एवं स्वप्निल के 100 परसेंटाइल अंक पीसीपी के 18 विद्यार्थियों के 99 परसेंटाइल से अधिक अंक


जयपुर टाइम्स
जयपुर(कासं.)। नेशनल टेस्टिंग एजेन्सी द्वारा घोषित जेईई-मेन -2021 रिजल्ट में पीसीपी के विद्यार्थियों ने बड़ी सफलता हासिल की है। पीसीपी के अंशु नौवाला एवं स्वप्निल शर्मा ने अलग-अलग विषयों में 100 परसेंटाइल अंक हासिल किये हैं। पीसीपी पालवास रोड कैम्पस के अंशु नौवाला ने 12वीं के साथ मैथ्मेटिक्स में 100 परसेंटाइल अंक जबकि पीसीपी पिपराली रोड कैम्पस के स्वप्निल शर्मा ने फिजिक्स में 100 परसेंटाइल अंक हासिल किये हैं। अंशु एवं स्वप्निल भविष्य में आईआईटी से बीटेक कर भारतीय प्रशासनिक सेवा में जाना चाहते हैं। पीसीपी के 18 विद्यार्थियों ने 99 परसेंटाइल से अधिक अंक हासिल किये हैं। हरिओमकांत शर्मा ने कक्षा 12वीं के साथ 99.82, अंशु राघव ने 12वीं के साथ 99.81, देवेन्द्र स्वामी ने 99.79, दिव्यांशु बंसल ने 12वीं के साथ 99.72, अरविन्द कुमार ने 99.63, प्रयास ने 98.54, विकास मीना ने 12वीं के साथ 99.53, आलोक बगडिय़ा ने 12वीं के साथ 99.52, दीपक चहल ने 99.50 परसेंटाइल अंक हासिल किये हैं। गौरतलब है कि हाल ही में घोषित केवीपीवाई, किशोर वैज्ञानिक परीक्षा में भी पीसीपी के अमित शर्मा ने सम्पूर्ण भारत में प्रथम रैंक हासिल की है साथ ही टॉप-50 विद्यार्थियों में पीसीपी के 5 विद्यार्थी शामिल हैं। इण्डियन ऑलम्पियाड़-मैथ्मेटिक्स में भी सीकर में सर्वाधिक 7 एवं इण्डियन ऑलम्पियाड़ फिजिक्स में सीकर में सर्वाधिक 9 विद्यार्थियों का पीसीपी से चयन हुआ है। इस अवसर पर आयोजित समारोह में पीसीपी निदेशक डा. पीयूष सुण्डा, प्रबंध निदेशक राजेश ढिल्लन, एकेडमिक हैड दिनेश दाधीच एवं राकेश रुहेला ने चयनित विद्यार्थियों का माल्यार्पण कर सम्मान किया गया। 

शानदार आतिशबाजी की गई एवं मिठाईयां बांटी गई।

डीयू में हो सकता है बड़ा बदलाव, मेरिट नहीं अब एंट्रेंस टेस्ट से होगा सभी कॉलेजों में दाखिला!

नई दिल्ली। अगर आप भी अपने लाडले का 12वीं के बाद दिल्ली यूनिवर्सिटी में एडमिशन कराने का प्लान बना रहे हैं तो पहले इस खबर को पढ़ लीजिए। जी हां अब डीयू में दाखिला लेने के लिए अच्छे नंबरों से 12वीं पास करना ही काफी नहीं होगा। शैक्षणिक सत्र 2019-20 से डीयू के एडमिश्न प्रोसेस में पूरी व्यवस्था बदल सकती है। यूनिवर्सिटी की तरफ से अगले साल से सभी अंडरग्रेजुएट कोर्स में प्रवेश परीक्षा के आधार पर दाखिला देने की तैयारी की जा रही है। वहीं 12वीं में मिलने वाले अंकों के लिए एक वेटेज निर्धारित कर दिया जाएगा। यानी अब अच्छे अंकों से 12वीं पास करना ही आपके लिए डीयू में एडमिशन की गारंटी नहीं होगी।
प्रवेश परीक्षा से विस्तृत जानकारी सामने नहीं आई : टाइम्स ऑफ इंडिया में प्रकाशित खबर के अनुसार डीयू के वाइस चांसलर योगेश त्यागी ने बताया यूनिवर्सिटी की दाखिला कमेटी 2019-20 की दाखिला प्रक्रिया में प्रवेश परीक्षा के सिस्टम को लागू करने के मामले पर विचार करेगी। यह कमेटी एक स्वतंत्र कमेटी है जिसके सदस्य के तौर पर शिक्षा विशेषज्ञ, कॉलेजों के प्रिंसिपल और फैकल्टी मेंबर शामिल हैं। अभी तक प्रवेश परीक्षा से जुड़ी विस्तृत जानकारी सामने नहीं आई है। आपको बता दें इस बारे में डीयू की प्रवेश समिति की तरफ से एक साल पहले भी विचार किया गया था, लेकिन इसमें अंतिम निर्णय नहीं लिया जा सका।
एनटीए को मिल सकती है प्रवेश परीक्षा की जिम्मेदारी : उस समय प्रवेश परीक्षा के आयोजन को लेकर कई तरह की समस्याएं सामने आ रही थीं। इसके अलावा दाखिला कमेटी के फैकल्टी मेंबर भी इस प्रक्रिया के विरोध में थे। समिति इस साल प्रवेश परीक्षा कराने की जिम्मेदारी नेशनल टेस्टिंग एजेंसी को आउटसोर्स करने की तैयारी कर रही है। आपको बता दें एनटीए इस साल नेट और जेईई की जिम्मेदारी भी संभाली है। पहले इन परीक्षाओं का आयोजन सीबीएसई की तरफ से कराया जाता था, लेकिन इस बार एनटीए को इसकी जिम्मेदारी दी गई। अभी कुछ विषयों को छोड़कर डीयू के ज्यादातर अंडरग्रेजुएट कोर्स में दाखिला मेरिट के आधार पर दिया जाता है। हर साल कम से कम पांच बार कट ऑफ जारी कर चयनित छात्रों की लिस्ट जारी की जाती है और इसके आधार पर छात्रों को प्रवेश दिया जाता है। साल 2009 में इकोनॉमिक्स के लिए कटऑफ 95।5 प्रतिशत पर रही थी, वहीं पिछले साल बढ़कर यह 97।75 प्रतिशत पर पहुंच गई थी।

राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने जारी किया 12वीं बोर्ड परीक्षा का टाइम टेबल

जयपुर टाइम्स
 राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने गुरूवार को वर्ष 2019 की सीनियर सैकण्डरी समकक्ष परीक्षाओं का परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिया। बोर्ड की सचिव मेघना चौधरी के अनुसार 12वीं की बोर्ड परीक्षा 7 मार्च से प्रारंभ होकर 2 अप्रैल तक चलेगी।
दिन और तारीख    विषय
7 मार्च गुरुवार     अंग्रेजी अनिवार्य
8 मार्च शुक्रवार    सूचना प्रोध्योगिकी और प्रोग्रामिंग
9 मार्च शनिवार    हिंदी अनिवार्य
11 मार्च सोमवार    राजनीति विज्ञान, लेखाशात्र, भौतिक विज्ञान
12 मार्च मंगलवार    समाजशात्र, भ-ूविज्ञान, कृषि विज्ञान
13 मार्च बुधवार    भूगौल, व्यवसाय अध्ययन
14 मार्च गुरुवार    शारीरिक शिक्षा
15 मार्च शुक्रवार    इतिहास, कृषि रसायन विज्ञान, रसायन विज्ञान
16 मार्च शनिवार    लोक प्रशासन
18 मार्च सोमवार    अंग्रेजी साहित्य
19 मार्च मंगलवार    अर्थशास्त्र, शीघ्र लीपि- हिंदी, अंग्रेजी, कृषि जीव विज्ञान, जीवविज्ञान
22 मार्च शुक्रवार    कंठ संगीत, नृत्य कथक, वाद्य संगीत
23 मार्च शनिवार    गणित, टंकण लीपि (हिंदी)
25 मार्च सोमवार    पर्यावरण विज्ञान
26 मार्च मंगलवार    हिंदी साहित्य, उर्दू साहित्य, सिंधी साहित्य, गुजराती साहित्य, पंजाबी साहित्य, राजस्थानी साहित्य, फारसी साहित्य, प्राकृत भाषा, टंकण लीपी (अंग्रेजी)
28 मार्च गुरुवार    संस्कृत साहित्य
29 मार्च शुक्रवार    गृह विज्ञान
30 मार्च शनिवार    चित्रकला
1 अप्रैल सोमवार    मनोविज्ञान
2 अप्रैल मंगलवार    दर्शन शास्त्र
जयपुर टाइम्स राजस्थान माध्यमिक शिक्षा बोर्ड ने गुरूवार को वर्ष 2019 की सीनियर सैकण्डरी समकक्ष परीक्षाओं का परीक्षा कार्यक्रम जारी कर दिया। बोर्ड की सचिव मेघना चौधरी के अनुसार 12वीं की बोर्ड परीक्षा 7 मार्च से प्रारंभ होकर 2 अप्रैल तक चलेगी।
दिन और तारीख    विषय
7 मार्च गुरुवार     अंग्रेजी अनिवार्य
8 मार्च शुक्रवार    सूचना प्रोध्योगिकी और प्रोग्रामिंग
9 मार्च शनिवार    हिंदी अनिवार्य
11 मार्च सोमवार    राजनीति विज्ञान, लेखाशात्र, भौतिक विज्ञान
12 मार्च मंगलवार    समाजशात्र, भ-ूविज्ञान, कृषि विज्ञान
13 मार्च बुधवार    भूगौल, व्यवसाय अध्ययन
14 मार्च गुरुवार    शारीरिक शिक्षा
15 मार्च शुक्रवार    इतिहास, कृषि रसायन विज्ञान, रसायन विज्ञान
16 मार्च शनिवार    लोक प्रशासन
18 मार्च सोमवार    अंग्रेजी साहित्य
19 मार्च मंगलवार    अर्थशास्त्र, शीघ्र लीपि- हिंदी, अंग्रेजी, कृषि जीव विज्ञान, जीवविज्ञान
22 मार्च शुक्रवार    कंठ संगीत, नृत्य कथक, वाद्य संगीत
23 मार्च शनिवार    गणित, टंकण लीपि (हिंदी)
25 मार्च सोमवार    पर्यावरण विज्ञान
26 मार्च मंगलवार    हिंदी साहित्य, उर्दू साहित्य, सिंधी साहित्य, गुजराती साहित्य, पंजाबी साहित्य, राजस्थानी साहित्य, फारसी साहित्य, प्राकृत भाषा, टंकण लीपी (अंग्रेजी)
28 मार्च गुरुवार    संस्कृत साहित्य
29 मार्च शुक्रवार    गृह विज्ञान
30 मार्च शनिवार    चित्रकला
1 अप्रैल सोमवार    मनोविज्ञान
2 अप्रैल मंगलवार    दर्शन शास्त्र

यूपी पुलिस में निकली बंपर भर्तियां

उत्तर प्रदेश पुलिस भर्ती एवं प्रोन्नति बोर्ड ने जेल वार्डर, फायरमैन एवं कॉन्सटेबल (हॉर्स राइडिंग पुलिस) के रिक्त पडे 5449 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए जा रहे है। इन पदों पर इच्छुक व योग्य उम्मीदवार 28 दिसंबर 2018 तक ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। 

पद का नाम व पदों की संख्या।
फायरमैन : 1679 कुल पद।
जेल वार्डर (पुरुष एवं महिला) : 3668 कुल पद।
कॉन्सटेबल (हार्स राइडिंग पुलिस) : 102 कुल पद।
पदों की संख्या : 5449 कुल पद।

शैक्षणिक योग्यता : उम्मीदवार को किसी मान्यता प्राप्त बोर्ड से 12वीं कक्षा पास होना चाहिए। अधिक जानकारी के लिए निचे दिए आधिकारिक वेबसाइट के लिंक को देखें।

आवेदन कैसे करें : उम्मीदवार पदों की जानकारी, आयु सीमा, योग्यता, नियमों और अन्य शर्तों के लिए नीचे दिए गए लिंकके माध्यम से पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

आरपीएससी में अब सदस्य का एक रिक्त पद कांग्रेस सरकार भरेगी

जयपुर टाइम्स
अजमेर (एजेंसी)। राजस्थान लोक सेवा आयोग में अब कांग्रेस की नई सरकार ही सदस्य का एक रिक्त पद भरेगी। आयोग में वर्तमान में अध्यक्ष दीपक उप्रेती समेत चार सदस्य भाजपा शासन काल के हैं और पूर्व अध्यक्ष डॉ. आरडी सैनी समेत तीन सदस्य कांग्रेस शासन काल के लगे हुए हैं। राजस्थान में नई सरकार के साथ ही अब आयोग में भी सदस्यों के पूरे पद भरने की संभावना बन गई है। वर्तमान में आयोग में कांग्रेस के शासन काल के तीन और भाजपा शासन काल के चार सदस्य मय अध्यक्ष के हैं। कांग्रेस शासन काल के सदस्यों में डॉ. आर डी सैनी, सुरजीत लाल मीणा और डॉ. के आर बगडिय़ा शामिल हैं। इधर भाजपा में अंतिम सदस्य के रूप में 23 जुलाई 2018 को अध्यक्ष के रूप में रिटायर्ड आईएएस दीपक उप्रेती को लगाया गया था। इसके पूर्व जुलाई में ही रामू राम राइका को बतौर सदस्य आयोग में लगाया गया था। आयोग में अध्यक्ष के अतिरिक्त कुल सात मेंबर होते हैं। इनमें से छह सदस्यों के पद भरे हैं, लेकिन एक पद खाली है। पूर्ववर्ती सरकार के कार्यकाल में संभावना बनी थी कि अंतिम पद भी भर दिया जाएगा लेकिन सरकार ही चली गई पद नहीं भरा जा सका। अब नई सरकार के आगमन के साथ ही आयोग में भी इस बात को लेकर चर्चा शुरू हो गई है कि अब आयोग में सदस्य का एक रिक्त पद भी भर जाएगा। आयोग के पूरे का पूरा गठन हो जाएगा। आयोग में अभी भाजपा का वर्चस्व है। अध्यक्ष समेत कुल चार सदस्य भाजपा शासन काल के हैं।  जबकि कांग्रेस के तीन सदस्य हैं। यदि नया सदस्य और आ जाता है तो आयोग में कांग्रेस के भी चार सदस्य हो जाएंगे और दोनों दलों का आंकड़ा बराबर हो सकेगा।

नीट: सुप्रीम कोर्ट ने 25 साल से ऊपर के छात्रों को दी राहत

सुप्रीम कोर्ट ने बुधवार को राष्ट्रीय परीक्षण एजेंसी को निर्देश दिए हैं कि वह नीट की डेडलाइन को एक हफ्ते के लिए बढ़ा दें ताकि छात्र फार्म भर सकें। नीट की डेडलाइन शुक्रवार को खत्म हो रही है। इसके अलावा कोर्ट ने 25 साल या उससे ऊपर के मेडिकल छात्रों को नीट अंडरग्रैजुएट परीक्षा 2019 में शामिल होने की इजाजत दे दी है। हालांकि बेंच का कहना है कि इस परीक्षा में पास होने वालों का दाखिला कोर्ट के अंतिम फैसले पर निर्भर करेगा।अलग-अलग राज्यों के 10 राज्यों के छात्रों के एक समूह ने नीट में ऊपरी उम्र सीमा तय करने के सीबीएसई के फैसले को सुप्रीम कोर्ट में चुनौती दी थी। नीट मेडिकल पढ़ाई के लिए एक ऐसी परीक्षा है जिसमें पास करने के बाद ही कोई छात्र मेडिकल कोर्स में दाखिला ले सकता है। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (सीबीएसई) नीट की परीक्षा का आयोजन करता है।

सीबीएसई ने नीट के लिए आयु की ऊपरी सीमा तय की थी। इस नियम के अनुसार सामान्य वर्ग के 25 साल से ज्यादा और आरक्षित वर्ग के 30 से ज्यादा उम्र के अभ्यर्थी अंडरग्रेजुएट मेडिकल और डेंटल कोर्सेज में दाखिले के लिए होने वाली प्रवेश परीक्षा नहीं दे सकते थे। सुप्रीम कोर्ट के गुरुवार को दिए फैसले से बहुत से छात्रों को राहत मिली है।

अपने कम्प्यूटर में इस तरह खोजें पुरानी फाइलें

मल्टीमीडिया डेस्क। अगर आपको अपने पीसी/ लैपटॉप में कोई पुरानी फाइल नहीं मिल रही, तो कुछ ऐसे आसान तरीके हैं, जिनकी मदद से आप गुम हो चुकी फाइल्स को दोबारा पा सकते हैं।

एक्सटेंशन बड़े काम का

अगर आपको फाइल नेम याद नहीं आ रहा है, तो उसके एक्सटेंशन की मदद से उसे खोज सकते हैं। उदाहरण के लिए अगर आपने फाइल को एमएस वर्ड डॉक्यूमेंट में सेव किया होगा, तो उसका एक्सटेंशन 'डॉट डॉक' या 'डॉट डॉकएक्स' होगा। वहीं, एक्सेल फाइल का एक्सटेंशन 'डॉट एक्सएलएस' होगा। वीडियो और ऑडियो फाइल का एक्सटेंशन 'डॉट एमपी4' और 'डॉट एमपी3' हो सकता है। 

आधा नाम आ सकता है काम

अगर आपको किसी फाइल का पूरा नाम याद नहीं है, तो इसका पहला लेटर भी आपके काम आ सकता है। आपको विंडोज के आइकन पर क्लिक करना होगा व स्टार्ट के सर्चबार में उस फाइल का पहला लेटर टाइप करना होगा। इस पर सिस्टम आपको उस लेटर से शुरू होने वाली सभी फाइल्स की जानकारी देगा। 

कोर्टाना की मदद लें

अगर इन तरीकों के बाद भी आपको अपनी गुम हुई फाइल नहीं मिल रही है, तो आप कोर्टाना की मदद ले सकते हैं (विंडोज 10, विंडोज फोन 8.1 आदि में)। डॉक्यूमेंट्‌स को सर्च करते वक्त अगर आप टास्क बार में कोर्टाना आइकन पर क्लिक करते हैं, तो आपको हाल ही में की गई सारी एक्टिविटीज 'पिकअप वेयर यू लेफ्ट ऑफ' सेक्शन में दिखाई देती हैं।

ओडिशा लोक सेवा आयोग में निकली रिक्त पदों पर भर्तियां

 

ओडिशा लोक सेवा आयोग (ओपीएससी) ने जिओलोजिस्ट, माइनिंग ऑफिसर सहित अन्य रिक्त पडे 35 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन आमंत्रित किए जा रहे हैं। इस पद के लिए इच्छुक व योग्य उम्मीदवार 27 अक्टूबर 2018 तक आवेदन कर सकते हैं।

पद का नाम व पदों की संख्या।
1. जिओलोजिस्ट : 30 कुल पद।
2. जिओफिजिसिस्ट : 01 कुल पद।
3. माइनिंग ऑफिसर : 04 कुल पद।

शैक्षणिक योग्यता : जिओलोजिस्ट पद के लिए उम्मीदवार को भारत में किसी भी मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय से जिओलोजी या एप्लाइड जियोलॉजी में कम से कम सेकंड क्लास के साथ एमएससी या एप्लाइड जिओलोजी में डिप्लोमा या इंडियन स्कूल ऑफ माइन्स धनबाद से एप्लाइड जिओलोजी में डिप्लोमा डिग्री, या सर्टिफिकेट कोर्स या इंडियन इंस्टीट्यूट ऑफ टेक्नोलोजी या अन्य यूनिवर्सिटी से डिग्री, डिप्लोमा या सर्टिफिकेट या समकक्ष योग्यता। अन्य पदों से सम्बंधित विस्तृत शैक्षणिक योग्यता की जानकारी के लिए अधिसूचना को देखें।

आयु सीमा : अभ्यर्थी की न्यूनतम आयु 21 से और अधिकतम 32 वर्ष होना आवश्यक है।

आवेदन कैसे करें : उम्मीदवार पदों की जानकारी, आयु सीमा, योग्यता, नियमों और अन्य शर्तों के लिए नीचे दिए गए लिंकके माध्यम से पूर्ण जानकारी प्राप्त कर सकते हैं।

सामान्य पदों पर भी आवेदन कर सकेंगे ओबीसी उम्मीदवार

नई दिल्ली : केंद्रीय विश्वविद्यालयों में कार्य कर रहे या आवेदन करने वाले ओबीसी वर्ग के उम्मीदवारों को जल्द ही बड़ा लाभ मिलने वाला है। ओबीसी उम्मीदवार अब सामान्य पदों पर भी आवेदन कर सकेंगे। कार्मिक एवं प्रशिक्षण विभाग (डीओपीटी) के उपसचिव ने केंद्र सरकार के सभी विभागों व मंत्रालयों को पत्र भेजकर यह निर्देशित कर दिया है। 

बता दें कि आरके सब्बरवाल बनाम पंजाब राज्य के बीच सुप्रीम कोर्ट में चल रहे केस में आरक्षित उम्मीदवारों को अनारक्षित पदों की भर्ती व प्रतियोगिताओं में सक्षम माने जाएंगे इसका निर्णय दिया जा चुका है, इसके बाद ही यह निर्णय लिया गया है। लेकिन प्रतियोगिता में प्राप्त अंकों को आरक्षित सदस्यों के द्वारा प्राप्त अंकों की श्रेणी में शामिल नहीं किया जाएगा।

ऑल इंडिया यूनिवर्सिटीज एंड कॉलेजिज एससी, एसटी, ओबीसी टीचर्स एसो. के नेशनल चेयरमैन और डीयू की एकेडेमिक काउंसिल के सदस्य प्रो. हंसराज सुमन ने कार्मिक मंत्रालय द्वारा जारी सर्कुलर पर कहा है कि इससे ओबीसी कोटे के उम्मीदवारों को सीधी भर्ती और प्रतियोगिताओं में दोहरा लाभ मिलेगा, अब उन्हें अपनी योग्यता को दर्शाने का मौका दिया जाएगा। वह आरक्षित व अनारक्षित दोनों ही पदों पर अपनी योग्यता दर्शा सकते हैं लेकिन वह तभी संभव है जब सामान्य श्रेणी के उम्मीदवारों के बराबर अंकों का स्तर हो। प्रो. सुमन ने बताया है कि केंद्र सरकार के उपसचिव राजू सारस्वत ने सभी मंत्रालयों और विभागों को भेजे गए पत्र में अनुरोध किया है कि इन निदेर्शों को सभी आवश्यक संस्थाओं को प्रेषित करके अधिसूचित किया जाए ताकि वो सही से लागू हो।