Updated -

mobile_app
liveTv

विराट कोहली ने किया ये बड़ा खुलासा, रिटायर होने के बाद नहीं करंगे वो ये काम

सिडनी: संन्यास ले चुके क्रिकेटरों का टी20 लीग में खेलना आम बात है लेकिन भारतीय कप्तान विराट कोहली ने कहा कि जब वह संन्यास लेंगे तो दोबारा बल्ला नहीं पकड़ेंगे. जब यह पूछा गया कि क्या संन्यास लेने या बीसीसीआई के प्रतिबंध हटाने पर वह ऑस्ट्रेलिया की बिग बैश लीग में खेलेंगे तो कोहली ने कहा कि निश्चित तौर पर संन्यास लेने के बाद वह इस तरह के किसी टूर्नामेंट के लिए उपलब्ध नहीं होंगे.

30 के विराट कोहली इस समय बेहतरीन फॉर्म हैं. वे हर मैच के साथ अपने व्यक्तिगत और कप्तानी रिकॉर्ड बेहतर करते जा रहे हैं.ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार को होने वाले पहले एकदिवसीय अंतरराष्ट्रीय मैच की पूर्व संध्या पर भारतीय कप्तान ने कहा, ‘‘देखिये मुझे नहीं पता कि भविष्य में इस तरह के रुख में बदलाव आता है या नहीं. जहां तक मेरा सवाल है तो एक बार संन्यास लेने के बाद और क्रिकेट खेलना, ईमानदारी से कहूं तो मुझे नहीं लगता कि मैं उन लोगों में शामिल हूं.’’ 
बड़े खिलाड़ी टी20 लीग खेलते हैं रिटायर होने के बाद
एबी डिविलियर्स और ब्रेंडन मैकुलम जैसे संन्यास ले चुके क्रिकेटर नियमित तौर पर आईपीएल और बिग बैश लीग जैसी टी20 लीग में खेलते हैं लेकिन कोहली ने कहा कि उनकी इस सूची मे जुड़ने में कोई रुचि नहीं है. उन्होंने कहा, ‘‘पिछले पांच साल में मैंने पर्याप्त क्रिकेट खेला है और मैं इस पर भी टिप्पणी नहीं कर सकता कि संन्यास लेने के बाद मैं पहली चीज क्या करूंगा क्योंकि मुझे नहीं लगता कि मैं दोबारा बल्ला उठाऊंगा.’’
यह बताई वजह विराट ने 
कोहली ने कहा, ‘‘जिस दिन मैं खेलना बंद करूंगा उस दिन मेरी सारी ऊर्जा खत्म हो चुकी होगी और यही कारण है कि मैं क्रिकेट खेलना छोड़ दूंगा. इसलिए मुझे स्वयं के दोबारा मैदान पर उतरकर खेलने की संभावना नहीं दिखती.’’ इस बयान से साफ है कि विराट लंबे समय तक इंटरनेशनल क्रिकेट खेलने का मन बना चुके हैं. अपनी फिटनेस पर बहुत ज्यादा ध्यान देने वाले काफी समय से पीठ के दर्द से परेशान हैं. इसके बावजूद वे बिना किसी परेशानी के लगातार क्रिकेट खेल पाने में सफल रहे हैं. 

वर्ल्ड कप के लिए तैयारी मजबूत है भारत की
कप्तान ने अपनी टीम के बल्लेबाजी क्रम की जमकर तारीफ की और कहा कि इंग्लैंड में 30 मई से शुरू हो रहे एकदिवसीय विश्व कप से पूर्व बल्लेबाजी क्रम काफी मजबूत नजर आ रहा है. उन्होंने कहा, ‘‘पिछले 12 महीने में एकदिवसीय मैचों में हमारी बल्लेबाजी काफी मजबूत रही और इसमें सलामी बल्लेबाजों की बड़ी भूमिका रही. बीच में ऐसा चरण था जब हमने बीच के ओवरों की समस्या का हल निकाला और 25 से 40 ओवर तक अपनी बल्लेबाजी शैली में बदलाव का प्रयास किया.’’ कोहली का मानना है कि भारतीय टीम का संतुलन प्रत्येक विभाग में बेहतरीन है.

हार्दिक पंड्या को लेकर हरभजन सिंह ने,कही ये बात

नई दिल्ली: दिग्गज स्पिनर हरभजन सिंह ने एक टीवी कार्यक्रम के दौरान महिलाओं को लेकर की गई आपत्तिजनक टिप्पणियों के लिए हार्दिक पंड्या और केएल राहुल की शुक्रवार को कड़ी आलोचना की और कहा कि उन्होंने क्रिकेटरों की साख को दांव पर लगा दिया. 

इन दोनों ने एक टीवी कार्यक्रम में हिस्सा लिया था जिसमें विशेषकर पंड्या की टिप्पणियों की कड़ी आलोचना की जा रही है और इससे टीम संस्कृति को लेकर चिंता जतायी जा रही है. कप्तान विराट कोहली ने भी उनकी टिप्पणियों को अनुचित करार दिया जिसके कुछ घंटे बाद ही पंड्या और राहुल को भारतीय क्रिकेट प्रशासकों ने निलंबित कर दिया. 

हरभजन ने एक निजी टीवी चैनल से कहा, "हम यहां तक कि अपने दोस्तों के साथ इस तरह की बातें नहीं करते और वे सार्वजनिक तौर पर टेलीविजन पर ऐसी बातें कर रहे थे. अब लोग सोच सकते हैं कि क्या हरभजन सिंह ऐसे ही थे, क्या अनिल कुंबले ऐसे ही थे और क्या सचिन तेंदुलकर ......
इस ऑफ स्पिनर से जब इनके निलंबन के बारे में पूछा गया, उन्होंने कहा, "मुझे लगता है कि ऐसा ही होना चाहिए था. बीसीसीआई ने सही काम किया और यह आगे बढ़ने का तरीका भी है. ऐसी उम्मीद थी और मुझे इस पर हैरानी नहीं हुई."  

पंड्या ने कार्यक्रम के दौरान कई महिलाओं के साथ संबंध होने का दावा किया और यह भी बताया कि वह इस मामले में अपने परिजनों के साथ भी खुलकर बात करता है. राहुल अपने संबंधों के बारे में जवाब देने में हालांकि अधिक संयमित दिखे. जब कार्यक्रम के मेजबान करण जौहर ने पूछा कि क्या उन्होंने ‘ऐसा साथियों के कमरे में किया’ तो पंड्या और राहुल दोनों ने हां में जवाब दिया. हरभजन ने कहा, "पंड्या कब से टीम में है जो वह टीम संस्कृति को लेकर इस तरह से बात कर रहा है."

INDvsAUS: रोहित शर्मा ने धोनी के लिए कहि ये बात

सिडनी: टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ टेस्ट सीरीज जीतने के बाद अब अपना ध्यान आगामी मई से शुरू होने वाले आईसीसी वनडे क्रिकेट वर्ल्ड कप पर लगा दिया है. फिलहाल टीम इंडिया ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ शनिवार 12 जनवरी से शुरू होने वाली तीन वनडे मैचों की सीरीज की तैयारियों में लगी है. हाल ही में एक बच्ची के पिता बने, वनडे टीम इंडिया के उपकप्तान रोहित शर्मा और पूर्व कप्तान एमएस धोनी टीम से जुड़े हैं. रोहित ने इस सीरीज से पहले मिडिया से बातचीत में बताया कि वनडे टीम के लिए धोनी अब भी क्यों खास महत्व रखते हैं. 

रोहित ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कैप्टन कूल कहे जाने वाले एमएस धोनी की तारीफ की और कहा कि धोनी की उपस्थिति ग्रुप में शांति और धैर्य ला देती है. शर्मा के मुताबिक धोनी की मौजूदगी से कप्तान (विराट कोहली) को भी काफी मदद मिलती है
बल्लेबाजी में धोनी का फिनिशिंग टच है खास
रोहित ने धोनी के बारे में कहा, पिछले कुछ सालों से हमने उनकी मैदान और ड्रेसिंग रूम में खास उपस्थिति देखी है. उनके आसपास मैदान पर ग्रुप में शांति रहती है, यह कप्तान के लिए भी मददगार होता है. इसके अलावा बैटिंग में निचले क्रम को भी मदद मिलती है और फिनिशिंग टच भी मिलता जो कि बहुत अहम है. रोहित ने कहा, “उन्होंने हमारे लिए ऐसे कई मैच को खत्म किए हैं, उनकी बल्लेबाजी में भूमिका हमारे लिए बहुत खास हो जाती है. उनका शांत स्वभाव, उनकी सलाह बहुत अहम है. वे हमारे लिए इतना करते हैं कि उनकी उपस्थिति ही हमारे लिए एक बड़ी बात हो जाती है. 
वनडे टीम में अब नहीं होगा बदलाव
उन्होंने मई में होने वाले आईसीसी वर्ल्ड कप के बारे बताया कि टीम का संयोजन वर्ल्ड कप में वैसा ही होगा जैसा कि अभी है. उन्होंने कहा, “ आप वर्ल्डकप में कमोबेश यही टीम देखेंगे. अगले कुछ महीनों में फॉर्म और चोट के कारण एक दो बदलाव देखने को मिल सकते हैं, लेकिन टीम में मुझे कोई आमूलचूल बदलाव नहीं दिखता. हालांकि सबकुछ हर  खिलाड़ी के फॉर्म पर भी निर्भर करता है. 
भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज का आगाज शनिवार 12 जनवरी से हो रहा है. पहला वनडे सिडनी में खेला जाएगा. इस के बाद 15 जनवरी   मंगलवार को दोनों टीमों के बीच दूसरा वनडे एडिलेड में खेला जाएगा. वहीं सीरीज का तीसरा और आखिरी वनडे मेलबर्न में 18 जनवरी (शुक्रवार) को खेला जाएगा. दोनों टीमों के बीच अब तक 128 वनडे मैच खेले गए हैं. इनमें से 73 मैच ऑस्ट्रेलिया ने जीते हैं. वहीं भारत ने 45 मैच जीते हैं, जबकि 10 मैचों में नतीजा नहीं निकल सका. 

बारिश के डर से टीम इंडिया को करना पड़ा इंडोर अभ्यास

सिडनी: टीम इंडिया के इस समय चल रहे ऑस्ट्रेलिया दौरे में हौसले बुलंद हैं. हाल ही उसने ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में चार टेस्ट मैचों की सीरीज जीत ली. यह उसकी ऑस्ट्रेलिया में पिछले 71 सालों में पहली टेस्ट सीरीज जीत है. टीम ने यह सीरीज 2-1 से जीती. जीत का यह अंतर 3-1 हो सकता था, लेकिन सिडनी में हुए अंतिम टेस्ट मैच में बारिश ने भारत को जीत के नजदीक होने पर भी जीत से महरूम कर दिया. अब सिडनी में ही शुरू होने वाली वनडे सीरीज के पहले मैच में बारिश का खतरा है.  

सिडनी में वनडे मैच शनिवार 12 जनवरी को होना  है. टीम इंडिया के सारे खिलाड़ी सिडनी पहुंच चुके हैं जिसमें खास नाम रोहित शर्मा, पूर्व कप्तान एमएस धोनी, अंबाती रायडू हाल ही में टीम में शामिल हुए. रोहित शर्मा के अलावा धोनी और रायडू टेस्ट टीम का हिस्सा नहीं थे. जबकि रोहित को हाल ही में पिता बनने के कारण बीच टेस्ट सीरीज में वापस जाना पड़ा था जिसकी वजह से वे अंतिम टेस्ट नहीं खेल सके थे. टीम इंडिया ने सिडनी पहुंचते से ही अभ्यास शुरू किया, लेकिन गुरुवार सुबह सिडनी में बारिश होने लगी जिसकी वजह से टीम इंडिया को इंडोर अभ्यास करना पड़ा.

पहले मजा बिगाड़ चुकी है बारिश
सिडनी में बारिश की खबर टीम इंडिया के लिए अच्छी नहीं है. इससे पहले ही रविवार, सोमवार को बारिश के कारण टीम इंडिया को सिडनी टेस्ट में ड्रॉ से संतोष करना पड़ा था. इस मैच में टीम इंडिया ने मैच के चौथे दिन के दूसरे सत्र के अंत से पहले ऑस्ट्रेलिया को फॉलोऑन खिलाया था जब मेजबान टीम भारत से 322 रन पीछे थी. लेकिन इसके बाद बारिश ने अगले पांचों सत्रों का खेल होने नहीं दिया जिससे टीम इंडिया अपनी जीत का अंतर 3-1 से करने से चूक गई. 
अब जब सिडनी में एक बार फिर बारिश हो रही है तो आशंका हो रही है कि कहीं शनिवार को भी बारिश खेल न बिगाड़ दे. गौरतलब है कि सिडनी समुद्र के किनारे का शहर है जहां बारिश कभी भी हो जाती है. हालांकि इससे पहले 25 नवंबर को इसी मैदान पर हुए टी20 मैच में बारिश का साया होने के बाद भी मैच पूरा खेला जा सका था और टीम इंडिया ने उस मैच में 6 विकेट से जीत हासिल की थी. वहीं उससे पहले मेलबर्न में 23 नवंबर को होने वाला टी20 मैच बारिश में धुल गया था जिसमें एक भी गेंद नहीं फेंकी जा सकी थी. 

ऐसा पूर्वानुमान जताया जा रहा है शनिवार के मौसम का
फिलहाल अगले दो दिन गुरूवार और शुक्रवार सिडनी में बारिश का पूर्वानुमान लगाया गया है. इसमें से गुरुवार को बारिश हुई है. वहीं शनिवार के बारे में, जिस दिन मैच होना है, यह कहा जा रहा है कि उस दिन बारिश तो नहीं होगी, लेकिन बादल छाए रह सकते हैं. गौरतलब है कि सिडनी टेस्ट के अंतिम दो दिन के लिए भी पहले कम बारिश का पूर्वानुमान जताया गया था, लेकिन उम्मीद के खिलाफ ज्यादा बारिश हो गई.

आईसीसी में फिर शामिल हुआ ये देश

दुबई: अमेरिका एक बार फिर इंटरनेशनल क्रिकेट कमेटी (आईसीसी) का सदस्य बन गया है. वह क्रिकेट की शीर्ष संस्था का 105वां सदस्य होगा. आईसीसी ने कुछ साल पहले अमेरिकी क्रिकेट संघ (USA Cricket) को हटाने के बाद एक बार फिर उसे अपनी सदस्य सूची में शामिल कर लिया है. आईसीसी (ICC) ने मंगलवार रात बयान जारी कर इस बात की जानकारी दी.  

आईसीसी के बयान के अनुसार, ‘अमेरिका ने 93वां एसोसिएट सदस्य बनने की अपील की थी. इसे आईसीसी के संविधान के मुताबिक मंजूर कर लिया है. आईसीसी की सदस्य समिति की पिछले बैठक में अमेरिका को सदस्य बनाने की सिफारश की गई थी, जिसे तत्काल प्रभाव से मान लिया गया है.’ आईसीसी के 12 पूर्ण सदस्य पहले से हैं. इस तरह अमेरिका आईसीसी का 105वां सदस्य बन गया है.
आईसीसी का सदस्य होने के नाते अब अमेरिका (USA Cricket) आईसीसी से मिलने वाली सुविधाएं पाने का हकदार हो जाएगा. वह  आईसीसी की विकास फंड नीति के अंतर्गत कोष प्राप्त करने के लिए योग्य होगा और वह अमेरिका में घरेलू व अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट देने की स्वीकृति दे सकता है. आईसीसी के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) डेविड रिचडर्सन ने कहा, ‘यह कड़ी मेहनत का नतीजा है और मैं इस मौके पर अमेरिकी क्रिकेट को बधाई देता हूं और भविष्य के लिए शुभकामनाएं भी देता हूं.’

अमेरिका क्रिकेट बोर्ड के चेयरमैन पराग मराठे ने कहा, ‘अमेरिका क्रिकेट का गठन देश में क्रिकेट समुदाय को एक साथ लाना, खेल का विकास करना था. आज आईसीसी द्वारा हमें उसके सदस्यों की सूची में शामिल करना हमारे सफर की ओर उठाया गया बड़ा कदम है. मैं आईसीसी और इसके 104 सदस्यों को धन्यवाद कहना चाहता हूं, जिन्होंने यह विश्वास किया कि अमेरिका अंतरराष्ट्रीय स्तर पर क्रिकेट खेलने में सक्षम है. 

2004 में चैंपियंस ट्रॉफी में खेल चुका है अमेरिका 
अमेरिका दुनिया की उन 24 टीमों में शामिल है, जिन्होंने कभी ना कभी इंटरनेशनल वनडे मुकाबले खेले हैं. उसने अब तक दो वनडे मुकाबले खेले हैं. उसने ये मुकाबले 2004 में इंग्लैंड में हुई आईसीसी चैंपियंस ट्रॉफी में खेले थे. इन मुकाबलों में ऑस्ट्रेलिया ने उसे 9 विकेट और न्यूजीलैंड ने 210 रन से हराया था

कॉफी विद करण शो के दौरान अभद्र बातों के हार्दिक पांड्या ने मांगी माफी

नई दिल्ली। भारतीय हरफनमौला हार्दिक पांड्या (25) को अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट में कदम रखे ज्यादा समय नहीं हुआ है, लेकिन वे अपने खेल से फैंस का दिल जीतने में सफल रहे हैं। हार्दिक फिलहाल ऑस्ट्रेलिया दौरे पर हैं। उन्हें चोटिल होने के कारण टी20 टीम में नहीं चुना गया था। इसके बाद फिटनेस हासिल करने पर वे टेस्ट सीरीज के बीच में टीम से जुड़ गए, लेकिन अंतिम एकादश में मौका नहीं मिला। अब 12 जनवरी से होने वाली वनडे सीरीज में उन पर नजर रहेगी।

हार्दिक अपनी लाइफस्टाइल के कारण मैदान से बाहर भी सुर्खियों में रहते हैं। अक्सर उनके हेयरस्टाइल की चर्चा रहती है। हालांकि अब वे गलत कारणों से चर्चा में हैं। दरअसल हार्दिक और लोकेश राहुल ने ऑस्ट्रेलिया दौरे से पहले निर्माता निर्देशक करण जौहर के कॉफी विद करण शो की शूटिंग की थी। इसमें हार्दिक ने महिलाओं को लेकर विवादित बातें कही, जिससे वे मुश्किल में पड़ सकते हैं।

हार्दिक ने रिलेशनशिप, डेटिंग और महिलाओं से जुड़े सवालों के चौंकाने वाले जवाब दिए। हार्दिक ने बताया कि उनके परिवारवालों की सोच काफी खुली हुई है और जब उन्होंने पहली बार लडक़ी के साथ शारीरिक संबंध बनाए तो घर आकर कहा, आज करके आया हूं। साथ ही हार्दिक ने बताय कि वे माता-पिता को पार्टी में लेकर गए जहां उन्होंने मुझसे पूछा कि किस महिला को देख रहा हूं तो मैंने एक के बाद एक सभी महिलाओं की तरफ इशारा कर बताया कि मैं सभी को देख रहा हूं।

हार्दिक को अब अपनी गलतियों का एहसास हुआ। उन्होंने बुधवार को इंस्टाग्राम पर फैंस से माफी मांगी। हार्दिक ने लिखा कि कॉफी विद करण में मेरे बयान पर ध्यान देते हुए मैं उन सभी से माफी मांगता हूं, जिनका मैंने किसी भी तरह दिल दुखाया है। ईमानदारी से कहूं तो मैं शो के अंदाज को देखते हुए ज्यादा खुल गया। मैं किसी की बेइज्जती नहीं करना चाहता था या किसी की भावनाओं को दुख नहीं पहुंचाना चाहता था। 

इस बीच बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा कि शो में हार्दिक ने जो बात कही है, उससे बोर्ड और भारतीय क्रिकेट की छवि खराब हुई है। माफी पर्याप्त नहीं है और कड़ी कार्रवाई की जानी चाहिए ताकि युवा पीढ़ी के लिए सही उदाहरण स्थापित किया जा सके। सोशल मीडिया पर भी हार्दिक की जमकर खिंचाई हो रही है।

जापान के केई निशिकोरी ने किया हिसाब बराबर , दिया अपना शानदार प्रदर्शन

ब्रिस्बेन। जापान के केई निशिकोरी ने अपना शानदार प्रदर्शन जारी रखते हुए रूस के दानिल मेदवेदेव को हराकर ब्रिस्बेन इंटरनेशनल टेनिस टूर्नामेंट का खिताब जीत लिया है। ईएसपीएन की रिपोर्ट के अनुसार, दूसरी सीड निशिकोरी ने रविवार को खेले गए पुरुष एकल के फाइनल में मेदवेदेव को 6-4, 3-6, 6-2 से मात दी। इस जीत के साथ ही उन्होंने मेदवेदेव से पिछले साल टोक्यो में मिली हार का बदला भी चुकता कर लिया है।

जापानी खिलाड़ी का यह 12वां एटीपी टूर खिताब है। उन्होंने दो घंटे और चार मिनट में यह खिताब अपने नाम किया। वे ब्रिस्बेन इंटरनेशनल का खिताब जीतने वाले पहले जापानी खिलाड़ी बन गए हैं। इस खिताबी जीत से निशिकोरी को 250 एटीपी रैंकिंग प्वाइंट और 90990 अमेरिकी डॉलर की इनामी राशि प्राप्त हुई। वहीं, उपविजेता मेदवेदेव को 150 एटीपी रैंकिंग प्वाइंट और 49025 अमेरिकी डॉलर की इनामी राशि मिली। 

वल्र्ड नंबर-9 निशिकोरी ने फरवरी 2016 में अपना पिछला खिताब जीता था। उन्हें दो साल पहले ही यहां फाइनल में हार का सामना करना पड़ा था। वे चोट के कारण पिछले साल ऑस्ट्रेलियन ओपन में हिस्सा नहीं ले पाए थे। निशिकोरी ने जीत के बाद कहा, आखिरकार मैं खिताब जीतने में सफल रहा और मैं इससे बहुत खुश हूं। शानदार फाइनल रहा। पिछले साल मुझे जापान में फाइनल में मेदवेदेव से हार का सामना करना पड़ा था लेकिन अब मैंने उस हार का हिसाब पूरा कर लिया है और मैं इससे खुश हूं।

ऐसे बनया विराट कोहली ने पत्नी संग जीत का जश्न

सिडनी। भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर खेला गया चौथा व अंतिम टेस्ट ड्रॉ रहा। मैच के अंतिम दिन सोमवार को बरसात के कारण एक भी गेंद नहीं डाली जा सकी। हालांकि भारत ने यह सीरीज 2-1 से अपने नाम कर ली। भारत की इस खुशी में कप्तान विराट कोहली की पत्नी एक्ट्रेस अनुष्का शर्मा भी शरीक हुई। दोनों ने मैदान पर घूमकर जीत का जश्न मनाया। 

फोटोग्राफर्स ने भी इस मौके को खूब भुनाया और इस सेलेब्रिटी जोड़ी की खूब तस्वीरें लीं। अनुष्का क्रिसमस और नए साल पर भी कोहली के साथ ऑस्ट्रेलिया में थीं। अनुष्का ने मैदान पर टीम के सभी सदस्यों को जीत की बधाई दी। कोहली और अनुष्का ने फैंस का अभिवादन स्वीकारा। उल्लेखनीय है कि कोहली-अनुष्का ने दिसंबर 2017 में लंबे अफेयर के बाद शादी की थी। 

वर्ष 2015 में वनडे विश्व कप के दौरान भी अनुष्का स्टेडियम में नजर आई थीं। तब भारत सेमीफाइनल में मेजबान ऑस्ट्रेलिया से हार गया था और विराट कोहली 1 रन ही बना सके थे। इसके बाद सोशल मीडिया पर फैंस ने कोहली के इस प्रदर्शन के लिए अनुष्का को जिम्मेदार ठहराया था।

टीम इंडिया ने ऑस्ट्रेलिया में रचा इतिहास

भारत ने चौथे टेस्ट मैच में चेतेश्वर पुजारा (193) और ऋषभ पंत (159) की शतकीय पारियों के दम पर आस्ट्रेलिया के खिलाफ अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 622 रनों के विशाल स्कोर पर घोषित कर दी थी। 

इस पारी में आस्ट्रेलिया के लिए नाथन लॉयन ने सबसे अधिक चार विकेट लिए थे, वहीं जोश हेजलवुड को दो सफलताएं मिली। मिशेल स्टॉर्क एक विकेट लेने में सफल रहे। 

इसके बाद, भारत ने कुलदीप यादव (5/99) की शानदार गेंदबाजी के दम पर आस्ट्रेलिया की पहली पारी 300 रनों पर समाप्त कर दी। इस पारी में मोहम्मद शमी और रवींद्र जडेजा ने दो-दो विकेट लिए, वहीं जसप्रीत बुमराह को एक सफलता हाथ लगी। 

आस्ट्रेलिया के लिए पहली पारी में मार्कस हैरिस (79) ने सबसे अधिक रन बनाए। इसके अलावा, मार्नस लाबुसचाग्ने 38 और पीटर हैंड्सकॉम्ब ने 37 रनों का योगदान दिया। इस पारी में भारत ने आस्ट्रेलिया के खिलाफ 322 रनों की बढ़त हासिल की थी।

आस्ट्रेलिया के खिलाफ उसी के घर में किसी टेस्ट मैच में यह भारत की रनों के हिसाब से सबसे बड़ी बढ़त है। कुल मिलाकर आस्ट्रेलिया के खिलाफ रनों के मुताबिक दूसरी सबसे बड़ी बढ़त है। इससे पहले भारत ने 1988 में ईडन गार्डन्स में खेले गए टेस्ट मैच में 400 रनों की बढ़त ली थी। 

 

भारत और ऑस्ट्रेलिया के टेस्ट सीरीज में तीसरे दिन बारिश के कारण जल्द बंद हुआ खेल

सिडनी: भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रही टेस्ट सीरीज के आखिरी टेस्ट के तीसरे दिन के अंतिम सत्र में संकट में फंसी ऑस्ट्रेलिया टीम को बारिश ने ऑलआउट होने से बचा लिया. ऑस्ट्रेलिया की टीम भारतीय स्पिनर्स के जाल में ऐसी उलझी की अब उसके लिए फॉलोऑन बचाना मुश्किल हो गया है. दिन का खेल खत्म होने तक ऑस्ट्रेलिया ने अपनी पहली पारी में 6 विकेट गंवाते हुए 236 रन बना लिए थे और वह टीम इंडिया से 386 रन पीछे थी.

अभी दिन के 16 ओवर ही बाकी थे कि बारिश होने के कारण मैच रोक देना पड़ा और ऑस्ट्रेलियाई टीम ऑल आउट होने से बच गई. उससे पहले टीम इंडिया के लिए कुलदीप यादव और रवींद्र जडेजा ने शानदार गेंदबाजी की. दोनों ने पिच से ज्यादा मदद नहीं मिलने के बाद भी ऑस्ट्रेलिया के बल्लेबाजों को जमने नहीं दिया और वे नियमित अंतराल पर विकेट निकालते गए. 
तीसरे सत्र के पहले ओवर में ही बोल्ड हुए टिम पेन
तीसरे सत्र की शुरुआत ऑस्ट्रेलिया के लिए अच्छी नहीं रही. सत्र के पहले ओवर में ही कुलदीप यादव ने मेजबान टीम के कप्तान टिम पेन को बोल्ड कर दिया. इसके बाद हैंड्सकॉम्ब ने पैट कमिंस के साथ मिलकर 38 रनों की साझेदारी की जिसके बाद बारिश ने टीम को बचा लिया. ऑस्ट्रेलिया के लिए मार्कस हैरिस ने सबसे ज्यादा 79 रन बनाए. भारत के लिए कुलदीप यादव ने तीन और रवींद्र जडेजा ने दो विकेट लिए. मोहम्मद शमी को एक सफलता मिली.
पहले सत्र में मजबूत रही ऑस्ट्रेलिया
ऑस्ट्रेलिया ने दिन के पहले सत्र का अंत एक विकेट के नुकसान पर 122 रनों के साथ किया. उसने पहले सत्र में उस्मान ख्वाजा (27) के रूप में अपना पहला विकेट गंवााया. पहले सत्र में केवल एक विकेट लेने के बाद भारत ने दूसरे सत्र में वापसी करते हुए मेजबान ऑस्ट्रेलिया को संकट में डाल दिया. ऑस्ट्रेलिया ने चायकाल तक अपनी पहली पारी में 198 रन बनाते हुए अपने 5 विकेट गंवा दिए. मेजबान बल्लेबाज दूसरे सत्र में अपनी सफलता जारी नहीं रख सके और विकेट खोते चले गए.

जडेजा ने खतरा बने हैरिस को किया चलता
इस सीरीज के एडिलेड में खेले गए पहले टेस्ट मैच से पदार्पण करने वाले मार्कस हैरिस अपना पहला शतक पूरा नहीं कर पाए. दूसरे सत्र के तीसरे ओवर में ही रवींद्र जडेजा ने उन्हें पवेलियन वापस भेज दिया. जडेजा की बाहर जाती गेंद पर हैरिस कट मारने गए और गेंद उनके बल्ले का अंदरूनी किनारा लेकर विकेट पर जा लगी. शानदार बल्लेबाजी कर रहे हैरिस दुर्भाग्यशाली रहे और 120 गेंदों पर 79 रन बनाकर आउट हो गए. उनकी पारी में आठ चौके शामिल रहे.
जडेजा ने ऑस्ट्रेलिया के भरोसेमंद बल्लेबाज शॉन मार्श (8) को भी टिकने नहीं दिया और 144 के कुल स्कोर पर उन्हें स्लिप में खड़े अजिंक्य रहाणे के हाथों कैच कराया. 
जडेजा के बाद मोहम्मद शमी ने ऑस्ट्रेलिया की एक और उम्मीद पर पानी फेर दिया. उन्होंने मार्नस लैबुशेन को 152 के कुल स्कोर पर रहाणे के हाथों की कैच कराया. शमी ने लैबुशेन के पैर पर गेंद फेंकी जिसे उन्होंने फ्लिक किया और रहाणे ने शॉर्ट स्क्वायर पर शानदार कैच पकड़ ऑस्ट्रेलियाई बल्लेबाज की संयम भरी पारी का अंत किया. लैबुशेन ने 95 गेंदों पर सात चौकों की मदद से 38 रन बनाए. 
34 रनों के भीतर तीन विकेट खोने के बाद मेजबान टीम संकट में आ चुकी थी. वहीं लग रहा था कि दूसरे सत्र का खेल खत्म होते-होते भारतीय गेंदबाज एक-दो विकेट और निकाल लेंगे. ट्रेविस हेड (20) और हैंड्सकॉम्ब ने हालांकि उनके इंतजार को कुछ देर के लिए बढ़ा दिया. दोनों ने पांचवें विकेट के लिए 40 रन जोड़े. कुलदीप यादव ने हेड को अपनी ही गेंद पर लपक भारत को पांचवीं सफलता दिलाई.

इससे पहले, भारत ने चेतेश्वर पुजारा (193), ऋषभ पंत (नाबाद 159), रवींद्र जडेजा (81) और मंयक अग्रवाल (77) की बेहतरीन पारियों के दम पर भारत ने दूसरे दिन अपनी पहली पारी सात विकेट के नुकसान पर 622 रनों पर घोषित की थी.

गुरप्रीत सिंह संधू ने टूर्नामेंट को लेकर कही ये बात

अबु धाबी। संयुक्त अरब अमीरात (यूएई) में पांच जनवरी से शुरू हो रहे एएफसी एशियन कप में भाग लेने जा रही भारतीय फुटबॉल टीम के गोलकीपर गुरप्रीत सिंह संधू का कहना है कि इस टूर्नामेंट में टीम को काफी समझदारी के साथ खेलना होगा। भारत को थाईलैंड, बहरीन और मेजबान यूएई के साथ ग्रुप में रखा गया है। 

अखिल भारतीय फुटबॉल महासंघ (एआईएफएफ) ने संधू के हवाले से बताया, मैं समझता हूं कि सभी टीमों के खिलाफ खेलना मुश्किल होगा। कोई भी टीम बिना तैयारी के एशियन कप में हिस्सा नहीं लेती और मुझे यकीन है कि विपक्षी टीम भी हमें हल्के में नहीं लेगी। 

संधू ने कहा, तीनों टीमों का सामना करना हमारे लिए बहुत बड़ी चुनौती है और हमें समझदारी के साथ खेलना होगा। हमें एक बार में एक मैच पर ध्यान केंद्रित करने की जरूरत है। हमें पहले मैच में बेहतरीन नतीजा हासिल करने पर ध्यान देना होगा और उसके मुताबिक अगले मैच के लिए अपनी रणनीति बनानी होगी।