Updated -

mobile_app
liveTv

आज ही के दिन डीविलियर्स ने बनाया था बड़ा रिकाॅर्ड

स्पोर्ट्स डेस्क : दुनिया के विस्फोटक बल्लेबाजों की बात हो आैर दक्षिण अफ्रीका के एबी डीविलियर्स का जिक्र ना हो यह भला कैसे हो सकता है। डीविलियर्स अपनी तूफानी बल्लेबाजी आैर स्वीप शॉट की बदाैलत क्रिकेट जगत में मशहूर हैं। फैंस ज्यादातर उनके स्वीप शॉट के मुरीद हैं, इसीलिए उनको 'मास्टर 360 डिविलियर्स' कहा जाता है। उन्होंने आज ही के दिन यानी 18 जनवरी, 2015 को एक ऐसा बड़ा रिकाॅर्ड बनाया था, जिसका टूटना मुश्किल नजर आता है।
क्या है वो रिकाॅर्ड?
इस दिन डिविलियर्स ने 44 गेंदों में 149 रनों की तूफानी पारी खेली थी, जिसमें 16 छक्के आैर 9 चाैके शामिल रहे। उन्होंने 31 गेंदों में साै रन पूरे किए थे आैर इसी के साथ वह अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने वाले बल्लेबाज बने। उन्होंने जोहानसवर्ग स्टेडियम में विंडीज के खिलाफ यह पारी खेली थी। डीविलियर्स ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाज कोरी एंडरसन को पछाड़ यह रिकाॅर्ड बनाया था। एंडरसन ने 1 जनवरी, 2014 को विंडीज के खिलाफ हुए वनडे मैच में 36 गेंदों में शतक जड़ा था। ऐसा लग रहा था कि एंडरसन का यह रिकाॅर्ड आसानी से नहीं टूटेगा, लेकिन डीविलियर्स ने साल बाद उनसे तेज शतक लगा दिया।  

डीविलियर्स की तूफानी पारी से विंडीज खेमा पस्त
डिविलियर्स की इस रिकाॅर्ड तूफानी पारी की बदाैलत विंडीज खेमा पूरी तरह से पस्त होता दिखाई दिया। साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए डीविलियर्स के अलावा ओपनर जोड़ी हाशिम अमला(153 आैर रिली रोसोउ(128) की शतकीय पारी की बदाैलत 50 ओवर में 2 विकेट के नुक्सान पर 439 रन बनाए। बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी विंडीज ने तेज खेलना शुरू तो किया लेकिन अफ्रीकी गेंदबाजों के आगे ज्यादा देर तक टिक नहीं सके। विंडीज की टीम 7 विकेट पर 291 रन ही बना सकी आैर अफ्रीका ने यह मैच 148 रनों से जीत लिया।

वर्ल्ड रिकाॅर्ड बनाने से चूक गए विराट

नई दिल्ली: साउथ अफ्रीका से टेस्ट सीरीज गंवा देने के साथ ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में वर्ल्ड रिकाॅर्ड बनाने से चूक गए। कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज अपने नाम की। अगर टीम इंडिया अफ्रीका के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज अपने नाम कर लेती तो वह कोहली की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में लगातार 10 सीरीज जीतने वाली इकलाैती टीम बन जाती। 
श्रीलंका को हराकर की थी आस्ट्रेलिया की बराबरी
साल 2017 के नवंबर में भारत ने श्रीलंका से तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी। इसी के साथ टीम इंडिया ने आॅस्ट्रेलिया के लगातार 9 सीरीज जीतने के रिकाॅर्ड की बराबरी की थी। जिस लय में विराट सेना दिख रही थी उससे यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि वह अफ्रीका से सीरीज जीतकर आॅस्ट्रेलिया के लगातार सर्वाधिक सीरीज जीतने के रिकाॅर्ड को धवस्त कर देगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अफ्रीका ने अपनी धरती पर शानदार प्रदर्शन किया आैर तीन मैचों की सीरीज के पहले दो मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली। 

प्रणीत, अश्विनी-सिक्की प्री क्वार्टर फाइनल में

सिबू: भारत के साई प्रणीत तथा अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की महिला युगल जोड़ी ने बुधवार को 120,000 डालर इनामी मलेशिया मास्टर्स ग्रां प्री गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। प्रणीत ने थाईलैंड के कंटाफोन वांगचरोन को पहले दौर में 44 मिनट में 21-13, 21-13 से हराया। अश्विनी और सिक्की की जोड़ी ने जर्मनी की योहाना गोलिजेवस्की और लारा कीपलीन को केवल 25 मिनट में 21-15, 21-12 से पराजित किया। पुरूष एकल में डेनमार्क के मौजूदा विश्व चैंपियन विक्टर एक्सेलसन को छोड़कर अन्य शीर्ष खिलाडिय़ों को पहले दौर में बाहर का रास्ता देखना पड़ा। इनमें चीन के लिन डैन, चेन लोंग, दक्षिण कोरिया के सोन वान हो और मलेशिया के ली चोंग वेई शामिल हैं।  

हॉकी टूर्नामेंट : भारत ने किया विजयी आगाज

टौरंगा । भारत की पुरुष हॉकी टीम ने बुधवार को 4-नेशंस इंविटेशनल टूर्नामेंट में जापान को 6-0 से मात देकर विजयी आगाज किया है। ब्लैक पार्क में खेले गए इस मैच में विवेक सिंह प्रसाद और दिलप्रीत सिंह ने भारतीय टीम के लिए दो-दो गोल किए। 
इन दोनों खिलाडिय़ों ने इस मैच के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया है। भारत ने मैच की अच्छी शुरुआत की। सातवें मिनट में ही अनुभवी खिलाड़ी रुपिंदर पाल सिंह के गोल से टीम को 1-0 की बढ़त मिली। इसके बाद 12वें मिनट में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले विवेक ने गोल कर टीम को 2-0 से आगे किया।  दूसरे क्वार्टर में भी भारत ने अपना हमला जारी रखा। जापान को गोल का एक भी मौका न देते हुए विवेक ने 28वें मिनट में टीम के लिए तीसरा गोल किया। भारतीय टीम ने तीसरे क्वार्टर में तीन गोल किए। 

अंडर-19 विश्व कप : न्यूजीलैंड ने केन्या को रौंदा

लिंकन । आईसीसी अंडर-19 विश्व कप में मेजबान न्यूजीलैंड ने बुधवार को केन्या की टीम को 243 रनों से हरा दिया। इसके अलावा, तीन बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने भी जीत हासिल की है। उसने जिम्बाब्वे को सात विकेट से हराया।  हेग्ले ओवल मैदान पर खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड ने केवल चार विकेट के नुकसान पर 436 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया, जिसे केन्या तय समय पर हासिल नहीं कर पाई और 50 ओवरों में चार विकेट खोकर केवल 193 रन ही बना सकी।  न्यूजीलैंड के लिए जैकब भूला (180) और राचिन रविंद्रा (117) ने शानदार शतकीय पारियां खेली। इसके अलावा, फिन एलेन (90) ने भी अहम योगदान दिया। केन्या के लिए अमन गांधी (63) ने सबसे अधिक रन बनाए। इसके अलावा, टीम का कोई भी खिलाड़ी कुछ खास कमाल नहीं कर पाया।

दूसरा टेस्ट : भारत के खिलाफ जीत से तीन विकेट दूर

सेंचुरियन। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यहां के न्यूलैंड्स मैदान पर बुधवार को तीन मैच की सीरीज के दूसरे टेस्ट के 5वें व अंतिम दिन का खेल जारी है। अंतिम समाचार मिलने तक 287 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत के दूसरी पारी में 38 ओवर में 93/7 रन हो गए थे। रोहित शर्मा (20) व मोहम्मद शमी (6) क्रीज पर हैं। आज आउट होने वाले भारतीय चेतेश्वर पुजारा (19), विकेटकीपर पार्थिव पटेल (19), हार्तिक पांड्या (6) व रविचंद्रन अश्विन (3) हैं। लुंजी एनजिदी ने 4 और कागिसो रबाडा ने 2 विकेट लिए हैं। पुजारा रन आउट हुए। सुबह भारत ने अपनी पारी 35/3 रन से आगे शुरू की।  इससे पहले दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 335 रन पर सिमटी थी। एडेन मार्कराम (94), हाशिम अमला (82) और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (63) ने अर्धशतक जमाए। रविचंद्रन अश्विन ने चार, ईशांत शर्मा ने तीन और मोहम्मद शमी ने एक विकेट झटका। दो बल्लेबाज रन आउट हुए। जवाब में भारत पहली पारी में 307 रन बनाकर 28 रन से पिछड़ गया। 

पार्थिव पटेल से नहीं है कोई नाराज़गी, कोहली ने खेली अहम पारी' : बुमराह

सेंचुरियन। दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में दो विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने भी दिन का खेल खत्म होने के बाद स्वीकारा कि गेंद स्विंग ले रही थी, लेकिन बाहरी मैदान गीली होने के कारण गेंद गीली हो गई। इसके बाद गेंद स्विंग नहीं हुई। हमने अंपायर से इसको लेकर बात भी की कि क्या किया जा सकता है। जब हम मैदान पर आए तो आउटफील्ड काफी गीली थी। हम गेंद सुखाना चाहते थे। खराब रोशनी के कारण आखिर में मैच रुकने पर उन्होंने कहा कि हम अच्छा कर रहे थे और इसलिए हम उसे जारी रखना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। 

विकेटकीपर पार्थिव पटेल के अपनी गेंद पर दक्षिण अफ्रीकी ओपनर डीन एल्गर का कैच नहीं पकड़ने पर गुस्सा होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि नहीं, ऐसा कुछ नहीं है। वह कैच के लिए गए ही नहीं है, लेकिन मैच में ऐसा होता रहता है। आप बहुत ज्यादा गुस्सा नहीं हो सकते, क्योंकि अभी बहुत मैच बाकी है। हम उनका मजाक नहीं उड़ा सकते, उन पर दबाव नहीं बना सकते, क्योंकि अभी बहुत मैच बचा हुआ है। हम उस कैच को भूल गए और आगे बढ़ गए।

अभी बराबरी पर मैच 

बुमराह ने कहा कि मैच अभी भी बराबरी पर है। अगर हम चौथे दिन पहले सत्र में जल्दी विकेट लेते हैं तो मैच किसी भी तरफ जा सकता है। एबी डिविलियर्स को गेंदबाजी करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ गेंदबाजी करना हमेशा कठिन होता है। वह विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं।

विराट ने खेली अहम पारी

विराट और डिविलियर्स की पारियों में अंतर के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि भारतीय कप्तान की पारी बहुत कठिन समय पर बनाई गई थी। हमने दूसरे दिन शुरुआती विकेट जल्दी गंवा दिए थे तो उन्होंने बेहतरीन पारी खेली और हमारी वापसी कराई। वह बहुत ही महत्वपूर्ण पारी रही। जब कोई कप्तान आगे से नेतृत्व करके इस तरह की पारी खेलता है तो वह शानदार रहता है।

कोहली ने 'विराट' पारी के दौरान अनुष्का को किया याद

नई दिल्ली । सेंचुरियन टेस्ट के दूसरे दिन विराट कोहली ने द. अफ्रीका में अपना दूसरा टेस्ट शतक ठोक दिया। 153 रन की इस पारी के दौरान कोहली ने सौरव गागुंली और ब्रायन लारा जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। उनकी इस बेहतरीन पारी की बदौलत ही भारत ने अपनी पहली पारी में 307 रन बनाए।

जब आप अपने सबसे कठिन दौरे पर पहला टेस्ट मैच हार चुके हों, आपके टीम चयन के तरीके पर सवाल उठ रहे हों, आपके सामने विदेशी मैदान पर मेजबानों के लंबे व तगड़े गेंदबाज पूरी ताकत से गेंद फेंक रहे हों और दूसरी छोर से लगातार विकेट गिर रहे हों..ऐसे में जब आप एक छोर पर टिककर अपने करियर की चुनिंदा पारी खेलते हो तब आपकी वाहवाही होती है। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को कुछ ऐसी ही पारी खेली। उनके 153 रनों की बदौलत भारत ने अपनी पहली पारी में 307 रन बनाए।

कोहली ने शानदार तरीके से मनाया शतक का जश्न

दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत का स्कोर 183/5 था, जबकि कोहली 85 पर नाबाद थे। तीसरे दिन के तीसरे ओवर में ही भारतीय कप्तान ने लुंगी नगीदी पर बेहतरीन कवर ड्राइव सहित दो चौके लगाकर अपने तेवर दिखा दिए। दिन के छठे ओवर में ही उन्होंने लुंगी पर दो रन लेकर शतक पूरा किया। सब लोग इस बात का ही इंतजार कर रहे थे कि विराट शतक पूरा करने के बाद उसका जश्न कैसे मनाते हैं क्योंकि पिछले दिनों में उनकी काफी आलोचना हुई है और हुआ भी वैसा ही। विराट ने आक्रामक अंदाज में हेलमेट उतारकर बल्ले को दर्शकों की तरफ तरेरते हुए शेर की तरह रिएक्शन दिया। वह ड्रेसिंग रूम की तरफ आक्रामक तौर पर इशारा कर रहे थे, जैसे वह बताना चाह रहे हों जितने भी सवाल उठेंगे मैं इस तरह की पारी खेलकर उसका जवाब दूंगा। उन्हें शतक पूरा करने के लिए सिर्फ एक रन ही चाहिए था और उन्होंने उसे पूरा करके जश्न मनाना शुरू भी कर दिया था, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी क्षेत्ररक्षकों ने ओवरथ्रो कर दिया। विराट जश्न को बीच में छोड़कर दूसरे रन के लिए दौड़े और उसके बाद फिर से जश्न मनाया। यह विराट का आक्रामक स्टाइल है और वह ऐसा ही करते हैं। उन्होंने 217 गेंदों की पारी में 15 चौके लगाए।

प्रतियोगिता से वापस लौट रहे 5 पहलवानों की सड़क हादसे में मौत

भारत के खिलाफ SA ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया

सेंचुरियन: दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ शनिवार से यहां शुरू हो रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाकाी करने का फैसला किया।  भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दूसरे टेस्ट के लिए अंतिम एकादश में तीन बदलाव किया है। 

ओपनर शिखर धवन की जगह लोकेश राहुल, विकेटकीपर रिद्धिमान साहा की जगह पार्थिव पटेल और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की जगह इशांत शर्मा को टीम को टीम में शामिल किया गया है।   मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने अपने अंतिम एकादश में एक बदलाव किया है। कप्तान फॉफ डू प्लेसिस ने चोटिल तेज गेंदबाज डेल स्टेन की जगह लुंगी एनगिदी को टीम में शामिल किया है जो अपने घरेलू मैदान से अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर में पदार्पण करेंगे।   

दूसरे टेस्ट के लिए भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमें इस प्रकार है-  भारत- लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या, पार्थिव पटेल, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा।  दक्षिण अफ्रीका- डीन
एल्गर, एडन मार्करम, हाशिम अमला, एबी डीविलियर्स, फाफ डू प्लेसिस (कप्तान), क्विंटन डी कॉक, वेर्नाेन फिलेंडर, केशव महाराज, केगिसो रबादा, लुंगी एनगिदी, मोर्न मोर्कल। 

हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है : बुमराह

सेंचुरियन। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए पहले मैच के साथ टेस्ट पदार्पण करने वाले भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने गुरुवार को कहा कि वह हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है। बुमराह ने कहा कि वह विकेट से मिल रही चुनौतियों और उन परिस्थतियों जिनसे वह टेस्ट पदार्पण से पहले अनजान थे, का लुत्फ उठा रहे हैं। 

बुमराह ने कहा, ‘‘जब भी आप नए देश में आते हो तो यह काफी चुनौतीपूर्ण होता है। विकेट काफी अलग होती है, मौसम काफी अलग होता है। इसलिए हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है और जब आप ज्यादा खेलते हो तो आपको विकेट और परिस्थतियों को जानने का मौका मिलता है।’’ भारत पहले टेस्ट मैच में 72 रनों से हार गया था। अब वह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से पीछे है। बुमराह ने कहा कि टीम अपनी गलतियों को सुधारने पर ध्यान दे रही है और उसके हिसाब से तैयारी कर रही है। 

प्रो रेसलिंग लीग में वीर मराठा पर हरियाणा हैमर्स की बड़ी जीत


नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के सीजन तीन में बुधवार को हरियाणा हैमर्स ने सिरीफोर्ट स्पोट्र्स कॉम्पलेक्स में खेले गए मुकाबले में वीर मराठा को 5-2 से हरा दिया। इस मुकाबले में हरियाणा के लिए व्लादीमिर खिनचेंगशिवली, सरिता, हरफूल, हेलेन माल्र्योस और खेतिक ने जीत हासिल की जबकि वीर मराठा के लिए वेसलिसा मारजाल्यूक और जॉर्जी केटोव ही जीत हासिल कर सके।  दूसरे दिन के शुरुआती दो मुकाबलों में विदेशी पहलवानों का जलवा देखने को मिला। हरियाणा हैमर्स की ओर से खेल रहे रियो ओलिम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले व्लादीमिर खिनचेंगशिवली ने 57 किलोग्राम भारवर्ग में वीर मराठा के सरवन को 7-3 से हरा दिया। वहीं अगला मुकाबला महिलाओं की 76 किलोग्राम भारवर्ग में खेला गया जहां वीर मराठा की वेसलिसा मारजाल्यूक ने हरियाणा हैमर्स की पूजा को बड़ी आसानी से महज दो मिनट में हरा दिया। इस मुकाबले का नतीजा चित-पट के आधार पर आया।  तीसरे मुकाबले में हालांकि वीर मराठा के जॉर्जी केटोव ने रुबेलजीत सिंह रांगी को तकनीकी दक्षता के आधार पर 16-0 से हरा दिया और अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया। शुरुआत से ही इस मुकाबले में जॉर्जी ने अपनी पकड़ बनाए रखी और रुबेलजीत को कोई भी मौका नहीं दिया। चौथा मुकाबले में हरियाणा हैमर्स की मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन रितू मलिक को वीर मराठा की सरिता ने 4-3 से हरा दिया। इस जीत के साथ हरियाणा की टीम बराबरी पर आ गई।
 दिन का सबसे रोचक मुकाबला पुरुषों के 65 किलोग्राम भारवर्ग में देखने को मिला जहां हरियाणा हैमर्स के युवा पहलवान हरफूल ने वीर मराठा की ओर से खेल रहे तीन बार के राष्ट्रीय चैम्पियन अमित धनकड़ को हरा दिया। कांटे की टक्कर में मुकाबला 5-5 की बराबरी पर खत्म हुआ, लेकिन आखिरी अंक हरफूल ने लिया जिसकी वजह से उन्हें विजेता घोषित किया गया। मौजूदा ओलम्पिक और विश्व चैम्पियन हेलेन माल्र्योस ने हरियाणा को निर्णायक मुकाबले में बेहद आसानी से जीत दिलाई।   महिलाओं के 57 किलोग्राम भारवर्ग में हेलेन ने वीर मराठा की मारवा आमरी को चित-पट के आधार पर अपनी टीम को तीसरे सीजन की पहली जीत दिलाई। हेलेन ने अपने अनुभव का भरपूर फायदा उठाया और आसान जीत दर्ज की। 
वहीं दिन के आखिरी मुकाबले में विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक धारी खेतिक के खिलाफ वीर मराठा के प्रवीन राणा को 0-10 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले हरियाणा की कप्तान हेलेन ने टॉस जीता और इसका फायदा उठाते हुए 125 किलोग्राम भारवर्ग में लेवान को ब्लॉक किया। वहीं वीर मराठा की कप्तान वेसेलिसा ने महिला वर्ग में चीन की सुन यनान को ब्लॉक किया। इससे पहले ग्रीको रोमन शैली के प्रदर्शनी मुकाबले खेले गए जिसके पहले मुकाबले में हरियाणा हैमर्स ने जीत दर्ज की