Updated -

mobile_app
liveTv

मोरिन्हो के साथ अलगाव की बातों को लेकर पॉल पोग्बा ने कहा..

मैनचेस्टर। फ्रांस के अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ी पॉल पोग्बा ने इंग्लिश फुटबॉल क्लब मैनचेस्टर युनाइटेड के कोच जोस मोरिन्हो के साथ विवाद की खबरों को सिरे से खारिज कर दिया है। उन्होंने कहा है कि वे मैनचेस्टर युनाइटेड में काफी खुश हैं। पोग्बा टीम से अंदर-बाहर होते रहे हैं और मोरिन्हो ने उनसे अपने प्रदर्शन में निरंतरता लाने को कहा है। 

स्काई स्पोट्र्स ने पोग्बा के हवाले से लिखा है, यह शानदार है। बहुत शानदार। वे कोच हैं, मैं खिलाड़ी हूं। वे कोचिंग करते हैं और मैं खेलता हूं। पोग्बा ने कहा, मैं यहां बेहद खुश हूं। मैं अपनी टीम के लिए सर्वश्रेष्ठ दूंगा। मेरे लिए मैं बहुत खुश हूं क्योंकि हम फाइनल में हैं। मैं सीजन का अंत शानदार तरीके से करना चाहता हूं। 

इटली के शीर्ष क्लब जुवेंतस से मैनचेस्टर युनाइटेड में आए पोग्बा ने कहा कि खराब दौर आपको मजबूत बनाता है। उन्होंने कहा, यह आपको मजबूत बनाता है और आपको बताता है कि आपको कड़ी मेहनत करनी है क्योंकि कुछ भी हो सकता है। इसने मुझ पर अच्छा प्रभाव डाला है।

फॉर्मूला 1 रेसर लुइस हेमिल्टन ने सेबेस्टियन वेटल पर लगाया यह आरोप

अजरबेजान। फॉूर्मला 1 रेसर लुइस हेमिल्टन ने अपने प्रतिद्वंद्वी सेबेस्टियन वेटल पर अजरबेजान ग्रांप्री में कार सुरक्षा नियमों को तोडऩे का आरोप लगाया है। बीबीसी की रिपोर्ट के मुताबिक मर्सिडीज के ड्राइवर हेमिल्टन ने कहा है कि वेटल ने रेस के दौरान बार-बार गाड़ी को धीमी और तेज करते हुए खतरनाक तरीके से गाड़ी चलाई।

ब्रिटेन के इस रेसर ने कहा है कि वे एफआईए फॉर्मूला-1 के निदेशक चार्ली व्हाइटनिंग से स्पेन में होने वाली अगली रेस से पहले इस पर जवाब मांगेंगे। हेमिल्टन ने कहा, आप बार-बार बंद-चालू, बंद-चालू का खेल नहीं खेल सकते। आप अपने पीछे के रेसर को इस तरह धोखा नहीं दे सकते। हेमिल्टन ने कहा कि वेटल आम तौर पर रिस्टार्ट पर इस तरह का व्यवहार करते हैं। 

उन्होंने कहा, ऑस्ट्रेलिया में उन्होंने बार-बार एक्सीलेटर दबाया और फिर ब्रेक लगाए। मैं एक समय उनके काफी पीछे था। बाकु में भी उन्होंने ऐसा चार बार किया। मुझे इसे लेकर चार्ली से बात करनी होगी क्योंकि वे यह ऐसा कर रहे हैं मुझे समझ में नहीं आ रहा।

धोनी ने बताया कहां रह गई कमी, सूर्यकुमार यादव ने कही यह बात

पुणे। दो बार के इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स को शनिवार को 11वें संस्करण के 27वें मुकाबले में 8 विकेट से हार का सामना करना पड़ा। हालांकि इस हार के बावजूद चेन्नई अंकतालिका में शीर्ष पर है। चेन्नई के सात मैच में पांच जीत व दो हार के साथ 10 अंक हैं। सनराइजर्स हैदराबाद और किंग्स इलेवन पंजाब की भी यही हालत है, लेकिन वे नेट रनरेट में चेन्नई से पीछे हैं।  हार के बाद आयोजित पुरस्कार वितरण समारोह में चेन्नई के कप्तान धोनी ने कहा कि यह जानना महत्वपूर्ण है कि कहां गलती हुई। ऐसी हार के काफी कुछ सीखने को मिलता है। हम लाजवाब व्यक्तिगत प्रदर्शनों पर निर्भर रहे, लेकिन हमारे 10-15 रन कम रह गए। बीच के ओवरों में मुंबई ने अच्छी गेंदबाजी की। ऐसे विकेट पर गति की जरूरत होती है। गेंद बल्ले पर नहीं आ रही थी। क्रॉस बैट शॉट खेलना आसान नहीं था। उनके स्पिनर्स भी बढिय़ा गेंदबाजी करने में सफल रहे। हमारे गेंदबाज गेंदों पर थोड़ी ज्यादा मेहनत कर सकते थे। ऐसी हार आपको विनम्र बनाती है। अगर आप लगातार जीतते जाएंगे तो आपको पता नहीं चलेगा कि किस जगह ज्यादा काम करना है। यह अच्छा मैच था और इससे हमें ऐसी परिस्थितियों से निपटने के बारे में सोचने की मदद मिलेगी। हमें यह पता करना है कि हम 20 रन और कहां जुटा सकते थे। हालांकि अभी भी टूर्नामेंट में काफी खेल बचा है।

स्पेनिश लीग : रियल मेड्रिड जीता, जिदान ने इसलिए किए कई बदलाव

मेड्रिड। स्पेनिश लीग में खेले गए मैच में लेगानेस को हराने के साथ ही रियल मेड्रिड फुटबॉल क्लब ने एक माह से अधिक समय के बाद पहली बार सैंटियागो बर्नबू स्टेडियम में पहली जीत दर्ज की। समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, रियल ने शनिवार रात खेले गए मैच में लेगानेस को 2-1 से मात दी। 
चैम्पियंस लीग में जर्मन क्लब बायर्न म्यूनिख के खिलाफ खेले जाने वाले सेमीफाइनल के दूसरे चरण को ध्यान में रखते हुए इस मैच के लिए कोच जिनेदिन जिदान ने रियल टीम में कई बदलाव किए। इस मैच में गारेथ बेल ने आठवें मिनट में ही गोल कर रियल का खाता खोला।  इसके बाद, 45वें मिनट में बोर्जा मायोराल ने टीम के लिए दूसरा गोल किया और 2-0 की बढ़त दी। दूसरे हाफ में रियल को गोल करने का मौका नहीं मिला। इस बीच, 66वें मिनट में डार्को ब्रासनाक ने लेगानेस के लिए गोल किया और स्कोर 2-1 किया। रियल ने इसके बाद, लेगानेस को अपने डिफेंस को मजबूत कर गोल करने का मौका नहीं दिया और अंत में 2-1 से जीत हासिल की।

LIVE IPL-11 : पंजाब को 9वां झटका, हैदराबाद का पलड़ा भारी

हैदराबाद। किंग्स इलेवन पंजाब और सनराइजर्स हैदराबाद के बीच आईपीएल सीजन 11 का 25वां मुकाबला हैदराबाद के राजीव गांधी इंटरनेशनल स्टेडियम में खेला जा रहा है। टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी सनराइजर्स हैदराबाद की टीम ने 20 ओवर में 6 विकेट गंवा कर 132 रन बनाए और हैदराबाद को जीत के लिए 133 रनों का लक्ष्य दिया।जवाब में किंग्स इलेवन पंजाब की टीम ने 16 ओवर में 7 विकेट गंवा कर 97 रन बना लिए।
इससे पहले .....
किंग्स इलेवन पंजाब के तेज गेंदबाज अंकित राजपूत ने सनराइजर्स हैदराबाद को 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 132 रनों पर ही रोक दिया। अंकित ने शानदार गेंदबाजी करते हुए चार ओवरों में सिर्फ 14 रन खर्च किए और पांच विकेट अपने नाम किए। उनके अलावा सिर्फ मुजीब उर रहमान ही एक सफलता हासिल कर सके।
पंजाब के कप्तान रविचंद्रन अश्विन ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी। अंकित राजपूत ने अपने कप्तान को मनमाफिक शुरुआत दी और हैदराबाद के तीन बल्लेबाजों को महज 27 रनों पर ही पवेलियन भेज दिया। 
पहले ओवर की चौथी गेंद पर अंकित ने कप्तान केन विलियमसन को पवेलियन भेजा। अंकित ने 16 के कुल स्कोर पर ही शिखर धवन (11) को करुण नायर के हाथों कैच कराया। अंकित ने अपना अगला शिकार रिद्धिमान साहा (6) को बनाया। 

IPL-11: हैदराबाद ने रोका पंजाब का विजय रथ, 13 रनों से हराया

हैदराबाद| सनराइजर्स हैदराबाद ने गुरुवार को अपने घर राजीव गांधी अंतर्राष्ट्रीय स्टेडियम में खेले गए इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण के मैच में किंग्स इलेवन पंजाब को 13 रनों से हरा दिया। पंजाब के गेंदबाजों ने बेहतरीन प्रदर्शन करते हुए हैदराबाद को 20 ओवरों में छह विकेट के नुकसान पर 132 रनों पर ही सीमित कर दिया था। पंजाब की टीम इस लक्ष्य का हासिल नहीं कर पाई और चार गेंद पहले 119 रनों पर ढेर हो गई।

पंजाब के लिए लोकेश राहुल ने 32, क्रिस गेल ने 23, मंयक अग्रवाल ने 12 और करूण नायर ने 13 रनों का योगदान दिया। इनके अलावा कोई और बल्लेबाज दहाई के आंकड़े में नहीं पहुंच सका। हैदराबाद के लिए राशिद खान ने तीन विकेट लिए। शाकिब अल हसन और बासिल थम्पी को दो सफलताएं मिलीं।

इससे पहले, हैदराबाद के लिए अंकित राजपूत ने चार ओवरों में सिर्फ 14 रन देकर पांच विकेट अपने नाम किए। हैदराबाद के लिए मनीष पांडे ने 51 गेंदों में तीन चौके और एक छक्के की मदद से 54 रनों की पारी खेली। शाकिब अल हसन ने 29 गेंदों में तीन चौकों की मदद से 28 रन बनाए। अंकित के अलावा पंजाब के लिए मुजीब ने चार ओवरों में 17 रन देकर एक विकेट लिया। 

विराट कोहली ने बताया कहां हुई चूक, धोनी के लिए बोले ऐसा

बेंगलुरू। इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में अपना चौथा मैच हारने वाली रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर की टीम के कप्तान विराट कोहली का कहना है कि चेन्नई सुपर किंग्स के खिलाफ खेले गए मैच में उनकी टीम की गेंदबाजी अस्वीकार्य थी। एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार रात को खेले गए मैच में महेंद्र सिंह धोनी की टीम चेन्नई ने बेंगलोर को पांच विकेट से हरा दिया।

कोहली की टीम की आईपीएल के इस सीजन में खेले गए छह मैचों में चौथी हार है। वह आठ टीमों की तालिका में छठे स्थान पर है। इस हार के बाद एक बयान में कोहली ने कहा कि इस मैच में हम कई चीजों पर नजर डाल सकते हैं। हमने जिस प्रकार से गेंदबाजी की वह अस्वीकार्य थी। अंतिम ओवरों में हमने कई रन दिए, जो एक तरह से अपराध है। 

हमें आगे के मैचों में इस प्रकार की गलती को सुधारने की जरूरत है। अगर हम 200 रन भी डिफेंड नहीं कर सकते तो यह बड़ी समस्या है। हमने 74 रन तक चेन्नई के चार मुख्य बल्लेबाजों को आउट कर दिया था, लेकिन फिर भी बात नहीं बनी।

IPL-11 : मैन ऑफ द मैच धोनी ने इसलिए लिया डिविलियर्स का नाम

बेंगलुरू। एम. चिन्नास्वामी स्टेडियम में बुधवार को खेले गए आईपीएल-11 के 24वें मुकाबले में दो बार की चैंपियन चेन्नई सुपर किंग्स ने रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर को रोमांचक तरीके से दो गेंद पहले पांच विकेट से हरा दिया। चेन्नई को 206 रन चाहिए थे, जो उसने अंबाति रायुडू (82) और विकेटकीपर कप्तान महेंद्र सिंह धोनी (नाबाद 70) की पारियों के दम पर बना लिए। धोनी को मैन ऑफ द मैच चुना गया। धोनी ने कहा कि जब एबी डिविलियर्स बल्लेबाजी कर रहे थे तो मुझे लग गया था कि आरसीबी 200 से ज्यादा रन बनाएगी और लक्ष्य पाना आसान नहीं रहेगा।

हमने शुरुआत में जल्दी विकेट खो दिए, लेकिन यह छोटा मैदान था। यहां थोड़ी ओस थी। कुल मिलाकर यह सब हमारे पक्ष में गया। यह थोड़ा धीमा विकेट था, एबी की पारी बहुत खास थी। ऐसा लगा कि एबी आरसीबी को काफी तेजी से आगे ले गए, खास तौर से उन्होंने क्वालिटी स्पिनर्स को बेहतर खेला। शार्दुल ठाकुर ने हमारे लिए अच्छी गेंदबाजी की।

निसार अहमद को नहीं डिगा सकी पैसों की कमी, पिता चलाते हैं रिक्शा

नई दिल्ली। भारत के 16 साल के फर्राटा धावक और खेलो इंडिया के स्वर्ण पदक विजेता निसार अहमद ने कहा है कि जमैका में उसेन बोल्ट अकादमी में ट्रेनिंग लेने से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला है। निसार ने इस वर्ष राजधानी में हुए खेलो इंडिया स्कूल गेम्स में 100 मीटर रेस में पहला स्थान हासिल किया था। उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकालते हुए 10.76 सेकेंड में 100 मीटर की दूरी पूरी की थी। निसार को खुद ओलम्पिक रजत पदक विजेता और केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने पुरस्कार दिया था जिससे वे काफी खुश नजर आए थे। 

निसार ने पिछले साल भोपाल में हुए नेशनल स्कूल गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था, जहां उन्होंने 10.76 सेकेंड के समय के साथ 100 मीटर की दूरी तय की थी। इसके बाद विजयवाड़ा में हुए जूनियर नेशनल गेम्स में भी उन्होंने 100 और 200 मीटर में स्वर्ण अपने नाम किया था। निसार की इस प्रतिभा को देखकर गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) ने उन्हें जमैका स्थित उसेन बोल्ट अकादमी में ट्रेनिंग दिलाने का फैसला किया। निसार ने इस वर्ष चार से 28 फरवरी तक गेल की मदद से विश्व के सर्वश्रेष्ठ धावक रह चुके उसेन बोल्ट की अकादमी में स्पेशल ट्रेनिंग हासिल की। 
 

IPL-11 : कोच जयवर्धने ने बताई कौनसी बात रही सबसे ज्यादा निराशाजनक

मुंबई। अपने ही घर में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में सनराइजर्स हैदराबाद से हार का सामना करने वाली मुंबई इंडियंस टीम के मुख्य कोच महेला जयवर्धने ने कहा कि इस मैच में किसी ने भी जिम्मेदारी नहीं उठाई। वानखेड़े स्टेडियम में मंगलवार रात को खेले गए इस मैच में हैदराबाद ने मुंबई को 31 रनों से हराया। 

मौजूदा विजेता मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। ऐसे में उसे हैदराबाद से 119 रनों का लक्ष्य मिला। इस लक्ष्य को भी रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम हासिल नहीं कर पाई और 87 रनों पर ही उसकी पारी सिमट गई। मैच के बाद मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कोच जयवर्धने ने कहा कि हम किसी को दोष नहीं दे सकते। 

इसमें गलती हमारी ही है। हमने कुछ मैच खेले और उसमें मुझे लगा कि हमने अच्छा क्रिकेट खेला। आज (मंगलवार) का मैच बेहद निराशाजनक था। हमने कोई भी जिम्मेदारी नहीं उठाई और यह बात सबसे अधिक निराशाजनक रही।

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गंभीर ने इन्हें बताया भविष्य का खिलाड़ी

नई दिल्ली। दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए आईपीएल का 11वां सत्र अभी तक अच्छा नहीं रहा है। उसे एक के बाद एक हार का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली को सोमवार को अपने ही घर में जीत की स्थिति में होने के बावजूद मुंह की खानी पड़ी। उसे किंग्स इलेवन पंजाब ने चार रन से हरा दिया। दिल्ली आठ टीमों के बीच सबसे निचले पायदान पर है।

उसके छह मैच में एक जीत और पांच हार के साथ सिर्फ दो अंक हैं। हार से आहत दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर ने कहा कि अगर आप शुरुआती छह ओवर में ही तीन विकेट खो देते हैं तो मंजिल हासिल करना काफी मुश्किल हो जाता है। आवेश खान ने बढिय़ा गेंदबाजी की। पृथ्वी शॉ भविष्य के क्रिकेट हैं। अब हमें शेष बचे आठ में से कम से कम सात मुकाबले जीतने होंगे। इसके लिए बहुत बढिय़ा क्रिकेट खेलना पड़ेगा। 

IPL 11 : पृथ्वी शॉ ने तोड़ा इनका रिकॉर्ड, आए पहले नंबर पर

नई दिल्ली। किंग्स इलेवन पंजाब ने सोमवार को फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले गए आईपीएल-11 के 22वें मुकाबले में मेजबान दिल्ली डेयरडेविल्स को 4 रन से हरा दिया। हालांकि दिल्ली यह मैच हार गई लेकिन उसके दाएं हाथ के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। पृथ्वी आईपीएल के इतिहास में सबसे कम उम्र के ओपनर बन गए हैं। 

पृथ्वी ने 18 साल 165 दिन की उम्र में यह कमाल किया। पृथ्वी का यह पहला आईपीएल मैच है। पृथ्वी ने इस मामले में अपनी टीम के ही साथी बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को पीछे छोड़ा। पंत ने आईपीएल में जब पहली बार ओपनिंग की थी तो उनकी उम्र 18 साल व 212 दिन थी। पंत ने यह उपलब्धि वर्ष 2016 में दिल्ली की ओर से गुजरात लॉयंस के खिलाफ हासिल की थी। सोमवार को खेले गए मुकाबले में हालांकि पृथ्वी और पंत बड़ी पारी नहीं खेल पाए।