Updated -

mobile_app
liveTv

माता जानकी संग ब्याह रचाकर आज विराजमान होंगे भगवान जगन्नाथ


कल महंत परिवार द्वारा दिखाई की मुँह दिखाई की रस्म अदा की जायेगी 
राजगढ़ (नि.सं.)। भगवान जगन्नाथ व माता जानकी परिणय सूत्र के बंधन में शुक्रवार को बंध गए इस अलौकिक विवाह के साक्षी इस बार हजारों श्रद्धालु नही बन सके। कोरोना वैश्विक माहमारी के कारण इस बार सभी कार्यक्रम मंदिर में सम्पन्न हो रहे है। मंदिर के महंत पूर्णदास शास्त्री एव पंडित मदन मोहन शास्त्री ने बताया की आज भगवान जगन्नाथ माता जानकी के साथ चौपड़ बाजार मंदिर परिसर की रात्रि 9 बजे परिक्रमा लगा कर पुन: मंदिर में विराजेंगे ओर इसके साथ सात दिवसीय जगन्नाथ महोत्सव का समापन होगा। वही पंडित मदन मोहन शास्त्री ने बताया कि मंगलवार सुबह 10 बजे महंत परिवार द्वारा मुँह दिखाई की रस्म अदा की जायेगी।
 

165 सालों में पहली बार नहीं निकलेगी भगवान जगन्नाथ जी की रथयात्रा

परम्परा निभाने के लिए मंदिर में ही होगे कार्यक्रम
भगवान की रथयात्रा पर भारी हुआ कोरोना 
जयपुर टाइम्स
राजगढ(निसं.)। जन-जन के आराध्य देव भगवान श्री जगन्नाथ जी महाराज की रथ यात्रा इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण नहीं निकल पाएगी किंतु पारंपरिक तौर पर भगवान श्री जगन्नाथ जी महाराज के सम्पूर्ण कार्यक्रम मुख्य मंदिर चौपड़ बाजार स्थित मंदिर पर होंगे। मंदिर मंहत पूरणदास व पंडित मदनमोहन शास्त्री ने बताया कि इस समय भगवान जगन्नाथ जी महाराज की सेवा पूजा अर्चना गर्भ गृह में की जा रही है। जेष्ठ शुक्ल पूर्णिमा को भगवान जगन्नाथ जी महाराज को पंचामृत और 108 कलशों से स्नान कराया जाता है। स्नान के पश्चात भगवान को ज्वर हो जाता है और उन्हें गर्भ गृह में प्रवेश करा दिया जाता है और 15 दिनों तक गर्भ गृह में उनका इलाज किया जाता है। काढा औषधि से भगवान का गर्भ गृह में इलाज किया जाता है। गर्भगृह में भगवान की पूजा अर्चना आदि की जाती है। आषाढ़ शुक्ला प्रतिपदा को भगवान जगन्नाथ जी गर्भगृह से बाहर आकर अपने भक्तों को दर्शन देते हैं। दिनांक 22 जून को भगवान जगन्नाथ जी गर्भगृह से बाहर निकलेंगे ओर इसी दिन भगवान जगन्नाथ जी महाराज का नेत्रोत्सव का कार्यक्रम होगा 22 जून को ही सायंकाल जानकी मैया द्वारा मंदिर में गणेश पूजन का कार्यक्रम होगा दिनांक 23 जून को भगवान जगन्नाथ महाराज को प्रात: 7:30 बजे कंगन डोरे का कार्यक्रम होगा और ठाकुर जी को कंगन डोरा बांधा जाएगा। तथा अलौकिक शृंगार किया जायेगा उसके पश्चात दीप पूजन का कार्यक्रम प्रात: 9:00 बजे होगा।

 लेकिन इस वर्ष कोरोना महामारी के कारण भगवान जगन्नाथ जी की रथ यात्रा नहीं निकलेगी लेकिन पारंपरिक तौर पर ठाकुर जी के  सम्पूर्ण कार्यक्रम चौपड़ बाजार स्थित मंदिर पर ही होंगे
 

कोरोना कॉल महामारी से बचाव के लिए संगीतमय रामायण पाठ का आयोजन, आज होगा पर्यावरण शुद्धता के लिए हवन

ईद उल फित्र का पर्व मनाया

जयपुर टाइम्स
मनोहरपुर (नि.सं.)। आस पास के समूचे क्षेत्र में ईद उल फित्र का पर्व विधिवत रस्म ओ रिवाज व हर्षोल्लास के साथ मनाया गया।
जमा मस्जि़द के सदर हाजी सरदार खान चोहान ने बताया कि ईदगाह मस्जि़द व जामा मस्जि़द में इस बार सामूहिक ईद उल फित्र की नमाज अदा नही होकर कस्बे की 9 मस्जिदों में ईद की नमाज हुई जिसमें हर एक मस्जि़द में सिर्फ 3 जने ही नमाज अदा कर पाए बाकी लोगो ने अपने अपने घरों पर ही नमाज अदा की इस दौरान लॉक डाउन व सोशल डिस्टेन्स का पूरा ध्यान रखा गया।
रोजेदार हुए मायूस
रमजान उल मुबारक पवित्र माह के पूरे 30 रोजे रखकर अपने सब्र का इम्तिहान देने वाले रोजेदार ईदगाह में जाकर ईद उल फित्र की नमाज़ अदा करके अपने रब का शुक्रिया अदा करते हैं लेकिन लॉक डाउन व सोशल डिस्टेन्स के चलते हुए ईदगाह में नमाज़ अदा नही होने का मलाल रह जाने से रोज़ेदार मायूस दिखाई दिए।
शाही सवारी भी कोरोना की भेंट चढ़ी
उल्लेखनीय हैं कि मोहल्ला सारवान से मोहल्ला खाकीशाह में स्तिथ ईदगाह तक जामा मस्जि़द के पेश इमाम को घोड़े पर बिठाकर बेंड बाजे के साथ बड़े ही लवाजमे के साथ शाही सवारी राजा महाराजाओं के समय से निकाली जाती रही हैं लेकिन इस बार शाही सवारी भी कोरोना की भेंट चढ़ गई हैं।
भाईचारा प्रगाढ़
इस कस्बे में शुरू से ही हिन्दू मुस्लिम भाईचारा को प्रगाढ़ करने की रस्म चल रही हैं दीपावली पर मुस्लिम भाई हिन्दू भाइयो को दीपावली की मुबारकबाद देते हैं वैसे ही ईद पर हर वर्ष की भांति इस वर्ष भी हिन्दू भाइयो ने मुस्लिम भाइयो को ईद की मुबारकबाद दी हैं।

व्याधि से बचाव का सुगम मार्ग है भगवद नाम

जयपुर टाइम्स
चूूरू(निसं)। निकटवर्ती श्योपुरा बालाजीधाम में कोरोना महामारी के समूल नष्ट और बचाव को लेकर चल रहे गीता पाठ में पं.महेन्द्र उपाध्याय ने कहा कि व्याधि से बचाव का सशक्त मार्ग है भगवद नाम। इसलिए हर व्यक्ति को चाहिए कि वर्तमान के इस संकट के दौर से निकलने के लिए परमात्मा की शरण में जाना चाहिए।
उन्होंने कहा कि जीवन में सुख की कामना करना और प्रकृति को चुनौती देना ही दु:ख व संकट का कारण बनता है। कोरोना महामारी है लेकिन इसे डरें नहीं बल्कि सामना करें। और यह सामना करने कि शक्ति परब्रह्म परमात्मा देते है। इसलिए हमें निष्काम भाव से भक्ति मार्ग पर चलकर शक्ति का संचार करना चाहिए। उन्होंने साधकों का आह्वान किया कि भक्तिभाव से परमात्मा और प्रकृति की पूजा करें ताकि यह महामारी पूरी तरह खत्म हो जाए।
इस अवसर पर पुजारी हरिचरण महाराज ने कोरोना जैसी महामारी से सुरक्षा, बचाव व हर जीव के स्वस्थ रहने की कामना के साथ पूजा अर्चना की। प्रमोद शर्मा व  संदीप शर्मा ने आरती की।

पीपल पूर्णिमा पर सजी भगवान की झांकी

जयपुर टाइम्स
अलवर (निसं)। पीपल पूर्णिमा के उपलक्ष्य में गुरुवार को जिलेभर के मंदिरों में भगवान लक्ष्मीनारायण जी की पूजा-अर्चना की गई, हालाकि कोरोना महामारी के बीच लगे लॉक डाउन में मंदिरों में भक्त की सं या नगण्य जरूर रही लेकिन पुजारियों ने ही मंदिरों में भगवान की पूर्ण विधि-विधान से पुरु सूक्त, श्रीसूक्त के पाठ द्वारा भगवान की पूजा की गई। इसके अलावा घरों में ाी भगवान सत्यनारायण की कथा सुनी गई।  
मनुमार्ग स्थित भगवान लक्ष्मीनारायण मंदिर में पीपल पूर्णिमा मनाई गई। मंदिर के पुजारी पंडित राजेन्द्र शर्मा ने बताया कि पीपल पूणिर्मा के उपलक्ष्य में गुरुवार को ागवान लक्ष्मीनरायण जी का अभिषेेक किया गया। इसके बाद पूजा कर आरती की गई। वहीं आरती के बाद प्रसाद का भोग लगाकर मंदिर में मुंह पर मास्क लगाकर पहुंचे कुछ भक्तों को सोसल डिस्टेंस की पालना कराते हुए प्रसाद प्रदान किया गया।

श्रीकृष्ण बलराम मंदिर के पाटोत्सव में खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने किया यज्ञ

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं)। जगतपुरा में महल रोड स्थित अक्षयपात्र परिसर में श्रीकृष्ण बलराम मंदिर में आठवां पाटोत्सव गुरुवार को मनाया गया। इस अवसर पर आयोजित भव्य कार्यक्रम में प्रदेश के खाद्य मंत्री रमेश मीणा ने मुख्य अतिथि के रूप में शामिल होकर भगवान का आशीर्वाद प्राप्त किया। साथ ही दुनियाभर में चल रही विकट समस्या से लोगों को राहत देने के लिए भगवान श्रीकृष्ण बलराम से विशेष प्रार्थना करते हुए यज्ञ में पूर्णाहुति भी दी। कोरोना महामारी के चलते राष्ट्रीय लॉकडाउन की मौजूदा स्थिति  को ध्यान में रखते हुए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर के प्रबंधन की तरफ से 1 सप्ताह के कार्यक्रम को केवल 1 दिन में संपन्न कराया गया। इस पाटोत्सव में केवल मंदिर के सेवारत ही शामिल हुए। हालांकि सभी श्रद्धालुओं के लिए ऑनलाइन दर्शन की व्यवस्था भी की गई। मन्दिर परिसर में दिनभर हरि नाम संकीर्तन का आयोजन भी किया गया। साथ ही भगवान को छप्पन भोग अर्पित किए गए। आज से 8 वर्ष पहले गंगा सप्तमी के शुभ दिन श्रीकृष्ण बलराम की अर्च  विग्रह मंदिर में स्थापित की गई थी। मंदिर के अध्यक्ष चंचलापति दास ने बताया कि  श्रीकृष्ण बलराम का विभिन्न प्रकार के फलों के रस से अभिषेक किया गया। वहीं प्रात:काल सुदर्शन पूजा एवं विशेष यज्ञ का आयोजन किया गया। इस पूरे कार्यक्रम को मंदिर के ऑफिशियल फेसबुक पेज और यूट्यूब चैनल पर लाइव के माध्यम से लोगों तक पहुंचाया गया।
अध्यक्ष ने बताया कि कोरोना महामारी के समय में लॉक डाउन का सदुपयोग मानवता एवं विश्व कल्याण में करने के लिए हरे कृष्णा मूवमेंट जयपुर की तरफ से महा जप यज्ञ का आयोजन गत 16 अप्रैल से किया जा रहा है, जो 3 मई तक चलेगा। इस महा जप यज्ञ में सोशल मीडिया के माध्यम से संपूर्ण भारत के भक्तों को अपने-अपने घरों से इस यज्ञ में शामिल होने के लिए प्रोत्साहित किया गया।

  इस महा जप यज्ञ में 108000 माला (18 करोड भगवान के नाम )  का जप करने का लक्ष्य रखा गया है, जिसमे से अभी तक एक लाख माला जप हो चुका है।इस महा जप यज्ञ में कुल 2000 भक्तों ने सर्वाधिक उत्साह से हिस्सा ले रखा है, जो राजस्थान के जयपुर, कोटा, अजमेर, जोधपुर, बीकानेर, उदयपुर से हैं।
 
 

घर-घर में विप्र बंधुओं ने मनाई परशुराम जयंति

जयपुर टाइम्स
ब्यावर (कासं)। कोरोना वायरस के संक्रमण के कारण घोषित लॉक डाउन के चलते विप्र फाउंडेशन के आह्वान पर  घर-घर में परशुराम जयंती मनाई गई। इस दौरान विप्र बंधुओं ने अपने घरों में ही भगवान परशुराम के चित्र के समक्ष दीप प्रज्जवलित करते हुए पुष्पा आदि समर्पित करते हुए पूजा-अर्चना की।
साथ ही •ागवान परशुराम से सुख-वैभव के साथ-साथ कोरोना वायरस के संक्रमण से विश्व को मुक्ति दिलाने की प्रार्थना की तथा महाकाली के महामारी विनाशक महामंत्र का उच्चारण किया। जयंती के मौके पर पूजा-अर्चना के बाद विप्र बंधुओं ने निराश्रितों व निर्धनों के लिए प्रत्येक घर से •ोजन की व्यवस्था भी की। परशुराम जयंती के मौके पर ब्राह्मण समाज की ओर से बालिकाओं व महिलाओं के लिए ऑनलाईन रंगोली तथा लेखन प्रतियोगिताओं का आयोजन किया गया। जयंती के मौके पर शाम के समय घरों में दीपक जलाकर दीपदान भी किया गया। 

अमरनाथ यात्रा इस साल नहीं होगी, यह पहला मौका जब शुरू होने से पहले ही यात्रा रद्द कर दी गई है

जयपुर टाइम्स
जम्मू (एजेंसी)। कोरोनावायरस के चलते अमरनाथ श्राइन बोर्ड ने इस साल 23 जून से शुरू होने वाली अमरनाथ यात्रा को रद्द कर दिया है। यह पहला मौका है, जब शुरू होने से पहले ही अमरनाथ यात्रा कैंसिल की गई है। जम्मू में राजभवन में बुधवार को हुई एक अहम बैठक में लेफ्टिनेंट गवर्नर गिरीशचंद्र मुर्मू ने यह फैसला लिया है। इससे पहले पिछले साल अगस्त में केंद्र सरकार ने अनुच्छेद 370 हटाने के ठीक 3 दिन पहले सुरक्षा का हवाला देते हुए अमरनाथ यात्रा रोक दी थी। यात्रा रोके जाने तक साढ़े तीन लाख लोग पवित्र गुफा में दर्शन कर चुके थे। जम्मू कश्मीर में 407 पॉजिटिव मरीज हैं, जिनमें से 351 सिर्फ कश्मीर से हैं। जहां से अमरनाथ यात्रा गुजरती है, उस कश्मीर घाटी के 10 जिले कोरोना प्रभावित हैं। चार जिले श्रीनगर, बारामुला, बांडीपोरा और कुपवाड़ा को हॉट स्पॉट घोषित किया गया है।  तय कार्यक्रम के मुताबिक, इस यात्रा के लिए रजिस्ट्रेशन 1 अप्रैल को शुरू होने थे। यात्रा शुरू होने के महीने पहले रूट से बर्फ हटाने का काम हो जाता है, जबकि इस बार वहां अभी भी कई फीट बर्फ मौजूद है। जम्मू में जिस यात्री निवास को अमरनाथ यात्रियों का बेस कैम्प बनाया जाता था, वह इन दिनों क्वारैंटाइन सेंटर बना हुआ है। जम्मू कश्मीर की सीमा को सील किया हुआ है और जरूरी सामान के अलावा किसी भी गाड़ी के आनेजाने की मनाही है।
 टूरिज्म इंडस्ट्री से जु?े स्थानीय लोगों को इस यात्रा का हर साल इंतजार होता है। इस पर वहां रहने वाले पिट्?ठू और पोनी वालों का सालभर की आमदनी निर्भर होती है। 

अंतरराष्ट्रीय पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ का भव्य आगाज

जयपुर टाइम्स
बिजौलियां (निसं)। पूज्य निर्यापक मुनिपुंगव सुधासागर जी महाराज संसघ के परम सानिध्य में श्री दिगम्बर जैन तपोदय तीर्थ क्षेत्र पर सोमवार को श्री पार्श्वनाथ जिनबिम्ब पंचकल्याणक प्रतिष्ठा महोत्सव एवं विश्व शांति महायज्ञ का भव्य आगाज हुआ । इस अवसर पर जैन आर्मी की बेहतरीन प्रस्तुति के साथ ध्वजारोहण किया गया। जैन आर्मी द्वारा मार्च पास्ट,23 तोपों से सलामी, ध्वज वंदन, बैलून ट्रेन, ध्वज गीत का आयोजन हुआ। आकर्षक आर्मी ड्रेस के साथ सभी सदस्यों ने अनुशासन से शानदार कार्यक्रम प्रस्तुत किए। महिला मंडल की सदस्यों द्वारा मंगलाचरण का आयोजन हुआ। इस अवसर पर निर्यापक मुनिपुंगव सुधासागर जी महाराज, मुनिश्री महासागर जी महाराज, मुनिश्री निष्कंप सागर जी महाराज, क्षुल्लक श्री गंभीर सागर जी महाराज, क्षुल्लक धैर्यसागर जी महाराज का मंगल सानिध्य प्राप्त हुआ। पंचकल्याणक के कार्यक्रम प्रतिष्ठाचार्य ब्रह्मचारी प्रदीप  भैया सुयश अशोकनगर के निर्देशन में संपन्न होंगे।
ध्वजारोहण का कार्यक्रम जैन गौरव-अभिनव चामुंडराय अशोक पाटनी परिवार द्वारा संपन्न हुआ। इस अवसर पर महाराष्ट्र से आए हुए बाढ़ पीड़ितों को जैन गौरव अशोक पाटनी परिवार द्वारा 90 मकान देने की घोषणा की गई। आज के कार्यक्रम में मेवाड़ प्रांत के सभी नगरों से साधर्मीजन उपस्थित हुए।
ध्वजारोहण के पश्चात पूज्य मुनि श्री का मंगल प्रवचन संपन्न हुआ। उसके बाद मंडप शुद्धि, मंडल शुद्धि का कार्यक्रम हुआ।
दोपहर में पात्र शुद्धि, सकलीकरण, इंद्र प्रतिष्ठा, मंगल कलश स्थापना, शांति कलश स्थापना, अखंड दीप स्थापना एवं श्री यागमंडल विधान पूजन का आयोजन होगा। इसके पश्चात सायंकाल आचार्य भक्ति, जिज्ञासा समाधान, आरती व प्रवचन के साथ गर्भ कल्याणक (पूर्व) सौधर्म इंद्र सभा, तत्व चर्चा, धनपति कुबेर द्वारा रत्नों की वृष्टि, स्वर्ग से सुंदर बनारस नगरी की रचना, माता की सेवा, सोलह स्वप्न दर्शन, गीत, नृत्य, अष्टकुमारियों द्वारा माता की सेवा, भेट समर्पण, मध्य रात्रि में गर्भ कल्याणक की आंतरिक क्रियाएं आयोजित होगी।
पंचकल्याणक महोत्सव में देश-विदेश से हजारों श्रद्धालु शिरकत करेंगे। इस   हेतु तीर्थ क्षेत्र कमेटी द्वारा उचित प्रबंधन किए गए हैं।70 बीघा क्षेत्र में आवास व्यवस्था की गई हैं। पंचकल्याणक महोत्सव में विश्व की प्रथम 225 कमल पुष्पों पर पद विहार करती हुई प्रतिमा और विश्व की प्रथम 27 फीट पद्मासन पाषाण पार्श्वनाथ भगवान की प्रतिमा की प्रतिष्ठा होनी हैं। 

धूमधाम से मनाया मंदिर का 14 वां पाटोत्सव

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं)। श्री राधा सरल बिहारी मंदिर का 14 वां पाटोत्सव टोंक रोड बीलवा जयपुर में शनिवार को आयोजित किया गया मन्दिर की संस्थापिका  एव  अखिल भारतीय जायसवाल सर्ववर्गीय महिला महासभा की राष्ट्रीय अध्यक्ष सरला गुप्ता ने बताया कि इस उत्सव में भगवताचार्य श्री पीयूष महाराज द्वारा श्री कृष्ण कथा सुनायी गई वही उनके द्वारा सुनाए गए भजनों पर भक्तों ने नृत्य कर आनंद लिया।
कार्यक्रम का आयोजन संस्थापिका सरला गुप्ता, रजनीश गुप्ता व दीपिका गुप्ता के द्वारा किया गया मंदिर में सजी छप्पन भोग की झांकी आकर्षण का केंद्र रही।
मन्दिर में धर्मिक व सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ सामाजिक कार्य भी किए गए वही सभी के लिए नि:शुल्क चिकित्सा शिविर भी लगाया गया।
जिसमें डॉ मोहित व दीपक की टीम ने बी पी व शुगर की जाँच की  इस अवसर पर महिला प्रदेश अध्यक्ष मनीषा सुहालका जयपुर जिला अध्यक्ष कंचन हाडा, गायत्री जायसवाल आशा गुप्ता, पूनम गुप्ता, सपना, राजेंद्र, प्रभाकर, रुचि, तृप्ति एव जायसवाल समाज की अनेक पदाधिकारी सहित सैकड़ों की संख्या में भक्तगण मौजूद रहे।

मंत्री ने अध्यात्मिक मेले में पहुंचकर की शिवलिंग की पूजा

जयपुर टाइम्स
अलवर (निसं)। प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से महाशिवरात्रि के पर्व पर शुक्रवार से तीन दिवसीय अध्यात्मिक मेला 'खुशियों का बिग बाजारÓ लगाया गया। यह मेला शिवाजीपार्क  के शॉपिंग कॉ लैक्स के सामने लगाया गया है।
मेले में श्रमराज्य मंत्री टीकाराम जूली भी पहुंचे। जहां उन्होंने 12 फीट भव्य शिवलिंग की पूजा की ओर वहां लगी नशा मुक्ति चित्र प्रदर्शनी को देखा। इस मौके पर उनके साथ कांगे्रस के अनेक पदाधिकारी भी मौजूद रहे।
प्रजापिता ब्रह्माकुमारी ईश्वरीय विश्वविद्यालय की ओर से बताया गया कि यह मेला 23 फरवरी तक सुबह चार बजे से रात साढ़े आठ बजे तक चलेगा। अध्यात्मिक मेले में 12 फीट भव्य शिवलिंग, अलौकिक दिव्य झांकियां, नशामुक्ति चित्र प्रदर्शनी, शिवलिंग पर जलाभिषेक मुख्य आकर्षण का केन्द्र हैं।