Updated -

mobile_app
liveTv

मोदी का राहुल पर तंज- कुछ बुद्धिमान लोग आलू से सोना बनाते हैं, हम ये वादा नहीं करते

लखनऊ (एजेंसी )। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने शनिवार को उत्तरप्रदेश के कन्नौज, हरदोई और सीतापुर में रैलियां कीं। सीतापुर में उन्होंने कहा, कांग्रेस, सपा और बसपा को समझ नहीं आ रहा है कि वे किस मुद्दे पर वोट मांगे। जात-पात का जो खेल उन्होंने रचा था, वो आज उन्हीं पर भारी पड़ रह है। बुबा-बबुआ की दुकान पर ताला लग गया, तो इस बार उन्होंने महामिलावट का नया काउंटर खोल लिया। मोदी ने कहा, ''कांग्रेस कह रही है कि जम्मू-कश्मीर से सुरक्षाबलों की संख्या को कम करेंगे। कांग्रेस देशद्रोह का कानून भी खत्म करना चाहती है। क्या इस सोच के साथ ये लोग आतंकवाद और नक्सलवाद को खत्म करेंगे।'' मोदी ने कहा, ''कुछ घंटे पहले यूपी बोर्ड परीक्षा के नतीजे आए हैं। परीक्षा में पास हुए सभी छात्र-छात्रों को में बधाई देता हूं और उज्ज्वल भविष्य के लिए शुभकामनाएं देता हूं। जो छात्र कुछ नंबर से पीछे रह गए हैं, वे निराश न हों और अभी से पढ़ाई में जुट जाएं। ये सलाह मैं परिवार के सदस्य के नाते दे रहा हूं।'' कन्नौज में मोदी ने कहा कि मेरा प्रचार वे परिवार कर रहे हैं जिनका बेटा मातृभूमि की सुरक्षा में तैनात है। राहुल गांधी पर तंज कसा कि आलू से सोना बनाने का वादा हम नहीं कर सकते। मोदी हरदोई और सीतापुर में भी सभाएं करेंगे।

काशी के कोतवाल से अनुमति लेकर पीएम मोदी ने दाखिल किया पर्चा

वाराणसी (एजेंसी )। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने वाराणसी लोकसभा सीट के लिए शुक्रवार को अपना नामांकन पत्र दाखिल किया। मोदी सुबह लगभग 11 बजकर 40 मिनट पर कलेक्ट्रेट भवन में पहुंचे और अपना नामांकन पत्र पेश किया । मोदी के साथ भाजपा अध्यक्ष अमित शाह, केंद्रीय मंत्री राजनाथ सिंह, सुषमा स्वराज, नितिन गडकरी और उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ मौजूद थे ।नामांकन से पहले मोदी ने शिवसेना के प्रमुख उद्धव ठाकरे, शिरोमणि अकाली दल के प्रमुख प्रकाश सिंह बादल, लोक जनशक्ति पार्टी के प्रमुख रामविलास पासवान, बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार, अपना दल सोनेलाल की प्रमुख अनुप्रिया पटेल से मुलाकात की। कलेक्ट्रेट में नामांकन पत्र दाखिल करने से पूर्व मोदी ने प्राचीन काल भैरव मंदिर में जाकर पूजा अर्चना की । सुबह उन्होंने बूथ कार्यकर्ताओं के सम्मेलन को भी संबोधित किया।
इस दौरान पीएम मोदी ने कहा कि मैं काशी के कोतवाल से अनुमति लेकर नामांकन पत्र दाखिल करने आया हूं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के प्रस्तावक डोम राजा परिवार के एक सदस्य के साथ भाजपा कार्यकर्ता सुभाष गुप्ता और समाजसेविका अन्नपूर्णा शुक्ला बनीं। नामांकन के बाद पीएम मोदी ने पत्रकारों से मुखातिब होते हुए कहा कि अब ऐसा माहौल बन चुका है कि मोदी तो जीत गए और वोट नहीं करोगे तो भी चलेगा। मैं गुजारिश करता हूं कि कृपा कर के ऐसे लोगों की बातों में ना आए। मतदान करना आपका अधिकार है, लोकतंत्र एक उत्सव है। ज्यादा से ज्यादा मतदान करना चाहिए ताकि देश मजबूत हो सके। इस दौरान पीएम मोदी ने बच्चों की क्लास भी ली। बच्चों से गिनती और कविताएं सुनीं। 

एनआईए कोर्ट से साध्‍वी प्रज्ञा को बड़ी राहत, चुनाव लड़ने से रोकने की मांग वाली याचिका खारिज की

मुंबई, एजेंसी।  एनआईए की विशेष अदालत ने मालेगांव बम धमाकों की आरोपी और भोपाल से भाजपा उम्‍मीदवार साध्‍वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर को चुनाव लड़ने से रोकने की मांग वाली याचिका खारिज कर दी है। अदालत ने अपने फैसले में कहा कि मौजूदा लोकसभा चुनावों में हमारे पास किसी को चुनाव लड़ने से रोकने के लिए कोई कानूनी शक्तियां नहीं हैं। किसे चुनाव लड़ने देना है किसे नहीं यह तय करना निर्वाचन अधिकारियों का काम है। अदालत आरोपी नंबर-1 को चुनाव लड़ने से नहीं रोक सकती है। यह याचिका सुनवाई के योग्‍य नहीं है। याचिकाकर्ता के वकील ने एनआईए कोर्ट से प्रज्ञा ठाकुर के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की मांग करते हुए दलील दी थी कि भाजपा उम्‍मीदवार साध्‍वी खराब स्वास्थ्य का हवाल देकर मालेगांव बम विस्‍फोट मामले (Malegaon blast case) की अदालती कार्यवाही में भाग नहीं ले रही हैं। साध्‍वी प्रज्ञा ठाकुर भोपाल लोकसभा सीट से भाजपा उम्‍मीदवार हैं और चुनाव प्रचार कर रही हैं। याचिकाकर्ता की ओर से यह भी कहा गया कि साध्‍वी के चुनाव प्रचार को देखकर ऐसा लग रहा है कि वह बीमार नहीं हैं।  बता दें कि वर्ष 2008 के मालेगांव विस्फोट में आरोपित भाजपा नेता साध्वी प्रज्ञा सिंह ठाकुर के चुनाव लड़ने पर रोक लगाने की याचिका पर एनआइए ने कल खुद को अलग कर लिया था। राष्ट्रीय जांच एजेंसी का कहना है कि यह उसके अधिकार क्षेत्र के बाहर का मामला और इसे चुनाव आयोग देखेगा। जबकि भोपाल से भाजपा उम्मीदवार प्रज्ञा ने खुद को लोकसभा चुनाव से लड़ने से रोकने वाली उक्‍त याचिका को खारिज करने की अपील की थी।   

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान देगा रूस, रूसी दूतावास का एलान

नई दिल्‍ली, एजेंसी। रूस ने कहा है कि वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को अपने देश का सर्वोच्‍च नागरिक सम्‍मान (ऑर्डर ऑफ सेंट एंड्रयू द एपोस्टल) देगा। यह जानकारी नई दिल्‍ली स्थित रूसी दूतावास ने शुक्रवार को दी। यह अवार्ड उन हस्तियों को दिया जाता है जो रूस के साथ संबंधों को मजबूत बनाने में अंतरराष्ट्रीय नेतृत्व में योगदान करते हैं। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को भी यह पुरस्‍कार भारत और रूस के बीच संबंधों को मजबूती देने के लिए दिया जाएगा। बता दें कि यह सातवां अंतरराष्ट्रीय पुरस्कार है जिससे प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सम्मानित हुए हैं। प्रधानमंत्री को संयुक्त अरब अमीरात के सर्वोच्च नागरिक अवार्ड ‘जायद मेडल’ से सम्मानित किए जाने के एक हफ्ते बाद रूसी पुरस्कार मिला है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी दक्षिण कोरिया और संयुक्‍त राष्‍ट्र में भी प्रतिष्ठित सम्मानों से नवाजे जा चुके हैं।  

शत्रुघ्न सिन्हा ने भाजपा के स्थापना दिवस पर थामा कांग्रेस का हाथ

नई दिल्ली (एजेंसी)  बॉलीवुड एक्टर शत्रुघ्न सिन्हा शनिवार को औपचारिक रूप से कांग्रेस में शामिल हो गए। वे दो बार लोकसभा सदस्य रहे। माना जा रहा है कि कांग्रेस शत्रुघ्न को पटना साहिब से उम्मीदवार बना सकती है। शत्रुघ्न ने कांग्रेस के महासचिव केसी वेणुगोपाल और रणदीप सुरजेवाला की मौजूदगी में सदस्यता ग्रहण की। रणदीप सुरजेवाला ने कहा, ''कांग्रेस एक दल के साथ विचारधारा भी है। शत्रुध्न सिन्हा का आध्यात्मिक और बौद्धिक तौर पर महात्मा गांधी के विचारों से लगाव रहा है।'' शक्ति सिंह गोहिल ने कहा, ''शत्रुघ्न अच्छे नेता हैं। बॉलीवुड में सुपरस्टार रहे। उनका कांग्रेस परिवार में उनका स्वागत करते हैं।'' भाजपा ने इस बार पटना साहिब से रविशंकर प्रसाद को उम्मीदवार घोषित किया है।

शत्रुघ्न ने बिहार प्रभारी शक्ति सिंह गोहिल को गलती से भाजपा का बता दिया। इस पर उन्होंने कहा कि आज भाजपा का 39वां स्थापना दिवस है, इसलिए ऐसा कह दिया। भाजपा न बोलने की आदत धीरे-धीरे पड़ेगी। भाजपा में नानाजी देशमुख ने मुझे प्रशिक्षण दिया। भाजपा के गुरु (लालकृष्ण आडवाणी) ने मुझे मार्गदर्शन दिया। सुबोधकांत सहाय मुझे पब्लिक लाइफ में लेकर गए। लोग कहते थे कि आप जैसे सेक्युलर आदमी को कांग्रेस में होना चाहिए।"

सिन्हा ने कहा, "मैं लोकशाही को लेकर आगे बढ़ता गया और भाजपा में धीरे-धीरे लोकशाही, तानाशाही में बदल गई। मैंने भाजपा के लिए कहा था कि वन मैन आर्मी और टू मैन शो। पार्टी ने आडवाणीजी को मार्गदर्शक मंडल में डाल दिया। इस मार्गदर्शक मंडल की आज तक कोई बैठक नहीं हुई। भाजपा ने धीरे-धीरे ऊपर से काटना शुरू किया। जसवंत सिंह, अरुण शौरी, मुरली मनोहर जोशी और यशवंत सिन्हा को खत्म किया गया।"

राहुल और प्रियंका गांधी ने पश्चिम उत्तर प्रदेश के शहीद परिवारों को ढांढस बंधाया

लखनऊ, एजेंसी। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी शामली पहुंचे। दोनों शहीद अमित और प्रदीप के घर जाकर सांत्वना दी और इस मुश्किल घड़ी में ढांढस बंधाया। राहुल और प्रियंका गांधी के साथ पश्च‍िम उत्तर प्रदेश के कांग्रेस महासचिव ज्योति‍रादित्य सिंधिया और प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष राजबब्बर भी हैं। कांग्रेस नेताओं के शामली आगमन के मद्देनजर प्रशासन ने सुरक्षा बढ़ा दी है। उल्लेखनीय है कि जम्मू कश्मीर के पुलवामा में 14 फरवरी को सीआरपीएफ के काफिले में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकी ने विस्फोटक लदे वाहन को सीआरपीएफ की बस से भिड़ा दिया था जिसमें 40 जवान शहीद हो गए थे। 
तेरहवीं कार्यक्रम में हिस्सा लेते समय प्रियंका ने शहीद अमित के परिजनों को सांत्वना देते हुए कहा कि पूरा देश व कांग्रेस परिवार आपके साथ है। प्रियंका ने शहीद की तस्वीर पर माल्यार्पण किया। राहुल ने कहा कि इस दुख की घड़ी में कांग्रेस पार्टी परिवार के साथ है। यह देश के लिए बहुत बड़ी शहादत है। मैं इस दुख से भलीभांति परिचत हूं क्योंकि मेरे पिता साथ भी ऐसा हादसा हुआ था। मैंने अपने पिता को खोया है ओर मैं इस दुख को अच्छी तरह से समझता हूं। कहा कि हमें ऐसे शहीद के परिवार पर गर्व है जिसने अपनी सारी कमाई अपने बेटे को पढ़ाने-लिखाने पर खर्च की और बेटे ने अपना दिल, अपना शरीर देश की सेवा में दे द‍िया। कहा कि हम यहां आपके साथ पांच मिनट बैठने आए हैं।
इसके बाद राहुल और प्रियंका शहीद प्रदीप के घर पहुंचे और सांत्वना दी। इससे पहले प्रियंका गांधी उन्नाव और चंदौली के शहीद परिवारों को ढांढस बंधा चुकी है। इसके बाद मेरठ में बसा टीकरी गांव में शहीद अजय कुमार के घर भी जाने की तैयारी है।

भगोड़े मेहुल चोकसी को भारत लाना हुआ मुश्किल, पढ़े पूरी खबर

नई दिल्ली। हजारों करोड़ रुपए के पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) घोटाले में सरकार के लिए बुरी खबर है। इस घोटाले के मुख्य आरोपी मेहुल चोकसी ने भारतीय नागरिकता छोड दी है। एबीपी न्यूज की रिपोर्ट के अनुसार उसने अपने भारतीय पासपोर्ट को एंटीगुआ उच्चायोग में जमा करवा दिया है। इसका मतलब यह हुआ कि मेहुल को अब भारत लाना केंद्र सरकार के लिए मुश्किल हो गया है। चोकसी ने पासपोर्ट नंबर जेड 3396732 कैंसिल्ड बुक्स के साथ जमा कराया गया है। नागरिकता छोडऩे के लिए चोकसी को 177 अमेरिकी डॉलर का ड्राफ्ट जमा करना पड़ा है।

इस संबंध में विदेश मंत्रालय के संयुक्त सचिव अमित नारंग ने गृह मंत्रालय को जानकारी दी है। नागरिकता छोडऩे वाले फार्म में चोकसी ने अपना नया पता जौली हार्बर सेंट मार्कस एंटीगुआ लिखा है। चोकसी ने हाई कमीशन को कहा कि उसने नियमों के तहत एंटीगुआ की नागरिकता ली और भारत की नागरिकता छोड़ी है।

दरअसल, चोकसी भारतीय नागरिकता छोडक़र प्रत्यर्पण की कार्रवाई से बचना चाहता है। चोकसी की इस बाबत एंटीगुआ की कोर्ट में 22 फरवरी को सुनवाई है। प्रधानमंत्री कार्यालय ने विदेश मंत्रालय और जांच एजेंसियो से मामले की प्रगति रिपोर्ट मांगी है।
चोकसी ने साल 2017 में ही एंटीगुआ की नागरिकता ली थी। मुंबई पुलिस की हरी झंडी के बाद चोकसी को नागरिकता मिली थी। पीएनबी घोटाला खुलने की भनक के बाद मेहुल चोकसी और उसका भांजा नीरव मोदी फरार हो गया था। घोटाले की जांच सीबीआई और ईडी कर रही है। दोनों की अब तक साढ़े चार हजार करोड़ रुपये से ज्यादा की चल अचल संपत्ति जब्त की जा चुकी है। चोकसी और मोदी के खिलाफ आर्थिक भगोड़ा अधिनियम के तहत भी कार्रवाई की जा रही है।

जम्मू एवं कश्मीर में भारी बर्फबारी-बारिश के आसार

श्रीनगर। कश्मीर घाटी में सोमवार से ताजी बर्फबारी का दौर शुरू हो गया है। मौसम विभाग ने अगले दो दिनों तक जम्मू एवं कश्मीर में मध्यम से भारी बारिश और बर्फबारी की संभावना जताई है। मैदानी इलाकों में पिछले कुछ दिनों से कड़ाके की सर्दी से थोडी राहत मिली है, लेकिन पहाड़ों इलाकों में बफबारी होने से एक बार फिर मैदानी इलाकों में सर्दी वापस लौट सकती है। 

मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा, ‘‘अगले 24 घंटों तक (मंगलवार तक) बड़े पैमाने पर भारी बारिश और बर्फबारी होने की संभावना है।’’

उन्होंने कहा, ‘‘राज्य में पश्चिमी विक्षोभ सक्रिय हो गया है। बुधवार से इसकी तीव्रता घटती जाएगी।’’

श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 0.3 डिग्री सेल्सियस नीचे, पहलगाम में शून्य से 0.2 डिग्री सेल्सियस नीचे और गुलमर्ग में शून्य से चार डिग्री नीचे तापमान दर्ज किया गया।
लेह में न्यूनतम तापमान शून्य से 5.6 डिग्री नीचे और कारगिल में शून्य से 14 डिग्री नीचे दर्ज किया गया।

जम्मू शहर का तापमान 11.9 डिग्री, कटरा का 10 डिग्री, बटोटे का का 2.1 डिग्री, बनिहाल में 1.1 डिग्री सेल्सियस और भदरवाह में 1.9 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया।
 

मार्च के पहले सप्ताह में लोकसभा चुनावों का ऐलान!

नई दिल्ली। लोकसभा चुनाव के लिए तारीखों का ऐलान मार्च के पहले हफ्ते में हो सकता है। सूत्रों ने शुक्रवार को यह संकेत दिया। मौजूदा लोकसभा का कार्यकाल 3 जून को समाप्त हो रहा है। सूत्रों ने बताया कि आम चुनाव कितने चरण और किन महीनों में होंगे, अभी इस पर चुनाव आयोग में फैसले की प्रक्रिया चल रही है। सूत्रों ने बताया कि चुनाव कितने चरण में होंगे, यह सुरक्षा बलों की उपलब्धता और अन्य जरूरतों पर निर्भर करेगा। उन्होंने बताया कि दुनिया के सबसे बड़े चुनाव कार्यक्रम का ऐलान मार्च के पहले ह ते में हो सकता है। ऐसी संभावना है कि चुनाव आयोग पिछली बार की तरह ही आंध्र प्रदेश, ओडिशा, सिक्किम और अरुणाचल प्रदेश के विधानसभा चुनाव को भी लोकसभा चुनाव के साथ ही कराए। जम्मू और कश्मीर की विधानसभा भंग हो चुकी है, लिहाजा चुनाव आयोग को 6 महीने के भीतर वहां भी चुनाव कराने हैं। ज मू-कश्मीर विधानसभा नवंबर 2018 में भंग हुई थी और वहां मई 2019 तक चुनाव कराने हैं। ऐसे में, चुनाव आयोग लोकसभा चुनाव के साथ ही जम्मू-कश्मीर विधानसभा का चुनाव भी करा सकता है। 
कश्मीर में मई से पहले चुनाव संभव
सूत्रों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर में मई से पहले ही चुनाव कराए जा सकते हैं और यह वहां की जटिल सुरक्षा स्थिति पर निर्भर करता है। सामान्य परिस्थितियों में जम्मू-कश्मीर विधानसभा का कार्यकाल 6 साल का होता है जो 16 मार्च 2021 को खत्म होता। हालांकि, अन्य विधानसभाओं और लोकसभा का कार्यकाल 5 साल का होता है। सिक्किम विधानसभा का कार्यकाल 27 मई 2019 को खत्म हो रहा है। इसी तरह आंध्र प्रदेश, ओडिशा और अरुणाचल प्रदेश की विधानसभाओं के कार्यकाल क्रमश: 18 जून, 11 जून और 1 जून को खत्म हो रहे हैं। 
पिछली बार 4 चरणों में हुए थे चुनाव
2004 में चुनाव आयोग ने 29 फरवरी को लोकसभा का चुनाव 4 चरणों में कराने का ऐलान किया। तब पहले चरण का मतदान 20 अप्रैल को और आखिरी चरण का मतदान 10 मई को हुआ था। 2009 में चुनाव आयोग ने 2 मार्च को लोकसभा चुनाव की तारीखों का ऐलान किया था। तब 5 चरणों में आम चुनाव हुए थे जो 16 अप्रैल को शुरू होकर 13 मई को समाप्त हुए थे। इसी तरह, 2014 में चुनाव आयोग ने 5 मार्च को लोकसभा चुनावों की तारीखों का ऐलान किया था। पिछली बार के आम चुनाव 9 चरणों में अप्रैल और मई में हुए थे। पहले चरण की वोटिंग 7 अप्रैल को और आखिरी चरण की वोटिंग 12 मई को हुई थी। 

सरकार लाएगी 33 फीसदी महिला आरक्षण का प्रस्ताव

जयपुर । लोकसभा चुनावों से पहले कांग्रेस सरकार राजस्थान में आधी आबादी को मैसेज देने के लिए 33 फीसदी महिला आरक्षण का दांव खेलने जा रही है। विधानसभा और लोकसभा चुनावों में 33 फीसदी सीटें महिलाओं के लिए आरक्षित करने के लिए महिला आरक्षण का प्रस्ताव विधानसभा में लाकर इसे पारित करवाया जाएगा। कैबिनेट की बैठक में गुरुवार को लोकसभा और विधानसभा चुनावों में महिलाओं के 33 फीसदी आरक्षण का प्रस्ताव लाने का फैसला किया गया, कैबिनेट में इस संकल्प पर विस्तार से चर्चा हुई। अब विधानसभा के मौजूदा सत्र में ही महिला आरक्षण के प्रस्ताव को पारित करवाने की तैयारी है। लोकसभा और विधानसभा में महिलाओं के लिए 33 फीसदी सीटें आरक्षित करने के लिए लोकसभा में बिल पारित हो चुका है, महिला आरक्षण का बिल राज्यसभा में अटका हुआ है। यूपीए अध्यक्ष सोनिया गांधी इसे लेकर अभियान चलाती रही हैं, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पिछले महीने कांग्रेस शासित राज्यों के मुख्यमंत्रियों को चिटी  लिखकर 33 फीसदी महिला आरक्षण का प्रस्ताव विधानसभा में पारित कर केंद्र को भिजवाने को कहा था।  पंजाब की कांग्रेस सरकार प्रस्ताव पारित भेज चुकी है।कांग्रेस हाईकमान के आदेशों को अब राजस्थान की कांग्रेस सरकार भी अमली जामा पहनाने जा रही है। लोकसभा चुनावों से पहले 33 फीसदी महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित करने की सियसासी वजह भी है, कांग्रेस के रणनीतिकारों का मानना है कि इस कदम से महिलाओं के वोट पार्टी की तरफ करने में मदद मिलेगी।
राहुल-सोनिया की भी मंशा
इस मसले पर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने कहा कि सोनिया गांधी और राहुल गांधी चाहते हैं कि कांग्रेस शासित प्रदेशों में विधानसभा में महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित हो,  इस बारे में नीतिगत फैसला लिया गया है, विधानसभा में जल्द महिला आरक्षण का प्रस्ताव पारित करवाया जाएगा। सोनिया गांधी और राहुल गांधी ने महिला आरक्षण पर उठाई थी, संघर्ष के बाद आखिरकार लोकसभा में बिल पास हो गया था।

करें कश्मीर का रुख, खुशनुमा हुआ मौसम

नई दिल्ली: देश की राजनीति का मौसम जहां, गर्म हो चला है, वहीं, कश्मीर घाटी में हो रही भारी बर्फबारी ने मौसम को खुशनुमा बना दिया है, इसलिए अगर आप कश्मीर में स्नोफॉल के मजे लेना चाहते हैं, तो ये सबसे अच्छा समय है, क्योंकि मौसम विभाग ने अपने पूर्वानुमान में अगले तीन दिनों तक और ज्यादा बर्फबारी होने की बात कही है. 
मौसम विभाग ने वहीं 21 और 22 जनवरी को हिमाचल प्रदेश में और उत्तराखंड में 22 जनवरी को बारिश बर्फबारी के आसार हैं. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने बताया कि पश्चिमी विक्षोभ (डब्ल्यूडी) वर्तमान में राज्य में सक्रिय है, जिसके प्रभाव के चलते 23 जनवरी तक घाटी में सामान्य से लेकर भारी बर्फबारी होने की संभावना है, इसके बाद पश्चिमी विक्षोभ की तीव्रता कम होने लगेगी.

भारी बर्फबारी के कारण किसी भी अप्रिय घटना को रोकने में मदद के लिए जिला प्रशासन ने हेल्पलाइन की स्थापना की है. मौसम विभाग के एक अधिकारी ने कहा कि रात में बादल छाए रहने से शनिवार को पूरी घाटी में न्यूनतम तापमान में वृद्धि हुई, अधिकतम तापमान में गिरावट आने की संभावना है.

श्रीनगर में न्यूनतम तापमान शून्य से 2 डिग्री नीचे, पहलगाम में शून्य से 4.4 डिग्री नीचे और गुलमर्ग में शून्य से सात डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया. लेह में रात का न्यूनतम तापमान शून्य से 9.2 डिग्री नीचे और कारगिल में शून्य से 18.9 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया.

जम्मू शहर में न्यूनतम तापमान 8.3 डिग्री, कटरा में 9.1 डिग्री, बटोटे में 3.9 डिग्री, बनिहाल में 2.3 डिग्री और भदरवाह में 1.3 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया.

उत्तर प्रदेश सरकार ने दी इस बात की मंजूरी

लखनऊ। उत्तर प्रदेश सरकार ने आर्थिक रूप से कमजोर वर्ग के लिए सरकारी नौकरियों और शिक्षा में केंद्र सरकार द्वारा दिए गए 10 प्रतिशत आरक्षण को मंजूरी दे दी है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शुक्रवार को कहा कि उत्तर प्रदेश में सामान्य वर्ग के आर्थिक रूप से कमजोर वर्गों के लिए 10 प्रतिशत आरक्षण लागू करने के सन्दर्भ में निर्देश जारी कर दिया गया है। 

राष्ट्रपति द्वारा सामान्य वर्ग को आर्थिक आधार पर 10 फीसद आरक्षण देने का अनुपालन सबसे पहले गुजरात ने दिया। गुजरात सरकार ने इस कानून को अधिसूचित कर दिया है। गुजरात के बाद झारखंड इसे लागू करने वाला दूसरा प्रदेश बन गया है। इसके बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार ने भी इसे लागू कर दिया है।