Updated -

mobile_app
liveTv

समुद्र के झाग की तरह जल्द बिखर जाएगी चार देशों की चौकड़ी : चीन

बीजिंग। चीन ने गुरुवार को कहा कि उसे साधने के लिए अमेरिका, भारत, जापान और आस्टे्रलिया के बीच समझौते से बनी चौकड़ी ‘समुद्र में उठते झाग की तरह जल्द ही बिखर’ जाएगी। भारत और आस्ट्रेलिया ने चतुष्कोणीय सुरक्षा उपक्रम में शामिल होने की उत्सुकता दिखाई है। यह सुझाव 2007 में जापान ने दिया था। प्रशांत व हिंद महासागरीय क्षेत्र में चीन के बढ़ते प्रभाव को कम करने के लिए बने इसे चतुष्कोणीय गुट से चीन घबराया हुआ है। चीन के विदेशमंत्री वांग यी ने कहा, ‘‘ऐसा लगता है कि सुर्खियों में रहने के खयालात में कोई कमी नहीं है लेकिन ये खयालात प्रशांत और हिंद महासागरों में समुद्री लहरों के झाग की तरह हैं, जिन पर ध्यान तो जाएगा लेकिन वे जल्द ही बिखर जाएंगे।’’

वांग चीन और उसके अरबों डॉलर की लागत वाली बेल्ट व रोड परियोजना का प्रतिरोध करने के मकसद से गुट के अस्तित्व में आने के सवालों का जवाब दे रहे थे। बताया जा रहा है कि चारों देश मिलकर बेल्ट व रोड परियोजना के विकल्प के तौर पर संयुक्त क्षेत्रीय ढांचागत स्कीम तैयार करने पर एक दूसरे से बातचीत कर रहे हैं। हालांकि कुछ शैक्षणिक जगत के लोगों व मीडिया संस्थानों ने दावा किया गया है कि हिंद-प्रशांत रणनीति का मकसद चीन को साधना है, लेकिन चारों देशों का आधिकारिक रुख इसके विपरीत है, जिसके मुताबिक किसी को साधने का उनका लक्ष्य नहीं है। वांग ने कहा, ‘‘हमें आशा है कि वे जो कहते हैं उसी के अनुरूप उनका अभिप्राय भी होगा और उनकी कथनी व करनी में समता होगी।’’
 

अमेरिका के स्कूल में फिर गोलीबारी, 1 छात्र की मौत

वाशिंगटन। अमेरिका के अलाबामा राज्य के एक हाई स्कूल में बुधवार को दो छात्रों को गोली मार दी गई, जिसमें से एक छात्र की मौत हो गई। इस घटना को दुर्घटना बताया जा रहा है। सीबीएस के संबद्ध डब्ल्यूआईएटी-टीवी के मुताबिक, इनमें से एक छात्र ने रास्ते में ही दम तोड़ दिया, जबकि दूसरे की हालत स्थिर है। 

समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक,‘‘हफमैन हाई सकूल में हुई इस गोलीबारी में दो छात्र शामिल थे।’’ बयान के मुताबिक, ‘‘फिलहाल, स्कूल को बंद कर दिया गया है और घटनास्थल पर पुलिस पहुंच गई है। पुलिस मामले की गहनता से जांच कर रही है।’’ बर्मिघम पुलिस सार्जेंट ब्रायन शेलटन ने डब्ल्यूआईएटी को बताया कि जांचकर्ताओं को विश्वास है गोली दुर्घटना से चली। 

राज्य पीसीपीएनडीटी दल की उत्तरप्रदेश में 11वीं बड़ी डिकाय कार्रवाई

जयपुर। अंतर्राष्ट्रीय महिला दिवस के अवसर पर राज्य पीसीपीएनडीटी प्रकोष्ठ ने उत्तरप्रदेश में 11वीं, इस कैलेंडर वर्ष की 12वीं एवं अब तक की 108वीं डिकाय कार्रवाई करते हुये यूपी के ग्रेटर नोएडा में बिररख रोड – हल्दोनी, जीबी नगर स्थित कुमार डायनोस्टिक के रजिस्टर्ड मुन्नीदेवी अल्ट्रासाउंड सेंटर पर डिकाय आपरेशन करते हुये भ्रूण लिंग जांच में लिप्त शेरपुर, तिजारा-अलवर निवासी दलाल 33 वर्षीय सुषमा एवं एक अन्य दलाल 55 वर्षीय बाबूलाल को गिरफ्तार कर सोनोग्राफी मशीन जब्त कर ली है। उल्लेखनीय है कि दल की यह अब तक की 31वीं इंटरस्टेट सहित 108वीं डिकाय कार्रवाई है।
अध्यक्ष, राज्य समुचित प्राधिकारी पीसीपीएनडीटी एवं मिशन निदेशक एनएचएम नवीन जैन ने बताया कि मुखबिर के माध्यम से दौसा एवं अलवर जिले की गर्भवती महिलाओं का भ्रूण लिंग जांच करने सूचना प्राप्त हो रही थी। सूचना की पुष्टि के बाद डिकाय दल तैयार किया गया। उन्होंने बताया कि ढबहेडा, तिजारा-अलवर निवासी झोलाछाप चिकित्सक नूरदीन ने भ्रूण लिंग जांच कराने की बात कही। नूरदीन दूसरे कार्य का बहाना बनाकर तिजारा ही रह गया। उसने दलाल सुषमा के माध्यम से डिकाय गर्भवती महिला को दौसा के गांधी तिराह बसस्टैंड बुलाया। वहां से दलाल सुषमा खुद की गाडी से दिल्ली के रास्ते ग्रेटर नोएडा ले गयी। वहां डिकाय महिला को कुमार डायग्नोस्टिक लैब के रजिस्टर्ड सोनोग्राफी सेंटर मुन्नी देवी अल्ट्रासाउंड पर ले गयी। इस कार्य में गाडी ड्राईवर बाबूलाल भी दलाल के रूप में पूरे प्रकरण में लिप्त था। जैन ने बताया कि मुन्नीदेवी अल्ट्रासाउंड पर सोनोलाजिस्ट द्वारा डिकाय गर्भवती महिला की सोनोग्राफी कर भ्रूण लिंग जांच की करवायी। कुछ देर बाद दलाल सुषमा ने भ्रूण लिंग की जानकारी दी। डिकाय गर्भवती महिला का इशारा पाकर टीम ने दलाल सुषमा एवं अन्य दवाल बाबूलाल को दबोच लिया और डिकाय राशि के हू-बू-हू नम्बरी नोट बरामद किये। उन्होंने बताया कि कार्यवाही के दौरान हुयी भीड़भाड़ का फायदा उठाकर सोनोलाजिस्ट चिकित्सक भागने में सफल रहा। दलाल नूरदीन एवं सोनोलाजिस्ट को पकड़ने की कार्यवाही की जा रही है। जांच में पता चला कि दलाल सुषमा तिजारा में खुद की लैब संचालित करती है।

अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक रघुवीर के नेतृत्व में हुई इस डिकाय कार्रवाई में सीआई अरुण चौधरी, हरिनारायण शर्मा, है.कानि. डालचन्द, कांस्टेबल देवेन्द्रसिंह, लालूराम, जिला पीसीपीएनडीटी समन्वयक दौसा मुनेन्द्र, जयपुर की बबीता चौधरी शामिल थे।
 

अमेरिका में तूफान ने दी दस्तक, 2,600 से अधिक उड़ाने प्रभावित

न्यूयॉर्क। अमेरिका के पूर्वी तट पर एक सप्ताह से भी कम समय में दूसरी बार बुधवार को तूफान ने दस्तक दी, जिस वजह से 2,600 से अधिक उड़ान सेवाएं प्रभावित हुईं। एनबीसीन्यूज डॉट कॉम के मुताबिक, तूफान के दौरान क्षेत्र में बिजली कडक़ने की आवाजें सुनाई देती रही। फिलाडेल्फिया से न्यूयॉर्क सिटी तक बिजली आपूर्ति ठप होने से लगभग पाचं करोड़ लोग प्रभावित हुए।
रिपोर्ट के मुताबिक, न्यूजर्सी के माध्यमिक स्कूल की एक शिक्षिका बिजली गिरने की घटना का शिकार हुई लेकिन सकुशल बच गई। सीबीएसन्यूज डॉट कॉम के मुताबिक, अधिकारियों ने लोगों से घर में ही रहने का आग्रह किया है। राष्ट्रीय मौसम सेवा ने गुरुवार सुबह तूफान की चेतावनी जारी की है। मौसम विभाग का कहना है कि पेंसिल्वेनिया, न्यूजर्सी और न्यूयॉर्क सिटी में एक फीट या उससे ज्यादा बर्फबारी हो सकती है। मीडिया रिपोर्टों के मुताबिक, न्यूयॉर्क सिटी में आठ से 12 इंच तक बर्फबारी हो सकती है। बॉस्टन, फिलाडेल्फिया, न्यूयॉर्क, नेवार्क और न्यूजर्सी हवाईअड्डों पर 2,600 से अधिक उड़ान सेवों रद्द कर दी गई है।

रूस का विमान सीरिया में दुर्घटनाग्रस्त, चालक दल सहित 32 की मौत

मास्को। रूस का एक यात्री विमान मंगलवार को सीरिया में हवाई अड्डे पर उतरने का प्रयास करने के दौरान दुर्घटनाग्रस्त हो गया जिससे उसमें सवार सभी 32 लोगों की मौत हो गई। यह जानकारी रक्षा मंत्रालय ने दी। समाचार एजेंसी एफे के अनुसार विमान पश्चिमी सीरिया में ह्मीमिम हवाई अड्डे पर उतरने का प्रयास कर रहा था। मंत्रालय ने जोर देकर कहा कि इस पर हमला नहीं हुआ है।
विमान में 26 यात्री और चालक दल के छह सदस्य सवार थे। मंत्रालय ने एक बयान जारी करते हुए कहा कि प्राथमिक जांच में अनुमान लगाया जा रहा है कि दुर्घटना के पीछे यांत्रिक गड़बड़ी हो सकती है। दुर्घटना के कारणों का पता लगाने के लिए जांच शुरू हो गई है।

अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगाए

वाशिंगटन। अमेरिका ने किम जोंग उन के सौतेले भाई किम जोंग नैम की हत्या में रासायनिक हथियार का इस्तेमाल करने के लिए उत्तर कोरिया पर नए प्रतिबंध लगा दिए हैं।  किम जोंग नैम की फरवरी 2017 को हत्या कर दी गई थी। समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, ये नए प्रतिबंध 13 फरवरी 2017 को मलेशिया की राजधानी कुआलालंपुर के हवाईअड्डे पर हुई किम जोंग नैम की हत्या की जांच खत्म होने के बाद लगाए गए हैं।

 इस जांच में पता चला कि किम जोंग नैम की हत्या वीएक्स नाम के एक घातक रसायन से की गई थी। इसके बाद अमेरिका ने उत्तर कोरिया पर केमिकल एंड बायोलॉजिकल वेपन्स कंट्रोल एंड वारफेयर एलिमिनेशन एक्ट 1991 के तहत प्रतिबंध लगा दिए। अमेरिकी विदेश विभाग के मुताबिक, ये नए प्रतिबंध सोमवार से प्रभावी हो गए हैं।

यह ऐलान उसी दिन हुआ, जब किम जोंग उन ने कहा था कि वह कोरियाई प्रायद्वीप के परमाणु निरस्त्रीकरण को लेकर अमेरिका के साथ चर्चा करने के लिए तैयार हैं, जिसका राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने स्वागत किया था कि और उम्मीद जताई थी कि इससे सकारात्मक परिणाण होंगे।

उत्तर और दक्षिण कोरिया के बीच अंतर कोरियाई सम्मेलन पर सहमति बनी

सियोल। उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया के बीच अंतर कोरियाई सम्मेलन आयोजित करने को लेकर एक समझौते पर सहमति बनी है। उत्तर कोरियाई नेता और सियोल के उच्चस्तरीय राजूदतों के बीच प्योंगयांग में हुई बैठक के दौरान एक संतोषजनक समझौते पर सहमति बनी। उत्तर कोरिया के सरकारी मीडिया के मुताबिक, दक्षिण कोरिया के प्रतिनिधियों ने देश के राष्ट्रपति मून जे इन का एक पत्र किम जोंग उन को दिया, जिसमें मून ने सम्मेलन आयोजित करने की इच्छा व्यक्त की। किम और दक्षिण कोरिया के राजदूतों ने कोरियाई प्रायद्वीप में सैन्य तनावों को कम करने और वार्ता एवं सहयोग को बढ़ावा देने के लिए अपने विचारों का आदान-प्रदान किया।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, किम जोंग उन ने सियोल के प्रतिनिधिमंडल के साथ गंभीर वार्ता की और दोनों देशों के बीच के संबंधों को बढ़ाने और राष्ट्रीय पुनएर्कीकरण का नया इतिहास लिखने की अपनी दृढ़ इच्छाशक्ति साझा की। गौरतलब है कि फरवरी की शुरुआत में किम जोंग उन की बहन किम यो जोंग ने शीतकालीन ओलम्पिक के मौके पर दक्षिण कोरिया का ऐतिहासिक दौरा किया था और मून को उत्तर कोरिया आने का न्यौता दिया था। दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून ने इस निमंत्रण का स्वागत किया था।

ट्रंप के जेरूसलम में अमेरिकी दूतावास के उद्घाटन पर जाने की उम्मीद

वाशिंगटन। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने सोमवार को कहा कि वह मई महीने में जेरूसलम में अमेरिका दूतावास के नए दूतावास के आधिकारिक उद्घाटन के मौके पर जा सकते हैं। ट्रंप ने व्हाइट हाउस में इजरायल के प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू के साथ बैठक के दौरान कहा, ‘‘हम इस पर विचार कर रहे हैं। यदि मैं चाहूंगा तो जरूर जाऊंगा।’’ ट्रंप ने हालांकि अभी यह स्पष्ट नहीं किया है कि क्या वह मई में जेरूसलम का दौरा करेंगे या उससे पहले। ट्रंप ने कहा कि जेरूसलम में नए दूतावास का बहुत जल्द निर्माण कार्य पूरा हो जाएगा।

ट्रंप ने कहा, ‘‘उन्होंने पिछले सप्ताह मेरे डेस्क पर अरबों डॉलर का एक ऑर्डर रख दिया था। मैंने कहा एक अरब? किसलिए? उन्होंने कहा, हम दूतावास बनाने जा रहे हैं। मैंने कहा कि हम इसके लिए एक अरब डॉलर खर्च नहीं करेंगे। हम वास्तव में लगभग 250,000 डॉलर में इसे बना रहे हैं।’’ट्रंप ने भविष्य में इजरायल और फिलीस्तीन के लोगों के बीच शांति लाने के प्रयासों के सफल होने की उम्मीद जताई। हालांकि, जेरूसलम को ईरान की राजधानी के रूप में मान्यता देने और अपने दूतावास को तेल अवीव से हटाकर जेरूसलम ले जाने के फैसले से फिलीस्तीन पचा नहीं पा रहा है।

चीन ने किया अपने रक्षा बजट का ऐलान, भारत से तीन गुना होगा ज्यादा

बीजिंग। चीन साल 2018 में अपना रक्षा बजट 8.1 फीसदी बढ़ाने जा रहा है। राष्ट्रीय विधायिका में सोमवार को पेश की गई बजट रिपोर्ट के मुताबिक, बजट में यह इजाफा पिछले साल के मुकाबले सात फीसदी अधिक है। समाचार एजेंसी सिन्हुआ के मुताबिक, सोमवार से शुरू हो रहे 13वीं नेशनल पीपुल्स कांग्रेस के पहले सत्र के समक्ष पेश होने से पहले मीडिया में उपलब्ध इस रिपोर्ट में कहा गया है कि देश का 2018 का रक्षा बजट 1110 करोड़ युआन (175 अरब डॉलर) होगा। यह भारत के रक्षा बजट से तीन गुना ज्यादा है। 

दुनियाभर में रक्षा बजट पर सबसे ज्यादा खर्च अमेरिका करता है। इसके बाद चीन का नंबर आता है। अमेरिका का रक्षा बजट 602.8 अरब डॉलर है। चीन का रक्षा बजट अमेरिका के मुकाबले चार गुना कम है। भारत सरकार ने इस बार यानी 2018-19 में रक्षा बजट के लिए 2.95 लाख करोड़ रुपए आवंटित किए हैं जो पिछले साल के 2.74 लाख करोड़ रुपए की तुलना में 7.81 फीसदी ज्यादा है। 

13वीं एनपीसी की पहली वार्षिक बैठक के प्रवक्ता झांग येसुई ने रविवार को संवाददाता सम्मेलन में कहा कि कई प्रमुख देशों की तुलना में चीन के रक्षा बजट में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) और राष्ट्रीय राजकोषीय व्यय से छोटा सा हिस्सा लिया गया है। झांग ने कहा कि देश का प्रति व्यक्ति सैन्य खर्च अन्य प्रमुख देशों की तुलना में कम है।

जेम्स आइवरी बने ऑस्कर जीतने वाले सबसे उम्रदराज शख्स

लॉस एंजेलिस। दिवंगत भारतीय अभिनेता शशि कपूर के साथ काम कर चुके फिल्मकार जेम्स आइवरी फिल्म कॉल मी बाई योर नेम के लिए अपनी रुपांतरित पटकथा का ऑस्कर जीतकर 89 साल की उम्र में यह पुरस्कार जीतने वाले सबसे उम्रदराज शख्स बन गए हैं। समलैंगिक रोमांटिक फिल्म का निर्देशन लुका गुआडाग्निनो ने किया है और यह फिल्म आंद्रे एसिमन की लिखी किताब कॉल मी बाई योर नेम पर आधारित है।

आइवरी इससे पहले अ रूम विद अ व्यू (1986), हॉवड्र्स एंड (1992) और द रिमेंस ऑफ द डे (1993) के लिए निर्देशन में नामांकित हो चुके हैं। आइवरी ने पुरस्कार ग्रहण करते समय मर्चेट आइवरी प्रोडक्शन के दिवंगत साझीदारों इस्माइल मर्चेट और रुथ प्रावर झाबवाला का शुक्रिया अदा करने के साथ ही एसिमन का भी आभार जताया। उन्होंने कहा, मैं अपने जीवन के सहयोगियों, जो गुजर चुके हैं, उनकी प्रेरणादायक मदद के बिना यहां खड़ा नहीं होता। आइवरी ने एकेडमी के सदस्यों का भी आभार जताया।

कृष्णा कुमारी ने पाकिस्तान में रचा इतिहास, बनीं पहली महिंदू महिला सीनेटर

कराची। पाकिस्तान में सिंध प्रांत के थार की रहने वाली कृष्णा कुमारी कोलही ने इतिहास रच दिया है। कोहली पाकिस्तान में सीनेटर चुनी जाने वाली पहली हिंदू-दलित महिला बन गई है। सत्तारूढ़ पाकिस्तान पीपुल्स पार्टी की तरफ से पाकिस्तान के सिंध प्रांत में थार से कृष्णा कुमारी मुस्लिम देश में पहली महिला सीनेटर बनीं। बिलावल भुट्टो जरदारी की पार्टी पीपीपी ने अल्पसंख्यक के लिए सीनेट की एक सीट की एक सीट पर उन्हें नामाकंन किया था। 
कृष्णा अपने भाई के साथ एक सामाजिक कार्यकर्ता के रूप में पीपीपी से जुड़ी थीं। बाद में उनके भाई को यूनियन काउंसिल बेरानो का चेयरमैन चुना गया। कृष्णा ने कहा था कि उनके पास नामांकन पत्र दाखिल करने के लिए सभी आवश्यक दस्तावेज हैं।
39 साल कृष्णा कुमारी कोलही मुस्लिम बहुल पाकिस्तान के सिंध प्रांत के थार की रहने वाली है। कृष्णा का जन्म 1979 में सिंध के नगरपारकर जिले के एक दूरदराज गांव में हुआ था। कृष्णा का संबंध स्वतंत्रता सेनानी रूपलो कोलही के परिवार से है। ब्रिटिश उपनिवेशों की सेना ने 1857 में जब सिंध पर हमला किया था, तब उसके खिलाफ रूपलो ने भी युद्ध में हिस्सा लिया था।  कृष्णा जब 16 साल की थीं, तभी उनका विवाह लालचंद से हुआ। उस समय वह नौवीं कक्षा में पढ़ रही थीं। हालांकि शादी के बाद भी उन्होंने शिक्षा जारी रखी और 2013 में सिंध यूनिवर्सिटी से समाजशास्त्र में मास्टर डिग्री हासिल की।