Updated -

mobile_app
liveTv

यूजीसी ने दी 62 उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को पूर्ण स्वायत्तता

नई दिल्ली :केंद्रीय मानव संसाधन विकास मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने आज कहा कि विश्वविद्यालय अनुदान आयोग( यूजीसी) ने पांच केंद्रीय एवं 21 राज्य विश्वविद्यालयों सहित62 उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को पूर्ण स्वायत्तता दी है। जिन संस्थाओं को पूर्ण स्वायत्तता दी गई है वे अपनी दाखिला प्रक्रिया, फीस की संरचना और पाठ्यक्रम तय करने के लिए स्वतंत्र होंगे। जावड़ेकर ने ट्वीट किया कि ,‘‘उदार नियामक व्यवस्था के प्रति प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की सोच के अनुसार उच्च मानक बनाकर रखने वाल 62 उच्च शैक्षणिक संस्थाओं को यूजीसी की ओर से आज स्वायत्तता दी गई।’’केंद्रीय मंत्री ने कहा कि पांच केंद्रीय विश्वविद्यालयों, 21 राज्य विश्वविद्यालयों, 26 निजी विश्वविद्यालयों और10 अन्य कॉलेजों को स्वायत्त कॉलेज नियमन के तहत स्वायत्तता दी गई है।  

पहले भी दे चुकी है सरकार पूर्ण स्वायत्तता 
गौरतलब है कि इससे पहले सरकार ने भारतीय प्रबंधन संस्थानों (आईआईएम) को स्वायत्तता दी गयी थी। अब उन 62 उच्च संस्थानों को अत्यधिक स्वायत्ता दी गयी है। जिन्हें नैक एक्रिडेशन में 3.26 से अधिक ग्रेड आये हैं। उन्होंने बताया कि इनमें पांच केन्द्रीय विश्वविद्यालय, 21 राज्यों के विश्वविद्यालय तथा 24 डीम्ड यूनिवर्सिटी तथा दो निजी विश्वविद्यालय शामिल हैं।   

खुद ले सकेेगें संस्थान फैसला 
उन्होंने बताया कि इन संस्थानों को अब नया कोर्स और नया विभाग शुरू करने तथा विदेशी छात्रों को दाखिला देने एवं विदेशी शिक्षकों को नियुक्त करने और ऑफ कैंपस शुरू करने एवं ऑनलाइन दूरवर्ती शिक्षा शुरु करने के लिए विश्वविद्यालय अनुदान आयोग से अनुमति लेनी नहीं पड़ेगी। उन्होंने कहा पहले इन संस्थानों को अनुमति लेने के लिए बार-बार यूजीसी के पास आना पड़ता था लेकिन अब ये संस्थान खुद निर्णय ले सकेंगे। इसके अलावा ये संस्थान विश्व के 500 विश्वस्तरीय शैक्षणिक संस्थानों से अकादमिक सहभागिता भी कर सकेंगे।  

इन विश्वविद्यालयों को मिली है पूर्ण स्वायत्तता  
जावड़ेकर ने यह भी बताया कि आठ स्वशासित कॉलेजों को भी अत्यधिक स्वायत्तता दी गयी है जो अपने पाठ्यक्रम खुद बना सकेंगे और परीक्षा स्वयं आयोजित करेंगे तथा शोधकार्य भी कर सकेंगे, लेकिन उन्हें डिग्री विश्वविद्यालय ही देगा। जिन पांच केन्द्रीय विश्वविद्यालयों को अधिक स्वायत्तता दी गयी है । उनमें जवाहरलाल नेहरु विश्वविद्यालय, हैदराबाद विश्वविद्यालय, बीएचयू और अलीगढ़ विश्वविद्यालय विदेशी एवं अंग्रेजी भाषा संस्थान (तेलंगाना) शामिल है लेकिन उनमें दिल्ली विश्वविद्यालय नहीं है। जिन दो निजी विश्वविद्यालयों को अत्यधिक स्वायत्तता दी गयी है उसमें ओ पी जिंदल यूनिवर्सिटी तथा दीनदयाल उपाध्याय पेट्रोलियम विश्वविद्यालय शामिल है।

सफल होने के लिए हमेशा ध्यान रखें ये बातें

नई दिल्ली : किसी भी काम को करते समय मन में असफलता का डर नही होना चाहिए, हमें कोई भी काम पूरी निडरता के साथ करना चाहिए तभी हम उसमें अपना शत प्रतिशत दे पाएंगे। यदि हमारे अंदर पहले से ही भय बैठ गया तो अवश्य ही हम उस काम को नही कर पाएंगे। किसी कार्य में असफलता हमें मौका देती है अपनी गलतियों को सुधारने का तो असफलता से भयभीत न हो उससे कुछ सीखने की कोशिश करें ।

जीवन में बहुत से उतार-चढ़ाव आते रहते हैं। कुछ घटनाएं आपके प्रतिकूल हो सकती हैं तो कुछ अनुकूल। इसलिए प्रतिकूल घटनाओं से विचलित नहीं होना चाहिए और हमें उन हालात को जहां तक संभव हो, अपनी ओर से बदलने की कोशिश करनी चाहिए। प्रतिकूल स्थितियां हमें जो अनुभव प्रदान करती हैं, वे ही भविष्य में हमारा हौसला बढ़ाती हैं। कुछ बातों का ध्यान रखकर आप अपने कॅरियर में सफल हो सकती हैं। 

कालेज-आफिस में निर्धारित समय से पांच मिनट पहले ही पहुंचने की करें। इससे आप हड़बड़ी से बची रहेंगी और व्यर्थ की टेंशन नहीं रहेगी। अपना सभी कार्य वक्त पर पूरा करें। किसी कार्य को पेंडिंग में न रखें।

पढ़ाई के प्रति समर्पण की भावना और अनुशासन आपके व्यक्तित्व को गरिमा प्रदान करते हैं और आपकी सफलता का मार्ग आसान बना देते हैं।
आलसीपन छोड़कर अपने कार्य को मुस्कराते हुए करें तो वह काम बोझ नहीं लगेगा और आपको आनंद प्रदान करेगा।

जब तक बहुत इमरजेंसी न हो, अपना काम स्वयं पूरा करें उसे दूसरों पर न डालें। सबसे विनम्रता से बोलें एवं अच्छा व्यवहार करें। कोई कटुता से भी पेश आए तो उसे विनम्रता से समझा दें, उसकी बात पर क्रोधित न हों।

आपके साथी को अच्छे नबंर मिले तो उसे बधाई दें। उससे जलन महसूस न करें।

अपने काम से काम रखें दूसरों के मामलों में बेवजह दखल न दें। अगर कोई आपकी राय पूछे तभी दें।

यहां निकली है ग्रैजुएट के लिए सरकारी नौकरियां, जल्द करें आवेदन

नई दिल्ली : राष्ट्रीय कृषि एवं ग्रामीण विकास बैंक ने असिस्टेंट मैनेजर के 92 पदों पर भर्ती के लिए नोटिफिकेशन जारी कर आवेदन मांगे गए है। उम्मीदवार अपनी योग्यता और इच्छा से इनके लिए अप्लाई कर सकते है। 
शैक्षिक योग्यता 
स्नातक डिग्री
पद विवरण
रिक्त पदों का नाम - असिस्टेंट मैनेजर 
आवेदन करने के लिए अंतिम तिथि 
2 अप्रैल 2018
आयु सीमा 
उम्मीदवार की आयु  21-30 साल के बीच होनी चाहिए 
चयन प्रकिया
उम्मीदवार का चयन  प्रारंभिक एवं मुख्य ऑनलाइन टेस्ट और इंटरव्यू में प्रदर्शन के अनुसार किया जाएगा। 
सैलरी 
28,150-55,600 /- रुपये 
आवेदन कैसे करें 
आवेदन करने के लिए उम्मीदवार ऑफीशियल वेबसाइट www.nabard.org. के जरिए 2 अप्रैल 2018 तक अप्लाई कर सकते है। 

CBSE ने किया मूल्यांकन प्रक्रिया में बदलाव, नहीं पड़ेगी स्क्रूटिनी की जरूरत

नई दिल्ली : सीबीएसई बोर्ड परीक्षाएं शुरु हो चुकी है। इस 10वीं क्लास की बोर्ड परीक्षाओं में कई सारे बदलाव किए गए है। इस बार सरकार ने इससे पहले अपनायी गई व्यापक एवं सतत मूल्यांकन (सीसीई) को हटा कर दोबारा से10वीं कक्षा की बोर्ड परीक्षा दोबारा से शुरू की है वहीं दूसरी तरफ सीबीएसई ने 0वीं बोर्ड की परीक्षा के साथ इसके मूल्यांकन प्रक्रिया में भी बदलाव किया है।

इस बार स्टूडेंट्स की उत्तर पुस्तिका की जांच एक नहीं बल्कि दो शिक्षकों से करवाने का फैसला लिया गया है ताकि रिजल्ट में पारदर्शिता बनी रहे । हाल में हुए सीबीएसई की एक बैठक में यह निर्णय लिया गया है। इसको लेकर जोन वाइज भी बैठक आयोजित कर तमाम स्कूलों की इसकी जानकारी दी जा रही है। अभी तक सीबीएसई की उत्तर पुस्तिका की जांच एक ही शिक्षक करते थे। लेकिन इस बार इसमें बदलाव किया गया है। 10वीं बोर्ड की परीक्षा स्कूल बेस्ड होती थी। इससे 10वीं बोर्ड की उत्तर पुस्तिका होम सेंटर पर ही जांची जाती थी। 

दो शिक्षक करेगें उत्तर पुस्तिका की जांच
मूल्यांकन केंद्र शिक्षक एक उत्तर पुस्तिका की जांच करेंगे। इसके बाद उसी उत्तर पुस्तिका को दूसरे शिक्षक जांचेंगे। इसमें हर प्रश्न की जांच के अलावा टोटलिंग देखी जायेगी। इसके बाद उस उत्तर पुस्तिका को लेकर केंद्राधीक्षक वेरिफाई करेंगे। उत्तर पुस्तिका की जांच सही हो, इसके लिए यह व्यवस्था की जायेगी। इससे सही अंक छात्रों को आ पायेगा। उत्तर पुस्तिका में गड़बड़ी नहीं होगी। - सीबी सिंह, सचिव, पाटलिपुत्र सहोदया कांप्लेक्स

सौ रुपये देने होते हैं छात्रों को प्रति प्रश्न के लिए, केवल उत्तर पुस्तिका पर छात्र कर सकते हैं दावा
सीबीएसई के इस प्रक्रिया से छात्रों को सही अंक मिल पायेगा। उत्तर पुस्तिका पर स्क्रूटिनी की जरूरत नहीं होगी। सीबीएसई ने 2017 से स्क्रूटिनी बंद कर दी है। अब केवल उत्तर पुस्तिका पर छात्र दावा कर सकते हैं। इसके लिए छात्रों को प्रति प्रश्न पांच सौ रुपये देने होते हैं। छात्र को सही अंक मिले, इसके लिए सीबीएसई ने यह व्यवस्था शुरू की है।

कुंडली में इन ग्रहों के कुप्रभाव के कारण नहीं लगता बच्चों का पढ़ाई में मन

पढ़ाई जिंदगी में बहुत अहमियत रखती है। आपकी मेहनत तो है पर करियर के मामले में जन्म कुंडली भी सहायक होती है। तो आइए जानें कुंडली क्या कहती है। जन्म कुंडली के दूसरे घर (भाव) में बुध, गुरु, शुक्र ग्रहों का बड़ा महत्व है। इस भाव में होने पर ये ग्रह विद्या बुद्धि से घनिष्ठ संबंध रखते हैं। बृहस्पति के जन्म कुंडली में शुभ स्थान में बैठने से गणित ज्योतिष, बुध से डाक्टर, शुक्र से गायन कला, मंगल से न्याय, गणित, सेना, सूर्य से वेदांत, चंद्रमा से वैद्य अथवा जलीय क्षेत्र मिलते हैं।


जन्म लग्र से अथवा चन्द्र कुंडली से पांचवें घर की राशि (अंक) का स्वामी ग्रह यदि बुध, गुरु, शुक्र के साथ कुंडली के त्रिकोण अथवा ग्यारहवें भाव में हो तो आपस में मैत्री संबंध रखते हैंं और शुभ दृष्ट होकर व्यक्ति को अति यशस्वी एवं विद्वान बनाते हैंं प्रतिकूल अवस्था में जन्म लग्र का स्वामी ग्रह दूसरे, पांचवें, दसवें घर के स्वामी ग्रह/शुभ घरों में न हों, शत्रु ग्रहों द्वारा दृष्ट हों तो शुभ फल योग होते हुए भी प्रतिकूल फल मिलता है। बुध-गुरु यदि पांचवें भाव में इकट्ठे हों या दसवें में इकट्ठे हों तो व्यक्ति अति सम्माननीय पद पाता है। मान लीजिए लग्र वृष है, दूसरे घर का स्वामी (मिथुन) बुध पांचवें घर में अपनी ही राशि (6) में गुरु के साथ बैठा हो, जातक के बाकी ग्रह शुभ स्थान में हों, तो जातक राजा तुल्य होगा। यदि कर्क लग्र की कुंडली में सूर्य, मंगल, बुध दसवें ग्रह भाव (1) में स्थित हों, चन्द्रमा द्वितीय में (5) आ गया हो तो एेसा जातक प्रतिष्ठित वकील-जज बन सकता है।

 

अच्छे परिणाम के लिए 
70 सैं.मी. सफेद कपड़ा, चावल 70 ग्राम, सफेद पुष्प 7, सफेद तिल 70 ग्राम, जनेऊ  के जोड़े 7, कोई भी धार्मिक 7 पुस्तकें अथवा 7 दुर्गा चालीसा, सफेद चंदन के छोटे-छोटे 7 टुकड़े, एक सरस्वती यंत्र, यंत्र के नीचे बच्चे का नाम लिख कर इन  सभी वस्तुओं को बृहस्पतिवार के दिन बच्चे के हाथ लगवा कर उसे सफेद कपड़े में बांध कर ‘ऊँ श्रीं हीं क्लीं नम:’ की एक माला करके सारे सामान की पोटली को किसी भी देवी-देवता के चित्र अथवा सरस्वती मां के चित्र के पीछे घर में किसी सुरक्षित स्थान में रख दें। बच्चा पढ़ाई में रुचि लेने लगेगा और उत्तीर्ण होगा। बच्चा उत्तीर्ण हो जाए तो सामान को मंदिर में दक्षिणा के साथ दान कर दें अथवा जलप्रवाह कर दें। अलग-अलग बच्चों के लिए यह उपाय अलग-अलग करें।

इस बैंक में होनी है भर्तियां, एेसे करें अप्लाई

नई दिल्ली। बैंक ऑफ महाराष्ट्र ने रिस्क ऑफिसर, चीफ फाइनेंसियल एवं टेक्नोलॉजी ऑफिसर के 5 पदों पर भर्ती के लिए आवेदन मांगे गए है। उम्मीदवार अपनी योग्यता और इच्छा से इनके लिए अप्लाई कर सकते है।


पद विवरण
चीफ रिस्क ऑफिसर
मार्केट रिस्क ऑफिसर
चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर
चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर


शैक्षिक योग्यता
स्नातक डिग्री + मास्टर डिग्री / स्नातक डिग्री (इलेक्ट्रॉनिक्स / आई.टी. इंजीनियरिंग / आई.टी. सिस्टम्स इंजीनियरिंग) / एमसीए / एमबीए (फाइनेंस) / सीए / आईसीडब्ल्यूए + 3-20 साल का एक्सपीरियंस


आवेदन फीस जमा करने की अंतिम तिथि
17 मार्च 2018

आयु सीमा
उम्मीदवार की आयु 45-55 साल के बीच होनी चाहिए

चयन प्रकिया
उम्मीदवार का चयन शॉर्टलिस्टिंग, ग्रुप डिस्कशन और इंटरव्यू में प्रदर्शन के अनुसार किया जाएगा।


चीफ रिस्क ऑफिसर - 76,520-2,120/4-85,000 /- रुपये
मार्केट रिस्क ऑफिसर - 42,020-1,310/5-48,570-1,460/2-51,490 / 50,030-1,460/4-55,870-1,650/3-60,820 /- रुपये
चीफ फाइनेंसियल ऑफिसर - 76,520-2,120/4-85,000 /- रुपये
चीफ टेक्नोलॉजी ऑफिसर - 76,520-2,120/4-85,000 /- रुपये

इस विभाग में निकली है 100 से ज्यादा सरकारी नौकरियां, जल्द करें आवेदन

यूजीसी नेट के लिए 6 मार्च से भरे जाएंगे ऑनलाइन आवेदन

जयपुर। यूजीसी नेट यूनिवर्सिटी ग्रांट कमीशन राष्ट्रीय पात्रता परीक्षा के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया 6 मार्च से शुरू हाेगी। परीक्षा (यूजीसी नेट) का आयोजन आगामी 8 जुलाई को होगा। 

सहायक प्रोफेसर आैर जूनियर रिसर्च फैलोशिप (जेआरएफ) की पात्रता के लिए सीबीएसई द्वारा आयोजित यूजीसी नेट के लिए ऑनलाइन आवेदन मंगलवार 6 मार्च से भरे जा सकेंगे। इसकी अंतिम तिथि 5 अप्रैल है। 

सीबीएसई के सूत्रों के मुताबिक यूजीसी नेट की फीस 6 अप्रैल तक जमा करवाई जा सकती है। फीस सिंडिकेट, कैनरा या फिर आईसीआईसीआई बैंकों की विभिन्न शाखाओं में चालान द्वारा जमा कराई जा सकती है। डेबिट व क्रेडिट कार्ड के माध्यम से भी ऑनलाइन फीस जमा करवा सकते हैं। पर्टिकुलर्स में करेक्शन 25 अप्रैल से 1 मई के बीच करवाए जा सकते हैं। 

सेना भर्ती रैली का आयोजन 4 मार्च से, इन क्षेत्रों के युवा ले सकेंगे हिस्सा

अंबाला । सेना भर्ती कार्यालय, अंबाला कैंट के तत्वावधान में महर्षि मार्कण्डेश्वर विश्वविद्यालय, मुलाना, अंबाला में 4 से 13 अप्रैल, 2018 तक सैनिक जनरल ड्यूटी तथा सैनिक क्लर्क/स्टोरकीपर टेक्निकल पदों के लिए भर्ती रैली का आयोजन किया जाएगा।

सेना के प्रवक्ता ने आज यह जानकारी देते हुए बताया कि इस रैली में हरियाणा के अंबाला, यमुनानगर, पंचकूला, कैथल, करनाल, कुरुक्षेत्र जिलों और केन्द्र शासित प्रदेश चंडीगढ़ के उम्मीदवार हिस्सा ले सकेंगे। इस भर्ती के लिए ऑनलाइन पंजीकरण किया जा रहा है। उम्मीदवार सेना की भर्ती साइट पर जाकर भर्ती से संबंधित शैक्षणिक योग्यता तथा शारीरिक मापदंड की जानकारी ले सकते हैं। उन्होंने बताया कि भर्ती के लिए ऑनलाइन आवेदन 9 फरवरी से 25 मार्च, 2018 तक खुला रहेगा। इच्छुक उम्मीदवार www.joinindianarmy.nic.in पर आवेदन कर सकते हैं।

उन्होंने बताया कि उम्मीदवार अपना एडमिट कार्ड अपनी आइडी से 27 मार्च, 2018 से डाउनलोड कर सकते हैं। उम्मीदवारों को जिला व तहसील वाइज 4 से 13 अप्रैल,2018 के बीच बुलाया जाएगा। सेवारत सैनिक, पूर्व सैनिक, सैन्य एवं युद्ध विधवाओं के पुत्र, एनसीसी और खिलाड़ी उम्मीदवारों का चयन भी उनके जिलों में दी गई तिथि को ही किया जाएगा। उन्होंने बताया कि इस भर्ती रैली में केवल ऑनलाइन रजिस्टर्ड उम्मीदवार ही हिस्सा ले सकते हैं। उम्मीदवारों को अपनी आईडी से अपना प्रवेश पत्र डाउनलोड करना होगा, जिस पर बार कोड स्पष्ट रूप से अंकित होना चाहिए।
उन्होंने बताया कि सैनिक जनरल ड्यूटी के लिए उम्मीदवार की आयु साढ़े 17 से 21 वर्ष (जन्म पहली अक्तूबर,1997 से पहली अप्रैल 2001 के बीच) व कद 170 सेंटीमीटर, वजन 50 किलोग्राम और सीना 77/82 सेंटीमीटर होना चाहिए। मैट्रिक में कुल योग का कम से कम 45 अंक तथा प्रत्येक विषय में 33 प्रतिशत अंक होने चाहिए। 10+2 या उच्चतर शिक्षा के लिए प्रत्येक विषय के प्रतिशत की कोई शर्त नहीं है। सैनिक जनरल ड्यूटी (गोरखा) के लिए उम्मीदवार ने 10वीं कक्षा उत्तीर्ण की हो और उसकी आयु साढ़े 17 से 21 वर्ष (जन्म पहली अक्तूबर,1997 से पहली अप्रैल 2001 के बीच) व कद 157 सेंटीमीटर, वजन 48 किलोग्राम और सीना 77/82 सेंटीमीटर होना चाहिए। गोरखा उम्मीदवारों के लिए जाति प्रमाणपत्र केवल एसडीएम, तहसीलदार या नायब तहसीलदार द्वारा तथा उपजाति प्रमाणपत्र भारतीय गोरखा एसोसिएशन द्वारा हस्ताक्षरित होना चाहिए। सैनिक लिपिक/स्टोर कीपर तकनीकी के लिए उम्मीदवार की आयु सीमा साढ़े 17 से 23 वर्ष (जन्म पहली अक्तूबर,1995 से पहली अप्रैल 2001 के बीच), कद 162 सेंटीमीटर, वजन 50 किलोग्राम व सीना 77/82 सेंटीमीटर होना चाहिए। उम्मीदवार ने 12 वीं या इंटमीडिएट परीक्षा (कला, कॉमर्स और विज्ञान) माध्यम से उत्तीर्ण की हो। 12वीं कक्षा में कुल 60 प्रतिशत और प्रत्येक विषय में कम से कम 50 प्रतिशतअंक हों। उम्मीदवार ने 12वीं कक्षा में अंग्रेजी और गणित/लेखाशास्त्र/बुक कीपिंग विषय पढ़े हों और इन विषयों में प्रत्येक में कम से कम 50 प्रतिशत अंक हासिल किए हों।

यूट्यूब पर वीडियो देख कर सकेंगे जेईई-नीट के लिए ऑनलाइन तैयारी

कोटा। जेईई मेन्स और नीट की तारीखों का एलान हो गया है। तारीख तय होने के बाद एनआईटी त्रिची इन एग्जाम के लिए स्टूडेंट्स को तैयारी कराएगा। वीडियो ट्यूटाेरियल के माध्यम से स्टूडेंट्स को ऑनलाइन पढ़ाया जाएगा। वीडियो ट्यूटाेरियल की फिल्म्स यूट्यूब पर भी अपलोड की जाएंगी। 

इसी प्रकार कैंपस में होने वाली कोचिंग को भी वीडियो के माध्यम से स्टूडेंट्स तक पहुंचाया गया। इसकी शुरुआत हो चुकी है। एनआईटी त्रिची के ही इग्निटी क्लब ने इसका प्रारूप तैयार किया है। पिछले साल एनआईटी की ओर से सलेक्ट किए गए 20 स्टूडेंट्स को नीट के लिए तैयार किया था। इसमें से 13 स्टूडेंट्स ने नीट क्वालीफाई कर लिया। 

दरअसल, नीट और जेईई में केमेस्ट्री और फिजिक्स का सिलेबस एक जैसा ही होता है। नीट में मैथ्स की जगह बॉयोलाजी आती है। इस कारण एक एक्सपर्ट अलग से लिया जाता है। संस्थान की मंशा है आर्थिक हालात के कारण कोई भी स्टूडेंट्स अच्छे संस्थान से वंचित नहीं रहे। इस कारण यह पहल की गई है। अभी कक्षा 11 को इससे जोड़ा गया है। इसके बाद इसका विस्तार करते हुए 12वीं व बाद में 11वीं व 12वीं के लेक्चर्स को अपलोड कर दिया जाएगा।

MBBS और BDS में एडमिशन के लिए आयोजित होने वाली राष्ट्रीय पात्रता एवं प्रवेश परीक्षा (NEET-2018) छह मई (रविवार) को आयोजित की जाएगी। केंद्रीय माध्यमिक शिक्षा बोर्ड (CBSE) ने अधिसूचना जारी कर इसकी जानकारी दी है
 

छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में कई पदों पर वैकेंसी, ऐसे करें आवेदन

नई दिल्ली। छत्तीसगढ़ लोक सेवा आयोग में कई पदों पर वैकेंसी निकली है। छत्तीसगढ लोक सेवा आयोग ने विभिन्न श्रेणी में 31 पदों के लिए आवेदन मंगवाए हैं। आपको बता दें कि यह आवेदन ऑनलाइन किया जाएगा। आवेदन की अंतिम तिथि 12 फरवरी है। इसमें स्टोरकीपर, सहायक और स्टेनो टाइपिस्ट सहित कई पद हैं। आरक्षण का लाभ केवल छत्तीसगढ़ के मूल निवासियों को मिलेगा।
पद का नाम और संख्या
- स्टोरकीपर, पद: 01
- ग्रंथपाल, पद: 01
- शॉर्टहैंड राइटर (शीघ्र लेखक),ग्रेड-3, पद: 02
- स्टेनो टाइपिस्ट, पद: 03
- सहायक ग्रेड-3, पद: 15
- वाहन चालक, पद: 01
- भृत्य, पद: 05
- डाक रनर, पद: 02
- फर्राश, पद: 01

योग्यता: किसी मान्यता प्राप्त मंडल से 12वीं पास से लेकर, मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय/ डीम्ड / मुक्त विश्वविद्यालय से स्टोर कीपिंग में प्रथम श्रेणी में उपाधि हो।