Updated -

mobile_app
liveTv

अफरीदी ने की द्रविड़ की तारीफ: कहा- पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स राहुल से सीखें, आगे आकर युवा टैलेंट को तराशने का काम करें

लाहौर
पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर शाहिद अफरीदी ने भारत के दिग्गज प्लेयर राहुल द्रविड़ की तारीफ की है। उन्होंने कहा है कि पाकिस्तान के पूर्व क्रिकेटर्स को द्रविड़ के नक्शेकदम पर चलना चाहिए और युवा टैलेंट का मार्गदर्शन करना चाहिए। अफरीदी ने यह बयान पाकिस्तान के न्यूजीलैंड दौरे पर खराब प्रदर्शन के बाद दिया। कीवी टीम ने पाकिस्तान को टी-20 सीरीज में 2-1 और टेस्ट सीरीज में 2-0 से व्हाइटवॉश किया था। अफरीदी ने लाहौर में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि द्रविड़ ने नेशनल क्रिकेट एकेडमी में युवा टैलेंट को तराशने का शानदार काम किया है। उन्होंने कहा कि भारत के अंडर-19 टीम में प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं। इसका श्रेय द्रविड़ को जाता है, क्योंकि उन्होंने युवा खिलाडिय़ों पर काफी मेहनत की।
पाकिस्तान में प्रतिभा की कमी
अफरीदी ने कहा कि पाकिस्तान में प्रतिभा की कमी दिख रही है। ऐसे में हमारे देश के पूर्व क्रिकेटर्स को भी आगे आकर युवा खिलाडिय़ों को तराशना चाहिए। हमारे युवा प्लेयर्स को भी पूर्व क्रिकेटर्स के मार्गदर्शन की जरूरत है। इंजमाम उल हक, यूनुस खान और मोहम्मद युसुफ जैसे दिग्गज क्रिकेटर्स यह काम कर सकते हैं।
पाकिस्तान में कोच से विवाद की पुरानी समस्या
अफरीदी ने मोहम्मद आमिर के इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने पर भी बात की। उन्होंने कहा कि पाकिस्तानी क्रिकेट में बॉलर्स और कोच के बीच तालमेल की पुरानी समस्या है। हमारे समय में भी ऐसा होता था। पाकिस्तान क्रिकेट बोर्ड को इन मामलों में सामने आना चाहिए और नाराज खिलाडिय़ों से बात करनी चाहिए। आमिर में अभी काफी क्रिकेट बचा है और वे काफी समय तक क्रिकेट खेल सकते हैं। आमिर ने पिछले महीने इंटरनेशनल क्रिकेट से संन्यास लेने की घोषणा की थी। उन्होंने पाकिस्तानी टीम मैनेजमेंट पर गंभीर आरोप लगाए थे। आमिर ने कहा था कि वे पाकिस्तान के मुख्य कोच मिस्बाह उल हक और बॉलिंग कोच वकार युनूस के साथ नहीं खेलना चाहते।

सबसे कम पारियों में 8 हजार रन बनाने वाले इंग्लैंड के दूसरे बल्लेबाज, दो दोहरा शतक लगाने वाले इंग्लैंड के पहले कप्तान बने

गाले
इंग्लैंड और श्रीलंका के बीच गाले में खेले जा रहे टेस्ट के तीसरे दिन इंग्लैंड के कप्तान ने जो रूट ने दोहरा शतक लगाया। शनिवार को उन्होंने 291 गेंद पर 228 रन की पारी खेली। रूट टेस्ट में दोहरा शतक लगाने वाले इंग्लैंड के पहले कप्तान बने। उन्होंने अपनी पारी में उन्होंने 15 चौके ओर 1 छक्के लगाया। रूट इंग्लैंड के सबसे कम पारियों में 8 हजार रन पूरे करने वाले इंग्लैंड के दूसरे बल्लेबाज भी हैं। रूट के करियर का यह चौथा दोहरा शतक है। 4 में से दो दोहरा शतक उन्होंने श्रीलंका के खिलाफ लगाया है। रूट ने इससे पहले 2014 में लॉर्ड्स में खेले गए टेस्ट में श्रीलंका के खिलाफ दोहरा शतक लगाया था। श्रीलंका के 135 रन के जवाब में इंग्लैंड की टीम ने पहली पारी में 421 रन बनाए।
रूट का श्रीलंका के खिलाफ हाईएस्ट स्कोर
रूट का यह श्रीलंका के खिलाफ हाईएस्ट स्कोर भी है। रूट ने कप्तान रहते हुए न्यूजीलैंड के खिलाफ 2019 में हैमिल्टन टेस्ट में दोहरा शतक लगाया था। इंग्लैंड के अब तक कुल 8 कप्तान टेस्ट में दोहरा शतक लगा चुके हैं। इनमें ग्राहम गूच, एलिस्टेयर कुक, विल हेमंड, डेविड गॉवर, टेड डेक्स्टर, लियोनार्ड हटन, पीटर मे शामिल हैं। रूट टेस्ट में 8 हजार रन पूरा करने वाले इंग्लैंड के 7वें बल्लेबाज बने। उन्होंने 98 टेस्ट के 178 पारियों में 8,051 रन बनाए हैं। वे सबसे तेज 8 हजार रन पूरा करने वाले इंग्लैंड के दूसरे बल्लेबाज भी हैं। उनसे पहले केविन पीटरसन ने 176 पारियों में यह मुकाम हासिल किया था। रूट ढ्ढष्टष्ट वर्ल्ड टेस्ट चैम्पियनशिप में दोहरा शतक लगाने वाले तीसरे कप्तान हैं। उनसे पहले भारतीय कप्तान विराट कोहली और न्यूजीलैंड के केन विलियम्सन ने यह करनामा किया था। विलियम्सन ने पिछले महीने पाकिस्तान और वेस्टइंडीज के खिलाफ लगातार 2 टेस्ट में दोहरा शतक मारा था। 
वहीं, भारतीय कप्तान विराट कोहली ने साउथ अफ्रीका के खिलाफ अक्टूबर, 2019 में दोहरा शतक लगाया था।

कुलदीप को टीम में शामिल नहीं किए जाने पर आगरकर हैरान, बोले- इससे उनके कॉन्फिडेंस में कमी आएगी

ब्रिस्बेन
ब्रिस्बेन में भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चार टेस्ट मैचों की सीरीज का आखिरी टेस्ट खेला जा रहा है। टीम इंडिया के प्लेइंग-11 में स्पिनर कुलदीप यादव को शामिल नहीं किए जाने पर पूर्व तेज गेंदबाज अजीत आगरकर ने हैरानी जताई है। उन्होंने कहा कि इससे कुलदीप के कॉन्फिडेंस में कमी आएगी।
5 गेंदबाजों में एक अनुभवी गेंदबाज होना चाहिए था
एक प्रोग्राम के दौरान आगरकर ने कहा कि 2018-19 में ऑस्ट्रेलियाई टूर पर कुलदीप ने अच्छा प्रदर्शन किया था। चौथे टेस्ट में शामिल नहीं किए जाने पर वे जरूर निराश होंगे। उन्हें इस सीरीज में एक भी टेस्ट खेलने का मौका नहीं मिला। जब आप 5 गेंदबाजों के साथ खेल रहे हैं, तो एक अनुभवी गेंदबाज को मौका मिलना चाहिए।
कुलदीप के एक्सपीरियंस से टीम इंडिया को मिलती मदद
आगरकर ने कहा कि वॉशिंगटन सुंदर की जगह कुलदीप को मौका दिया जाना चाहिए था। इससे बॉलिंग में संतुलन बना रहता। टीम इंडिया के पास मिचेल स्टार्क जैसा बॉलर नहीं है। सभी तेज गेंदबाज नए हैं। ऐसे में एक अनुभवी स्पिनर काम आ सकता था। कुलदीप की गेंदबाजी में वेरिएशन है। इससे टीम को मदद मिल सकता था। वे पहले भी ऑस्ट्रेलिया में गेंदबाजी कर चुके हैं।
2018-19 में कुलदीप ने आखिरी मैच में 5 विकेट लिए थे
टीम इंडिया ने पिछली बार 2018-19 में ऑस्ट्रेलिया को टेस्ट सीरीज में उसी के घर में 2-1 से शिकस्त दी थी। इस दौरे पर भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेला गया आखिरी टेस्ट ड्रॉ रहा था। आखिरी टेस्ट में कुलदीप ने 5 विकेट लिए थे। इसके बाद टीम इंडिया के कोच रवि शास्त्री ने कुलदीप की तारीफ की थी। शास्त्री ने कहा था कि वह हमारे फ्रंट लाइन स्पिनर हैं। इसके बाद कुलदीप को एक भी टेस्ट में खेलने का मौका नहीं मिला। 

कुलदीप ने अब तक 6 टेस्ट में 24.12 की औसत से 24 विकेट लिए हैं।

खबरें और भी हैं...

ब्रिस्बेन में पहले दिन बराबरी का टेस्ट: लाबुशेन ने शतक जड़ा; डेब्यू मैच खेल रहे नटराजन ने 2 और वॉशिंगटन ने एक विकेट लिया

ब्रिस्बेन
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच खेले जा रहे ब्रिस्बेन टेस्ट में पहले दिन दोनों टीम के बीच बराबरी का खेल रहा। टॉस जीतकर पहले बैटिंग करने उतरी ऑस्ट्रेलिया टीम ने खेल खत्म होने तक 3.15 के रनरेट से 5 विकेट गंवाकर 274 रन बनाए। कप्तान टिम पेन (38) और कैमरून ग्रीन (28) नाबाद हैं। दोनों के बीच 61 रन की पार्टनरशिप हुई। ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज मार्नस लाबुशेन ने टेस्ट करियर का अपना 5वां शतक जड़ा। उन्होंने 204 बॉल पर 108 रन की पारी खेली। वहीं, डेब्यू मैच खेल रहे तेज गेंदबाज टी नटराजन ने 2 और स्पिनर वॉशिंगटन सुंदर ने एक विकेट लिया। इनके अलावा मोहम्मद सिराज और शार्दूल ठाकुर को भी 1-1 विकेट मिला।
वॉर्नर पहले ही ओवर में आउट
ऑस्ट्रेलिया की शुरुआत अच्छी नहीं रही। मैच के पहले ही ओवर में मोहम्मद सिराज ने पहला झटका दिया। ओपनर डेविड वॉर्नर एक रन बनाकर स्लिप में रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट हुए। दूसरा झटका शार्दूल ठाकुर ने अपने पहले और मैच के 9वें ओवर में दिया। उन्होंने ओपनर मार्कस हैरिस (5) को वॉशिंगटन सुंदर के हाथों कैच आउट कराया। ऑस्ट्रेलिया ने 17 रन पर 2 विकेट गंवा दिए थे।
वॉशिंगटन ने डेब्यू मैच में स्मिथ को शिकार बनाया
इसके बाद स्टीव स्मिथ ने लाबुशेन के साथ तीसरे विकेट के लिए 70 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। हालांकि, डेब्यूटेंट वॉशिंगटन ने करियर का पहला विकेट लेते हुए जोड़ी तोड़ दी। उन्होंने स्मिथ को 36 रन पर रोहित शर्मा के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद नटराजन ने ऑस्ट्रेलिया को लगातार दो ओवर में दो झटके दिए। उन्होंने मैथ्यू वेड (45) को शार्दूल ठाकुर के हाथों कैच आउट कराया। 

वेड ने मार्नस लाबुशेन के साथ 113 रन की पार्टनरशिप की। इसके बाद लाबुशेन भी नटराजन की बॉल पर विकेटकीपर ऋषभ पंत के हाथों कैच आउट हुए।

लाबुशेन ने गाबा में ब्रेडमैन को पीछे छोड़ा
गाबा के मैदान पर लाबुशेन ने 3 पारियों में 326 से ज्यादा रन बनाकर लीजेंड सर डॉन ब्रेडमैन को पीछे छोड़ दिया है। पूर्व ऑस्ट्रेलियाई लीजेंड ने इतनी ही पारियों में इस मैदान पर सबसे ज्यादा 326 रन बनाए थे।

सैनी चोटिल होकर मैच से बाहर
तेज गेंदबाज सैनी चोटिल होकर मैदान से बाहर चले गए। उन्हें हैमस्ट्रिंग की शिकायत हुई। वाकया ऑस्ट्रेलिया की पहली पारी के 36वें ओवर की है। 5वीं बॉल फेंकने के बाद उन्हें दांए पैर की मांसपेशियों में खिंचाव की शिकायत हुई। इसके बाद ओवर की आखिरी बॉल रोहित शर्मा ने की।

लाबुशेन को 2 जीवनदान मिले
लाबुशेन के पहली पारी में 37 और 48 रन पर दो कैच छूटे। पहले भारतीय कप्तान अजिंक्य रहाणे ने 36वें ओवर की 5वीं बॉल पर लाबुशेन का आसान सा कैच छोड़ा। ओवर नवदीप सैनी का था। दूसरा कैच 45वें ओवर की 5वीं बॉल पर चेतेश्वर पुजारा ने छोड़ा। हालांकि, यह कैच थोड़ा मुश्किल था। ओवर नटराजन कर रहे थे।

80वें ओवर की तीसरी बॉल पर शार्दूल ठाकुर ने अपनी ही बॉल पर कैमरून ग्रीन का कैच छोड़ा। तब ग्रीन 19 रन बनाकर खेल रहे थे।


भारतीय टीम में 4 बदलाव
टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में 4 बदलाव किए गए। चोटिल तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह, स्पिनर रविचंद्रन अश्विन, ऑलराउंडर हनुमा विहारी और रविंद्र जडेजा बाहर हुए। उनकी जगह नटराजन, वॉशिंगटन सुंदर, मयंक अग्रवाल और शार्दूल ठाकुर को मौका मिला।

ऑस्ट्रेलिया दौरे पर 5 भारतीयों का डेब्यू: नटराजन एक टूर पर तीनों फॉर्मेट में डेब्यू करने वाले पहले भारतीय, 10 साल बाद मिला लेफ्ट-ऑर्म पेसर

नटराजन और वॉशिंगटन का डेब्यू
टीम इंडिया की प्लेइंग इलेवन में तेज गेंदबाज टी नटराजन और ऑलराउंडर वॉशिंगटन सुंदर को मौका मिला। यह उनका डेब्यू टेस्ट है। नटराजन एक ही दौरे पर तीनों फॉर्मेट (टेस्ट, वनडे और टी-20) में डेब्यू करने वाले पहले भारतीय बन गए हैं।

नटराजन टीम इंडिया के लिए डेब्यू करने वाले 300वें और वॉशिंगटन 301वें टेस्ट प्लेयर हैं। नटराजन को बॉलिंग कोच भरत अरुण और वॉशिंगटन को रविचंद्रन अश्विन ने डेब्यू कैप सौंपी।

सचिन, कोहली, कुक और कैलिस से भी आगे निकले स्मिथ

नई दिल्ली।
आस्ट्रेलियाई धुरंधर बल्लेबाज स्टीव स्मिथ सिडनी में भारत के साथ जारी तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में अर्धशतक लगाकर क्रिकेट के कुछ समकालीन और पूर्व दिग्गजों से आगे निकल गए हैं। स्मिथ एक ही टेस्ट में शतक और अर्धशतक लगाने का कारनामा 10 बार कर चुके हैं और इस मामले में वह जैक्स कैलिस, विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर,रिकी पोटिंग, एलन बॉर्डर, एलिस्टर कुक और कुमार संगकारा से भी आगे निकल चके हैं। दुनिया के महानतम ऑलराउंडर्स में शुमार किए जाने वाले दक्षिण अफ्रीका के कैलिस ने नौ बार यह कारनामा किया है जबकि इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक टेस्ट रन बना चुके कुक 8 बार एक ही मैच में शतक और अर्धशतक लगा चुके हैं। इसके अलावा बॉर्डर, सचिन, पोटिंग और भारत के मौजूदा कप्तान विराट कोहली 7-7 बार एक ही मैच में शतक तथा अर्धशतक लगा चुके हैं।

सिडनी में 288 रन से ज्यादा चेज नहीं हुए, ऑस्ट्रेलिया में टीम इंडिया ने चेज करते हुए सबसे ज्यादा 355 रन बनाए

सिडनी
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में तीसरा टेस्ट खेला जा रहा है। 407 रन के टारगेट का पीछा करते हुए भारत ने दूसरी पारी में 2 विकेट गंवाकर 98 रन बना लिए हैं। पांचवें दिन जीत के लिए 309 की जरूरत है। टीम इंडिया के लिए हालांकि, यह राह आसान नहीं है, क्योंकि सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर अब तक 288 रन से ज्यादा चेज नहीं हुए। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चौथी पारी में 2 विकेट पर 288 रन बनाकर मैच जीता था। वहीं, ऑस्ट्रेलिया में भारत ने टारगेट चेज करते हुए सबसे ज्यादा 355 रन बनाए हैं। यह उन्होंने 1968 में ब्रिस्बेन में 395 रनों के लक्ष्य का पीछा करते हुए टीम इंडिया ने 355 रन बनाए थे। ऑस्ट्रेलिया ने भारत को इस मैच में 40 रन से हराया था। हालांकि, 2018-19 में भारत ने सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर पहले बल्लेबाजी करते हुए 7 विकेट पर 622 रन बनाए थे। यह मैच ड्रॉ हुआ था। वहीं, 2004 में भारत ने अपनी दूसरी पारी (ओवरऑल तीसरी पारी) में 443 रन बनाए थे। इस मैच में भी ऑस्ट्रेलियाई टीम 6 विकेट पर 357 रन ही बना पाई थी।
ऑस्ट्रेलिया में टारगेट चेज करना मुश्किल
सोमवार को ऑस्ट्रेलिया ने जब पारी घोषित की। उस वक्त भारत को कुल मिलाकर 134 ओवर खेलने थे। टेस्ट में आखिरी बार 8 साल पहले किसी टीम ने ऑस्ट्रेलिया में टारगेट चेज करते हुए 100 से ज्यादा ओवर खेलकर मैच बचाया था।
साउथ अफ्रीका ने हार टाली और मैच बचाया था
यह मैच ऑस्ट्रेलिया और साउथ अफ्रीका के बीच एडिलेड में खेला गया था। साउथ अफ्रीका ने इस मैच में 148 ओवर बल्लेबाजी की थी और मैच ड्रॉ हुआ था। इसके बाद कोई भी टीम ऑस्ट्रेलिया में चौथी पारी में 100 से ज्यादा ओवर नहीं खेल सकी है।

भारत ने 7 बार चौथी पारी में बल्लेबाजी कर मैच बचाया
टीम इंडिया ने 7 बार टारगेट चेज करते हुए 100 ओवर से ज्यादा बल्लेबाजी कर मैच बचाया है। भारत ने एशिया से बाहर सिर्फ दो बार 100 ओवर से ज्यादा बल्लेबाजी कर हार टाली और मैच बचाया। यह मैच ब्रिजटाउन में 1975/76 और ओवल में 1979 में खेले गए थे। आखिरी बार भारत ने 1997 में कोलंबो में श्रीलंका के खिलाफ 100 ओवर बल्लेबाजी कर मैच बचाया था।

5वें दिन टीम इंडिया को 90 ओवर बल्लेबाजी करनी है
भारत को सोमवार को 5वें दिन 90 ओवर बल्लेबाजी करनी है। ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 407 रन का टारगेट दिया। भारत ने 2 विकेट पर 98 रन बना लिए हैं। जीत के लिए अभी भी 309 रन की जरूरत है। कप्तान अजिंक्य रहाणे (4 रन) और चेतेश्वर पुजारा (9 रन) नाबाद हैं।

सिडनी टेस्ट में फिर नस्लीय टिप्पणी का शिकार हुई भारतीय टीम, दर्शक स्टैंड से हटाए गए

सिडनी ।
मोहम्मद सिराज के खिलाफ रविवार को भी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) के दर्शक दीर्घा से नस्लीय टिप्पणी की गई। इस कारण खेल कुछ समय तक रुका रहा। पुलिस ने स्टैंड से कुछ दर्शकों को स्टेडियम से बाहर कर दिया। इससे पहले शनिवार को भी दर्शकों ने सिराज के खिलाफ इसी तरह की टिप्पणी की थी। रविवार को सिराज दूसरे सत्र के खेल के दौरान जब बाउंड्री के पास तैनात थे तब किसी दर्शक ने उन्हें लेकर टिप्पणी की। उस समय आस्ट्रेलियाई पारी का 86वां ओवर चल रहा था। सिराज तुरंत कप्तान अजिंक्य रहाणे के पास पहुंचे और उन्हें इसकी जानकारी दी। मामले की गम्भीरता को देखते हुए कप्तान ने अम्पायर पॉल राफेल को इस बारे में बताया। पॉल ने बिना देरी किए मैच रेफरी को इसकी जानकारी दी और फिर मैच रेफरी ने सुरक्षा अधिकारियो को बताया कि स्टैंड से किसी सिराज के खिलाफ भद्दी टिप्पणी की है। सुरक्षाकर्मियों ने उस स्थान का मुआयना किया, जहां से सिराज के अनुसार आवाज आई थी। कई लोगों से पूछताछ की गई और फिर चार-पांच लोगों को लेकर पुलिस स्टैंड से बाहर चली गई। इस घटना के कारण लगभग 10 मिनट तक खेल रुका रहा। इससे पहले, शनिवार को भारतीय क्रिकेट टीम के अधिकारियों ने शिकायत की थी कि सिराज और जसप्रीत बुमराह पर दर्शकों ने नस्लीय टिप्पणी की है। तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद आईसीसी, स्टेडियम के सुरक्षा अधिकारी बुमराह और सिराज के साथ लंबी बातचीत करते हुए नजर आए और इस दौरान भारतीय टीम प्रबंधन के सदस्य भी उनके साथ थे। आस्ट्रेलियाई अखबार द डेली टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, "यह पता चला है कि भारतीय अधिकारियों ने कहा है कि बुमराह और सिराज पर दर्शकों द्वारा बीते दो दिन से फब्तियां कसी जा रही हैं जो नस्लीय हैं। मैदान के रैंडविंक छोर की तरफ जहां सिराज फील्डिंग कर रहे थे वहां दर्शकों में से यह टिप्पणी की गई।" रिपोर्ट के मुताबिक, "एक और वाक्ये में, जब मैच चल रहा था तब भारतीय स्टाफ बुमराह के पीछे बाउंड्री के बाहर खड़ा था और उनसे बात भी कर रहा था।" क्रिके आस्ट्रेलिया ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस तरह की घटना की निंदा करता है। सीए के इंट्रीगिटी एवं सिक्योरिटी प्रमुख सीन कॉरोल ने कहा है कि जो लोग इस तरह की घटनाओं में लिप्त हैं, सीए उनका कभी स्वागत नहीं करेगा।

अश्विन-विहारी ने सिडनी टेस्ट ड्रॉ कराया: दोनों ने साढ़े तीन घंटे बैटिंग की; भारत का 40 साल में सबसे लंबी चौथी पारी खेलकर मैच बचाने का रिकॉर्ड

सिडनी
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेला गया तीसरा टेस्ट ड्रॉ पर समाप्त हुआ। पांचवें दिन चोट के बावजूद रविचंद्रन अश्विन और हनुमा विहारी ने करीब साढ़े 3 घंटे बल्लेबाजी की और मैच बचाया। मैच के दौरान विहारी हैम-स्ट्रिंग और अश्विन कमर की चोट से जूझ रहे थे। भारत ने 40 साल में टारगेट चेज करते हुए चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर खेलकर मैच बचाने का रिकॉर्ड भी बनाया। ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को 407 रन का टारगेट दिया। जवाब में 5वें दिन भारत ने दूसरी पारी में पांच विकेट गंवाकर 334 रन बनाए। दिन के खेल में एक ओवर बाकी रहते ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने मैच ड्रॉ करने की घोषणा की। अश्विन और विहारी ने 258 गेंदों में 68 रन की पार्टनरशिप की। यह छठवें विकेट के लिए गेंद के हिसाब से भारत की तीसरी सबसे बड़ी पार्टनरशिप है। तीसरा टेस्ट ड्रॉ होने के साथ ही सीरीज अभी भी 1-1 की बराबरी पर है। 15 जनवरी से ब्रिस्बेन में आखिरी टेस्ट खेला जाएगा।
40 साल में चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर खेले
टीम इंडिया ने 40 साल बाद टारगेट चेज करते हुए चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर बल्लेबाजी की। इससे पहले 1979-80 में भारत ने पाकिस्तान के खिलाफ 131 ओवर बल्लेबाजी कर मैच बचाया था। ओवरऑल भारत ने पांचवीं बार सबसे ज्यादा बल्लेबाजी कर मैच बचाया। इंग्लैंड के खिलाफ 1979 में ओवल में भारत ने 150.5 ओवर बल्लेबाजी की थी, जो कि सबसे ज्यादा है। यह किसी भी एशियाई टीम द्वारा ऑस्ट्रेलिया में चौथी पारी में सबसे ज्यादा ओवर बल्लेबाजी करने का रिकॉर्ड भी है। इससे पहले भारत ने ही 2014/15 में सिडनी में 89.5 ओवर बल्लेबाजी की थी। ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने आज तीन कैच छोड़े। 123वें ओवर में मिचेल स्टार्क की 5वीं बॉल पर पेन ने विहारी का कैच छोड़ दिया। गेंद विहारी के बल्ले का किनारा लेकर पेन तक गई, लेकिन वे इसे पकड़ नहीं पाए। उस वक्त विहारी 15 रन बनाकर बल्लेबाजी कर रहे थे। इससे पहले भी पेन ऋषभ पंत के 2 कैच छोड़े थे। हनुमा विहारी ने 112 गेंदों पर 6.25 की स्ट्राइक रेट से 7 रन बनाए। यह भारतीय क्रिकेट इतिहास की सबसे धीमी पारी है। इससे पहले यशपाल शर्मा ने 1980/81 में एडिलेड में 157 बॉल पर 8.28 की स्ट्राइक रेट से 13 रन बनाए थे। उन्होंने भी एक क्षण पर 112 गेंद में 7 रन ही बनाए थे। भारतीय पारी के 101वें ओवर में कमिंस की बॉल पर सब्सटिट्यूट फील्डर सीन एबॉट ने अश्विन का कैच छोड़ दिया। वे उस वक्त 15 रन बनाकर खेल रहे थे। एबॉट को विल पुकोव्स्की की जगह मैदान पर भेजा गया। पुकोव्स्की फील्डिंग के दौरान कंधे में चोट लगा बैठे थे। इसके बाद स्कैन के लिए उन्हें अस्पताल ले जाया गया। चेतेश्वर पुजारा 77 रन बनाकर आउट हुए। जोश हेजलवुड ने उन्हें क्लीन बोल्ड किया। उन्होंने टेस्ट क्रिकेट में 6000 रन पूरे किए। पुजारा ने 80वें मैच की 134वीं पारी में यह उपलब्धि हासिल की। वे ऐसा करने वाले भारत के 11वें खिलाड़ी हैं। इसके साथ ही उन्होंने 26वीं फिफ्टी भी लगाई। पहली पारी में भी उन्होंने 50 रन बनाए थे। 2014 के बाद चौथी पारी में पुजारा का यह पहला अर्धशतक था। वहीं, ऋषभ पंत 97 रन बनाकर आउट हुए। नाथन लियोन ने उन्हें पैट कमिंस के हाथों कैच कराया। पंत तीसरी बार नर्वस-90 में आउट हुए। इससे पहले 2018 में राजकोट में वेस्टइंडीज के खिलाफ सीरीज के 2 मैच में वे 92-92 रन बनाकर आउट हुए थे। उन्होंने पुजारा के साथ चौथे विकेट के लिए 148 रन की पार्टनरशिप की। यह टारगेट चेज करते हुए चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी है। इससे पहले यह रिकॉर्ड विजय हजारी और रूसी मोदी के नाम था। 

इन दोनों ने 1948-49 में 139 रन की पार्टनरशिप की थी।

भारत के लिए टारगेट चेज करते हुए चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी पार्टनरशिप

पार्टनरशिप    बल्लेबाज    खिलाफ    जगह, साल
148    चेतेश्वर पुजारा-ऋषभ पंत    ऑस्ट्रेलिया    सिडनी, 2020/21
139    रूसी मोदी-विजय हजारे    वेस्टइंडीज    मुंबई, 1948/49
122    दिलीप वेंगसरकर-यशपाल शर्मा    पाकिस्तान    दिल्ली, 1979/80
चोट के बाद बैटिंग करने उतरे पंत पंत ने टेस्ट करियर की तीसरी फिफ्टी लगाई। उन्होंने 64 बॉल में अर्धशतक लगाया। वे ऑस्ट्रेलिया में टेस्ट में टारगेट चेज करते हुए अर्धशतक लगाने वाले सबसे युवा विकेटकीपर बने। पंत को पहली पारी में बैटिंग के दौरान ही कोहनी में चोट लगी थी। इसके बावजूद वे बैटिंग करने उतरे थे।

टारगेट चेज करते हुए भारतीय विकेटकीपर के सबसे बड़े स्कोर

रन    बल्लेबाज    खिलाफ    जगह, साल
114    ऋषभ पंत    इंग्लैंड    ओवल, 2018
97    ऋषभ पंत    ऑस्ट्रेलिया    सिडनी 2020/21 (आज)
76*    महेंद्र सिंह धोनी    इंग्लैंड    लॉ?र्ड्स, 2007
67*    पार्थिव पटेल    इंग्लैंड    मोहाली, 2016/17
क्रद्बह्यद्धड्डड्ढद्ध क्कड्डठ्ठह्ल ड्ढह्म्द्बठ्ठद्दह्य ह्वश्च द्धद्बह्य द्धड्डद्यद्घ-ष्द्गठ्ठह्लह्वह्म्4!

स्नशह्वह्म् द्घशह्वह्म्ह्य ड्डठ्ठस्र ह्लद्धह्म्द्गद्ग ह्यद्ब&द्गह्य द्बठ्ठ द्धद्बह्य द्बठ्ठठ्ठद्बठ्ठद्दह्य ह्यश द्घड्डह्म्...प्त्रस्1ढ्ढहृष्ठ श्चद्बष्.ह्ल2द्बह्लह्लद्गह्म्.ष्शद्व/4ह्नह्र06क्चत्र5॥ष्ट

— ढ्ढष्टष्ट (ञ्चढ्ढष्टष्ट) छ्वड्डठ्ठह्वड्डह्म्4 11, 2021
पंत को 2 जीवनदान मिले
ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने पंत को 2 जीवनदान दिए। 40वें ओवर में नाथन लियोन की बॉल पंत के बल्ले का किनारा लेकर टिम पेन के पास गई, लेकिन वे कैच नहीं पकड़ सके। गेंद पेन के ग्लव्स में लगकर छूट गई। उस वक्त पंत 3 रन बनाकर खेल रहे थे।

इसके बाद 60वें ओवर में पेन ने एक और कैच छोड़ा। इस बार भी गेंदबाज लियोन ही थे। गेंद पंत के बल्ले का किनारा लेकर पेन के पास गई, लेकिन उन्होंने कैच ड्रॉप कर दिया। उस वक्त पंत 56 रन बनाकर खेल रहे थे।

पंत ने लियोन की गेंद पर अटैकिंग खेल दिखाया
पंत ने दूसरी पारी में 48वें ओवर में नाथन लियोन की बॉल पर 1 चौका और 1 सिक्स लगाया। इसके बाद लियोन के अगले ओवर (50वें) में फिर उनकी बॉल पर 2 चौके जड़े। 57वें ओवर में भी लियोन की दो लगातार गेंदों पर 2 छक्के लगाए।

रहाणे के रूप में 5वें दिन पहला विकेट गिरा
पांचवें दिन भारत ने 2 विकेट पर 98 रन से आगे खेलना शुरू किया। लियोन ने कप्तान अजिंक्य रहाणे को आउट कर टीम इंडिया को दिन का पहला झटका दिया। वे 4 रन बनाकर आउट हुए। रोहित शर्मा और शुभमन गिल चौथे दिन ही आउट हो कर पवेलियन लौट गए थे।

ढ्ढह्ल ह्लशशद्म हृड्डह्लद्धड्डठ्ठ रु4शठ्ठ शठ्ठद्य4 द्घशह्वह्म् ड्ढड्डद्यद्यह्य ह्लश ह्यह्लह्म्द्बद्मद्ग ड्डह्ल ह्लद्धद्ग ह्यह्लड्डह्म्ह्ल शद्घ स्रड्ड4 द्घद्ब1द्ग! प्तह्रद्धङ्खद्धड्डह्ल्रस्नद्गद्गद्यद्बठ्ठद्दञ्चञ्जश4शह्लड्ड_्रह्वह्य 7 प्त्रस्1ढ्ढहृष्ठ श्चद्बष्.ह्ल2द्बह्लह्लद्गह्म्.ष्शद्व/स्रु्र75ङ्घड्र्ढंत्रक्च

— ष्ह्म्द्बष्द्मद्गह्ल.ष्शद्व.ड्डह्व (ञ्चष्ह्म्द्बष्द्मद्गह्लष्शद्वड्डह्व) छ्वड्डठ्ठह्वड्डह्म्4 10, 2021
इससे पहले ऑस्ट्रेलियाई कप्तान टिम पेन ने दूसरी पारी 6 विकेट गंवाकर 312 रन पर घोषित कर दी थी। पहली पारी में 94 रन की लीड मिलाकर ऑस्ट्रेलिया ने 406 रन की बढ़त ली। सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (स्ष्टत्र) पर अब तक 288 रन से ज्यादा चेज नहीं हुए। ऑस्ट्रेलिया ने आखिरी बार 2006 में साउथ अफ्रीका के खिलाफ चौथी पारी में 2 विकेट पर 288 रन बनाकर मैच जीता था।

रोहित-शुभमन के बीच 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप
दूसरी पारी में रोहित शर्मा और शुभमन गिल ने लगातार दूसरी बार 71 रन की ओपनिंग पार्टनरशिप की। पहली पारी में भी दोनों ने 70 रन की पार्टनरशिप की थी। जोश हेजलवुड ने भारत को पहला झटका दिया। उन्होंने शुभमन गिल को 31 रन के निजी स्कोर पर आउट किया।

बतौर ओपनर विदेश में रोहित की पहली फिफ्टी
चौथे दिन बतौर ओपनर विदेश में पहली फिफ्टी लगाने के बाद रोहित शर्मा आउट हुए। उन्हें पैट कमिंस ने मिचेल स्टार्क के हाथों कैच कराया। रोहित ने 98 बॉल पर 52 रन की पारी खेली। यह उनकी ओवरऑल 11वीं फिफ्टी रही। उन्होंने पुजारा के साथ मिलकर तीसरे विकेट के लिए 21 रन की पार्टनरशिप की।

ढ्ढहृष्ठ 1ह्य ्रस् सिडनी टेस्ट:चौथे दिन भारत ने दूसरी पारी में 2 विकेट गंवाकर 98 रन बनाए, जीत के लिए अभी भी 309 रन की जरूरत

ग्रीन की पहली फिफ्टी
पारी घोषित करने से पहले कैमरून ग्रीन ने टेस्ट में पहली फिफ्टी लगाई। वे 84 रन बनाकर आउट हुए। उन्हें जसप्रीत बुमराह ने विकेटकीपर ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। वहीं, टिम पेन 39 रन बनाकर नाबाद रहे। वहीं, स्टीव स्मिथ ने टेस्ट करियर की 30वीं फिफ्टी लगाई। वे 81 रन बनाकर आउट हुए। रविचंद्रन अश्विन ने उन्हें सीरीज में तीसरी बार और कुल 5वीं बार अपना शिकार बनाया।

लगातार दूसरे दिन मंकीगेट विवाद
सिडनी टेस्ट में लगातार दूसरे दिन मंकीगेट विवाद हुआ। टेस्ट के चौथे दिन भी भारतीय बॉलर मो. सिराज पर दर्शकों ने नस्लभेदी टिप्पणी की। बाउंड्री के करीब बैठे दर्शकों की एक टोली लगातार सिराज को ब्राउन मंकी और बिग डॉग बोल रही थी। सिराज ने इसकी शिकायत फील्ड अंपायर पॉल राफेल से की। मैच रेफरी और टीवी अंपायर से फील्ड अंपायर ने बातचीत की और फिर पुलिस बुलाई गई। पुलिस ने 6 दर्शकों को बाहर निकाल दिया। क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया ने भी इस घटना पर टीम इंडिया से माफी मांगी है।

सिडनी में दूसरे दिन भी नस्लीय टिप्पणी:सिराज को दर्शकों ने मंकी और डॉग कहा, विराट बोले- गाली बर्दाश्त नहीं, ये गुंडागर्दी की इंतेहा

स्मिथ-लाबुशेन के बीच 103 रन की पार्टनरशिप
लाबुशेन और स्मिथ ने तीसरे विकेट के लिए 224 बॉल पर 103 रन की पार्टनरशिप की। लाबुशेन ने टेस्ट करियर की 10वीं फिफ्टी लगाई। वे 118 बॉल पर 73 रन बनाकर आउट हुए। सैनी ने उन्हें ऋद्धिमान साहा के हाथों कैच कराया। लाबुशेन ने पिछली पारी में भी 91 रन बनाए थे। सैनी ने इसके बाद मैथ्यू वेड को भी पवेलियन भेजा। वेड कुछ खास नहीं कर सके और 4 रन बनाकर आउट हुए। सैनी अपने डेब्यू टेस्ट में अब तक 4 विकेट ले चुके हैं। पहली पारी में भी उन्होंने 2 विकेट लिए थे।

तीसरे दिन भारतीय टीम सिमटी
मैच के तीसरे दिन भारतीय टीम पहली पारी में 244 रन पर सिमट गई थी। भारत ने तीसरे दिन 96 रन पर 2 विकेट से आगे खेलना शुरू किया था। यानी तीसरे दिन टीम ने 148 रन बनाने में बाकी 8 विकेट गंवा दिए। चेतेश्वर पुजारा, पंत और रविंद्र जडेजा के अलावा कोई भी बल्लेबाज विकेट पर नहीं टिक सका। 4 बल्लेबाज तो दहाई का आंकड़ा भी नहीं छू सके। दूसरे दिन भारत ने अपने दोनों ओपनर रोहित शर्मा और शुभमन गिल को गंवा दिया था।

ढ्ढहृष्ठ 1ह्य ्रस् तीसरा टेस्ट:दूसरी पारी में ऑस्ट्रेलिया को अब तक 197 रन की बढ़त; तीसरे दिन 251 रन बने और 10 विकेट गिरे

दूसरे दिन जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया के 4 झटके दिए
जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया को 4 बड़े झटके दिए। पहले मार्नस लाबुशेन को 91 रन पर अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच आउट कराया। उन्होंने टेस्ट करियर की 9वीं फिफ्टी लगाई। साथ ही स्मिथ के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप भी की। जडेजा ने मैथ्यू वेड (13) को जसप्रीत बुमराह के हाथों कैच आउट कराया। इसके बाद पैट कमिंस और नाथन लियोन को खाता भी नहीं खोलने दिया। कमिंस बोल्ड हुए, जबकि लियोन को रुक्चङ्ख किया। भारत ने पहली पारी में ऑस्ट्रेलिया को 338 रन पर समेट दिया।

सिडनी टेस्ट का दूसरा दिन:शुभमन ने करियर की पहली फिफ्टी जड़ी, जडेजा ने 4 विकेट लेकर ऑस्ट्रेलिया को ढेर किया

सिडनी टेस्ट का पहला दिन आधा धुला:ऑस्ट्रेलिया का स्कोर 166/2, डेब्यू मैच में सैनी को एक विकेट और पुकोव्स्की की फिफ्टी

पहले दिन ऑस्ट्रेलिया की खराब शुरुआत पहले दिन मेजबान टीम की पहली पारी में खराब शुरुआत हुई। चौथे ओवर में ही मोहम्मद सिराज ने ऑस्ट्रेलिया को पहला झटका दिया। डेविड वॉर्नर 5 रन बनाकर पवेलियन लौटे। चेतेश्वर पुजारा ने उनका कैच लिया। इसके बाद पुकोव्स्की ने लाबुशेन के साथ दूसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप कर पारी को संभाला। इसके बाद लाबुशेन ने स्मिथ के साथ तीसरे विकेट के लिए 100 रन की पार्टनरशिप की।

कैच छोडऩा मेरी गलती रही : पेन

सिडनी
सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) पर खेले गए तीसरे टेस्ट मैच में आस्ट्रेलियाई टीम जीत की दावेदार दिख रही थी लेकिन भारतीय बल्लेबाजों ने उसके अरमानों पर पानी फेर दिया। ऋषभ पंत की 97 रनों की पारी ने भारत को मैच में वापस ला दिया, लेकिन पंत पहले ही आउट हो गए होते अगर आस्ट्रेलियाई कप्तान दो बार उनका कैच नहीं छोड़ते तो। पेन ने मैच के बाद कैच छोडऩे की जिम्मेदारी ली और साथ ही कहा कि इसे पचा पाना मुश्किल है। पेन ने कहा, हमने काफी सारे मौके बनाए। हमारे गेंदबाजों ने शानदार गेंदबाजी की। इसलिए इसे पचा पाना मुश्किल है। मैं कैच छोडऩे की अपनी गलती मानता हूं। पेन ने कहा कि इस मैच से कई सकारात्मक चीजें सीखने को मिली हैं। आस्ट्रेलियाई कप्तान ने कहा, हम अब ब्रिस्बेन के लिए तैयार हैं। हमने एडिलेड में अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट नहीं खेली, न ही मेलबर्न में, लेकिन यह काफी करीबी मैच था। खिलाडिय़ों ने आज अपना पूरा प्रयास किया। दो युवा खिलाडिय़ों ने अंतर्राष्ट्रीय स्तर पर अच्छी क्रिकेट खेली। विल पुकोवस्की ने अर्धशतक के साथ शुरुआत की और कैमरून ग्रीन ने भी हमारी दूसरी पारी में काफी मदद की। तीसरा टेस्ट मैच ड्रॉ होने के बाद चार मैचों की सीरीज इस समय 1-1 से बराबर है। चौथा टेस्ट मैच ब्रिस्बेन में खेला जाएगा।

सिडनी टेस्ट में फिर नस्लीय टिप्पणी का शिकार हुई भारतीय टीम, दर्शक स्टैंड से हटाए गए

सिडनी ।
मोहम्मद सिराज के खिलाफ रविवार को भी सिडनी क्रिकेट ग्राउंड (एससीजी) के दर्शक दीर्घा से नस्लीय टिप्पणी की गई। इस कारण खेल कुछ समय तक रुका रहा। पुलिस ने स्टैंड से कुछ दर्शकों को स्टेडियम से बाहर कर दिया। इससे पहले शनिवार को भी दर्शकों ने सिराज के खिलाफ इसी तरह की टिप्पणी की थी। रविवार को सिराज दूसरे सत्र के खेल के दौरान जब बाउंड्री के पास तैनात थे तब किसी दर्शक ने उन्हें लेकर टिप्पणी की। उस समय आस्ट्रेलियाई पारी का 86वां ओवर चल रहा था। सिराज तुरंत कप्तान अजिंक्य रहाणे के पास पहुंचे और उन्हें इसकी जानकारी दी। मामले की गम्भीरता को देखते हुए कप्तान ने अम्पायर पॉल राफेल को इस बारे में बताया। पॉल ने बिना देरी किए मैच रेफरी को इसकी जानकारी दी और फिर मैच रेफरी ने सुरक्षा अधिकारियो को बताया कि स्टैंड से किसी सिराज के खिलाफ भद्दी टिप्पणी की है। सुरक्षाकर्मियों ने उस स्थान का मुआयना किया, जहां से सिराज के अनुसार आवाज आई थी। कई लोगों से पूछताछ की गई और फिर चार-पांच लोगों को लेकर पुलिस स्टैंड से बाहर चली गई। इस घटना के कारण लगभग 10 मिनट तक खेल रुका रहा। इससे पहले, शनिवार को भारतीय क्रिकेट टीम के अधिकारियों ने शिकायत की थी कि सिराज और जसप्रीत बुमराह पर दर्शकों ने नस्लीय टिप्पणी की है। तीसरे दिन का खेल खत्म होने के बाद आईसीसी, स्टेडियम के सुरक्षा अधिकारी बुमराह और सिराज के साथ लंबी बातचीत करते हुए नजर आए और इस दौरान भारतीय टीम प्रबंधन के सदस्य भी उनके साथ थे। आस्ट्रेलियाई अखबार द डेली टेलीग्राफ की रिपोर्ट के मुताबिक, "यह पता चला है कि भारतीय अधिकारियों ने कहा है कि बुमराह और सिराज पर दर्शकों द्वारा बीते दो दिन से फब्तियां कसी जा रही हैं जो नस्लीय हैं। मैदान के रैंडविंक छोर की तरफ जहां सिराज फील्डिंग कर रहे थे वहां दर्शकों में से यह टिप्पणी की गई।" रिपोर्ट के मुताबिक, "एक और वाक्ये में, जब मैच चल रहा था तब भारतीय स्टाफ बुमराह के पीछे बाउंड्री के बाहर खड़ा था और उनसे बात भी कर रहा था।" क्रिके आस्ट्रेलिया ने आधिकारिक बयान जारी करते हुए कहा है कि वह इस तरह की घटना की निंदा करता है। सीए के इंट्रीगिटी एवं सिक्योरिटी प्रमुख सीन कॉरोल ने कहा है कि जो लोग इस तरह की घटनाओं में लिप्त हैं, सीए उनका कभी स्वागत नहीं करेगा।

सचिन, कोहली, कुक और कैलिस से भी आगे निकले स्मिथ

नई दिल्ली।
आस्ट्रेलियाई धुरंधर बल्लेबाज स्टीव स्मिथ सिडनी में भारत के साथ जारी तीसरे टेस्ट की दूसरी पारी में अर्धशतक लगाकर क्रिकेट के कुछ समकालीन और पूर्व दिग्गजों से आगे निकल गए हैं। स्मिथ एक ही टेस्ट में शतक और अर्धशतक लगाने का कारनामा 10 बार कर चुके हैं और इस मामले में वह जैक्स कैलिस, विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर,रिकी पोटिंग, एलन बॉर्डर, एलिस्टर कुक और कुमार संगकारा से भी आगे निकल चके हैं। दुनिया के महानतम ऑलराउंडर्स में शुमार किए जाने वाले दक्षिण अफ्रीका के कैलिस ने नौ बार यह कारनामा किया है जबकि इंग्लैंड के लिए सबसे अधिक टेस्ट रन बना चुके कुक 8 बार एक ही मैच में शतक और अर्धशतक लगा चुके हैं। इसके अलावा बॉर्डर, सचिन, पोटिंग और भारत के मौजूदा कप्तान विराट कोहली 7-7 बार एक ही मैच में शतक तथा अर्धशतक लगा चुके हैं।

पंत कर सकते है बैटिंग: कोहनी में चोट के बावजूद नेट्स में बल्लेबाजी की; अंगूठे में फ्रैक्चर की वजह से जडेजा सीरीज से हो सकते हैं बाहर

सिडनी
ऋषभ पंत ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ सिडनी में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट में पांचवें दिन बैटिंग कर सकते हैं। पंत को तीसरे दिन बल्लेबाजी के दौरान हाथ के एल्बो में चोट लग गई थी। जिसके बाद ऋद्धिमान साहा सब्सटिट्यूट फील्डर के तौर पर विकेटकीपिंग की ऋषभ पंत कोहनी में चोट के बावजूद सिडनी में ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच के पांचवें दिन बल्लेबाजी के लिए उतर सकते हैं। पंत ने नेट्स पर प्रैक्टिस की। जबकि मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक रविंद्र जडेजा फ्रैक्चर की वजह से सीरीज से बाहर हो सकते हैं। सिडनी में खेली जारी तीसरे मैच की पहली पारी में बल्लेबाजी करने के दौरान जडेजा को मिचेल स्टार्क के गेंद पर बायें हाथ के अंगूठे में चोट लग गई थी। जबकि पंत को पैट कमिंस के गेंद पर हाथ (एल्बो) में चोट लगी थी। ऋषभ पंत की जगह ऋद्धिमान साहा सब्सटिट्यूट फील्डर के तौर पर विकेटकीपिंग की। जबकि जडेजा की जगह पर मयंक अग्रवाल ने फील्डिंग की। वहीं पंत ने नेट पर प्रैक्टिस की है। ऐसे में उम्मीद है कि वे दूसरी पारी में बैटिंग करने के लिए आएंगे। हालांकि चौथे दिन भी उनकी जगह सब्सटिट्यूट फील्डर साहा ने विकेटकीपिंग की। भारतीय ऑल राउंडर रविंद्र जडेजा सीरीज से बाहर हो सकते हैं। 

मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक जडेजा के अंगूठे में फ्रैक्चर है। उन्हें डॉक्टरों ने 6 हफ्ते के आराम की सलाह दी है।

चोट की वजह से तीन प्लेयर सीरीज से हो चुके हैं बाहर

मोहम्मद शमी, उमेश यादव, और लोकेश राहुल चोटिल हो कर सीरीज से बाहर हो चुके हैं। शमी को पहले टेस्ट में बैटिंग के दौरान चोट लग गई थी। उसके बाद दूसरे टेस्ट में उमेश यादव भी बल्लेबाजी के दौरान चोटिल हो गए। वहीं केएल राहुल को तीसरे टेस्ट मैच से पहले प्रैक्टिस के दौरान चोट लग गई थी।

भारत को जीत के लिए 309 रन की जरूरत

चार टेस्ट मैचों की सीरीज 1-1 की बराबरी पर है। पहले टेस्ट में ऑस्ट्रेलिया ने टीम इंडिया को आठ विकेट से हराया था। जबकि मेलबर्न में खेले गए दूसरे टेस्ट मैच में भारत ने ऑस्ट्रेलिया को हराकर सीरीज में 1-1 की बराबरी कर ली। वहीं सिडनी में खेली जा रही टेस्ट मैच में चौथे दिन के समाप्त होने से पहले भारत के 2 विकेट पर 98 रन बन गए हैं। जीत के लिए अभी भी 309 रन की जरूरत है। कप्तान अजिंक्य रहाणे और चेतेश्वर पुजारा नाबाद हैं।