Updated -

mobile_app
liveTv

पत्थरबाजों और सेना के बीच हुई झडप, एक प्रदर्शनकारी की मौत

श्रीनगर। जम्मू एवं कश्मीर के पुलवामा जिले में लगभग दो दर्जन गांवों में सुरक्षाबलों द्वारा चलाए गए गहन तलाशी अभियान के बाद सोमवार को सुरक्षाबलों और पत्थरबाजों के बीच हुए संघर्ष में गोली लगने से एक युवक की मौत हो गई है। एसएमएचएस अस्पताल के चिकित्सकों ने बताया कि संघर्ष के दौरान गंभीर रूप से घायल फैयाज अहमद वानी को मृत घोषित कर दिया गया है। 

संघर्ष में लगभग आधा दर्जन नागरिक भी घायल हुए हैं। यह अभियान पुत्रीगाम, रोहमू, राजपोरा, मैत्रीगाम, गूसू, फ्रासीपोरा और अन्य गांवों में आतंकवादियों के होने की जानकारी मिलने के बाद यह अभियान शुरू किया गया था। दक्षिण कश्मीर में सुरक्षाबलों द्वारा चलाया गया यह कोई पहला तलाशी अभियान नहीं है।

गृहमंत्री बोले, मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान की हत्या की साजिश रची!

भोपाल। मध्यप्रदेश के चुरहट में मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान के काफिले पर हुए पथराव की घटना को लेकर राजनीति शुरू हो गई है। इस घटना के बारे में प्रदेश के गृहमंत्री भूपेंद्र सिंह ने बताया कि इसके पीछे मुख्यमंत्री की हत्या करने की साजिश रची गई थी। गृहमंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री के काफिले पर हमला करने वाले सभी आरोपी कांग्रेसी थे। उन्होंने कहा है कि इस मामले में अभी तक 8 कांग्रेस नेताओं को गिरफ्तार कर लिया गया है। 

राज्य के गृहमंत्री ने बताया कि इस घटना से लगता है कि यात्रा को लेकर कांग्रेस पहले से ही हताश और निराशा हाथ लग रही है। उनका कहना है कि पहले कांग्रेस के लोग अपशब्दों का प्रयोग करते थे और अब हिंसा पर उतारू हो गए हैं। कांग्रेस का यह चरित्र है वो सत्ता पाने के लिए किसी भी सीमा तक जा सकती है। उल्लेख हैं कि इस मामले में कुल 12 लोगों को दबोच लिया गया है। इस घटना के बाद मुख्यमंत्री की सुरक्षा को बढ़ा दिया गया है। मध्यप्रदेश के चुरहट में रविवार देर शाम मुख्यमंत्री की जन आशीर्वाद यात्रा के दौरान सीएम के रथ पर अज्ञात लोगों ने पत्थर फेंक गए थे।

जम्मू-कश्मीर में आतंकियों ने पुलिसकर्मियों के 9 रिश्तेदारों को किया अगवा

जम्मू। जम्मू-कश्मीर में आतंकी, सुरक्षाबलों की कार्रवाई से बौखलाए हुए हैं। इसका बदला लेने के लिए उन्होंने अब पुलिसकर्मियों के परिजनों का अपहरण शुरू कर दिया है। पिछले 36 घंटों में आतंकियों ने कश्मीर के अलग-अलग हिस्सों से पुलिसकर्मियों के 9 रिश्तेदारों का अपहरण कर लिया है।

जबकि एक अन्य जवान के भाई को अगवा करने के बाद छोड़ दिया। वहीं, गत बुधवार को अगवा किए गए पुलिसकर्मी के बेटे का अभी कोई सुराग नहीं मिला है। वादी में बीते चौबीस घंटे के भीतर पुलिसकर्मियों के बेटों व भाई को अगवा करने की चार वारदात हो चुकी हैं।

गुरुवार को पहली घटना पुलवामा जिले के त्राल क्षेत्र के गांव मिडूरा की है। आतंकी पुलिस के जवान गुलाम हसन के घर आए और उसके बेटे नसीर अहमद को अगवा करके ले गए। इसी गांव में आतंकवादियों ने एक स्पेशल पुलिस आफिसर (एसपीओ) की भी जमकर पिटाई की।

पुलवामा जिले के नमन गांव के रहने वाले हेड कांस्टेबल अब्दुल सलाम के बेटे मोहम्मद शफी मीर को भी आतंकियों ने अगवा कर लिया। इसी तरह आतंकियों ने पुलवामा जिले के ही कंगन क्षेत्र में एक पुलिस वाले के भाई की पिटाई कर उसे अगवा कर लिया, लेकिन बाद में उसे छोड़ दिया। पुलिस ने आतंकियों की तलाश तेज कर दी है।

गौरतलब है कि बुधवार रात को त्राल में आतंकवादियों ने पुलिस कर्मी रफीक अहमद राथर के बेटे आसिफ रफीक राथर को अगवा कर लिया था। उसकी मां व कश्मीर के कई लोगों ने आतंकवादियों से उसे छोड़ने की अपील की है। गुरुवार को उसके सहपाठियों ने मानवता के आधार पर उसे रिहा करने को कहा।

सुप्रीम कोर्ट ने SSC 2017 परीक्षा के परिणामों पर लगाई रोक

नई दिल्‍ली। सुप्रीम कोर्ट ने शुक्रवार को एक बड़ा फैसला सुनाते हुए एसएससी संयुक्त स्नातक स्तर परीक्षा 2017 और एसएससी संयुक्त उच्चतर माध्यमिक स्तर परीक्षा 2017 के परिणामों पर रोक लगा दी है। कोर्ट ने यह फैसला सुनाते हुए कहा है कि एसएससी परीक्षा प्रक्रिया और परीक्षा में प्रथम दृष्टा में पूरी गड़बड़ी नजर आ रही है।

ज्ञात हो कि पिछले साल एसएससी के पेपर लीक होने के बाद छात्रों ने काफी विरोध किया था। मामले को तूल पकड़ता देख केंद्र सरकार ने सीबीआइ जांच के आदेश दे दिए थे। जांच के दौरान सीबीआइ ने पाया कि एसएससी की सीजीएल टियर-2 की परीक्षा 17 फरवरी 2018 से 22 फरवरी 2018 के बीच दो बैच में होनी थी।

पहले बैच की परीक्षा का समय सुबह 10 बजकर 30 मिनट और दूसरे बैच की परीक्षा का समय दोपहर 2 बजकर 30 मिनटस से था। 21 फरवरी 2018 को परीक्षा के लिए चेन्‍नई स्थि‍त सिफी टेक्‍नोलॉजी के हेडक्‍वाटर ने मुंबई स्थिति डाटा सेंटर से सुबह 9 बजकर 30 मिनट से सुबह 10 बजे के बीच सभी प्रश्‍न पत्रों को सभी परीक्षा सेंटर के सिस्‍टम में अपलोड कर दिया।

सीबीआइ को आशंका है कि इस एक घंटे के दौरान कोई घालमेल हुआ है। हालांकि सीबीआई की ओर से अभी तक इस मामले में कोई आधिकारिक जानकारी सामने नहीं आई है।

 

रिपोर्ट में खुलासा, 20 सेकंड और देर होती तो क्रैश हो जाता राहुल का प्लेन

नई दिल्ली। कर्नाटक चुनाव के दौरान हुबली में राहुल गांधी के चार्टर विमान में जो खराबी आई थी वो खतरनाक साबित हो सकती थी। एक रिपोर्ट में दावा किया गया है कि अगर 20 सेकंड और देर हो जाती तो राहुल गांधी का विमान तकनीकी खामी की वजह से क्रैश हो जाता।

बीते 26 अप्रैल को नई दिल्ली से हुबली जाते समय राहुल गांधी के चार्टर्ड विमान में जो तकनीकी खराबी आई थी। घटना की आंतरिक जांच करने वाली नागरिक विमानन महानिदेशालय (डीजीसीए) की रिपोर्ट में दावा किया गया है कि तकनीकी खराबी पर पायलट काबू नहीं पाते तो अगले 20 सेकंड में गंभीर परिणाम सामने आ सकते थे, यहां तक की राहुल का विमान क्रैश भी हो सकता था।

रिपोर्ट के मुताबिक उस दिन राहुल गांधी का चार्टर्ड विमान अचानक एक तरफ झुकने लगा था और उसके इंजन से आवाज आ रही थी। विमान ऑटो पायलट मोड पर चल रहा था। रिपोर्ट ये इशारा करती है कि इस तरह की खराबी के पीछे मानवीय भूल हो सकती थी।

बता दें कि इस घटना के बाद राहुल गांधी के विमान की इमरजेंसी लैंडिंग करानी पड़ी थी। वहीं कांग्रेस की तरफ से साजिश की आशंका जताते हुए एफआईआर दर्ज कराई गई थी। कांग्रेस ने मामले की जांच की मांग की थी। कांग्रेस की मांग के बाद डीजीसीए ने आंतरिक जांच बैठाई थी।

यह घटना उस वक्त की है जब राहुल गांधी इसी वर्ष कर्नाटक विधानसभा चुनाव के प्रचार में 26 अप्रैल को दिल्ली से हुबली जा रहे थे। इस घटना का जिक्र करते हुए राहुल गांधी ने कहा था कि वह अंदर से हिल गए थे।

नोटबंदी पर बीजेपी ने साधा कांग्रेस पर निशाना, कहा- 'देश को गुमराह कर रही पार्टी'

नई दिल्ली : कांग्रेस पर नोटबंदी के मुद्दे पर देश को ‘‘गुमराह’’ करने का आरोप लगाते हुए भाजपा ने आज दावा किया कि इस कदम से काला धन बैंकों में जमा हुआ, आयकर संग्रह में वृद्धि हुई और बिना लेखा जोखा वाले बेहिसाबी धन का लेखाजोखा हो सका. भाजपा प्रवक्ता सैयद शाहनवाज हुसैन ने यहां कहा कि नोटबंदी की सबसे बड़ी सफलता यह है कि ‘अनएकाउंटेड मनी अब काउंटेड’ हो गया यानी बिना लेखा जोखा वाले बेहिसाबी धन का लेखाजोखा हो सका . 

2016 में मोदी सरकार ने की थी नोटबंदी
उन्होंने कहा कि इससे मुखौटा कंपनियों पर कार्रवाई करने में मदद मिली और डिजिटल भुगतान को बढ़ावा मिला.भाजपा के प्रवक्ता ने कहा कि नवम्बर 2016 में की गई नोटबंदी के कारण काले धन का पता लगाने में मदद मिली और कई लाख संदिग्ध बैंक खातों को जांच के तहत लाने की पहल की गई. उन्होंने कहा कि आयकर नहीं भरने वाले 2.09 लाख से अधिक लोगों ने अपना रिटर्न दाखिल किया और कर संग्रह में 18 प्रतिशत की वृद्धि हुई. पांच लाख से अधिक मुखौटा कंपनियां बंद हो गईं.

मांफी मांगे प्रधानमंत्री मोदी-कांग्रेस
हुसैन ने कहा कि कर अदा न करने वालों की तादाद करीब करीब दोगुना हो गई है. इसके बावजूद कांग्रेस इस विषय पर देश की जनता को गुमराह करने का प्रयास कर रही है लेकिन जनता हकीकत को समझती है. आरबीआई ने कहा था कि 500 और 1,000 रुपये के चलन से बाहर हुए 99.3 प्रतिशत नोट बैंकिग प्रणाली में वापस आ गये हैं. इसके बाद कांग्रेस ने इस मामले में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से माफी मांगने की मांग की है.

फिर बिगड़ी मनोहर पर्रिकर की तबीयत, देर रात इलाज के लिए हुए अमेरिका रवाना

मुंबई : काफी समय से बीमार चल रहे गोवा के मुख्यमंत्री मनोहर पर्रिकर बुधवार (29 अगस्त) को एक बार फिर इलाज के लिए अमेरिका रवाना हो गाए हैं. 
पर्रिकर (62) का इस साल की शुरुआत में अग्न्याशय संबंधी बीमारी के चलते तीन महीने तक अमेरिका में इलाज चला था और वह जून में भारत लौटे थे. इस महीने की शुरुआत में वह स्वास्थ्य जांच के लिए फिर से अमेरिका गए थे.

मुख्यमंत्री कार्यालय (सीएमओ) के एक अधिकारी ने बताया, 'पर्रिकर बुधवार देर रात डेढ़ बजे मुंबई हवाईअड्डे से एयर इंडिया के विमान से रवाना हुए.' उन्होंने बताया, ' वह आठ दिन के लिए अमेरिका गए हैं.' 

रद्द की गई दिल्ली में होने वाली बैठक
भाजपा के एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने बुधवार देर रात बताया कि गोवा भाजपा के नेताओं की दिल्ली में पार्टी अध्यक्ष अमित शाह के साथ आज होने वाली बैठक रद्द कर दी गई है. इस बैठक में पर्रिकर के इलाज के मद्देनजर तटीय राज्य में नेतृत्व पर चर्चा होनी थी. 

अमेरिका से ही कार्यभार संभालेंगे पर्रिकर
गोवा की कमान किसके हाथों में जाएगी, इसे लेकर लग रही अटकलों को विराम देते हुए मुख्यमंत्री कार्यालय ने बुधवार रात बताया कि पर्रिकर अपना प्रभार किसी को नहीं सौंपेंगे, बल्कि वह महत्वपूर्ण दस्तावेजों को अमेरिका से ही मंजूरी देंगे. मुख्यमंत्री कार्यालय के एक वरिष्ठ अधिकारी ने बताया कि मुख्यमंत्री की जिम्मेदारी किसी और को सौंपने का ‘कोई आदेश नहीं’ है. 

रेलवे पार्किंग पर GST, यात्रियों को लग रही लाखों की चपत

रायपुर। राज्य की राजधानी रायपुर के मुख्य रेलवे स्टेशन के सामने स्थित दोपहिया वाहन पार्किंग में हर महीने यात्रियों को लांखों की चपत लग रही है। निर्धारित शुल्क से अधिक सरेआम वसूला जा रहा है और वाहनों को असुविधा के बीच खड़ा करना मजबूरी है। पार्किंग संचालकों का इतना दबदबा है कि यात्री चाह कर भी विरोध नहीं पाते हैं।

रेलवे स्टेशन के आरक्षण काउंटर के सामने दोपहिया वाहन पार्किंग है। यहां प्रतिदिन यात्रियों के हजारों वाहन खड़े होते हैं। रेलवे द्वारा प्रति 12 घंटे के लिए निर्धारित शुल्क पांच रुपये है जो जीएसटी के बाद छह रुपये हो गया है। पार्किंग वाले लोगों से 10 रुपया वसूल करते हैं।

कोई यात्री इसका विरोध करे तो छह रुपया चेंज लाने के नाम पर गाड़ी खड़ी करने से इंकार कर देते हैं। ऐसे में जिस यात्री को गाड़ी पकड़नी है वह चेंज के लिए कहां घूमे, वह मजबूरी में पार्किंग मैन को दस रुपये देकर चला जाता है। यदि मान लिया जाए कि पार्किंग में प्रतिदिन एक से डेढ़ हजार वाहन आते हैं तो प्रतिदिन चार हजार रुपये अतिरिक्त के हिसाब से प्रति महीने यात्रियों से लगभग सवा लाख रुपये अवैध वसूले जाते हैं।

रेलवे की पार्किंग में कोई सुविधा नहीं, वाहन खड़े करने वाले स्थानों पर एक फीट का भी शेड नहीं है। यात्रियों की गाड़ियां धूप व बरसात में वैसे ही खड़ी रहती हैं। अभी पिछले दिनों पार्किंग के एक पेड़ की डाली टूट कर गिर गई थी जिससे कई वाहन क्षतिग्रस्त हो गए थे। पार्किंग मैन केवल पैसा लेने के अलावा यात्रियों का कोई सहयोग नहीं करते। यात्री चाहे महिला हो या बुजुर्ग उसे अपनी गाड़ी स्वतः अंदर रखनी व निकालनी होती है।

रेलवे पार्किंग कर्मियों की लापरवाही से पिछले वर्ष आग लग गई थी, जिसमें एक दर्जन से अधिक वाहन जल गए थे। इसमें भी पार्किंग की लापरवाही उजागर हुई थी। ऐसे में सवाल उठता है कि पार्किंग संचालकों को इतनी छूट क्यों दी जाती है।

मंडल रेल वाणिज्यिक प्रबंधक तन्मय मुखोपाध्याय का कहना है कि पार्किंग में अवैध वसूली की शिकायत को गंभीरता से लिया गया है। मामले में यदि किसी यात्री की लिखित शिकायत प्राप्त होती है तो कार्रवाई की जाएगी। निर्देश दिए गए हैं कि निर्धारित दर से अधिक किसी भी कीमत पर वसूला न जाए।

 

बैंक के काम शनिवार तक निपटा लें, फिर रहेगी लंबी छुट्टी

भोपाल। अगर आपका बैंक का कोई काम हो तो अगले दो दिनों में इन्हें निपटा लें। क्योंकि अगले महीने के पहले सप्ताह में बैंकों में लगातार 4 दिन का अवकाश रहेंगे। इससे बैंक से संबंधित काम प्रभावित हो सकते हैं। इस दौरान आम लोगों को एटीएम में कैश की परेशानी से भी जुझना पड़ सकता है।

आपको बता दें कि सितंबर महीने की शुरूआत में 2 सितंबर को रविवार के चलते बैंक बंद रहेंगे। इसके बाद 3 सितंबर को जन्माष्टमी की छुट्टी रहेगी। 4 और 5 सितंबर को पेंशन और अन्य मुद्दों को लेकर बैंक कर्मियों की हड़ताल है। इस वजह से बैंकों में कामकाज नहीं होगा। 6 और 7 सितंबर को बैंकें खुलेंगी और काम होगा, लेकिन इसके अगले 2 दिन फिर बैंक में अवकाश रहेगा। यानि 8 को दूसरा शनिवार और 9 को रविवार की छुट्टी रहेगी। हड़ताल और छुट्टी के दौरान कैश की सप्लाई भी नहीं होगी, ऐसे में लोगों को कैश की परेशानी सामने आ सकती है।

आपको बता दें कि जन्माष्टमी की छुट्टी के बाद 4 और 5 सितंबर को यूनाइटेड फोरम ऑफ रिजर्व बैंक ऑफिसर्स एंड एम्प्लॉइज एसोसिएशन के आह्वान पर हड़ताल की घोषणा की गई है। इस हड़ताल के चलते बैंकों में कामकाज नहीं होगा। ये हड़ताल पेंशन अपडेशन, पेंशन ओपनिंग सहित अन्य मांगों को लेकर बुलाई गई है। इन 2 दिनों में देशभर में बैंक अधिकारी-कर्मचारी सामूहिक रुप से अवकाश लेंगे।

इस तरह सितंबर के पहले 10 दिनों में 6 दिन बैंकें बंद रहेंगी और बैंकों से जुड़ा कोई काम नहीं होगी।

 

चारा घोटाला केस : जमानत अवधि खत्म होने के बाद कोर्ट में लालू का सरेंडर

रांची। चारा घोटाला मामले में सजा पा चुके राजद प्रमुख लालू यादव ने गुरुवार को रांची की विशेष सीबीआई अदालत के सामने सरेंडर किया। प्रोविजनल बेल खत्म होने के बाद लालू ने पहले चाईबसा वाले मामले में सरेंडर किया वहीं दुमका और देवघर मामले में सीबीआई जज एसपी की कोर्ट में सरेंडर कर दिया।

कोर्ट के निर्देश के बाद पुलिस ने लालू यादव को हिरासत में लिया और उन्हें बिरसा मुंडा सेंट्रेल जेल लेकर रवाना हो गई है। जेल से लालू को इलाज के लिए रिम्स ले जाया जाएगा जहां उनका इलाज होगा। इससे पहले लालू गेस्ट हाउस से सीबीआई स्पेशल कोर्ट पहुंचे। यहां सरेंडर करते ही कोर्ट ने जेल और फिर रिम्स ले जाने के निर्देश दे दिया।

बता दें कि चारा घोटाले से जुड़े मामले में दोषी ठहराए जाने के बाद बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू यादव मेडिकल ग्राउंड पर पेरोल पर बाहर हैं। पिछले दिनों रांची कोर्ट ने इलाज के लिए उनकी प्रोविजनल बेल बढ़ाने की याचिका खारिज कर दी थी। उनकी बेल की अवधि 27 अगस्त को खत्म हो गई थी और उन्हें 30 अगस्त को कोर्ट के सामने सरेंडर करना था।

इससे पहले जमानत देते हुए हाई कोर्ट ने लालू को राजनीतिक गतिविधि व बयानबाजी से परहेज की शर्त लगाई थी, लेकिन स्टेट गेस्ट हाउस में मीडिया से बात करते हुए लालू पूरी रौ में दिखे। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को तानाशाह करार देते हुए उन्होंने कहा कि देश गलत हाथों में चला गया है। हालात बद से बदतर हो रहे हैं। शाम को उन्होंने झारखंड और बिहार के प्रमुख विपक्षी नेताओं से बंद कमरे में गुफ्तगू भी की।

लालू ने कहा कि यह प्रोपगेंडा चलाया जा रहा है कि मोदी को जान का खतरा है, कोई बताए तो सही, आखिर खतरा किससे है? कोई प्रमाण तो दें। देश में तानाशाही बढ़ रही है। सरकार के खिलाफ बयानबाजी करने वाले बुद्धिजीवियों को माओवादियों के नाम पर फंसाया जा रहा है। आसन्न चुनाव में गठबंधन के मसले पर उन्होंने दो टूक कहा कि सारा विपक्ष एक मंच पर है, कहीं कोई ईगो नहीं है। दावा किया कि मुझे फंसाया गया है, अब पत्नी-बच्चों को फंसाया जा रहा है।

हाई कोर्ट से जब तक लालू यादव को प्रोविजनल बेल मिलती रही, उन्होंने कोर्ट की शर्त का पूरी तरह से पालन किया। जमानत की अवधि बढ़ाने वाली याचिका खारिज होते ही लालू के तेवर बदल गए हैं। रांची के गेस्ट हाउस में रुके लालू ने यहां सियासी दरबार सजाया।

लाल रंग की हाफ टीशर्ट और धोती पहने लालू अपने पुराने रंग में दिखे। स्टेट गेस्ट हाउस में भीतर-बाहर नेताओं- कार्यकर्ताओं का जमावड़ा लगा रहा। मुलाकात करने वाले प्रमुख लोगों में झारखंड के पूर्व मुख्यमंत्री सह झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष हेमंत सोरेन, पूर्व केंद्रीय मंत्री सुबोधकांत सहाय प्रमुख थे। बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी ने भी उपस्थिति दर्ज कराई।

राजद प्रमुख लालू प्रसाद ने अपने परिवार पर आए चौतरफा संकट को टालने के लिए टोटके का सहारा लिया है। अगला दो दिन उनके परिवार के लिए निर्णायक साबित होने वाला है। गुरुवार को लालू को रांची में समर्पण करना है तो 31 अगस्त को दिल्ली की विशेष अदालत में रेलवे टेंडर घोटाले में पूर्व मुख्यमंत्री राबड़ी देवी और नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव की पेशी है।

बुधवार को पटना से रांची और दिल्ली के लिए रवाना होने के पहले लालू परिवार ने अपने सरकारी आवास के मुख्य द्वार पर काला कपड़ा बांधा। रेलवे टेंडर घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने लालू प्रसाद, राबड़ी देवी एवं तेजस्वी यादव समेत 14 लोगों पर चार्जशीट दाखिल की है। दिल्ली के पटियाला हाउस कोर्ट ने सबको 31 अगस्त तक पेश होने का निर्देश दिया है। उसी दिन बेल या जेल पर फैसला आ सकता है।

श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2018 : कब करना है व्रत और क्या है पूजा का शुभ मुहूर्त

मल्टीमीडिया डेस्क। भाद्रपद अष्टमी तिथि को श्रीकृष्ण के जन्म को जन्माष्टमी के रूप में मनाया जाता है। इस साल श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 3 सितंबर 2018 को है। कुछ जगह कहा जा रहा है कि श्रीकृष्ण जन्माष्टमी 2 सितंबर को है। जानिए जन्माष्टमी का व्रत किसे किस दिन करना है और शुभ मुहूर्त कब है...

उज्जैन की ज्योतिषविद रश्मि शर्मा ने बताया कि जन्माष्टमी में श्री कृष्ण की पूजा निशीथ समय पर की जाती है, जो कि मध्यरात्रि का समय होता है। अष्टमी तिथि 2 सितंबर को रात्रि 8:47 बजे से शुरू होगी और यह 3 सितंबर को सायंकाल 17:19 बजे तक रहेगी। वहीं, रोहिणी नक्षत्र का प्रारंभ 2 सितंबर की रात को 8:48 बजे से होगा और यह 3 सितंबर को रात्रि 8:04 बजे रहेगा।

मतांतर से कई बार कृष्ण जन्माष्टमी दो अलग-अलग दिनों पर मनाई जाती है। इस वर्ष भी जन्माष्टमी दो दिन पड़ रही है, जिसमें से पहले दिन यानी दो सितंबर को और तीन सितंबर को यह देशभर में मनाई जाएगी।

2 सितंबर को निशीथ काल में अष्टमी तिथि और रोहिणी नक्षत्र है, लिहाजा इसी तारीख को जन्माष्टमी मनाना शुभ रहेगा। वहीं, 3 सितंबर को अष्टमी तिथि एवं रोहिणी नक्षत्र उदया तिथि में होगा, जो रात में 12 बजे तक नहीं रहेगा।

रविवार को रात्रि 10.00 बजे से लेकर रात्रि 11.57 तक वृष लग्न रहेगा। बताते चलें कि योगेश्वर कृष्ण जी का जन्म रात्री 12 बजे वृष लग्न में ही हुआ था। तिथि (अष्टमी) नक्षत्र (रोहिणी) का अद्भुत संयोग होने से यह (श्रीकृष्ण जयन्ती) योग बन गया है।

अतः यह पावन त्योहार रविवार को अति शुभ व महत्वपूर्ण हो गया है। गृहस्थों को रविवार ही व्रत ग्रहण करना चाहिए। मंदिर मठों आदि में उदयकालीन तिथि मानते हैं, तो वे तीन सितंबर को जन्माष्टमी मनाएंगे।

15 जिलों में आज भारी बारिश के चेतावनी

भोपाल। प्रदेश के 15 जिलों में बुधवार को भारी बारिश के चेतावनी मौसम विभाग ने दी है। बाकी जिलों में हल्की बारिश हो सकती है। मौसम वैज्ञानिकों ने बताया कि उत्तरी ओडिशा व उसके आसपास के क्षेत्र के ऊपरी भाग में चक्रवाती हवा का घेरा बना हुआ है।

इसके अलावा मानसून ट्रफ लाइन भटिंडा, हिसार, अलवर, ग्वालियर, सतना, अंबिकापुर आदि क्षेत्र से बंगाल की खाड़ी तक बनी हुई है। साथ ही दक्षिण गुजरात व उसके आसपास के क्षेत्र में हवा के ऊपरी भाग में 1.5 किमी से 4.5 किमी के बीच चक्रवाती हवा का घेरा बना है। इन्हीं वजहों से 13 जिलों में भारी बारिश की संभावना है।

इन जिलों में कहीं-कहीं हो सकती है भारी बारिश

बलाघाट, मंडला, अनुपपुर, डिंडोरी, जबलपुर, नरसिंहपुर, रायसेन, हरदा, होशंगाबाद, बैतूल, बुरहानपुर, खंडवा, खरगौन, बड़वानी, अलीराजपुर व धार।