Updated -

mobile_app
liveTv

निसार अहमद को नहीं डिगा सकी पैसों की कमी, पिता चलाते हैं रिक्शा

नई दिल्ली। भारत के 16 साल के फर्राटा धावक और खेलो इंडिया के स्वर्ण पदक विजेता निसार अहमद ने कहा है कि जमैका में उसेन बोल्ट अकादमी में ट्रेनिंग लेने से उन्हें काफी कुछ सीखने को मिला है। निसार ने इस वर्ष राजधानी में हुए खेलो इंडिया स्कूल गेम्स में 100 मीटर रेस में पहला स्थान हासिल किया था। उन्होंने अपना सर्वश्रेष्ठ समय निकालते हुए 10.76 सेकेंड में 100 मीटर की दूरी पूरी की थी। निसार को खुद ओलम्पिक रजत पदक विजेता और केंद्रीय खेल एवं युवा मामलों के मंत्री राज्यवर्धन सिंह राठौर ने पुरस्कार दिया था जिससे वे काफी खुश नजर आए थे। 

निसार ने पिछले साल भोपाल में हुए नेशनल स्कूल गेम्स में स्वर्ण पदक जीता था, जहां उन्होंने 10.76 सेकेंड के समय के साथ 100 मीटर की दूरी तय की थी। इसके बाद विजयवाड़ा में हुए जूनियर नेशनल गेम्स में भी उन्होंने 100 और 200 मीटर में स्वर्ण अपने नाम किया था। निसार की इस प्रतिभा को देखकर गैस अथॉरिटी ऑफ इंडिया लिमिटेड (गेल) ने उन्हें जमैका स्थित उसेन बोल्ट अकादमी में ट्रेनिंग दिलाने का फैसला किया। निसार ने इस वर्ष चार से 28 फरवरी तक गेल की मदद से विश्व के सर्वश्रेष्ठ धावक रह चुके उसेन बोल्ट की अकादमी में स्पेशल ट्रेनिंग हासिल की। 
 

IPL-11 : कोच जयवर्धने ने बताई कौनसी बात रही सबसे ज्यादा निराशाजनक

मुंबई। अपने ही घर में इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) के 11वें संस्करण में सनराइजर्स हैदराबाद से हार का सामना करने वाली मुंबई इंडियंस टीम के मुख्य कोच महेला जयवर्धने ने कहा कि इस मैच में किसी ने भी जिम्मेदारी नहीं उठाई। वानखेड़े स्टेडियम में मंगलवार रात को खेले गए इस मैच में हैदराबाद ने मुंबई को 31 रनों से हराया। 

मौजूदा विजेता मुंबई ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी का फैसला किया। ऐसे में उसे हैदराबाद से 119 रनों का लक्ष्य मिला। इस लक्ष्य को भी रोहित शर्मा की कप्तानी वाली टीम हासिल नहीं कर पाई और 87 रनों पर ही उसकी पारी सिमट गई। मैच के बाद मंगलवार को संवाददाता सम्मेलन में कोच जयवर्धने ने कहा कि हम किसी को दोष नहीं दे सकते। 

इसमें गलती हमारी ही है। हमने कुछ मैच खेले और उसमें मुझे लगा कि हमने अच्छा क्रिकेट खेला। आज (मंगलवार) का मैच बेहद निराशाजनक था। हमने कोई भी जिम्मेदारी नहीं उठाई और यह बात सबसे अधिक निराशाजनक रही।

दिल्ली डेयरडेविल्स के कप्तान गंभीर ने इन्हें बताया भविष्य का खिलाड़ी

नई दिल्ली। दिल्ली डेयरडेविल्स के लिए आईपीएल का 11वां सत्र अभी तक अच्छा नहीं रहा है। उसे एक के बाद एक हार का सामना करना पड़ रहा है। दिल्ली को सोमवार को अपने ही घर में जीत की स्थिति में होने के बावजूद मुंह की खानी पड़ी। उसे किंग्स इलेवन पंजाब ने चार रन से हरा दिया। दिल्ली आठ टीमों के बीच सबसे निचले पायदान पर है।

उसके छह मैच में एक जीत और पांच हार के साथ सिर्फ दो अंक हैं। हार से आहत दिल्ली के कप्तान गौतम गंभीर ने कहा कि अगर आप शुरुआती छह ओवर में ही तीन विकेट खो देते हैं तो मंजिल हासिल करना काफी मुश्किल हो जाता है। आवेश खान ने बढिय़ा गेंदबाजी की। पृथ्वी शॉ भविष्य के क्रिकेट हैं। अब हमें शेष बचे आठ में से कम से कम सात मुकाबले जीतने होंगे। इसके लिए बहुत बढिय़ा क्रिकेट खेलना पड़ेगा। 

IPL 11 : पृथ्वी शॉ ने तोड़ा इनका रिकॉर्ड, आए पहले नंबर पर

नई दिल्ली। किंग्स इलेवन पंजाब ने सोमवार को फिरोजशाह कोटला मैदान पर खेले गए आईपीएल-11 के 22वें मुकाबले में मेजबान दिल्ली डेयरडेविल्स को 4 रन से हरा दिया। हालांकि दिल्ली यह मैच हार गई लेकिन उसके दाएं हाथ के युवा बल्लेबाज पृथ्वी शॉ ने एक रिकॉर्ड अपने नाम कर लिया। पृथ्वी आईपीएल के इतिहास में सबसे कम उम्र के ओपनर बन गए हैं। 

पृथ्वी ने 18 साल 165 दिन की उम्र में यह कमाल किया। पृथ्वी का यह पहला आईपीएल मैच है। पृथ्वी ने इस मामले में अपनी टीम के ही साथी बाएं हाथ के विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत को पीछे छोड़ा। पंत ने आईपीएल में जब पहली बार ओपनिंग की थी तो उनकी उम्र 18 साल व 212 दिन थी। पंत ने यह उपलब्धि वर्ष 2016 में दिल्ली की ओर से गुजरात लॉयंस के खिलाफ हासिल की थी। सोमवार को खेले गए मुकाबले में हालांकि पृथ्वी और पंत बड़ी पारी नहीं खेल पाए। 

चौथे टेस्ट में स्मिथ की जगह लेंगे ये, बॉल टेम्परिंग पर बोले स्टीव वॉ

जोहानसबर्ग। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ जोहानसबर्ग में खेले जाने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच के लिए ऑस्ट्रेलिया टीम में प्रतिबंधित स्टीव स्मिथ के स्थान पर मैट रेनशॉ को शामिल किया गया है। वेबसाइट ईएसपीएनक्रिकइन्फो डॉट कॉम की रिपोर्ट के अनुसार, पूर्व कप्तान स्टीव वॉ ने क्रिकेट ऑस्ट्रेलिया से खेल की महत्ता पर ध्यान देने की बात कही है। 

केपटाउन में गेंद से छेड़छाड़ (बॉल टेम्परिंग) के मामले में कप्तान स्मिथ पर एक मैच का प्रतिबंध लगाया गया है और इस कारण वे जोहानसबर्ग में खेले जाने वाले चौथे और अंतिम टेस्ट मैच में नहीं खेल पाएंगे। रेनशॉ ने शेफील्ड शील्ड फाइनल में क्वींसलैंड की जीत में अहम भूमिका निभाई थी। उन्होंने 83 गेंदों में 81 रनों की पारी खेली थी। वॉ ने एक बयान में कहा, हर किसी की तरह मैं भी केपटाउन में हुई घटना से बेहद आहत हूं। मुझे भी क्रिकेट प्रशंसकों से कई संदेश मिले हैं। 

T20 में हैट्रिक बनाने वालीं 7वीं गेंदबाज हैं मेगन शट, ये है पूरी रिपोर्ट

नई दिल्ली। ऑस्ट्रेलिया ने त्रिकोणीय टी20 सीरीज के फाइनल में प्रवेश कर लिया है। उसने मुंबई के ब्रेबोर्न स्टेडियम में सोमवार को खेले गए मुकाबले में मेजबान भारत को 36 रन से हरा दिया। ऑस्ट्रेलिया ने पहले बल्लेबाजी करते हुए 20 ओवर में पांच विकेट पर 186 रन का मजबूत स्कोर खड़ा किया। 

बेथ मूनी और एलिसे विलानी ने अर्धशतक जमाए। जवाब में भारतीय टीम पांच विकेट पर 150 रन ही बना पाई। 25 वर्षीय दाएं हाथ की तेज गेंदबाज मेगन शट ने हैट्रिक जमाई। शट ने पारी के दूसरे ओवर की 5वीं गेंद पर स्मृति मंधाना और छठी गेंद पर मिताली राज को बोल्ड कर दिया। 

इसके बाद चौथे ओवर की पहली ही गेंद पर दीप्ति शर्मा को वेलिंगटन के हाथों कैच कराया। शट टी20 में हैट्रिक बनाने वाली 7वीं गेंदबाज हैं। शट ने 3 टेस्ट में 9, 46 वनडे में 66 और 33 टी20 मुकाबलों में 33 विकेट झटके हैं।

प्रशंसकों की गलती का जुर्माना भरेगा पीएसजी

मेड्रिड। यूरोपीय फुटबाल महासंघ-यूईएफए के अनुशासनात्मक निकाय ने चैम्पियंस लीग में छह मार्च को खेले गए मैच के दौरान हुई घटना के लिए फ्रांसीसी क्लब पेरिस सेंट जर्मेन (पीएसजी) पर जुर्माना लगाया है। 

समाचार एजेंसी एफे की रिपोर्ट के अनुसार, यूईएफए ने पीएसजी के स्टेडियम के नॉर्दन स्टैंड को अगले यूरोपीय मैच तक बंद करने का आदेश दिया है। 

इसके साथ ही पीएसजी पर यूईएफए द्वारा 43,000 यूरो (करीब 53, 000 डॉलर) का जुर्माना लगाया गया है। 

यूईएफए के अनुशासनात्मक निकाय ने पीएसजी के खिलाफ कार्यवाही भी शुरू कर दी है। 

पार्क दे प्रिंसेस स्टेडियम में रियल मेड्रिड के खिलाफ चैम्पियंस लीग मैच के दौरान प्रशंसकों के गलत व्यवहार का खामियाजा पीएसजी को भुगतना पड़ रहा है। 

यूईएफए ने कहा कि पीएसजी अपने प्रशंसकों को पटाखे जलाने और लेजर लाइट जलाने से नहीं रोक पाई और इस प्रकार क्लब ने कई नियमों का उल्लंघन किया। 
 

अभी अपने शीर्ष पर नहीं पहुंचा हूं : हेमिल्टन

मेलबर्न। मौजूदा फॉर्मूला वन विश्व चैम्पियन लुइस हेमिल्टन ने गुरुवार को कहा कि उन्होंने अभी तक अपना शीर्ष खेल हासिल नहीं किया है। 
फॉर्मूला वन का सीजन शुरू होने को है। ऐसे में मर्सिडीज के इस ड्राइवर की कोशिश इस सीजन में अपने प्रदर्शन को और ऊंचाई पर ले जाने की है। 
समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, चार बार के विश्व विजेता (2008, 2014, 2015 और 2017) को कोशिश पांचवीं बार विश्व विजेता बनने की है। 
उन्होंने मेलबर्न में रविवार से शुरू हो रही आस्ट्रेलियन ग्रां प्री से पहले संवददाता सम्मेलन को संबोधित किया।
उन्होंने कहा, ‘‘मैं जानता हूं कि हर ड्राइवर के लिए फिटनेस का एक स्तर होता है जिसे हासिल करने के लिए मैं कोशिश कर रहा हूं। जब आपकी रुचि कम होने लगती है तो मुझे लगता है कि तब आप अपने सर्वश्रेष्ठ स्तर को पार कर चुके होते हैं।’’
उन्होंने कहा, ‘‘मैं निश्चित तौर पर यह महसूस नहीं करता। मैं अभी भी अच्छी स्थिति में हूं और मुझे यह जारी रखना है ताकि मैं अपने अंदर से बेहतर प्रदर्शन निकाल सकूं।’’
हेमिल्टन ने कहा कि वह अर्जेंटीना के जुआन मैनुएल फेंगियो द्वारा स्थापित किए गए रिकार्ड तक पहुंचने के बारे में सोच रहे हैं, जिन्होंने पांच बार फॉर्मूला-वन का खिताब जीता है, लेकिन उनकी हली कोशिश रेस जीतने की है।
 

दूसरा वनडे : पाक ने जीती सीरीज, श्रीलंका को 94 रन से हराया

दाम्बुला। पाकिस्तान की महिला क्रिकेट टीम ने जबरदस्त खेल का प्रदर्शन करते हुए आज श्रीलंका को यहा खेले गए आईसीसी चैंपियनशिप के दूसरे वनडे में 94 रन से हरा दिया। पाकिस्तान ने पहले बल्लेबाजी कर निर्धारित 50 ओवर में छह विकेट के नुकसान पर 250 रन बनाए। 

कप्तान बिसमाह मारूफ ने 90 गेंदों पर नौ चौकों व एक छक्के की मदद से सर्वाधिक 89 रन बनाए। निदा दार ने 38, मुनीबा अली ने 31, नाहिदा खान ने 29 और सना मीर ने नाबाद 27 रन की पारी खेली। श्रपल्ली वीराकोडी ने दो विकेट लिए। जवाब में श्रीलंकाई टीम 37 ओवर में 156 रन पर ही ढेर हो गई। 

वीराकोडी ने पांच चौकों की मदद से सर्वाधिक नाबाद 29 रन बनाए। छह अन्य बल्लेबाज भी दोहरे अंकों में पहुंचीं, लेकिन वे इसे बड़ी पारी में नहीं बदल पाईं। सना ने चार, निदा ने दो और डियाना बेग व नशरा संधु ने 1-1 विकेट झटका। तीन मैच की सीरीज का पहला वनडे पाकिस्तान ने 69 रन से जीता था।

निदास ट्रॉफी के फाइनल में विलेन बनने से बचे विजय शंकर ने कहा....

नई दिल्ली। भारत ने हाल ही श्रीलंका में आयोजित त्रिकोणीय टी20 सीरीज (निदास ट्रॉफी) के खिताब पर कब्जा जमाया। हालांकि माना जा रहा था कि उसे फाइनल जीतने में जरा भी जोर नहीं आएगा, लेकिन बांग्लादेश ने उसके छक्के छुड़ा दिए थे। कोलंबो में हुए खिताबी मुकाबले में भारत को विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने अंतिम गेंद पर छक्का उड़ाकर जीत दिलाई थी। 

शायद इस जीत से सबसे ज्यादा खुशी दाएं हाथ के बल्लेबाज विजय शंकर को हुई होगी, जो विलेन बनने से बाल-बाल बच गए थे। दरअसल इस मैच में भारतीय कप्तान रोहित शर्मा ने विजय का प्रमोशन कर उन्हें कार्तिक से पहले भेजा। यूं तो विजय ने 19 गेंदों पर तीन चौकों की मदद से 17 रन बनाए, लेकिन उन्होंने अहम समय पर गेंदें खाली कर दी थी। 

इससे भारत पर काफी दबाव बढ़ गया। वे मुस्ताफिजुर रहमान द्वारा डाले गए पारी के 18वें ओवर की चार गेंदों पर कोई रन नहीं बना पाए। पांचवीं गेंद पर लेग बाई का रन चुराने के बाद मनीष पांडे आउट हो गए। आखिरी ओवर में भी वे बाउंड्री नहीं जमा पाए और पांचवीं गेंद पर आउट हो गए। 

रोहित शर्मा सहित इन 6 भारतीय क्रिकेटर्स को मिला है यह मौका

फेड कप व डेविस कप के लिए भारतीय जूनियर टेनिस टीम घोषित