Updated -

mobile_app
liveTv

अलीगढ़ में दूसरे दिन भी बिगड़े हालात

जयपुर टाइम्स
अलीगढ़ (एजेंसी)। नागरिकता कानून और राष्ट्रीय नागरिक रजिस्टर के खिलाफ अलीगढ़ में लगातार चल रहे प्रदर्शन के कारण अब भी माहौल तनावपूर्ण बना हुआ है। सोमवार सुबह से ही इलाके में बाजारें बंद हैं, लेकिन पूरे शहर में दहशत के हालात हैं। अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय के पास पुरानी चुंगी में बड़ी संख्या में लोग सांकेतिक विरोध कर रहे हैं। 
वहीं शाहजमाल इलाके में महिलाओं का विरोध प्रदर्शन जारी है। रविवार को पुरानी चुंगी में करीब एक हजार और जमालपुर में डेढ़ हजार प्रदर्शनकारी धरना दे रहे थे, जिन्हें देर रात करीब तीन बजे पुलिस ने बल प्रयोग कर हटाया। इसके बाद अबतक पुलिस और प्रदर्शकारियों की ओर से 5-5 मुकदमे दर्ज कराए जा चुके हैं। सोमवार को दिल्ली में पथराव की खबर के बाद से ही अलीगढ़ के प्रदर्शनकारियों में आक्रोश भड़का हुआ है। दोपहर तीन बजे के करीब जाफराबाद और मौजपुर में पथराव की सूचना सोशल मीडिया पर वायरल हुई। इस पर स्थानीय लोगों को गुस्सा और बढ़ गया। अलीगढ़ के ऊपरकोट, बाबरी मंडी, शाहजमाल और चरखवालान में सीएए के खिलाफ प्रदर्शन हिंसक हो गया। लोगों ने पुलिस पर पथराव, फायरिंग और आगजनी की।
 वहीं, ऊपरकोट कोतवाली इंस्पेक्टर की कार पर पथराव कर दिया, जिसमें वह बाल बाल बच गए। इसके बाद पुलिस ने लाठीचार्ज किया और आंसू गैस के गोले छोड़े। 

इस बीच, एक प्रदर्शनकारी को गोली लग गई, जिसे जिला अस्पताल में भर्ती कराया गया है। घायल की पहचान हार्डवेयर कारोबारी तारिक के रूप में हुई है। वहीं, सोशल मीडिया पर अफवाह रोकने के लिए 24 घंटे के लिए इंटरनेट को बंद कर दिया गया है। 

सुन्नी वक्फ बोर्ड ने मस्जिद के लिए आवंटित 5 एकड़ जमीन स्वीकार की; अस्पताल, लाइब्रेरी और इंडो-इस्लामिक सेंटर भी बनेगा

जयपुर टाइम्स
लखनऊ (एजेंसी)। उत्तर प्रदेश सुन्नी सेंट्रल वक्फ बोर्ड ने अयोध्या में मस्जिद निर्माण के लिए दी गई जमीन को स्वीकार कर लिया है। बुधवार को लखनऊ में हुई बोर्ड की बैठक में फैसला हुआ कि मस्जिद निर्माण के लिए ट्रस्ट का गठन किया जाएगा। हालांकि, ट्रस्ट का नाम और उसके सदस्यों की संख्या का ऐलान नहीं किया गया। अयोध्या के धन्नीपुर गांव में मिली इस जमीन पर मस्जिद के साथ अस्पताल और पब्लिक लाइब्रेरी भी बनाई जाएगी।   बोर्ड के अध्यक्ष जुफर अहमद फारुकी ने कहा- जल्द ही एक ट्रस्ट बनेगा। ट्रस्ट मस्जिद निर्माण के साथ एक ऐसा केंद्र बनाएगा, जो कई सदियों की इंडो-इस्लामिक सभ्यता को प्रदर्शित करेगा। यहां भारतीय और इस्लामिक सभ्यता के अनुसंधान और अध्ययन के लिए एक केंद्र की स्थापना भी की जाएगी। इसके अलावा एक चैरिटेबल अस्पताल, पब्लिक लाइब्रेरी और समाज के हर वर्ग के लिए सुविधाओं की व्यवस्था की जाएगी। बोर्ड के सूत्रों का कहना है कि ट्रस्ट में कुल सात सदस्यों को शामिल किए जाने की संभावना है। 
चर्चा है कि सुन्नी वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष को ही इस ट्रस्ट का पदेन अध्यक्ष बनाया जाएगा।

यूपी सरकार ने जमीन दी थी

राम जन्मभूमि मामले में सुप्रीम कोर्ट के फैसले के बाद 5 फरवरी को अयोध्या में राम मंदिर निर्माण के लिए 'श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट' का गठन किया गया था। उसी दिन उत्तर प्रदेश सरकार ने अयोध्या के धन्नीपुर गांव में सुन्नी वक्फ बोर्ड को मस्जिद के लिए पांच एकड़ जमीन आवंटित की थी।

दो सदस्यों ने बैठक का बहिष्कार किया

बैठक में कुल 8 सदस्यो को आमंत्रित किया गया था। इनमें से अब्दुल रज्जाक खान और इमरान माबूद ने बैठक का बहिष्कार किया। बैठक में बोर्ड के चेयरमैन फारूकी के अलावा अदनान फरूक शाह, जुनैद सिद्दीकी, सैयद अहमद अली, अबरार अहमद, जुनीद अहमद शामिल हुए। अब्दुल रज्जाक खान और इमरान माबूद ने पहले भी जमीन लेने के फैसले का विरोध किया था। 

सीएए पर टकराव : उत्तर-पूर्वी दिल्ली में लगातार दूसरे दिन पथराव-आगजनी

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। उत्तर-पूर्वी दिल्ली में रविवार दोपहर से नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के विरोधी और समर्थक गुटों के बीच हिंसक झड़पें हो रही हैं। सोमवार को दूसरे दिन जाफराबाद और मौजपुर इलाके में दोनों गुटों में पथराव हुआ। उपद्रवियों ने कई जगहों पर वाहनों को आग के हवाले कर दिया। पुलिस ने भीड़ को काबू करने के लिए आंसू गैस के गोले दागे। इस दौरान पथराव में जख्मी गोकलपुरी थाने के हेड कॉन्स्टेबल रतन लाल की मौत हो गई। वहीं, शहादरा के डीसीपी अमित शर्मा अस्पताल में भर्ती हैं। भीड़ ने उनकी गाड़ी भी फूंक दी। डीएमआरसी ने एहतियातन 5 मेट्रो स्टेशन- जाफराबाद, मौजपुर-बाबरपुर, गोकुलपुरी, जोहरी एन्क्लेव और शिव विहार मेट्रो स्टेशन को बंद कर दिया है। 
इस रूट की ट्रेनें वेलकम स्टेशन तक ही जाएंगी। पुलिस ने मौजपुर, कर्दमपुरी, चांद बाग, भजनपुरा और दयालपुर समेत 10 इलाकों में धारा 144 लागू की है। पुलिस कमिश्नर अमूल्य पटनायक खुद कंट्रोल रूम से स्थिति पर नजर बनाए हुए हैं। पुलिस ने लोगों से शांति बनाए रखने की अपील की और कहा है कि अपने घरों में रहें और अफवाहों पर ध्यान न दें। गृह मंत्रालय के सूत्रों ने बताया कि अमेरिका के राष्ट्रपति ट्रम्प के दिल्ली दौरे के मद्देनजर हिंसक झड़प के बाद स्थिति पर नजर रखी जा रही है। केंद्रीय गृह सचिव अजय भल्ला ने कहा कि इलाके में भारी पुलिस और अर्धसैनिक बल तैनात है। फिलहाल, स्थिति नियंत्रण में है।
सीएए विरोधी और समर्थक एक किमी की दूरी पर डटे : न्यूज एजेंसी के मुताबिक, सीएए विरोधी जाफराबाद मेट्रो स्टेशन पर जुटे हैं, जबकि सीएए समर्थक यहां से एक किलोमीटर दूर मौजपुर मेट्रो स्टेशन पर इक_े हुए हैं। रविवार को हुए पथराव के बाद दोनों गुट सोमवार दोपहर को फिर आमने-सामने आ गए। दोनों तरफ से पथराव हुआ। इस दौरान उपद्रवियों ने एक गोदाम समेत कई गाडयि़ों को आग के हवाले कर दिया। वहीं, भजनपुरा और चांद बाग में भी झड़प हुई। एक पेट्रोल पम्प पर तोडफ़ोड़ की गई।
एक वीडियो में भीड़ में शामिल प्रदर्शनकारी पुलिसकर्मी की ओर पिस्टल तानता हुआ दिखाई दिया। उसने हवा में कई राउंड फायर किए। उपद्रवियों की ओर से चलाई गोली लगने से एक युवक जख्मी हो गया। इस दौरान कुछ मीडियाकर्मियों की पिटाई भी की गई।

मुख्यमंत्री केजरीवाल ने गृह मंत्री से बात की
राजधानी में हिंसा की घटनाओं को लेकर मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने उपराज्यपाल अनिल बैजल और गृह मंत्री अमित शाह से चर्चा की। केजरीवाल ने ट्वीट किया- दिल्ली के अलग-अलग हिस्सों से हिंसा की खबरें चिंताजनक हैं। दूसरी ओर, उपराज्यपाल बैजल ने दिल्ली पुलिस को कानून-व्यवस्था बनाए रखने के निर्देश दिए। उन्होंने लोगों से शांति बनाए रखने और संयम बरतने की अपील की।

शाहीन बाग की तर्ज पर जाफराबाद में धरना  

जाफराबाद में भी महिलाओं ने मेट्रो स्टेशन के पास शनिवार रात सीएए के खिलाफ सड़क पर प्रदर्शन शुरू किया था। रविवार दोपहर चांद बाग में भी ऐसा ही प्रदर्शन शुरू हो गया। महिलाओं का कहना था कि जब तक केंद्र सरकार सीएए को वापस नहीं लेती है, तब तक यह प्रदर्शन जारी रहेगा। तभी यहां से एक किलोमीटर दूर मौजपुर मेट्रो स्टेशन के पास भाजपा नेता कपिल मिश्रा और उनके समर्थक सीएए के समर्थन में हनुमान चालीसा का पाठ करने लगे। इसी दौरान सीएए के विरोधियों और समर्थकों के बीच पथराव शुरू हो गया। पुलिस ने बल प्रयोग कर हालात को काबू किया। फिर कुछ लोगों ने प्रदर्शन के कारण बंद सकड़ों को खोलने की मांग को लेकर भी प्रदर्शन किया। 

अहमदाबाद से ट्रंप ने पाक को फटकारा, कहा- आतंक के खिलाफ एक्शन लेना ही होगा


जयपुर टाइम्स
अहमदाबाद (एजेंसंी)। अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप सोमवार को भारत पहुंचे। उन्होंने भीड़ से खचाखच भरे अहमदाबाद क्रिकेट स्टेडियम से नमस्ते ट्रंप कार्यक्रम को संबोधित किया। भारत के सबसे बड़े स्टेडियम से ट्रंप ने पाकिस्तान और सीमापार आतंकवाद पर कड़ा प्रहार किया। आतंकवाद पर ट्रंप ने कहा कि हमारा प्रशासन आतंक के खिलाफ कड़े एक्शन ले रहा है, पाकिस्तान पर भी हमने दबाव बनाया है। पाकिस्तान को आतंकवाद के खिलाफ एक्शन लेना ही होगा, हर देश को अपने सुरक्षित करने का अधिकार है। 
पाकिस्तान का जिक्र आते ही स्टेडियम तालियों से गूंज उठा। हमारे नागरिकों की सुरक्षा पर खतरा बनने वालों को भारी कीमत चुकानी पड़ेगी। उन्होंने कहा कि हमारा देश इस्लामिक आतंकवाद का शिकार रहा है, इसके खिलाफ हमने लड़ाई लड़ी है। डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि भारत और अमेरिका आतंकवाद के खिलाफ लडऩे और अपनी सीमाओं को सुरक्षित रखने के प्रति प्रतिबद्ध हैं। ट्रंप ने आगे कहा कि हमारे पाकिस्तान से अच्छे संबंध हैं। हमें लग रहा है कि पाकिस्तान कुछ कदम उठा रहा है। ये पूरे दक्षिण एशिया के लिए जरूरी है। भारत को इसमें अहम योगदान निभाना है। उन्होंने कहा कि कट्टर इस्लामिक आतंकवाद से अपने नागरिकों को बचाने के लिए हम दोनों साथ मिलकर काम करेंगे।  

दिल्ली फतह के बाद अब राजस्थान चली आप पार्टी

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं)। दिल्ली विधानसभा चुनाव में प्रचंड जीत से उत्साहित आम आदमी पार्टी ने अब राजस्थान में भी राजनीतिक जमीन तलाशने की जुगत में है। पार्टी ने निकाय और पंचायतीराज चुनाव पूरी ताकत के साथ लडऩे और प्रदेश की जनता को विकल्प उपलब्ध करवाने की बात कही है। इसके साथ ही राज्य के मुद्दों को लेकर अभियान भी चलाया जाएगा। आप राष्ट्र निर्माण अभियान को लेकर राज्यभर में यात्रा निकालेगी। स्थानीय निकाय का चुनाव लडऩे का निर्णय आम आदमी पार्टी राजस्थान की प्रदेश कार्यकारिणी की शनिवार को राजधानी जयपुर में आयोजित हुई बैठक में लिया गया। आज  के प्रदेश अध्यक्ष रामपाल जाट की अध्यक्षता में हुई इस बैठक में दिल्ली चुनाव परिणाम और आम आदमी पार्टी की सरकार बनने पर बधाई प्रस्ताव पारित किया गया. प्रदेश सचिव देवेंद्र शास्त्री ने बताया कि बैठक में संगठन विस्तार के साथ ही प्रदेश के ज्वलंत मुद्दों पर चर्चा हुई. वहीं, नगर निकाय और पंचायतीराज चुनावों को लेकर भी बैठक में चर्चा की गई। पार्टी के प्रदेश प्रभारी दीपक मिश्रा ने बताया कि अजमेर संभाग में कीर्ति पाठक को प्रभारी नियुक्त किया गया है।


रविवार से 'राष्ट्र निर्माण अभियान'
रविवार को प्रदेश में ्र्रक्क का राष्ट्र निर्माण अभियान लॉन्च होगा. इसके तहत प्रदेशभर में सदस्यता अभियान चलाया जाएगा. पार्टी ने 11 फरवरी को मिस्ड कॉल अभियान लॉन्च किया था. इसके जरिये प्रदेश में अब तक करीब 1.12 लाख लोग ्र्रक्क से जु? चुके हैं. रविवार को जयपुर के आदर्श नगर स्थित गीता भवन में आम आदमी पार्टी का प्रदेश स्तरीय कार्यकर्ता सम्मेलन होगा. इसमें राष्ट्र निर्माण अभियान लॉन्च किया जाएगा. 

राष्ट्रपति ने कहा- सुप्रीम कोर्ट के फैसलों से संवैधानिक ढांचा मजबूत हुआ, सीजेआई बोले- हमारी न्यायपालिका दुनिया के लिए उम्मीद की किरण

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद रविवार को इंटरनेशनल ज्यूडिशियल कॉन्फ्रेंस  में पहुंचे। उन्होंने लैंगिक समानता हासिल करने में न्यायपालिका की कोशिशों की तारीफ की। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- बड़े मामलों में सुप्रीम कोर्ट के फैसलों से न सिर्फ कानून का राज स्थापित हुआ, बल्कि देश के संवैधानिक ढांचे को भी मजबूती मिली है। वहीं, चीफ जस्टिस एसए बोबडे ने कहा- उन्होंने कहा कि न्यायपालिका का काम केवल यह देखना नहीं है कि शक्ति किसके पास है, बल्कि हमारा लक्ष्य शोषित लोगों को सशक्त बनाना है। राष्ट्रपति कोविंद ने कहा- सुप्रीम कोर्ट देश में सामाजिक बदलाव का अगुआ है। सुप्रीम कोर्ट ने दो दशक पहले कार्य स्थल पर यौन शोषण रोकने से लेकर इसी महीने सेना में महिलाओं को स्थाई कमीशन देने तक कई अहम आदेश सुनाए। इस तरह के आदेश भारत में सामाजिक बदलाव का संदेश देते हैं।
चीफ जस्टिस बोबडे ने कहा- फैसला वक्त दुनिया के सभी जज सबको न्याय देने की प्रतिज्ञा से बंधे होते हैं। हमारे सामने आए एक केस में हमने फैसला दिया कि मौजूदा पीढ़ी को अगली और आने वाली पीढयि़ों के स्वास्थ और सुरक्षा से खिलवाड़ करने का कोई अधिकार नहीं है। भारतीय सुप्रीम कोर्ट के फैसलों को दुनियाभर की अदालतों में मिसाल के तौर पर लिया गया है।


 स्वतंत्र और विकसित देशों के बीच भारत उम्मीद की किरण बनकर उभरा है। 

अनुच्छेद 370 : राजनाथ ने कहा- कश्मीर में नजरबंद अब्दुल्ला और मुफ्ती की जल्द रिहाई की प्रार्थना करूंगा

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने शनिवार को कहा कि वे जम्मू-कश्मीर के पूर्व मुख्यमंत्री उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती की जल्द रिहाई के लिए प्रार्थना करेंगे। मैं उम्मीद करता हूं कि वे रिहा होने के बाद जम्मू-कश्मीर की स्थिति सामान्य करने में योगदान देंगे। मोदी सरकार द्वारा 5 अगस्त को जम्मू-कश्मीर को विशेष राज्य का दर्जा देने वाले अनुच्छेद-370 को हटा दिया गया था। इसके बाद राज्य को दो केंद्र शासित प्रदेशों जम्मू-कश्मीर और लद्दाख में विभाजित कर दिया गया। इसके बाद से ही पूर्व मुख्यमंत्री फारूक अब्दुल्ला, उनके बेटे उमर अब्दुल्ला और महबूबा मुफ्ती समेत घाटी के कई नेताओं को एहतियात के तौर पर नजरबंद कर दिया गया था। हालांकि, ज्यादातर नेताओं को रिहा कर दिया गया है। फारूक को सितंबर में पब्लिक सेफ्टी एक्ट (पीएसए) के तहत हिरासत में लिया गया था। हाल ही में उमर और महबूबा को भी इसी कानून के तहत हिरासत में लिया गया है। न्यूज एजेंसी आईएएनएस को दिए इंटरव्यू में शनिवार को राजनाथ ने कहा- कश्मीर में अब शांति का माहौल है। वहां स्थिति में तेजी से सुधार हो रहा है। सुधार के साथ-साथ इन फैसलों (नजरबंदी से राजनेताओं की रिहाई) को भी अंतिम रूप दिया जाएगा।
 सरकार ने किसी पर अत्याचार नहीं किया है। सरकार ने कश्मीर के हितों को देखते हुए कुछ कदम उठाए हैं। हर किसी को इसका स्वागत करना चाहिए।

भाजपा की विचारधारा पर रक्षामंत्री ने कहा कि सांप्रदायिक राजनीति का सवाल ही पैदा नहीं होता। उन्होंने इस धारणा को खारिज किया कि मोदी सरकार धार्मिक अल्पसंख्यकों के खिलाफ है। उन्होंने अपनी दो रैलियों का जिक्र करते हुए कहा, ''मैंने पहले भी अपनी मेरठ और मेंगलुरु की रैलियों में कहा है कि मुसलमान भारत का नागरिक और हमारा भाई है। वह हमारे जिगर का टुकड़ा है।ÓÓ 

हमारे जवानों ने पाकिस्तानी बैट की गतिविधियों पर लगाम लगाई, उनके एक्शन से पहले ही उन्हें नाकाम किया : नरवणे

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। सेना प्रमुख जनरल एमएम नरवणे ने कहा कि सेना लगातार आतंकी समूहों पर दबाव बना रही है। एलओसी पर पाकिस्तान की बॉर्डर एक्शन टीम (बैट) टीम की सक्रियता के सवाल पर उन्होंने कहा- हमारे जवानों ने बैट की कार्रवाई से पहले ही उन्हें नाकाम किया है। उन्होंने दावा किया कि जम्मू-कश्मीर में आतंकी घटनाओं में कमी आई हैं।
जनरल नरवणे ने माना कि अंतरराष्ट्रीय संस्था फाइनेंशियल एक्शन टास्क फोर्स (एफएटीएफ) की बैठक की वजह से भी आतंकी गतिविधियों में कमी आई है। ब्लैक लिस्ट होने के डर से पाकिस्तान ने सीमा पार से संचालित आतंक को कम किया है। चीन को भी महसूस हो चुका है कि वह हमेशा पाकिस्तान का समर्थन नहीं कर सकता। ऐसे में पाकिस्तान को आतंकवाद पर चलने की अपनी रणनीति पर दोबारा विचार करना पड़ेगा।
पाकिस्तान की बैट टीम में शामिल होते हैं आतंकी : पाकिस्तान की बैट टीम भारतीय सेना के जवानों का सिर काटने की घटना में शामिल रही है। इस टीम में पाकिस्तानी सेना के साथ जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी भी शामिल होते हैं। इस साल 11 जनवरी को नियंत्रण रेखा (एलओसी) पर गोलीबारी के बाद बैट टीम भारतीय सेना के एक पोर्टर का सिर काटकर ले गई थी। इस घटना के बाद सेनाध्यक्ष जनरल नरवणे से जब जवाबी कार्रवाई के बारे में पूछा गया, तो उन्होंने भारतीय सेना को पेशेवर बताते हुए इस कायराना हरकत का उचित जवाब देने की बात कही थी।
सेना प्रमुख ने महिलाओं के स्थाई कमीशन पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश का स्वागत किया। उन्होंने कहा- हमारा पहला काम इस आदेश का पालन करना है। उन्होंने कहा, '' भारतीय सेना किसी भी सैनिक से धर्म, जाति, संप्रदाय और यहां तक कि लिंग के आधार पर भेदभाव नहीं करती। हमेशा से सेना का यही नजरिया रहा है। हमने 1993 में ही महिला अधिकारियों की भर्ती शुरू कर दी थी। सेना ने सभी रैंक पर महिलाओं को तैनात करने की पहल की है। 100 महिला सैनिकों का पहला जत्था कॉर्प्स ऑफ मिलिट्री पुलिस सेंटर में प्रशिक्षण ले रहा है। महिला अधिकारियों को चिट्?ठी भेजकर पूछा जा रहा है कि वे स्थाई कमीशन लेंगी या नहीं।ÓÓ

ममता ने कहा- धर्मों ने भारत को सद्भाव से रहना सिखाया, न कि विभाजन और शोषण करना

जयपुर टाइम्स
कोलकाता (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने भाजपा पर निशाना साधते हुए कहा कि धर्म का मतलब केवल बड़े-बड़े धार्मिक उपदेश देना नहीं है। यह पुरुषों को महिलाओं और बहनों का सम्मान करना सिखाता है। धर्मों ने भारत को सद्भाव के साथ रहना सिखाया, न कि विभाजन करना और 
शोषण करना। 
रामकृष्ण परमहंस, स्वामी विवेकानंद, गुरु नानक, भगवान बुद्ध, गांधीजी, नेताजी और अन्य लोगों ने लोगों में सद्भावना का भाव भरा। कोलकाता में भारत सेवाश्रम संघ कार्यक्रम में बनर्जी ने कहा, ''हम एक अखंड भारत से प्यार करते हैं, न कि एक-दूसरे को विभाजित करते हैं। हमारे यहां कई देवी-देवता हैं और हम सबकी पूजा करते हैं। पुनर्जागरण के काल से स्वतंत्रता आंदोलन तक हिंदू धर्म सार्वभौमिक है।ÓÓउन्होंने कहा,''हिंदू धर्म ने हमें सिखाया है कि हम दूसरों के लिए अपने दरवाजे कभी बंद नहीं कर सकते। इसने हमें सभी का खुले हाथों से अभिवादन करना सिखाया है। साथ ही संयम और सहनशील बनना सिखाया।ÓÓ ममता नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) का विरोध कर रही है।
उन्होंने यह भी कहा कि देश के कल्याण से ही हमारा कल्याण संभव है। हमारी ताकत विविधता में एकता है। ममता के मुताबिक, ''2018 में में स्वामी विवेकानंद के ऐतिहासिक भाषण के 125 साल होने के मौके पर अमेरिका में कार्यक्रम रखा गया था। मैं वहां जाना चाहती थी। मुझे सूचित किया गया कि कुछ कारणों से कार्यक्रम को रद्द कर दिया गया है। मुझे पता है कि आयोजनकर्ताओं पर इसका दबाव बनाया गया था, क्योंकि मैंने वहां जाने की इच्छा जताई थी। 

गिरिराज सिंह बोले- पूर्वजों से भूल हो गई, मुसलमान भाइयों को 1947 में पाकिस्तान भेज दिया जाना चाहिए था

जयपुर टाइम्स
पटना (एजेंसी)। केंद्रीय मंत्री गिरिराज सिंह ने एक बार फिर विवादित बयान दिया। बिहार के पूर्णिया में मीडिया से बातचीत के दौरान सिंह ने कहा- हमारे पूर्वजों से गलती हो गई। 
मुसलमान भाइयों को 1947 में ही वहां (पाकिस्तान) भेज दिया जाना चाहिए था। सिंह के मुताबिक, 1947 के पहले हमारे पूर्वज आजादी की लड़ाई लड़ रहे थे, उसी वक्त मोहम्मद अली जिन्ना इस्लामिक स्टेट की योजना बना रहे थे। गिरिराज के इस बयान का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हो रहा है। सिंह ने ये भी कहा कि पूर्वजों की गलती का खामियाजा हमें आज उठाना पड़ रहा है। सिंह ने कहा, राष्ट्र के प्रति समर्पित होने का समय आ गया है। ये बहुत बड़ी हमारे पूर्वजों से भूल हुई। इसका खामियाजा आज हम यहां भुगत रहे हैं। अगर उस समय मुसलमान भाइयों को वहां भेज दिया गया तो ये नौबत ही नहीं आती।
अगर भारतवंशियों को यहां जगह नहीं मिलेगी तो दुनिया का ऐसा कौन सा देश है जो उन्हें शरण देगा। देश के कुछ हिस्सों में सीएए का विरोध जारी है। इसी दौरान सिंह का यह बयान आया। 12 फरवरी को गिरिराज उत्तर प्रदेश के सहारनपुर जिले में थे। यहां उन्होंने कहा था,  देवबंद आतंकवाद की गंगोत्री है। दुनिया में आतंकवाद की घटनाओं का जुड़ाव देवबंद से ही रहा है। दुनिया में जितने भी आतंकवादी हुए हैं, या आतंकी घटनाएं हो चुकी हैं उनके तार कहीं न कहीं देवबंद से जुड़े रहे हैं। देवबंद से आतंकवाद को हमेशा समर्थन मिला है। आतंकवादी भी यहां आकर रुके हैं, चाहे हाफिज सईद का मामला हो या अन्य घटनाएं। हिंदुस्तान को पाकिस्तान का डर नहीं है, लेकिन देश के गद्दारों से खतरा है। गिरिराज ने 6 फरवरी को कहा था, शाहीन बाग सुसाइड बॉम्बर (आत्मघाती हमलावर) का जत्था बनता जा रहा है। देश की राजधानी में देश के खिलाफ ही बड़ी साजिश चल रही है। 
शाहीन बाग में एक महिला का बच्चा ठंड में मर जाता है और वो महिला कहती है कि मेरा बच्चा शहीद हुआ है। ये सुसाइड बॉम्बर नहीं है तो और क्या है? अगर भारत को बचाना है तो सुसाइड बम, खिलाफत आंदोलन-2 से देश को सजग करना होगा।

आधार में फर्जीवाड़े का शक : यूआईडीएआई ने हैदराबाद के 127 लोगों से दस्तावेज मांगे

 जयपुर टाइम्स
कोलकाता (एजेंसी)। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने टीएमसी के पूर्व सांसद तापस पॉल की मौत के लिए केंद्र सरकार को जिम्मेदार ठहराया। ममता ने बुधवार को कहा कि केंद्रीय जांच एजेंसियों के दबाव और बदले की राजनीति के कारण तृणमूल सांसद और एक्टर तापस पॉल की मौत हुई। 
उन्होंने कहा कि जांच एजेंसियों की वजह से तीन लोगों की मौत हुई। इनमें सुल्तान अहमद (टीएमसी के पूर्व सांसद), टीएमसी के ही सांसद प्रसून बनर्जी की पत्नी और तापस पॉल शामिल हैं। तापस का मंगलवार को मुंबई में दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया था। पॉल की बेटी मुंबई में रहती हैं, वो उनसे मिलने यहां आए थे। ममता का आरोप है कि केंद्रीय जांच एजेंसियां किसी को भी जेल में डाल देती हैं लेकिन वो उनका अपराध साबित नहीं 
कर पातीं। 

जांच एजेंसियों का दबाव
ममता ने आगे कहा, "जांच एजेंसियों के दबाव में तीन लोगों की मौत तो यहीं हो चुकी है। सुल्तान अहमद (तृणमूल कांग्रेस के पूर्व सांसद), टीएमसी सांसद प्रसून बनर्जी की पत्नी और अब तापस का निधन हुआ। लोगों को जेल में डाला जा रहा है लेकिन जांच एजेंसियां ये साबित नहीं कर पा रही हैं कि इन लोगों का जुर्म क्या है? अगर किसी ने अपराध किया है तो उसे सजा जरूर मिलनी चाहिए। लेकिन, हमें अब तक यह नहीं पता कि तापस और बाकी लोगों का अपराध आखिर क्या था?" 

दो बार सांसद रहे तापस
61 साल के तापस हिंदी फिल्म 'अबोधÓ में भी नजर आए थे। यह फिल्म 1984 में आई थी। फिल्म के लीड एक्टर तापस और माधुरी दीक्षित थे। कृष्णानगर से दो बार सांसद रहे। परिवार में पत्नी नंदिनी और बेटी सोहिनी पाल हैं। सोहिनी भी अभिनेत्री हैं। कुछ दिन पहले वे बेटी से मिलने मुंबई गए थे। वहां उन्हें दिल का दौरा पड़ा। जुहू के एक निजी अस्पताल ले जाया गया। वो 6 फरवरी से वेंटिलेटर पर थे। दो साल पहले पश्चिम बंगाल में रोज वैली चिट फंड घोटाला सामने आया था। तापस पर इसमें शामिल होने का आरोप था। वे एक साल जेल में भी रहे थे। बाद में उन्हें जमानत मिल गई थी।   

इंडिया गेट पर हुनर हाट में पीएम नरेंद्र मोदी ने लिया बिहार के लिट्टी-चोखा का मजा

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को दिल्ली में इंडिया गेट के पास आयोजित हुनर हाट का दौरा किया। इस दौरान उन्होंने बिहार के स्वादिष्ट व्यंजन लिट्टी चोखा का भी आनंद उठाया। इसकी तस्वीरें पीएम मोदी ने अपने ट्विटर अकाउंट पर शेयर की हैं।लिट्टी चोखा खाने के बाद पीएम मोदी ने ट्विटर पर लिखा कि चाय के साथ दोपहर के भोजन के लिए टेस्टी लिट्टी चोखा खाया। हुनर हाट की विभिन्न तस्वीरों को शेयर करते हुए पीएम मोदी ने लिखा, इंडिया गेट पर हुनर हाट पर शानदार दोपहर बिताई। इसमें हस्तशिल्प, टेक्सटाइल समेत कई प्रोडक्ट्स हैं। साथ ही स्वादिष्ट भोजन भी। अल्पसंख्यक मामलों के मंत्रालय द्वारा आयोजित हुनर हाट में पीएम मोदी ने देशभर के तमाम कारीगरों की प्रदर्शनियों को देखा। उन्होंने कार्यक्रम में कई कारीगरों के साथ बातचीत भी की।  बता दें कि हुनर हाट का आयोजन 13 फरवरी से 23 फरवरी 2020 तक किया जा रहा है। इसकी थीम कौशल को काम रखी गई है। प्रधानमंत्री मोदी के साथ अल्पसंख्यक कार्य मंत्री मुख्तार अब्बास नकवी भी मौजूद थे।