Updated -

mobile_app
liveTv

सरकार बुनकरों को समर्थ एवं कुशल बनाने की दिशा में प्रयासरत: राजपाल सिंह

जयपुर। उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने सोमवार को विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि प्रदेश के बुनकर सशक्त बनें और अपने पैरों पर खड़े हों। इसके लिए सरकार उनका कौशल विकास करने के साथ ही उनके उत्थान के लिए विभिन्न अवसर उपलब्ध करवा रही है।
शेखावत ने सदन में शून्यकाल के दौरान विधायकों की ओर से इस संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब देते हुए कहा कि बाजार की मांग के अनुरूप बुनकरों को बिचौलियों से बचाते हुए सीधे बाजार तक अपने उत्पाद पहुंचाने के अवसर सरकार उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 250 नई डिजाइन डवलपमेंट का लक्ष्य रखा गया था और अभी तक 246 डिजाइन तैयार कर ली गई है। साथ ही बुनकरों को अपने उत्पादों के विपणन के लिए 40 मेलों और प्रदर्शनियों के आयोजन का लक्ष्य रखा गया था, जिसके विरुद्ध 45 मेलों और प्रदर्शनियों का आयोजन कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि खादी सहित बुनकरों के उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए बीबी रसेल जैसी ख्यातनाम डिजाइनर को जोड़ा गया है। उद्योग मंत्री ने बताया कि सरकार बुनकरों के उत्थान के लिए बहुआयामी योजनाओं पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि बुनकरों का कौशल विकास किया जा रहा है और उन्हें अवसर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। श्री शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम एवं रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत बुनकरों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है। इससे पहले विधायक घनश्याम महर के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बुनकर/हाथकरघा योजना के नाम से कोई योजना संचालित नहीं है।

गौ-तस्करी पर नियंत्रण में सफल हुए हैं -कटारिया

जयपुर। गृहृमंत्री गुलाब चन्द कटारिया ने सोमवार को राज्य विधानसभा में कहा कि प्रदेश में गौ-तस्करी पर नियंत्रण के लिए पुख्ता व्यवस्था के फलस्वरूप इसमें सफलता प्राप्त हुई है। कटारिया प्रश्नकाल में विधायकों द्वारा पूछे गये पूरक प्रश्नों के जवाब में बताया कि गौ-तस्करी पर नियंत्रण के लिए अलवर और भरतपुर जिले में दो पुलिस चौकियां स्थापित की गई है। उन्होंने कहा कि गौ-तस्करी पर नियंत्रण की पुख्ता व्यवस्था की गई है। इसी को दृष्टिगत रखते हुए गौ तस्करी को रोकने में सफल हुए हैं। गृहमंत्री ने कहा कि अलवर जिले में अपराधों के सारे आंकड़ों का विश्लेषण किया गया है, इनमें चोरी रोकने व माल बरामदगी में सफलता मिली है। उन्होंने कहा कि समस्त क्षेत्र की जनता की समस्या का समाधान करने का निश्चित रूप से प्रयास किया जायेगा।  इससे पहले विधायक बनवारीलाल सिंघल के मूल प्रश्न के जवाब में गृहमंत्री ने बताया कि अलवर जिले में कानून व्यवस्था हेतु दो पुलिस अधीक्षक लगाये जाने के सम्बन्ध में श्री ज्ञानदेव आहूजा, विधायक, रामगढ़ अलवर द्वारा वर्ष 2015 एवं 2016 में पुलिस विभाग को पत्र लिखकर मांग की गई थी।  उन्होंने बताया कि अलवर जिले का भौगोलिक क्षेत्रफल काफी बड़ा है। जिला स्तर पर अपराध पंजीयन भी राज्य में अलवर में सर्वाधिक है। वर्ष 2017 में 17 हजार 405 प्रकरण दर्ज है। इस दृष्टि से अलवर जिले में दो पुलिस अधीक्षक लगाये जाने का प्रस्ताव विचाराधीन है।

जैसलमेर एवं जोधपुर में शहरी गैस वितरण नेटवर्क विकसित किया जायेगा-सिंह

जयपुर/जोधपुर। खान राज्य मंत्री सुरेन्द्र पाल सिंह टीटी ने गुरुवार को विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार ने अवैध खनन पर अंकुश लगाने के लिए सार्थक प्रयास किए हैं। बजरी की कमी के लिए पिछली सरकार की नीति को उत्तरदायी बताते हुए सिंह ने कहा कि अब बजरी के लिए छोटे आकार के खनन पट्टे जारी किए जाएंगे। साथ ही बजरी खनन में भारी मशीनरी का उपयोग प्रतिबन्धित किया जायेगा। 

उन्होंने कहा कि अप्रधान खनिजों के अब तक 572 प्लॉट ई-नीलामी हेतु अधिसूचित किए गए हैं, जिससे राजस्व में बढ़ोतरी होगी। उन्होंने घोषणा की कि जैसलमेर एवं जोधपुर में शहरी गैस वितरण नेटवर्क विकसित किया जायेगा तथ ‘ईज ऑफ डुइंग बिजनेस’ के लिए संयुक्त टीम का गठन होगा।
सिंह सदन में मांग संख्या-43 खनिज पर हुई बहस का जवाब दे रहे थे। बहस के बाद सदन ने खनिज की 3 अरब, 54 करोड़ 63 लाख 87 हजार रुपये की अनुदान मांगें ध्वनिमत से पारित कर दीं। 
खान राज्य मंत्री ने कहा राजस्थान प्रदेश खनिज के मामले में सौभाग्यशाली है। यहां खनिज के अपार और अमूल्य भंडार हैं। प्रदेश में विभिन्न खनिजों के लगभग 33 हजार 140 खानें स्वीकृत हैं। यहां पर अब तक 81 खनिजों की उपलब्धता प्रमाणित हो चुकी है एवं इनमें से 57 खनिजों का व्यावसायिक रूप से दोहन हो रहा है। खनिजों के उत्पादन की दृष्टि से राज्य का देश में अग्रणी स्थान है। वोलेस्टोनाइट, जेस्पार, जस्ता एवं सीसा में 100 प्रतिशत, जिप्सम में 99 प्रतिशत, बालक्ले में 92 प्रतिशत, रॉक फास्फेट में 91 प्रतिशत के साथ राज्य का देश में लगभग एकाधिकार है। राज्य के पश्चिमी जिलों में खनिज लिग्नाइट, क्रुड ऑयल तथा उच्च गुणवत्ता की गैस के अथाह भण्डार उपलब्ध है। खनन क्षेत्रों में प्रत्यक्ष व अप्रत्यक्ष रूप से 25 लाख लोगों को रोजगार मिल रहा है। राज्य के सकल घरेलू उत्पाद में खनन क्षेत्र का योगदान लगभग 7.04 प्रतिशत है।

सिंह ने कहा कि वर्ष 2017 में नई खनन नीति जारी करने के बाद प्रधान खनिज सीमेंट ग्रेड लाइमस्टोन के पांच ब्लॉक की ई-नीलामी सफलतापूर्वक की गई है। उन्होंने कहा कि अब खातेदारी भूमि में चार हेक्टेयर क्षेत्रफल तक के खनिज पट्टे ई-ऑक्शन के बिना देने के प्रावधान नियमों में किये जा रहे हैं जिससे खातेदारी भूमि में खनिज विकास को नई गति प्राप्त होगी। उन्होंने बताया कि खानों के पारिवारिक हस्तांतरण के संबंध में नियमों में संशोधन कर प्रीमियम राशि जो अधिकतम 10 लाख रुपए थी, को कम करते हुए पचास हजार रूपये निर्धारित की गई है।

खान राज्य मंत्री ने कहा कि अप्रधान खनिजों के अब तक 572 प्लॉट ई-नीलामी हेतु अधिसूचित किये गये हैं, जिनमें से 383 प्लाट पर ई-नीलामी की कार्यवाही पूर्ण हो चुकी है। 243 प्लॉट पर बोली प्राप्त हुई है जिनमें खनन पट्टा आवंटन की कार्यवाही की जा रही है। इनके अतिरिक्त लगभग 500 प्लॉट को ई-ऑक्शन हेतु तैयार किया गया है जिनकी शीघ्र नीलामी की जाएगी। सिंह ने कहा कि विभाग में रॉयल्टी वसूली के ठेके ई-नीलामी से दिये जा रहे हैं। लगभग 31 खनिजों को अप्रधान घोषित कर ई-नीलामी के माध्यम से रॉयल्टी वसूली के लिए प्रदान किए गए हैं।

मनरेगा में 5 हजार करोड़ रुपये खर्च कर 20 करोड़ मानव दिवस सृजित किये-राठौड़

जयपुर। ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज मंत्री श्री राजेन्द्र राठौड़ ने सोमवार को राज्य विधानसभा में बताया कि गत वर्ष प्रदेश में महात्मा गांधी नरेगा योजना में 5 हजार करोड़ रुपये खर्च कर 20 करोड़ से अधिक मानव दिवस सृजित कर लोगों को रोजगार दिया गया है।
उन्होंने आश्वस्त किया कि मनरेगा योजना में केन्द्र सरकार से राशि प्राप्त होते ही बकाया राशि का भुगतान कर दिया जायेगा। उन्होंने बताया कि प्रदेश में मनरेगा में 7 लाख 18 हजार 664 कार्य स्वीकृत किये गये थे जिसका मुख्य उद्देश्य गरीबों को रोजगार देकर आर्थिक उत्थान करना। राठौड़ ने कहा कि मनरेगा अधिनियम के तहत मांग अनुसार विभिन्न वर्गां को रोजगार देने की वरियता सूची है, उसी के अनुसार रोजगार दिया जा रहा है। उन्होंने अपना खेत अपना काम योजना में आवारा पशुओं से सुरक्षा के लिए खेतों की तारबन्दी का कार्य की मनरेगा अधिनियम में अनुमति नहीं है, लेकिन किसान खेतों की सुरक्षा के लिए गहरी खाई खोद कर व कच्ची मिट्टी की ऊँची दीवार बनाकर उनपर कटीली झाड़िया या पौधे लगाकर रोक सकते हैं। उन्होंने बताया कि अपना खेत अपना काम योजना में व्यक्तिगत लाभ योजना में 15 जुलाई, 2015 से राशि 2 लाख से बढ़ाकर 3 लाख कर दिया हैै।
राठौड़ ने कहा कि मुख्यमंत्री के प्रयासों से मनरेगा योजना में स्कुलों की पक्की चार दीवारी निर्माण कराने के लिए अनुमत किया गया। सभी सदस्य अपने क्षेत्रों के स्कूलों की चार दीवारी निर्माण मनरेगा में कराने का ठोस प्रयास करें।
उन्होंने मनरेगा में बनायी जाने वाली ग्रेवल सड़कों का 10 साल की अवधि को घटाकर 5 साल कर दिया है। उन्होंने अतिवृष्टि से क्षतिग्रस्त ग्रेवल सड़कों के सम्बन्ध में कहा कि उचित प्रस्ताव आने पर ग्रेवल सड़कें ठीक करायी जायेगी।
इससे पहले विधायक गौतम कुमार के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए ग्रामीण विकास मंत्री ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा योजना, महात्मा गांधी नरेगा अधिनियम 2005 के तहत संचालित योजना है, जिसमें अधिनियम की अनुसूची 1 के पैरा 5 में वर्णित परिवारों के लिए पैरा 4 (1) प्प् प्रवर्ग ‘आ’ में वर्णित कार्य कराए जाने का प्रावधान है। इन कार्यों को कराए जाने के लिए राज्य सरकार द्वारा योजना का नाम ‘‘अपना खेत अपना काम‘‘ दिया गया है। अधिनियम की अनुसूची 1 के पैरा 5 तक की प्रति उन्होंने सदन के पटल पर रखी। उन्होंने उक्त योजनाओं से वर्ष 2013 से 2017 तक विधान सभा क्षेत्र बड़ी सादड़ी में लाभान्वित हुए परिवारों का संख्या विवरण पंचायत समिति एवं ग्राम पंचायतवार सदन के पटल पर रखा।
ग्रामीण विकास मंत्री राठौड़ ने बताया कि महात्मा गांधी नरेगा अधिनियम 2005 की अनुसूची 1 के पैरा 5 में वर्णित पात्र परिवारों के कार्य नियमानुसार अनुमोदित वार्षिक कार्य योजना में सम्मिलित होने पर एवं उनकी आवश्यकता के अनुरूप फसलों को आवारा पशुओं रोजडों आदि से बचाने के लिए दिशा निर्देश 10 जून, 2016 को जारी किये गये हैं, जिसकी प्रति उन्होंने सदन के पटल पर रखी। उन्होंने बताया कि ग्रामीण विकास मंत्रालय, भारत सरकार के निर्देशानुसार तारबन्दी का कार्य योजनान्तर्गत नही कराया जा सकता है।

सरकार बुनकरों को समर्थ एवं कुशल बनाने की दिशा में प्रयासरत-राजपाल सिंह

जयपुर। उद्योग मंत्री राजपाल सिंह शेखावत ने सोमवार को विधानसभा में कहा कि राज्य सरकार की मंशा है कि प्रदेश के बुनकर सशक्त बनें और अपने पैरों पर खड़े हों। इसके लिए सरकार उनका कौशल विकास करने के साथ ही उनके उत्थान के लिए विभिन्न अवसर उपलब्ध करवा रही है।
शेखावत ने सदन में शून्यकाल के दौरान विधायकों की ओर से इस संबंध में पूछे गए पूरक प्रश्नों का जवाब देते हुए कहा कि बाजार की मांग के अनुरूप बुनकरों को बिचौलियों से बचाते हुए सीधे बाजार तक अपने उत्पाद पहुंचाने के अवसर सरकार उपलब्ध करवा रही है। उन्होंने कहा कि इस वर्ष 250 नई डिजाइन डवलपमेंट का लक्ष्य रखा गया था और अभी तक 246 डिजाइन तैयार कर ली गई है। साथ ही बुनकरों को अपने उत्पादों के विपणन के लिए 40 मेलों और प्रदर्शनियों के आयोजन का लक्ष्य रखा गया था, जिसके विरुद्ध 45 मेलों और प्रदर्शनियों का आयोजन कर लिया गया है। उन्होंने कहा कि खादी सहित बुनकरों के उत्पादों को अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पहचान दिलाने के लिए बीबी रसेल जैसी ख्यातनाम डिजाइनर को जोड़ा गया है।
उद्योग मंत्री ने बताया कि सरकार बुनकरों के उत्थान के लिए बहुआयामी योजनाओं पर काम कर रही है। उन्होंने कहा कि बुनकरों का कौशल विकास किया जा रहा है और उन्हें अवसर उपलब्ध करवाए जा रहे हैं। श्री शेखावत ने कहा कि प्रधानमंत्री रोजगार सृजन कार्यक्रम एवं रोजगार सृजन कार्यक्रम के तहत बुनकरों को आर्थिक रूप से सशक्त बनाने का प्रयास किया जा रहा है।
इससे पहले विधायक घनश्याम महर के मूल प्रश्न का जवाब देते हुए उद्योग मंत्री ने कहा कि प्रदेश में बुनकर/हाथकरघा योजना के नाम से कोई योजना संचालित नहीं है।

एनकाउंटर-18 : खली ने मचा दी खलबली, विदेशी फाइटर चित

उदयपुर। राजस्थान में पहली बार उदयपुर के खेलगांव में असली फाइट देखने को मिली। मौका था एनकाउंटर-18 शो में द ग्रेट खली के साथ कई विदेशी फाइटरों की फाइटिंग का। इसमें खली ने विदेशी फाइटरों को धूल चटा दी। खास बात यह रही कि इस शो में विदेशी महिला फाइटर भी शामिल हुईं। फाइटिंग देखने के लिए हजारों लोग पहुंचे और लाइव फाइटिंग देख रोमांचित हुए।

लेकसिटी में द ग्रेट खली सहित वर्ल्ड रेसलिंग एंटरटेनमेंट (डब्ल्यूडब्ल्यूई) के 25 से ज्यादा पहलवानों ने रेसलिंग की। महिला पहलवानों की भी फाइट हुई। मुकाबले में सबसे पहले पुरुष रेसलर्स के हैवी वेट मुकाबले हुए। इसमें भारतीय और विदेशी रेसलर्स सहित करीब 10-12 फाइटर्स एक साथ रिंग में उतरे। बाद में सीडब्ल्यूई पुलिस और अन्य रेसलर्स की फाइट हुई। महिला रेसलर्स की फाइट ने लोगों में रोमांच भर दिया। यह हैवीवेट फाइट कैटी फोर्ब्स ने जीती। 

श्रीदेवी के निधन पर राष्ट्रपति और पीएम सहित इन राजनीतिज्ञों ने जताया शोक

नई दिल्ली। राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, गृह मंत्री राजनाथ सिंह, स्मृति ईरानी और कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी सहित कई नेताओं ने रविवार को दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी के निधन पर शोक जताया। श्रीदेवी का दुबई में दिल का दौरा पडऩे से निधन हो गया। श्रीदेवी को मिस्टर इंडिया, सदमा, चालबाज, चांदनी जैसी कई बेहतरीन फिल्मों के लिए जाना जाता है। श्रीदेवी को 2013 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था। राष्ट्रपति ने ट्वीट किया, फिल्म अभिनेत्री श्रीदेवी के निधन की खबर सुनकर स्तब्ध हूं। वह लाखों प्रशंसकों को दर्द दे गईं। मूंद्रम पिराई, लम्हे और इंग्लिश विंग्लिश जैसी फिल्मों में उनका अभिनय अन्य कलाकारों को प्रेरित करता रहेगा। उनके परिवार और करीबियों के लिए मेरी संवेदनाएं हैं। 
मोदी ने भी ट्विटर पर लिखा, सुप्रसिद्ध अभिनेत्री श्रीदेवी के असामयिक निधन से दुख हुआ। वह फिल्म उद्योग की दिग्गज हस्ती थीं जिन्होंने अपने लंबे करियर में विविध भूमिकाएं निभाईं और यादगार अभिनय किया। इस दुख की घड़ी में मेरी संवेदनाएं उनके परिवार और प्रशंसकों के साथ हैं। उनकी आत्मा को शांति मिले। दिग्गज अभिनेत्री श्रीदेवी (54) अपने पति बोनी कपूर और छोटी बेटी खुशी कपूर के साथ एक पारिवारिक विवाह समारोह में हिस्सा लेने दुबई गई थीं।

5 साल की मासूम मूक-बधिर बच्ची से दुष्कर्म

झांसी। जनपद के पूंछ थाना क्षेत्र के ग्राम महाराजगंज ढेरी में पांच साल की मासूम बच्ची से गांव के ही युवक द्व़ारा दुष्कर्म किए जाने का मामला सामने आया है। सूचना मिलने पर पहुंची पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर पीड़ित बच्ची को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजा है। 
पुलिस के मुताबिक, पूंछ थाना क्षेत्र के ग्राम महाराजगंज ढेरी निवासी पांच साल की बच्ची जन्म से ही मूक-बधिर है। बताते हैं कि शुक्रवार सुबह बच्ची अचानक घर से गायब हो गई। आरोप है कि गांव का ही एक युवक उसे घर से उठा ले गया और खेत पर ले जाकर उसके साथ दुष्कर्म किया। बच्ची खून से लथपथ हो गई, उसकी बिगड़ती हालत देख आरोपी उसे खेत में छोड़कर फरार हो गया। 

उधर, बच्ची की तलाश कर रहे परिजनों ने पुलिस को सूचना दी। पुलिस जब तक मौके पर पहुंची, घर वालों को खून से लथ-पथ बच्ची खेत में पड़ी मिली। पुलिस ने बच्ची को चिकित्सीय परीक्षण के लिए भेजते हुए आरोपी युवक को हिरासत में ले लिया है। 

बीएसडीयू जयपुर बेस्ट इंडस्ट्री-एकेडेमिया इंटरफेस अवार्ड से सम्मानित

नई दिल्ली। ‘स्विस ड्यूअल सिस्टम अफ एजुकेशन‘ वाली देश की एकमात्र यूनिवर्सिटी- भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू), जयपुर को एडटेक रिव्यूू अवार्ड्स-2018 में बेस्ट इंडस्ट्री-एकेडेमिया इंटरफेस अवार्ड से सम्मानित किया गया।

पुरस्कार ग्रहण करते हुए भारतीय स्किल डेवलपमेंट यूनिवर्सिटी (बीएसडीयू), जयपुर के उप कुलपति ब्रिगेडियर (ड$) सुरजीत सिंह पाब्ला ने कहा- ‘‘बेस्ट इंडस्ट्री-एकेडेमिया इंटरफेस अवार्ड से सम्मानित होने पर हमेें गर्व का अनुभव है। उन्होंने कहा कि कौशल शिक्षा का उद्देश्य अनुभव के साथ पर्याप्त सैद्घांतिक इनपुट के साथ छात्रों को लैस करना है ताकि उन्हें आसानी से रोजगार हासिल हो सकंे या वे सुगमता से अपना व्यवसाय शुरू कर सकें। बीडीएसयू कौशल शिक्षा की मुख्य विशेषताएं यह है कि यह स्विस-ड्यूअल सिस्टम पर आधारित है जो भारत के कौशल के मानदंडों के अनुरूप है। पेशेवर मानकों को बनाए रखने के लिए बीएसडीयू में ‘एक छात्र - एक मशीन‘ की अवधारणा है।

ललित मोदी व नीरव मोदी का ‘नमो’ से सम्बन्ध

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने गुरुवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर तंज कसते हुए कहा कि घोटालेबाज ललित मोदी और नीरव मोदी दोनों का नमो से संबंध है। गांधी ने एक ट्वीट में भारत से उनके भागने के बारे में लिखा, घोटालेबाजों को भागने का फार्मूला : ल (मो) प्लस नी (मो) यानी भाग (गो)।
कांग्रेस ने मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि उसने उड़ान शब्द को नई परिभाषा दी है। उड़ान मोदी सरकार की किफायती उड़ान योजना है। कांग्रेस ने कहा, अगर इस घोटाले की सभी परतें खोली जाएंगी, तो घोटाला 30,000 करोड़ रुपए तक पहुंच जाएगा। मोदी सरकार ने उड़ान शब्द को नई परिभाषा दी है, जिसका मतलब है - हर घोटालेबाज बिना रोकटोक के देश से भाग सकता है।क्व

देशभर में कुल 26 ठिकानों पर छापे

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। पंजाब नेशनल बैंक (पीएनबी) में हुए घोटाले में शुक्रवार को सीबीआई ने नई एफआईआर दर्ज की। यह केस 11, 356 करोड़ रुपए के इस घोटाले के एक आरोपी मेहुल चौकसी के ‘गीतांजलि ग्रुप ऑफ कंपनीज’ के खिलाफ दायर किया गया है। इसके अलावा चौकसी से जुड़े 26 ठिकानों पर सीबीआई ने छापे भी मारे हैं। इसके अलावा सीबीआई ने दो फरार आरोपियों (नीरव मोदी और मेहुल चौकसी) के खिलाफ इंटरपोल से संपर्क भी किया है। बता दें कि पीएनबी ने गुरुवार को बैंकिंग इंडस्ट्री की सबसे बड़ी धोखाधड़ी का खुलासा किया था। यह फ्रॉड 177.17 करोड़ डॉलर यानी 11,356 करोड़ रुपए का है। इस मामले की जांच एनफोर्समेंट डायरेक्टोरेट और सीबीआई कर रही हैं। मामले में नीरव मोदी मुख्य आरोपी है।
पीएनबी ने दर्ज कराई है एफआईआर
पीएनबी देश का दूसरा सबसे बड़ा बैंक है। न्यूज एजेंसी के मुताबिक इस घोटाले में उसने शुक्रवार को मेहुल चौकसी के खिलाफ सीबीआई के पास एफआईआर दर्ज कराई। यह केस गीतांजलि ग्रुप की तीन कंपनियों गीतांजलि जेम्स, गिली इंडिया और नक्षत्र के खिलाफ दर्ज कराए गए हैं। सीबीआई के मुताबिक, नया केस दर्ज करने के बाद ग्रुप के 26 ठिकानों पर छापे मारे गए। पुणे, मुंबई, सूरत, जयपुर और कोयम्बटूर वो जगहें हैं, जहां रेड की गईं।

महिलाएं हर चुनौती का सामना करने में सक्षम : राजे

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। मुख्यमंत्री वसुन्धरा राजे ने कहा कि आज प्रदेश की महिलाएं हर चुनौती स्वीकार कर उनका सामना करने में सक्षम हैं और अपने घर-परिवार के साथ देश-प्रदेश को आगे बढ़ाने में पूरा योगदान दे रही हैं। उन्होंने कहा कि हम महिलाओं को पूरी तरह सशक्त बनाने की दिशा में लगातार आगे बढ़ रहे हैं ताकि हमारी नारी शक्ति प्रदेश के विकास में और अधिक भागीदारी निभा सके। राजे शुक्रवार को एसएमएस इंवेस्टमेंट मैदान में प्रदेशभर से हजारों की संख्या में आयी आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं, सहायिकाओं, साथिनों तथा आशा सहयोगिनियों को सम्बोधित कर रही थीं। उन्होंने कहा कि विभिन्न क्षेत्रों में काम कर रही महिलाएं अपनी शक्ति और सामथ्र्य का पूरा उपयोग करें तो राजस्थान को आगे बढऩे से कोई नहीं रोक सकता।
मुख्यमंत्री ने कहा कि भामाशाह योजना प्रदेश की महिलाओं के सशक्तीकरण में सबसे महत्वपूर्ण कदम साबित हुआ है। आज जिस महिला के पास भामाशाह कार्ड है, वो अपने परिवार की मुखिया है। उन्होंने कहा कि महिला सशक्तीकरण के इस मिशन को आगे बढ़ाते हुए राज्य बजट में आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं का मानदेय बढ़ाया गया जिसका लाभ प्रदेश की 1 लाख 84 हजार मानदेयकर्मी महिलाओं को मिलेगा। अब आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को 6 हजार, मिनी आंगनबाड़ी कार्यकर्ता को साढ़े 4 हजार, सहायिका को साढ़े 3 हजार, साथिन को 3 हजार 300 तथा आशा सहयोगिनी को 2 हजार 500 रुपये हर माह मिलेंगे।
राजे ने कहा कि राज्य सरकार आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं के हितों के साथ-साथ आंगनबाड़ी केन्द्रों के विकास पर भी काम कर रही है। उन्होंने कहा कि गत एक वर्ष में करीब साढ़े 4 हजार आंगनबाड़ी केन्द्र विकसित किए गए हैं, जहां बच्चों को अच्छी सुविधाएं और बेहतर प्री-स्कूल एजुकेशन मिल रही है। बाल विकास से जुड़ी विभिन्न परियोजनाओं के लिए 1 हजार नर्सिंग ट्रेनिंग टीचर्स की भी भर्ती की जाएगी।
मुख्यमंत्री ने कहा कि महिलाओं को हर क्षेत्र में सशक्त बनाने के लगातार प्रयास किये जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि महिला दुग्ध समितियों को 2 हजार लीटर क्षमता के 750 बल्क मिल्क कूलर और 1 हजार लीटर क्षमता के 250 बल्क मिल्क कूलर खरीद पर 50 प्रतिशत अनुदान दिया जाएगा। 
इसी प्रकार महिलाओं को तकनीकी प्रशिक्षण के लिए 24 राजकीय आईटीआई में 12 व्यवसायों में महिला विंग खोली जाएंगी।
इस अवसर पर उच्च शिक्षा मंत्री किरण माहेश्वरी, सार्वजनिक निर्माण मंत्री यूनुस खान, महिला एवं बाल विकास राज्य मंत्री अनिता भदेल, राज्य महिला आयोग की अध्यक्ष सुमन शर्मा, राजस्थान आंगनबाड़ी कर्मचारी महासंघ की प्रदेश महामंत्री राधा शर्मा तथा अन्य पदाधिकारी उपस्थित थे।