Updated -

mobile_app
liveTv

Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

मुस्लिम पर्सनल ला बोर्ड तीन तलाक पर बिल के खिलाफ

जयपुर टाइम्स
लखनऊ (एजेंसी)। ऑल इंडिया मुस्लिम पर्सनल लॉ बोर्ड ने रविवार को लखनऊ में इमरजेंसी मीटिंग बुलाई। इसमें असदउद्दीन ओवैसी और जफरयाब जिलानी समेत तमाम बड़े नेता शामिल हुए। मीटिंग के बाद बोर्ड के सज्जाद नोमानी ने कहा- ट्रिपल तलाक पर लाए जाने वाले कानून के मसौदे पर हमसे कोई सलाह-मश्विरा नहीं किया गया। प्रेसिडेंट प्रधानमंत्री से मिलेंगे और उनसे अपील करेंगे कि इस बिल को संसद में पेश ना किया जाए। बता दें कि सरकार ने सुप्रीम कोर्ट के एक बार में ट्रिपल तलाक को गैर कानूनी करार दिए जाने के बाद अब इस पर कानून बनाने का फैसला किया है। यह बिल जल्द ही संसद में पेश किया जा सकता है। सरकार ने बिल तैयार करने के पहले मुस्लिम समाज की राय नहीं ली है।
 मीटिंग के लिए के चेयरमैन मौलाना राबे हसन नदवी, मौलाना सईद मोहम्मद वली रहमानी, मौलाना खालिद सैफुल्लाह रहमानी, ख़लीलुल रहमान सज्जाद नौमानी, मौलाना फजलुर रहीम , मौलाना सलमान हुसैनी नदवी, हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन औवैसी और जफरयाब जिलानी पहुंचे हैं। वर्किग कमेटी के 51 मेंबर को बुलाया गया था।
ऑल इंडिया मुस्लिम महिला पर्सनल लॉ बोर्ड की अध्यक्ष शइस्ता अंबर ने कहा- केंद्र सरकार द्वारा लाए गए बिल का हम समर्थन करते हैं। हम पीएम मोदी को विशेष धन्यवाद देते हैं कि उन्होंने मुस्लिम महिलाओं के बारे में सोचा और कानून लेकर आए हैं। शइस्ता अंबर ने कहा- ऑल इंडिया पर्सनल लॉ बोर्ड की बैठक में मुस्लिम महिलाओं के लिए कुछ भी नहीं है। इस्लाम में भी तीन तलाक का कोई जिक्र नहीं है। कानून आने के बाद ही तीन तलाक पर पाबंदी लग सकेगी और यह बिल किसी भी मुस्लिम महिला के खिलाफ नहीं बल्कि उनके हित में है।
ा एक साथ तीन बार तलाक (बोलकर, लिखकर या ईमेल, एसएमएस और व्हाट्सएप जैसे इलेक्ट्रॉनिक माध्यम से) कहना गैरकानूनी होगा।
ा ऐसा करने वाले पति को तीन साल के कारावास की सजा हो सकती है। यह गैर-जमानती और संज्ञेय अपराध माना जाएगा।
ा यह कानून सिर्फ तलाक ए बिद्दत यानी एक साथ तीन बार तलाक बोलने पर लागू होगा।
ा तलाक की पीडि़ता अपने और नाबालिग बच्चों के लिए गुजारा भत्ता मांगने के लिए मजिस्ट्रेट से अपील कर सकेगी।
ा पीडि़त महिला मजिस्ट्रेट से नाबालिग बच्चों के संरक्षण का भी अनुरोध कर सकती है। मजिस्ट्रेट इस मुद्दे पर अंतिम फैसला करेंगे।
ा यह प्रस्तावित कानून जम्मू-कश्मीर को छोडकऱ पूरे देश में लागू होगा है।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

गुरु गोविन्द सिंह जयंती पर मुख्यमंत्री की शुभकामनाएं


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

भारत ने पाकिस्तान को सिखाया सबक, कई बंकर तबाह, एक पाक सैनिक ढेर

जयपुर टाइम्स
जम्मू/नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय सेना ने एलोसी के पास पाकिस्तान द्वारा अपने जवानों पर किए गए कायराना हमले का बदला ले लिया है। शनिवार को किए गए हमले के कुछ घंटों के भीतर ही भारतीय सेना ने पाक के एक स्नाइपर को ढेर कर दिया। सूत्रों ने बताया कि जम्मू-कश्मीर के झांगर सेक्टर में भारतीय सैनिकों की जवाबी फायरिंग में एक पाक सैनिक मारा गया है। बताया जा रहा है कि गश्ती दल को निशाना बनाने वाले पाक सैनिकों को सेना मुंहतोड़ जवाब दे रही है। शनिवार दोपहर में पाकिस्तानी सैनिकों ने रुशष्ट के पास भारतीय सेना के एक गश्ती दल पर गोलीबारी की थी, जिसमें एक मेजर और तीन सैनिक शहीद हो गए थे। गौरतलब है कि जम्मू-कश्मीर में सेना, पैरामिलिट्री फोर्सेज और जम्मू-कश्मीर पुलिस द्वारा चलाए गए सफल ऑपरेशन से आतंकियों के पैर उखड़ गए हैं। पाकिस्तानी फौज और सीमापार बैठे आतंकियों के आका भी बौखलाए हुए हैं। यह हमला पाक सेना की उसी बौखलाहट को दर्शाता है।
 उधर, मुंबई हमले का गुनहगार हाफिज सईद आए दिन भारत के खिलाफ जहर उगलता रहता है। उसे सीमापार पाक के कब्जे वाले कश्मीर में अक्सर देखा जाता है। हालांकि सेना ने साफ कर दिया है कि आतंकियों के खिलाफ ऑपरेशन आगे भी जारी रहेगा। 
जम्मू-कश्मीर के केरी सेक्टर में सैनिकों को निशाना बनाया गया था। यह हमला ऐसे समय किया गया था जब प्रदेश की मुख्यमंत्री महबूबा मुफ्ती रजौरी जिला मुख्यालय में ही थीं और जन शिकायतों की सुनवाई कर रही थीं। महबूबा मुफ्ती ने कहा कि पाकिस्तान एक आतंकी मुल्क है, वह दिन दूर नहीं जब इसे दुनिया में आतंकवादी देश घोषित कर दिया जाएगा। पाकिस्तान की ओर से साल 2017 में 780 बार नियंत्रण रेखा पर सीजफायर का उल्लंघन किया गया है।  पाकिस्तान ने यह कायराना हरकत ऐसे समय में की है जब दोनों देशों के बीच काफी समय से बातचीत बंद है। अमेरिका समेत दुनिया के कई देश भारत और पाकिस्तान के बीच वार्ता बहाल करने का प्रयास कर रहे हैं। उधर, भारतीय सेना प्रमुख जनरल बिपिन रावत ने भी साफ कर दिया है कि पाकिस्तान से शांति वार्ता तभी हो सकती है जब वह जम्मू और कश्मीर में आतंकियों को समर्थन देना बंद कर दे। 
देश की उत्तरी और पश्चिमी सीमा पर बढ़ती चुनौतियों को देखते हुए थार के रेगिस्तान में सेना और वायु सेना ने मिलकर 'हमेशा विजयी  नामक बड़ा युद्धाभ्यास भी किया है।  शनिवार को हमला दोपहर करीब सवा 12 बजे हुआ था। हमले में शहीद हुए मेजर मोहारकर प्रफुल्ल अंबादास (32) महाराष्ट्र के भंडारा जिले के रहने वाले थे। वहीं, लांस नायक गुरमेल सिंह (34) अमृतसर से और सिपाही परगट सिंह (30) हरियाणा के करनाल जिले के रहने वाले थे। रविवार को गुरमेल सिंह का पार्थिव शरीर उनके गांव पहुंचा। 
 


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

गभारतीय अर्थव्यवस्था की वृद्धि दर 2018 में 7 फीसदी संभव

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। लोकसभा चुनाव 2019 के मद्देनजर सरकारी नीतियां संकटग्रस्त ग्रामीण परि²श्य की ओर झुकती नजर आएंगी। भारतीय अर्थव्यवस्था की दर नोटबंदी और जीएसटी के सुस्त प्रभावों से उबरते हुए 2018 में सात फीसदी जा सकती है। उद्योग चैंबर एसोचैम ने रविवार को इस बात की जानकारी दी। औद्योगिक संस्था द्वारा आगामी वर्ष के लिए जारी ‘परिदृश्य’ के मुताबिक, लोकसभा चुनाव से पहले सरकारी नीतियां तनावग्रस्त ग्रामीण परि²श्य की ओर झुकने के साथ ही भारतीय अर्थव्यवस्था 2018 में नोटबंदी और जीएसटी को लागू करने से पड़े सुस्त प्रभाव से हुई बाधा के बाद सात फीसदी की दर पर पहुंच जाएगी।  परिदृश्य में कहा गया है, ‘‘2017-2018 की दूसरी छमाही में सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) में 6.3 फीसदी वृद्धि के बावजूद 2018 की सितंबर तिमाही के अंत तक आर्थिक वृद्धि सात फीसदी की महत्वपूर्ण दर को छू लेगी। 
जबकि अगले साल मानसून के हल्के रहने के साथ दूसरी छमाही तक मंहगाई दर 4.5 से पांच फीसदी के बीच बनी रहेगी।’’ एसोचैम के अध्यक्ष संदीप जाजोदिया ने कहा कि यह अनुमान सरकारी नीतियों, अच्छे मानसून, औद्योगिक गतिविधियों में तेजी और क्रेडिट वृद्धि के साथ-साथ विदेशी मुद्रा दरों में स्थिरता के आधार पर लगाया गया है। 
उन्होंने कहा, ‘‘अगर राजनीतिक रूप से कोई बड़ा फेरबदल नहीं होता है तो कच्चे तेल की बढ़ी कीमतों को लेकर चिंता कम हो सकती है।’’ औद्योगिक संस्था ने कहा कि राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण कई राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, जिसके मद्देनजर राजनीतिक अर्थव्यवस्था कृषि क्षेत्र की ओर झुक सकती है, जहां कुछ समय से तनाव देखा जा रहा है। एसोचैम को लगता है कि आगामी केंद्रीय बजट किसानों की तरफ झुका होगा, जबकि उद्योग का ध्यान विभिन्न क्षेत्रों पर केंद्रित होगा, जहां रोजगार पैदा होता है। 


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

अम्मा की सीट पर दिनकरन की शानदार जीत  पश्चिम बंगाल में टीएमसी जीती

जयपुर टाइम्स
चेन्नई/कोलकाता (एजेंसी)। देश में 4 राज्यों के 5 विधानसभा सीटों पर 21 दिसंबर को हुए उपचुनाव के नतीजे रविवार को आ गए है। तमिलनाडु की बहुचर्चित विधानसभा सीट डॉ. राधाकृष्णन नगर (आरके नगर) पर हुए उपचुनाव में शशिकला के भतीजे और निर्दलीय उम्मीदवार टीटीवी दिनकरन ने शानदार जीत हासिल की है। उन्होंने अन्नाद्रमुक के उम्मीदवार मधुसूदनन को करीब 40 हजार मतों के अंतर से हराया। वहीं, पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने सबांग विधानसभा सीट पर 64,192 वोटों के भारी अंतर से जीत हासिल की। तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार गीता रानी भुनिया को 1,06,179 मत मिले जबकि माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को उम्मीदवार रीता मंडल ने 41,987 वोट ही हासिल कर पाईं। 
अरुणाचल प्रदेश की लिकाबाली और पक्के-केसांग सीट पर हुए बाइपोल में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) को जीत मिली है। दो सीटों पर चुनाव जीतने के बाद बीजेपी के 49 विधायक हो गए हैं। पक्के-केसांग सीट पर बीजेपी के बीआर वाघे को 475 वोट से जीत मिली। उन्होंने कांग्रेस के टिकट पर चुनाव लड़ रहे पूर्व डिप्टी सीएम कमेंग डोलो को हराया। वाघे को 3517 और डोलो को 3042 वोट मिले। दूसरी ओर, लिकाबाली सीट पर बीजेपी के कार्दो नियोग्योर ने पीपीए कैंडिडेट गुमका रिबा को 305 वोट से हराया। यहां बीजेपी 3461 और पीपीए को 3156 वोट मिले। कांग्रेस कैंडिडेट सिर्फ 362 वोट ही हासिल कर पाए।
पश्चिम बंगाल की सत्तारूढ़ पार्टी तृणमूल कांग्रेस ने रविवार को सबांग विधानसभा सीट पर 64,192 वोटों के भारी अंतर से जीत हासिल की। तृणमूल कांग्रेस उम्मीदवार गीता रानी भुनिया को 1,06,179 मत मिले जबकि माक्र्सवादी कम्युनिस्ट पार्टी (माकपा) को उम्मीदवार रीता मंडल ने 41,987 वोट ही हासिल कर पाईं। भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की अंतरा भट्टाचार्य 37,476 वोटों के साथ तीसरे स्थान पर हैं। हालांकि इस उपचुनाव में पार्टी का प्रदर्शन सुधरा है जबकि 2016 के विधानसभा चुनावों में उसे केवल 5000 वोट मिले थे। वहीं, एक साल पहले विधानसभा चुनाव में इस सीट पर कब्जा करने वाली कांग्रेस का प्रदर्शन इस बार काफी खराब है, कांग्रेस उम्मीदवार चिरंजीब भौमिक 18,060 वोटों के साथ चौथे स्थान पर हैं। मानस भुनिया के इस्तीफा देने के बाद 21 दिसंबर को उपचुनाव हुए थे। अब वह अपनी नई पार्टी से राज्यसभा सदस्य हैं। तृणमूल उम्मीदवार गीता रानी मानस भुनिया की पत्नी हैं।
आरके नगर : दिनकरन की ऐतिहासिक जीत
डॉ. राधाकृष्णन नगर (आरके नगर) पर शशिकला के भतीजे और निर्दलीय उम्मीदवार टीटीवी दिनकरन ने शानदार जीत हासिल की है। दिनकरन ने मधुसूदनन को करीब 40 हजार मतों के अंतर से हराया। 10वें राउंड की काउंटिंग के बाद दिनकरन की जीत तय मानी जा रही थी। आरके नगर का यह नतीजा पन्नीरसेल्वम-पलानीस्वामी गुट के लिए बड़ा झटका है। करीब दो दशक के इतिहास में पहली बार है जब सत्तारूढ़ पार्टी को आरके नगर सीट गंवानी पड़ी है। इसी सीट से तमिलनाडु की पूर्व मुख्यमंत्री जे. जयललिता चुनाव लड़ती थीं। दिनकरन को 86,472 वोट मिले, जबकि उनके प्रतिद्वंदी  अन्नाद्रमुक के उम्मीदवार मधुसूदनन को 47,115 मतों से ही संतोष करना पड़ा। तीसरे नंबर पर रहे डीएमएके उम्मीदवार के खाते में 24,078 वोट ही आए।  नोटा के लिए 1926 लोगों ने वोट किया जबकि बीजेपी उम्मीदवार को मात्र 1126 वोट मिले।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

हिमाचल के नए सीएम जयराम 27 को लेंगे शपथ

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली/शिमला (एजेंसी)। जयराम ठाकुर हिमाचल प्रदेश के नए मुख्यमंत्री होंगे। रविवार को उन्हें विधायक दल की मीटिंग में नेता चुना गया। नेता चुने जाने के बाद ठाकुर पार्टी के सीनियर लीडर्स के साथ गवर्नर आचार्य देवव्रत से मिले और सरकार बनाने का दावा पेश किया। शपथ ग्रहण समारोह 27 दिसंबर को शिमला में होगा। इससे पहले सीएम रेस में जेपी. नड्डा का नाम भी चल रहा था। लेकिन, कास्ट फैक्टर को देखते हुए ठाकुर को नेता चुना गया। हिमाचल में ठाकुर कम्युनिटी ज्यादा है और नड्डा ब्राह्मण हैं। बीजेपी के सामने सीएम की दिक्कत प्रेम कुमार धूमल के हारने की वजह से हुई थी। नरेंद्र सिंह तोमर ने ठाकुर के नाम का एलान किया। प्रेम कुमार धूमल ने ठाकुर के नाम का प्रस्ताव किया था।
विधायक दल की बैठक में बीजेपी के सेंट्रल ऑब्जर्वर निर्मला सीतारमण और नरेंद्र सिंह तोमर भी शामिल हुए। तोमर ने कहा- बैठक में नए नेता के चयन की प्रक्रिया रविवार को पूरी हो रही है। आज हम सब लोगों ने सबसे पहले बीजेपी के कोर ग्रुप की बैठक में हिस्सा लिया। चर्चा में पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह जी और संसदीय बोर्ड ने फैसला किया। विधानमंडल दल की बैठक हुई। इसमें पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल जी ने जयराम ठाकुर को अध्यक्ष बनाने का प्रस्ताव रखा। जेपी नड्डा और शांता कुमार ने प्रस्ताव का समर्थन किया।कोई दूसरा प्रस्ताव सामने नहीं है इसलिए जयराम ठाकुर जी को विधानमंडल दल का नेता घोषित किया जाता है।
तोमर ने जयराम ठाकुर को आभार प्रकट करने के लिए बुलाया। जयराम ठाकुर ने कहा, मैं नरेंद्र तोमर, निर्मला सीतारमण, जेपी नड्डा जी, प्रेम कुमार धूमल, शांता कुमार, हेमंत पांडे, पवन राणा और विधायकों का धन्यवाद करता हूं। हिमाचल एक ऐसा प्रदेश है, जहां बीजेपी की सरकार का हम इंतजार कर रहे थे और ये सपना साकार हुआ। हिमाचल कांग्रेस मुक्त हुआ। मैं नरेंद्र मोदी, अमित शाह को धन्यवाद देता हूं।
 जिस उम्मीद पर जनता ने हमें जनादेश दिया है और राष्ट्रीय नेतृत्व ने जो हमसे उम्मीद रखी है, हम उसे पूरा करने की कोशिश करेंगे।
जयराम ठाकुर जब आभार प्रकट करने के लिए सामने आए तो पांच बार पूर्व सीएम प्रेम कुमार धूमल का नाम लिया। इसके बाद उन्होंने उनके पैर भी छुए। धूमल पार्टी के सीएम कैंडिडेट थे लेकिन वो सुजानपुर से चुनाव हार गए थे। ठाकुर प्रेम कुमार धूमल सरकार में पंचायत और ग्रामीण विकास मंत्री रह चुके हैं। इस बार सेराज से विधायक चुने गए। वो अब तक पांच बार विधायक चुने जा चुके हैं।
जयराम बनाम धूमल गुट की भिड़ंत से केंद्र दुखी
सेंट्रल ऑब्जर्वरों की मौजूदगी में जिस तरह से पहले जयराम गुट और फिर धूमल गुट ने नारेबाजी की और नौबत हाथापाई तक पहुंच गई थी, उससे पार्टी हाईकमान काफी खफा है। बीजेपी के बड़े नेताओं ने कहा है कि जिस तरह की चीजें सामने आईं हैं, उन्हें खारिज नहीं किया जा सकता। दोषी नेताओं के खिलाफ कार्रवाई होगी।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

अन्ना खोलेंगे मोदी सरकार की पोल, 23 मार्च से दिल्ली में शुरू करेंगे आंदोलन

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। किसानों को उनकी उपज का पूरा दाम दिलाने, भष्टाचार मुक्त भारत बनाने, लोकपाल के पुराने ड्राफ्ट को मंजूरी दिलाने के लिए प्रसिद्ध सामाजिक कार्यकर्ता अन्ना हजारे ने शनिवार को जयपुर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि मोदी सरकार किसानों की नहीं, उद्योगपतियों की चिंता करती है। उन्होंने कहा कि इस सरकार को जगाने के लिए वे 23 मार्च से वापस दिल्ली में आंदोलन करने जा रहे हैं, जिसमें हर दिन मोदी सरकार के कारनामों की पोल खोलेंगे। उन्होंने बताया कि वित्त विधेयक में 40 संसोधन कर दिए। बिना चर्चा के पास भी कर दिए। विदेशी कंपनियों को टैक्स में छूट दे दी। इसलिए तय किया है 23 मार्च से रामलीला मैदान में आंदोलन शुरू किया जाएगा। 
उनका कहना था कि गांव को आत्मनिर्भर बनाना होगा। गांधीजी इसीलिए कहते थे गांव का विकास होगा तभी देश का विकास होगा। देश के विभिन्न राज्यों में 15 दिन से घूम रहा हूं। भारत में 22 साल में 22 लाख किसानों ने सुसाइड किया। किसानों को फसल का उचित दाम नहीं मिल रहा। ये सरकार किसानों के बजाय उद्योगपतियों की चिंता करती है।


 


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

रिज मैदान पर होगी भाजपा के नये मुख्यमंत्री की ताजपोशी

जयपुर टाइम्स
शिमला (एजेंसी)। हिमाचल प्रदेश भारतीय जनता पार्टी(भाजपा) के अध्यक्ष सतपाल सत्ती ने आज कहा कि राज्य के नये मुख्यमंत्री के नाम की घोषणा पार्टी हाईकमान द्वारा जल्द किये जाने की सम्भावना है और नयी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह रिज मैदान पर भव्य समारोह में होगा। सत्ती ने पार्टी के राज्य में भारी बहुमत से विधानसभा चुनाव जीतने के बाद अपने पहले संवाददाता सम्मेलन में आज यहां कहा कि पार्टी भले ही 50 सीटें जीतने के अपने लक्ष्य तक नहीं पहुंच सकी लेकिन उसे करीब दो तिहाई बहुमत तक पहुंचाने के लिये वह जनादेश का सम्मान और जनता का इसके लिये आभार व्यक्त करते हैं। उन्होंने कहा कि विधानसभा चुनावों में 3679655 मतदाताओं ने अपने मताधिकार का इस्तेमाल किया तथा इसमें से पार्टी को 1846432 यानि 48.8 प्रतिशत मत मिले। 
ऊना विधानसभा क्षेत्र से स्वयं चुनाव हार चुके सत्ती ने दावा किया कि पार्टी के ज्यादा उम्मीदवार बेहद कम मतांतर से हारे। विपक्ष भाजपा को दलित, आदिवासी और महिला विरोधी के रूप में पेश करता रहा लेकिन इन तीनों ही वर्गों ने बढ़-चढक़र पार्टी के पक्ष में मतदान किया। उन्होंने कहा राज्य की 17 आरक्षित सीटों में 13 पर और तीन आदीवासी सीटों में से दो पर पार्टी जीत दर्ज करने में सफल रही। किन्नौर आदीवासी सीट से पार्टी प्रत्याशी की हार का अंतर महज 120 मतों का रहा। उन्होंने महिलाओं को कम सीटें देने के लिये कांग्रेस पर निशाना साधते हुये कहा कि उनकी पार्टी ने छह महिलाओं को चुनाव में उतारा था जिनमें से शाहपुर से सरवीन चौधरी, इंदौरा से अनीता धीमान और भोरंज से कमलेश कुमार विधानसभा तक पहुंचने में सफल रहीं। सत्ती ने कहा कि राज्य विधानसभा चुनावों में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और भाजपा की लहर का ऐसा असर था कि इसमें कांग्रेस तीन प्रत्याशी अपनी जमानत भी नहीं बचा सके।
 इसके अलावा कांग्रेस ठियोग, देहरा, जोगिंदरनगर और शाहपुर में तीसरे स्थान पर खिसक गई।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

चारों दोषियों को उम्रकैद

जयपुर टाइम्स
भोपाल (एजेंसी)। पीएससी की तैयारी कर रही छात्रा से 31 अक्टूबर को हुए गैंगरेप के चर्चित मामले में सभी चारों दोषियों को उम्रकैद की सजा सुनाई गई है। स्पेशल जज सविता दुबे ने शनिवार को यह फैसला सुनाया। मामले की गंभीरता और आरोपियों पर लगाई गई धाराओं को देखते हुए सरकारी वकील रीना वर्मा और पीएन सिंह ने कोर्ट से उम्रकैद की अपील की थी। मामले में करीब 28 गवाहों के बयान दर्ज हुए।
फांसी चाहते थे विक्टिम के पेरेंट्स
कोर्ट के फैसले पर विक्टिम के पेरेंट्स ने कहा वे दोषियों के लिए फांसी चाहते थे, लेकिन इस फैसले से भी संतुष्ट हैं। उन्होंने कहा कि कम से कम दोषी जिंदा रहने तक जेल में तो रहेंगे। इससे वे फिर ऐसा गुनाह कभी नहीं कर पाएंगे।
लोगों का कानून भर भरोसा 
बढ़ेगा : सरकारी वकील
सरकारी वकील रीना वर्मा ने कहा इस तरह के फैसले से कानून पर लोगों का भरोसा और बढ़ेगा। गैंगरेप को कोर्ट ने रेयरेस्ट ऑफ रेयर क्राइम माना है। इसके तहत चारों दोषी नैचुरल डेथ तक जेल में ही रहेंगे। कोर्ट ने अलग-अलग धाराओं के तहत चारों दोषियों पर 3 से 5 हजार का जुर्माना भी लगाया है।
विक्टिम ने ही आरोपियों को ढूंढा
पुलिस जब थानों के सीमा विवाद में उलझी थी, तभी विक्टिम और उसके पेरेंट्स आरोपियों को ढूंढने निकल गए। इस बीच, विक्टिम ने दो आरोपियों की पहचान की। पेरेंट्स ने उन्हें पकडक़र पुलिस के हवाले कर दिया। 
दोनों आरोपियों ने जुर्म कबूल किया और फरार आरोपियों के नाम भी बता दिए।
पुलिस ने 11 घंटे सीमा विवाद में उलझा रखा था केस
31 अक्टूबर की शाम को विदिशा निवासी छात्रा के साथ हबीबगंज रेलवे ट्रैक के पास पुलिया के नीचे चार लोगों ने गैंगरेप और लूटपाट की घटना को अंजाम दिया था।
वारदात वाली रात विक्टिम ने हबीबगंज आरपीएफ ऑफिस पहुंचकर एक अनजान नंबर से पिता को फोन किया था। ऑफिस में एक कोने में सहमी-सी खड़ी बेटी की हालत देख पिता उसे घर ले आए थे।
लडख़ड़ाते शब्दों में विक्टिम ने पिता को घटना के बारे में बताया था। उन्होंने बेटी को दिलासा दिया और 1 नवंबर को सुबह 9.30 बजे पत्नी और बेटी के साथ एमपी नगर पुलिस स्टेशन पहुंचे थे। ड्यूटी पर तैनात एसआई आरएम टेकाम ने उनकी पूरी बात सुने बगैर ही विक्टिम और उसके पेरेंट्स को हबीबगंज थाने भेज दिया था। 
विक्टिम की बात सुनते ही हबीबगंज टीआई उनके साथ दोपहर करीब 11.30 बजे घटनास्थल पर गए थे। उन्होंने घटनास्थल से ही जीआरपी हबीबगंज को फोन किया, लेकिन वहां से कोई भी स्टाफ मौके पर नहीं गया। हबीबगंज टीआई के कहने पर रात 8.30 बजे जीआरपी हबीबगंज ने मामला दर्ज किया।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

राहुल गांधी ने सोमनाथ मंदिर में भोलेनाथ के दर्शन कर पूजा की

जयपुर टाइम्स
अहमदाबाद (एजेंसी)। गुजरात के नतीजों के बाद पहली बार यहां पहुंचे राहुल गांधी ने पार्टी वर्कर्स को बधाई दी। अगर कांग्रेस एकजुट हो तो हारती नहीं है। इस दौरान उन्होंने दावा किया कि कांग्रेस में नई लीडरशिप नजर आई है और वह 2022 के चुनाव में यहां 135 सीटें जीतेगी। चुनाव के दौरान पार्टी के खिलाफ काम करने वाले वर्कर्स पर कार्रवाई की जाएगी।
कांग्रेस एकजुट होती है तो हारती नहीं
- राहुल ने कहा, "तीन-चार महीने पहले बीजेपी के लोग कह रहे थे कि कांग्रेस की 20-25 सीटें आएंगी और उनकी 150। गुजरात की कांग्रेस ने दिखा दिया कि अगर कांग्रेस पार्टी एकसाथ खड़ी हो जाती है, अपनी आइडियोलॉजी पर लड़ती है तो वो हारती नहीं है। हमारी चुनाव में हार हुई, लेकिन हम जीते। हम जीते क्योंकि वो गुस्से से लड़े, उनके पास सारे साधन थे, पैसा था, पुलिस और अलग प्रदेशों के चीफ मिनिस्टर थे। हमारे पास सच था। हम खड़े हुए और हमने पूरे देश को दिखा दिया कि कांग्रेस पार्टी प्यार से लड़ती है और जीत सकती है।"

पार्टी विरोधी वर्कर्स को दी नसीहत
- राहुल ने चुनाव में कांग्रेस के खिलाफ करने वाले वर्कर्स को भी नसीहत दी। उन्होंने कहा, "अगर आप कांग्रेस के साथ चुनाव में नहीं खड़े होंगे, तो कांग्रेस में आपका भविष्य नहीं बन सकता है। फिर वो चाहे कितने ही बड़े क्यों ना हों। बहुत सारे लोगों ने पूरे दम से काम किया है। वो सबको दिखा। उनको संगठन में आगे बढ़ाने का काम किया जाएगा। जिन्होंने पूरा सपोर्ट नहीं किया है। प्यार से.. गुस्से से नहीं... प्यार से हम उनके खिलाफ कार्रवाई करेंगे। विधानसभा में इस बार एक नई लीडरशिप दिखी। ये लीडरशिप अगले चुनाव में गुजरात की सरकार को चलाएगी। अगले चुनाव में कांग्रेस 135 सीटें आएंगी।"
 


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

एलओसी पर पाक की फायरिंग में मेजर सहित तीन शहीद

जयपुर टाइम्स
श्रीनगर (एजेंसी)। पाकिस्तान ने शनिवार को फिर से सीजफायर उल्लंघन किया। जम्मू-कश्मीर के केरी बटैलियन एरिया में पाकिस्तान की तरफ से की गई भारी गोलाबारी में भारत के 3 जवान शहीद हो गए। वहीं एक जवान गंभीर रूप से घायल हो गया। अधिकारियों के मुताबिक पाक ने सीजफायर तोड़ा और गश्ती में जुटे भारतीय आर्मी के जवानों पर हमला कर दिया।
सरकार ने संसद में दी थी सीजफायर की रिपोर्ट
इसी हफ्ते लोकसभा में गृह-राज्य मंत्री हंसराज अहीर ने सीजफायर उल्लंघन के बारे में लोकसभा को जानकारी दी थी। 10 दिसंबर तक के आंकड़ों के मुताबिक, पाकिस्तान जम्मू-कश्मीर स्थित लाइन ऑफ कंट्रोल पर 771 बार और इंटरनेशनल बॉर्डर पर 110 बार सीजफायर तोड़ चुका है। वहीं पाकिस्तान से लगे जम्मू-कश्मीर बॉर्डर के अलावा और किसी भी बॉर्डर पर क्रॉस फायरिंग के मामला सामने नहीं आया है।
2017 में मारे गए 200 से ज्यादा आतंकी
जम्मू-कश्मीर में इस साल सेक्युरिटी फोर्सेज ने ऑपरेशन ऑल आउट में 203 आतंकियों को मार गिराया। वहीं मुठभेड़ में भारतीय सेना और जम्मू-कश्मीर पुलिस के भी 75 जवान शहीद हुए।
कश्मीर से पकड़े 91 आतंकी
केंद्रीय गृह राज्य मंत्री ने बताया कि जनवरी, 2017 से 14 दिसंबर तक जम्मू-कश्मीर में हुई 337 आतंकी घटनाओं में कुल 318 लोगों की मौत हुई। एनकाउंटर में 203 आतंकी ढेर हुए। इस दौरान जम्मू-कश्मीर पुलिस और सेना के 75 जवान शहीद हुए, जबकि आतंकी हमले के दौरान 40 आम नागरिकों की भी जान गई। 91 आतंकियों को घाटी से पकड़ा गया।


Notice: Undefined index: author in /home/jaipurtimes/public_html/news-category.php on line 129

राजस्थान में दर्दनाक हादसा: बस नदी में गिरी, बिहार के तीन सहित 20 की मौत

जयपुर टाइम्स जयपुर / सवाई माधोपुर (विसं.)। राजस्थान के सवाई माधोपुर के पास शनिवार को एक मिनी बस नदी में गिर गई। इस हादसे में 33 की मौत हो गई। वहीं, 8 लोग जख्मी हैं। मरने वालों में महिलाएंं और बच्चे भी शामिल हैं। जो लोग जख्मी हुए हैं, उन्हें इलाज के लिए हॉस्पिटल में एडमिट किया गया है। घटनास्थल पर मौजूद लोगों का कहना है कि मरने वालों की तादाद बढ़ सकती है। रेस्क्यू ऑपरेशन जारी है। मरने वालों में मध्य प्रदेश के लोग भी शामिल हैं। इस घटना पर पीएम मोदी और राहुल ने ट्वीट कर दुख जताया है। हादसा कहां हुआ ठ्ठ हादसा सुबह 6.15 बजे हुआ। सवाई माधोपुर के पास दुब्बी इलाके में बनास नदी पर बने पुल पर हुआ। बस पुल से नदी में गिर गई। ठ्ठ जिस जगह पर हादसा हुआ, वह सवाई माधोपुर से करीब 20 किमी. दूर है। नाबालिग चला रहा था मिनी बस ठ्ठ स्थानीय लोगों का कहना है कि ड्राइवर ने अपने नाबालिग कंडक्टर को बस चलाने को दी थी। पुल पर बस कंट्रोल से बाहर हो गई और वह रेलिंग तोड़ते हुए नदी में जा गिरी। कंडक्टर की उम्र 16 साल बताई जा रही है। ओवरटेक करने के दौरान हुआ हादसा ठ्ठ सवाई माधोपुर के सांसद सुखबीर सिंह जौनपुरिया ने बताया कि हादसा ड्राइवर की वजह से हुआ। वह पुल पर ओवरटेक करने की कोशिश कर रहा था। इस मामले की जांच के आदेश दे दिए गए हैं। कितना नुकसान हुआ ठ्ठ दुब्बी के पुलिस अफसर सुभाष मिश्रा ने बताया कि अब तक 26 लोगों की बॉडी नदी से निकाली जा चुकी थी। मरने वालों में राजस्थान, मध्य प्रदेश और बिहार के हैं। अभी तक जिन लोगों की पहचान हुई, उनमें 7 लोग सवाई माधोपुर के हैं।