Updated -

mobile_app
liveTv

क्रिकेट में भ्रष्टाचार रोकने के लिए सट्टेबाजी को वैध करने पर विचार

जयपुर टाइम्स
मोहाली (एजेंसी)। भारतीय क्रिकेट कंट्रोल बोर्ड  के एंटी करप्शन यूनिट के प्रमुख अजीत सिंह शेखावत ने मंगलवार को भारतीय क्रिकेट में भ्रष्टाचार से निपटने के लिए सट्टेबाजी को वैध करने पर विचार करने की बात कही है। उन्होंने इसके लिए एक मैच फिक्सिंग कानून बनाने की भी सलाह दी। शेखावत राजस्थान में पुलिस महानिदेशक थे। वे पिछले साल अप्रैल में एंटी करप्शन यूनिट के प्रमुख बने थे। शेखावत का बयान उस समय आया है, जब सट्टेबाजों के 12 नेशनल और इंटरनेशनल क्रिकेटर्स से संपर्क करने की बात सामने आई है। दूसरी ओर, पहली बार एक भारतीय महिला क्रिकेटर ने फिक्सिंग की शिकायत की है। शेखावत से पूछा गया कि क्या मुंबई, कर्नाटक और तमिलनाडु में इस साल मैच फिक्सिंग के मामले आने के देश में स्पॉट फिक्सिंग को रोकना नामुमकिन हो गया है? इस पर उन्होंने कहा, 'यह ऐसा नहीं है कि जिसे रोका नहीं जा सके। हमें इसके खिलाफ मैच फिक्सिंग कानून बनाने की जरूरत है। अगर इसके खिलाफ स्पष्ट कानून बनता है, तो पुलिस की भी भूमिका स्पष्ट होगी।Ó
शेखावत ने कहा, 'पिछले साल भारतीय लॉ कमीशन ने मैच फिक्सिंग को एक अपराध घोषित करने की बात कही थी। ऐसा इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया में है। सट्टेबाजी को वैध करना भ्रष्टाचार को रोकने का एक और तरीका है। इससे सारा अवैध कारोबार नियंत्रित हो सकता है। हालांकि, इसके लिए कुछ मापदंड बनाने होंगे, ताकि सबकुछ नियंत्रण में हो। इससे सरकार को राजस्व में बड़ी राशि मिल सकती है।Ó
सुप्रीम कोर्ट ने 2013 में आईपीएल में सट्टेबाजी और स्पॉट फिक्सिंग के मामले सामने आने के बाद 2015 में पूर्व चीफ जस्टिस आरएम लोढ़ा की अगुवाई में एक समिति बनाई थी। तब लोढ़ा समिति ने भी सट्टेबाजी को वैध बनाने की सलाह दी थी। हालांकि, समिति ने यह भी कहा था कि इसे कुछ शर्तों के साथ लागू करना होगा। जैसे कि मैच में खेल रहे खिलाड़ी इसमें प्रत्यक्ष या अप्रत्यक्ष किसी भी तरीके से शामिल न हों। एक महिला क्रिकेटर ने फिक्सिंग की शिकायत थी। इसके बाद एंटी करप्शन यूनिट ने राकेश बाफना और जितेंद्र कोठारी के खिलाफ फिक्सिंग और धोखेबाजी को लेकर बेंगलुरू में एफआईआर दर्ज कराई है। जानकारी के मुताबिक, बाफना ने महिला टीम की एक इंटरनेशनल खिलाड़ी से इस साल फरवरी में इंग्लैंड सीरीज के बीच फिक्सिंग की बात कही थी।
क्रिकेटर ने एक आरोपी के साथ फोन पर हुई बातचीत की रिकॉर्डिंग भी दी है। 
स्पोर्ट्स मैनेजर जितेंद्र कोठारी ने सोशल साइट के द्वारा भारतीय खिलाड़ी से संपर्क किया था। इसके बाद उसने बाफना को मैच फिक्स करने के लिए महिला क्रिकेटर को अप्रोच किया। इस मामले में आईसीसी ने भी जांच शुरू कर दी है। इस बीच, तमिलनाडु प्रीमियर लीग में भी फिक्सिंग की जांच चल रही है। 

डिफेंडिंग चैम्पियन लीवरपूल पहले ही मैच में हारा, मैसी सीजन में पहली बार खेलने उतरे

जयपुर टाइम्स
यूरोप के सबसे बड़े फुटबॉल टूर्नामेंट यूईएफए चैम्पियंस लीग में  डिफेंडिंग चैम्पियन लीवरपूल अपने पहले ही मैच में हार गया। ड्रायस मर्टेंस और फर्नांडो लोरेंत के अंतिम पलों में किए गए गोल की मदद से लेपोली ने लीवरपूल को 2-0 से हराया। वहीं, बार्सिलोना के लियोनेल मेसी चोट के बाद पहली बार सीजन में खेलने उतरे। बार्सिलोना और बोरुसिया डोर्टमंड के बीच खेला गया मैच शून्य के साथ ड्रा रहा। लीग शुरू होने से पहले मेसी पैर में चोट के कारण बाहर हो गए थे। चोट के बाद वापसी कर रहे मेसी का इस सीजन का यह पहला मैच था। इस मैच में डोर्टमंड के कप्तान मार्को पहले हाफ में पेनल्टी और दूसरे हाफ में कुछ अच्छे मौके चूक गए, वरना मैच का परिणाम कुछ और ही होता। पिछले सीजन की यूरोपा लीग चैम्पियन चेल्सी अपने पिछले दोनों मैच हार गई। वेलेन्सिया ने चेल्सी को 1-0 से हराया।
चेल्सी के पास इस मैच का ड्रा कराने का शानदार मौका था, लेकिन वेलेन्सिया के रोड्रिगो मोरेनो ने ऐसा नहीं होने दिया।


 मैच के 74वें मिनट में मिली फ्री-किक गोल में तब्दील कर रोड्रिगो ने टीम को जीत दिलाई। 

चीन ओपन से बाहर हुईं सायना नेहवाल

जयपुर टाइम्स
चांगझू (एजेंसी)। भारत की महिला बैडमिंटन खिलाड़ी सायना नेहवाल  बुधवार को यहां जारी चीन ओपन विश्व टूर सुपर 1000 टूर्नामेंट से बाहर हो गई हैं।
सायना को महिला युगल वर्ग के पहले दौर में थाईलैंड की बुसानन ओंगबाम्रुंगफान के खिलाफ हार झेलनी पड़ी। 
आठवीं सीड सायन को वल्र्ड नंबर-8 बुसानन ने सीधे सेटों में 21-10, 21-17 से शिकस्त दी। दोनों खिलाडयि़ों के बीच ओलम्पिक खेल केंद्र शिनचेंग जिमनेजियम में खेला गया यह मुकाबला केवल 44 मिनट तक चला। सायन मुकाबले में शुरुआत से ही थाईलैंड के खिलाड़ी के सामने मुश्किल में नजर आईं और अपनी लय पाने में कामयाब नहीं हो पाई। इससे पहले, चीन ओपन में सायना का प्रदर्शन सराहनीय रहा है। 2014 में उन्होंने इस टूर्नामेंट का खिताब जीता था और उसके अगले साल फाइनल में भी प्रवेश किया था।

आर्चर आस्ट्रेलिया में एशेज जीतने में हमारी मदद कर सकते हैं : स्टोक्स

जयपुर टाइम्स
लंदन (एजेंसी)। इंग्लैंड क्रिकेट टीम के उप-कप्तान बेन स्टोक्स का मानना है कि युवा तेज गेंदबाज जोफ्रा आर्चर आस्ट्रेलिया में 2021-22 में अपनी टीम को एशेज जिताने में मदद कर सकते हैं। आर्चर ने हाल में 2-2 से ड्रॉ हुई सीरीज में पांच मैचों में कुल 22 विकेट लिए थे। उन्होंने विश्व कप का खिताब जीतने में भी इंग्लैंड की काफी मदद की थी। द गार्जियन ने स्टोक्स के हवाले से बताया, मैं नहीं समझता कि मैंने अपने समय में उनसे ज्यादा टैलेंटेड क्रिकेटर देखा है। टीम में ऐसा गेंदबाज होना अच्छा है। इसमें कोई शंका नहीं कि वह 2021-22 में आस्ट्रेलिया में एशेज जीतने में हमारी मदद कर सकते हैं। स्टोक्स ने कहा, वह कंट्रोल के साथ 90 मील प्रति घंटा की रफ्तार से गेंद कर सकते हैं और ऐसा गेंदबाज दुनिया के किसी भी हिस्से में घातक होता है।
 इंग्लैंड की टीम अब न्यूजीलैंड अक्टूबर में पांच टी-20 और दो टेस्ट मैच खेलेगी। 

टेस्ट चैम्पियनशिप : एशेज ड्रॉ होने के बाद ऑस्ट्रेलिया चौथे और इंग्लैंड पांचवें स्थान पर, भारत टॉप पर बरकरार

इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को पांचवें टेस्ट में हराया, एशेज 2-2 से ड्रॉ
भारत के 120 अंक हैं, ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के 56-56 अंक
जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। एशेज सीरीज के पांचवें और आखिरी मैच इंग्लैंड ने ऑस्ट्रेलिया को 135 रनों से हरा दिया। इसके साथ ही आईसीसी टेस्ट चैम्पियनशिप की अंक तालिका में अपनी पांचवीं पोजिशन बरकरार रखी। इस जीत से इंग्लैंड को 24 प्वाइंट मिले और अंक तालिका में उसके कुल अंक 56 हो गए। ऑस्ट्रेलिया भी इतने ही अंकों के साथ प्वाइंट्स टेबल में चौथी पोजिशन पर है। पांच मैचों की इस सीरीज के हर मैच के लिए विजेता टीम को 24 अंक मिले, वहीं ड्रॉ होने पर दोनों के बीच 8-8 अंक बांटे गए।
एशेज सीरीज का पहला और चौथा मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीता था, तो वहीं तीसरा और आखिरी मैच इंग्लैंड ने जीता। दूसरा टेस्ट ड्रॉ रहा था। जिसके बाद सीरीज भी 2-2 से ड्रॉ हो गई। दूसरी ओर, चैम्पियनशिप के अपने शुरुआती दोनों मैच जीतने की वजह से भारतीय टीम 120 अंकों के साथ अब भी टॉप पर बनी हुई है। दूसरे नंबर पर न्यूजीलैंड की टीम है, जिसके दो मैचों में 60 अंक हैं। तीसरे नंबर पर श्रीलंका है, उसके भी 60 अंक हैं। टेस्ट खेलने वाले 12 देशों में से टॉप की 9 टीमें ही इस चैम्पियनशिप में खेल रही हैं। आयरलैंड और अफगानिस्तान को टूर्नामेंट में खेलने का मौका नहीं मिला, जबकि जिम्बाब्वे की टीम प्रतिबंधित हो चुकी है।
टेस्ट चैम्पियनशिप में हिस्सा ले रहीं 9 टीमें दो साल के अंतराल में 6-6 टेस्ट सीरीज खेलेंगी। इनमें से 3 घरेलू और 3 विदेशी मैदान पर होंगी। एक सीरीज में कम से कम दो और ज्यादा से ज्यादा 5 टेस्ट खेले जा सकते हैं। 
लीग राउंड के खत्म होने के बाद शीर्ष पर रहने वाली 2 टीमों के बीच इंग्लैंड में जून 2021 में फाइनल खेला जाएगा। टेस्ट चैम्पियनशिप के तहत होने वाली हर टेस्ट सीरीज में दोनों टीमों के बीच कुल 120 अंकों का बंटवारा किया जा रहा है। फिर चाहे अलग-अलग सीरीज में मैचों की संख्या अलग-अलग क्यों ना हो। जैसे, अगर सीरीज में पांच टेस्ट मैच हैं तो हर मैच के लिए 24 अंक हैं, वहीं अगर चार टेस्ट की सीरीज है, तो हर मैच के 30 अंक हैं। तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में एक मैच के लिए 40 और दो टेस्ट की सीरीज में प्रति मैच के लिए 60 अंक दिए जा रहे हैं। हालांकि दो साल में एक टीम को ज्यादा से ज्यादा 720 अंक ही मिल सकेंगे।                   
फाइनल मैच ड्रॉ या टाई होने पर लीग राउंड के दौरान अंक तालिका में टॉप पर रहने वाली टीम को विजेता घोषित किया जाएगा। इस तरह से पहले स्थान पर रहने वाली टीम किसी तरह खिताबी मुकाबले को कम से कम ड्रॉ या टाई कराना चाहेगी। वहीं, दूसरे स्थान पर रहने वाली टीम को हर हाल में जीतना होगा। 

भारत-दक्षिण अफ्रीका दूसरा टी-20 आज, पिछले एक साल में टीम इंडिया 62 प्रतिशत मैच जीती

जयपुर टाइम्स
मोहाली (एजेंसी)। भारत-दक्षिण अफ्रीका के बीच टी-20 सीरीज का दूसरा मुकाबला आज मोहाली में खेला जाएगा। पंजाब क्रिकेट एसोसिएशन स्टेडियम पर भारतीय टीम तीसरी बार टी-20 खेलने उतरेगी। इससे पहले उसे पहले दोनों मुकाबलों में जीत मिली है। टीम इंडिया पिछले एक साल से टी-20 में बेहतरीन फॉर्म में है। इस दौरान टीम ने 14 मुकाबले खेले। आठ मैच में उसे जीत मिली। पांच मैच में हार का सामना करना पड़ा। एक मैच में नतीजा नहीं निकला। इस तरह भारतीय टीम ने लगभग 62 प्रतिशत मैच में जीत हासिल की। दोनों टीमों के बीच सीरीज का पहला मैच धर्मशाला में बारिश के कारण रद्द हो गया था। टीम इंडिया की नजर टी-20 लगातार चौथी जीत पर होगी। उसने पिछले तीन मुकाबलों में वेस्टइंडीज को हराया था। टीम इंडिया को पिछली हार इसी साल ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ मिली थी। दूसरी ओर, दक्षिण अफ्रीकी टीम भी लगातार चौथी जीत दर्ज करना चाहेगी। उसने पिछले तीन मैच में श्रीलंका को हराया था। उसे पिछली हार पाकिस्तान के खिलाफ फरवरी में मिली थी। मोहाली में मैच के समय शाम को बादल छाए रहने की संभावना है। साथ ही रात 10 बजे के आसपास बारिश भी होगी। तापमान 24 से 32 डिग्री सेेिल्सयस के आसपास रहेगा।


 इस मैदान पर पिच से बल्लेबाजों को मदद मिलती है। पहले बल्लेबाजी करने वाली टीम का औसत स्कोर 184 रन है। वहीं, रन चेज में औसत स्कोर 175 रन है। 

चैम्पियंस लीग आज से, विजेता को 632 करोड़ रु. मिलेंगे, यह फीफा वल्र्ड कप से 143 प्रतिशत ज्यादा

महिला हॉकी : रानी रामपाल की कप्तानी में इंग्लैंड जाएगी भारतीय टीम

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। हॉकी इंडिया ने इंग्लैंड दौरे के लिए 18 सदस्यीय भारतीय महिला हॉकी टीम की घोषणा कर दी। इस दौर पर सभी मैच 27 सितंबर से चार अक्टूबर तक इंग्लैंड के मार्लो में खेले जाएंगे।  रानी रामपाल पांच मैचों की इस सीरीज के लिए भारतीय टीम की कप्तान होंगी जबकि सविता को उपकप्तानी सौंपी गई है। 
भारत के मुख्य कोच शुअर्ड मरेन ने कहा, हम 2020 में होने वाले टोक्यो ओलम्पिक के लिए क्वालीफाई करने के एक महत्वपूर्ण चरण में जा रहे हैं ऐसे में टीम के खिलाडिय़ों का संतुलन और मिश्रण पिछली प्रतियोगिताओं जैसा ही है।
 मरेन ने कहा, इंग्लैंड में मैचों के लिए रवाना होने से पहले हमें अभी भी दस दिनों तक ट्रेनिंग करनी है और मुझे यकीन है कि इन मैचों से हम नवंबर में ओडिशा में अमेरिका के खिलाफ होने वाले एफआईएच हॉकी ओलम्पिक क्वालीफायर के मुकाबले के लिए अच्छे से तैयार होंगे। उन्होंने यह भी बताया कि कैसे इस दौरे से अमेरिका का सामना करने की तैयारी में मदद मिलेगी। मरेन ने कहा, मुझे लगता है कि ब्रिटेन और अमेरिका की टीम एकजैसी हॉकी खेलते हैं इसलिए हमारे लिए एक मजबूत प्रतिद्वंद्वी के खिलाफ उसी के घर में खेलना फायदेमंद होगा। मरेन ने कहा, हम अब इंग्लैंड में होने वाले मैचों के लिए अच्छी तैयारी करने पर ध्यान केंद्रित कर रहे हैं, लेकिन हमारा मुख्य उद्देश्य कुछ चीजों को बेहतर करना रहेगा।

भारत नहीं करना चाहता पाकिस्तान महिला टीम की मेजबानी, दौरा हो सकता हैं रद्द : पीसीबी

जयपुर टाइम्स
कराची (एजेंसी)। पाकिस्तान महिला क्रिकेट टीम के भारत दौरे के स्थगित होने की संभावना है क्योंकि भारतीय बोर्ड को अब तक नवंबर में इस श्रृंखला के आयोजन को लेकर सरकार से कोई निर्देश नहीं मिला है। यह दौरा आईसीसी महिला चैंपियनशिप का हिस्सा है। इस चैंपियनशिप के तहत भारतीय महिला टीम को तीन मैचों की एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय श्रृंखला के लिए पाकिस्तान की मेजबानी करनी है। दोनों देशों के बीच मौजूदा तनावपूर्ण हालात को देखते हुए भारतीय क्रिकेट बोर्ड सरकार के निर्देशों का इंतजार करेगा क्योंकि वे काफी पहले ही इसकी जानकारी दे चुके हैं। पीसीबी के अधिकारी ने आरोप लगाया, ''हमें अब भी जवाब का इंतजार है क्योंकि भारतीय बोर्ड को इस साल नंवबर में महिला श्रृंखला की मेजबानी करनी है। ऐसा लग रहा है कि यह श्रृंखला भी रद्द हो सकती है क्योंकि ऐसा नहीं लग रहा कि भारत पाकिस्तान की महिला टीम की मेजबानी का इच्छुक है। बीसीसीआई ने हालांकि कहा कि उन्होंने दौरे की स्वीकृति मांग है और केंद्र सरकार के हरी झंडी नहीं देने तक वे अधिक कुछ नहीं कर सकते। बीसीसीआई के एक वरिष्ठ अधिकारी ने नाम जाहिर नहीं करने की शर्त पर बताया, ''सरकार से जवाब मिलने के बाद ही हम इस मामले को आगे बढ़ा सकते हैं। हम सभी जानते हैं कि पाकिस्तान के खिलाफ द्विपक्षीय श्रृंखला पर बीसीसीआई अकेले फैसला नहीं कर सकता। हमें सरकार के निर्देशों का पालन करना होगा। पीसीबी सूत्रों के अनुसार आईसीसी ने उन्हें इंतजार करने के लिए कहा है क्योंकि पाकिस्तान की महिला टीम की मेजबानी के लिए समय जुलाई से नवंबर के बीच है। अगर भारत पाकिस्तान की मेजबानी नहीं करता है तो पीसीबी चाहता है कि आईसीसी इस श्रृंखला के अंक उन्हें दे। ऐसी स्थिति में बीसीसीआई के उनके दावे का इस आधार पर विरोध करना तय है कि आयोजन इस समय उनके नियंत्रण से बाहर है। 

हमें डी कॉक में विश्वास है जो इस सीरीज में टीम की कमान संभालेंगे : एनक्वे

जयपुर टाइम्स
धर्मशाला (एजेंसी)। क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका (सीएसए) के नए टीम निदेशक इनोक एनक्वे ने कहा है कि भारत दौरे पर उनके पास अच्छी टीम और कप्तान दोनों हैं। 
भारत में दक्षिण अफ्रीका को तीन टी20 मैचों की सीरीज खेलनी है जिसका पहला मैच रविवार को यहां के हिमाचल प्रदेश क्रिकेट संघ (एचपीसीए) स्टेडियम में खेला जाएगा। 
क्रिकेट दक्षिण अफ्रीका ने विश्व कप में खराब प्रदर्शन के बाद टी20 की कप्तानी फाफ डु प्लेसिस के हाथों से लेकर डी कॉक को सौंपी है। टीम निदेशक ने कहा है कि यह फैसला भविष्य को लेकर लिया गया है। वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइंफो ने एनक्वे के हवाले से लिखा कि मुझे विश्वास है कि हमारे पास अच्छी टीम है और अच्छा कप्तान भी।  साथ ही यह हमारे लिए एक मौका है कि हम अपने भविष्य की टीम बना सकें। हम जानते हैं कि प्लेसिस एक कप्तान और खिलाड़ी के तौर पर कहां हैं। 
उन्होंने दक्षिण अफ्रीकी क्रिकेट के लिए अच्छी चीजें की हैं। हमें साथ ही भविष्य की तरफ देखने की जरूरत है। हमें डी कॉक में विश्वास है जो इस सीरीज में टीम की कमान संभालेंगे।

विराट ने धोनी के सामने सिर झुकाए फोटो शेयर किया, लिखा- एक मैच को मैं भूल नहीं सकता

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। भारतीय क्रिकेट टीम के कप्तान विराट कोहली ने गुरुवार को अपने इंस्टाग्राम अकाउंट पर पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धोनी के साथ की एक तस्वीर शेयर की। इसमें वे धोनी के सामने घुटने के बल सिर झुकाए बैठे दिखाई दे रहे हैं। ये तस्वीर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ 2016 वल्र्ड टी-20 में जीत के बाद की है। मुकाबले को भारतीय टीम ने 6 विकेट से अपने नाम किया था। कोहली ने लिखा, 'एक ऐसा मैच जिसे मैं कभी नहीं भूल सकता। उस रात इस आदमी ने मुझे ऐसे दौड़ाया था, जैसे मेरा फिटनेस टेस्ट हो रहा हो।
भारत मोहाली में खेले गए उस मुकाबले को जीतकर सेमीफाइनल में पहुंचा था। मैच में ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवरों में 6 विकेट पर 160 रन बनाए थे। जवाब में भारत ने 19.1 ओवर में 4 विकेट पर 161 रन बनाकर मैच जीत लिया था।
मैच में 14वें ओवर की आखिरी गेंद पर जब भारत का चौथा विकेट गिरा था, तब जीत के लिए 36 गेंदों पर 67 रन की जरूरत थी। ऐसे में जरूरी रन रेट बढऩे की वजह से टीम दबाव में थी। उस वक्त विराट 30 गेंदों पर 35 रन बनाकर खेल रहे थे और अगले बल्लेबाज के रूप में कप्तान धोनी मैदान पर उतरे। उन्होंने लगातार स्ट्राइक रोटेट की और तेजी से रन बनाए। इस दौरान विराट ने अगली 21 गेंदों पर 47 रन बना दिए।
इसके बाद भारतीय टीम ये मैच जीत गई थी। विराट ने 51 गेंद पर नाबाद 82 रन और धोनी 10 गेंद पर नाबाद 18 रन बनाए। 27 मार्च 2016 को हुए उस मैच की क्लोजिंग सेरेमनी में भी विराट ने धोनी का जिक्र करते हुए उनकी तारीफ की थी।

 उ
न्होंने कहा था, धोनी ने मुझे शांत रखा, हम विकेट के बीच हमेशा अच्छा दौड़ते हैं, हमारे बीच एक समझ है, इसलिए ही आप जिम में ट्रेनिंग लेते हैं और तभी आपको वो फिटनेस मिलती है, जिसकी जरूरत आज पड़ी। इस पारी को मैं अपनी शीर्ष तीन पारियों में रखूंगा, शायद फिलहाल तो सबसे ऊपर क्योंकि मैं थोड़ा भावुक हूं।

मैरीकॉम पद्म विभूषण के लिए नामित होने वाली पहली महिला एथलीट

जयपुर टाइम्स
नई दिल्ली (एजेंसी)। छह बार की वल्र्ड चैम्पियन महिला बॉक्सर एमसी मैरीकॉम को पद्म विभूषण के लिए नामित किया गया है। वे देश के दूसरे सबसे बड़े सम्मान के लिए नामित होने वाली पहली महिला एथलीट बन गईं। मैरीकॉम को 2006 में पद्म श्री और 2013 में पद्म भूषण से सम्मानित किया गया था। स्टार शटलर पीवी सिंधु को पद्म भूषण के लिए नामित किया गया। खेल मंत्रालय के सूत्रों के मुताबिक, इन दोनों के अलावा रेसलर विनेश फोगाट, टेबल टेनिस प्लेयर मणिका बत्रा और महिला टी-20 टीम की कप्तान हरमनप्रीत कौर को पद्मश्री पुरस्कार के लिए शॉर्ट लिस्ट किया गया है। 
मैरीकॉम छह बार वल्र्ड चैम्पियनशिप जीतने वाली इकलौती बॉक्सर हैं। वे सात वल्र्ड चैम्पियनशिप में पदक जीतने वाली भी पहली बॉक्सर हैं। 36 साल की मैरीकॉम पद्म विभूषण पाने वाली चौथी खिलाड़ी बन सकती हैं। इससे पहले चेस प्लेयर विश्वानाथन आनंद (2007), क्रिकेटर सचिन तेंदुलकर (2008) और पर्वतारोही सर एडमंड हिलैरी (2008) को यह सम्मान दिया जा चुका है। दूसरी ओर, सिंधु ने इस साल बीडब्ल्यू वल्र्ड चैम्पियनशिप में स्वर्ण पदक अपने नाम किया था। वे इस टूर्नामेंट को जीतने वाले पहली भारतीय बनी थीं। हैदराबाद की 24 साल की शटलर सिंधु को 2015 में पद्मश्री से सम्मानित किया गया था।
 विनेश, मणिका और हरमनप्रीत के अलावा महिला हॉकी टीम की कप्तान रानी रामपाल, पूर्व शूटर सुमा शिरुर और पर्वतारोही जुड़वा बहनें ताशी और नुंग्शी मलिका के नाम भी पद्मश्री के लिए भेजे गए। अवॉर्ड विजेताओं के नाम की घोषणा अगले साल गणतंत्र दिवस की पूर्व संध्या पर की जाएगी।