Updated -

mobile_app
liveTv

प्रो रेसलिंग लीग में वीर मराठा पर हरियाणा हैमर्स की बड़ी जीत


नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के सीजन तीन में बुधवार को हरियाणा हैमर्स ने सिरीफोर्ट स्पोट्र्स कॉम्पलेक्स में खेले गए मुकाबले में वीर मराठा को 5-2 से हरा दिया। इस मुकाबले में हरियाणा के लिए व्लादीमिर खिनचेंगशिवली, सरिता, हरफूल, हेलेन माल्र्योस और खेतिक ने जीत हासिल की जबकि वीर मराठा के लिए वेसलिसा मारजाल्यूक और जॉर्जी केटोव ही जीत हासिल कर सके।  दूसरे दिन के शुरुआती दो मुकाबलों में विदेशी पहलवानों का जलवा देखने को मिला। हरियाणा हैमर्स की ओर से खेल रहे रियो ओलिम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले व्लादीमिर खिनचेंगशिवली ने 57 किलोग्राम भारवर्ग में वीर मराठा के सरवन को 7-3 से हरा दिया। वहीं अगला मुकाबला महिलाओं की 76 किलोग्राम भारवर्ग में खेला गया जहां वीर मराठा की वेसलिसा मारजाल्यूक ने हरियाणा हैमर्स की पूजा को बड़ी आसानी से महज दो मिनट में हरा दिया। इस मुकाबले का नतीजा चित-पट के आधार पर आया।  तीसरे मुकाबले में हालांकि वीर मराठा के जॉर्जी केटोव ने रुबेलजीत सिंह रांगी को तकनीकी दक्षता के आधार पर 16-0 से हरा दिया और अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया। शुरुआत से ही इस मुकाबले में जॉर्जी ने अपनी पकड़ बनाए रखी और रुबेलजीत को कोई भी मौका नहीं दिया। चौथा मुकाबले में हरियाणा हैमर्स की मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन रितू मलिक को वीर मराठा की सरिता ने 4-3 से हरा दिया। इस जीत के साथ हरियाणा की टीम बराबरी पर आ गई।
 दिन का सबसे रोचक मुकाबला पुरुषों के 65 किलोग्राम भारवर्ग में देखने को मिला जहां हरियाणा हैमर्स के युवा पहलवान हरफूल ने वीर मराठा की ओर से खेल रहे तीन बार के राष्ट्रीय चैम्पियन अमित धनकड़ को हरा दिया। कांटे की टक्कर में मुकाबला 5-5 की बराबरी पर खत्म हुआ, लेकिन आखिरी अंक हरफूल ने लिया जिसकी वजह से उन्हें विजेता घोषित किया गया। मौजूदा ओलम्पिक और विश्व चैम्पियन हेलेन माल्र्योस ने हरियाणा को निर्णायक मुकाबले में बेहद आसानी से जीत दिलाई।   महिलाओं के 57 किलोग्राम भारवर्ग में हेलेन ने वीर मराठा की मारवा आमरी को चित-पट के आधार पर अपनी टीम को तीसरे सीजन की पहली जीत दिलाई। हेलेन ने अपने अनुभव का भरपूर फायदा उठाया और आसान जीत दर्ज की। 
वहीं दिन के आखिरी मुकाबले में विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक धारी खेतिक के खिलाफ वीर मराठा के प्रवीन राणा को 0-10 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले हरियाणा की कप्तान हेलेन ने टॉस जीता और इसका फायदा उठाते हुए 125 किलोग्राम भारवर्ग में लेवान को ब्लॉक किया। वहीं वीर मराठा की कप्तान वेसेलिसा ने महिला वर्ग में चीन की सुन यनान को ब्लॉक किया। इससे पहले ग्रीको रोमन शैली के प्रदर्शनी मुकाबले खेले गए जिसके पहले मुकाबले में हरियाणा हैमर्स ने जीत दर्ज की

बीएफआई करेगा इंडियन ओपन मुक्केबाजी की मेजबानी, मैरीकॉम...


नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत इसी महीने इंडियन ओपन अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) के अध्यक्ष अजय सिंह ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी। इस टूर्नामेंट का आयोजन राष्ट्रीय राजधानी के त्यागराज स्टेडियम में 28 जनवरी से एक फरवरी तक होगा।   अजय सिंह ने यह घोषणा अनुराग कश्यप की फिल्म मुक्काबाज के लांच के मौके पर की। इंडियन ओपन में 25 देशों के मुक्केबाज हिस्सा लेंगे। अजय सिंह ने बताया कि वे इस टूर्नामेंट में अपनी चार टीम उतार रहे हैं जिसमें देश के शीर्ष मुक्केबाज शामिल होंगे। इन मुक्केबाजों में मैरीकॉम, शिव थापा, सोनिया लाथेर, मनोज कुमार जैसे नाम शामिल हैं।  पहले टूर्नामेंट में इंडिया-ए, इंडिया-बी, इंडिया-सी और इंडिया-डी की टीमें हिस्सा लेंगी। अजय सिंह ने कहा, यह भारतीय मुक्केबाजों के लिए अच्छा मौका होगा क्योंकि 2018 में अच्छे प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट होंगे जिनमें कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स और कई अन्य टूर्नामेंट शामिल हैं। बीएफआई ने चार टीमों के लिए ट्रायल शुरू कर दी है। 
अजय सिंह को भरोसा है कि भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में अपना दबदबा कायम रखेगी। उन्होंने साथ ही बताया कि इस टूर्नामेंट में न सिर्फ एमेच्योर बल्कि पेशेवर मुक्केबाज भी अपनी संस्था से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) हासिल करने के बाद हिस्सा ले सकते हैं। अजय सिंह ने साथ ही बताया कि वल्र्ड सीरीज ऑफ बॉक्सिंग के लिए भारतीय टीम का नाम इंडियन टाइगर्स रखा गया है। टीम इस टूर्नामेंट में घर से बाहर और घर दोनों जगह रूस कजाकिस्तान, चीन के खिलाफ मैच खेलेगी। भारतीय टीम रूस, कजाकिस्तान और चीन की टूर्नामेंट के पहले दौर में मेजबानी करेगी और अगला दौर क्वार्टर फाइनल होगा।

कप्तान अर्जुन अटवाल को यूरेशिया कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद


शाह आलम (एजेंसी)। भारतीय कप्तान अर्जुन अटवाल को आशा है कि उनकी टीम यूरोप में आयोजित होने वाले यूरेशिया कप गोल्फ टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करेगी। इस टूर्नामेंट का आयोजन शुक्रवार से हो रहा है। अटवाल को विश्वास है कि उनकी टीम अन्य टीमों के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन करेगी और वह ग्लेनमैरी गोल्फ व कंट्री क्लब में होने वाले इस टूर्नामेंट का इंतजार कर रही है।  उन्होंने कहा, निश्चित तौर पर हर कोई जानता है कि हम उतनी अच्छी टीम नहीं है, लेकिन मेरी टीम ऐसा नहीं सोचती। गोल्फ के खेल में कमजोर टीम वाली कोई बात नहीं होती। आपको अखबारों में कमजोर कहा जा सकता है, लेकिन जब मैच शुरू होता है, तो कुछ भी हो सकता है।  अटवाल ने कहा, मुझे लगता है कि जब मैंने एशिया टूर खेला था, तो फील्ड की गहराई उतनी अधिक नहीं थी, जितनी अब है। युवा खिलाडिय़ों को खेलते देखना शानदार होगा। टीम बहुत बेहतर स्थिति में है और इसके खिलाड़ी इस टूर में आने वाली अन्य टीमों के खिलाडिय़ों की तरह ही अच्छे हैं।

सिडनी टूर्नामेंट : लोरेंजी ने रामोस को हरा तय की इनसे भिड़ंत


सिडनी (एजेंसी)। इटली के टेनिस खिलाड़ी पाउलो लोरेंजी ने बुधवार को सिडनी अंतरराष्ट्रीय टेनिस टूर्नामेंट के शीर्ष वरीय खिलाड़ी स्पेन के अलबर्ट रामोस-विनोलास को मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली। वहीं स्पेन के फेलेसियानो लोपेज ने अर्जेंटीना के डिएगो श्वार्टज्मान को मात देते हुए क्वार्टर फाइनल का सफर तय किया।  लोरेंजी ने दो घंटे तीन मिनट तक चले मुकाबले में अपने स्पेन के विपक्षी को 6-3, 7-5 से मात दी। जीत के बाद लोरेंजी ने कहा, मेरा मानना है कि आज मैं काफी अच्छा खेल रहा था। हम अच्छे दोस्त हैं, तो यह मैच आसान नहीं था, लेकिन मैं खुश हूं। विश्व की 45वीं वरीयता प्राप्त लोरेंजी ने कहा, मेरे लिए यह टूर्नामेंट बेहद जरूरी है।  मुझे इसमें वरीयता नहीं मिली थी लेकिन दूसरे खिलाडिय़ों की रैंकिंग में ज्यादा अंतर नहीं है। लोरेंजी क्वार्टर फाइनल में डामिल मेडवेडेव के खिलाफ उतरेंगे, जिन्होंने अमेरिका के जारेड डोनाल्डसन को 6-3, 4-6, 7-5 से मात दी। इसी टूर्नामेंट में लोपेज क्वार्टर फाइनल में एलेक्स डी मिनओर के खिलाफ उतरेंगे।

'ताकि कोच को टीम के लिए खिलाडिय़ों को चुनने में सिरदर्द हो

बेंगलुरू (एजेंसी)। भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री चाहते हैं कि राष्ट्रीय फुटबॉल टीम को एएफसी एशियाई कप-2019 की तैयारी के लिए विदेशी सरजमीं पर अधिक मैच खेलने का मौका मिले। वर्तमान में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में बेंगलुरु एफसी का प्रतिनिधित्व कर रहे छेत्री का कहना है कि भारतीय टीम के लिए खेल चुके हर खिलाड़ी को अपने खेल के स्तर को और ऊपर लाने की जरूरत है ताकि कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन को हर बार टीम के लिए खिलाडिय़ों को चुनने में सिरदर्द हो। छेत्री ने आईएएनएस के साथ एक साक्षात्कार में कहा, हमें विदेशी सरजमीं पर अधिक मैच खेलने की जरूरत है। घर में हम आम तौर से अच्छा प्रदर्शन करते हैं, लेकिन विदेश में हमारा रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। हमें 16 से 8 रैंकिंग (एएफसी रैंकिंग) वाली टीमों के साथ मैच खेलने चाहिए।
 दक्षिण कोरिया और जापान की टीमों के खिलाफ खेलना मुश्किल है क्योंकि वे हमारे साथ नहीं खेलना चाहते हैं। हमें ऐसी टीमों के साथ खेलना चाहिए, जो हमसे बेहतर हैं और उनकी घरेलू जमीन पर खेलना चाहिए। इसका ख्याल संगठन को रखना चाहिए।  कप्तान छेत्री ने कहा, खिलाडिय़ों की तरफ से सोचा जाए, तो हमें व्यक्तिगत रूप से अपने खेल में सुधार करने की जरूरत है। इस बात को सुनिश्चित करना है कि राष्ट्रीय टीम के लिए प्रतिस्पर्धा में इजाफा हो और यह कोच के लिए सरदर्द बन जाए कि किसे लें और किसे छोड़ें। उनके लिए बेहतरीन खिलाडिय़ों का चयन कर टीम का गठन मुश्किल काम होना चाहिए। भारत ने पिछले साल अक्टूबर में क्वालीफायर मैच में मकाऊ को हराकर एशियाई कप में अपनी जगह पक्की कर ली थी।  पिछली बार ब्रिटिश कोच बॉब हॉटन के मार्गदर्शन में भारतीय टीम ने 2011 में इस चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था। 
उस दौरान छेत्री टीम का अहम हिस्सा थे। उन्होंने ग्रुप स्तर के मैचों में दो गोल किए थे। भारत ने तब एक भी मैच नहीं जीता था। उस पर 13 गोल हुए थे और उसने महज तीन गोल किए थे। छेत्री ने कहा कि भारतीय टीम को संयुक्त अरब अमीरात जैसी टीमों के साथ खेलना चाहिए। संयुक्त अरब अमीरात एशियाई कप का मेजबान है।