Updated -

mobile_app
liveTv

कोहली नं.1, ये है टॉप बल्लेबाज व गेंदबाजों का रिपोर्ट कार्ड

नई दिल्ली। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच तीन मैच की टेस्ट सीरीज खत्म हो गई है। भारत ने इस सीरीज में मेजबान दक्षिण अफ्रीका को तगड़ी टक्कर दी। हालांकि दुनिया की नंबर एक टीम इंडिया को 1-2 से हार झेलनी पड़ी। दक्षिण अफ्रीका ने केपटाउन में खेला गया पहला टेस्ट 72 और सेंचुरियन में हुआ दूसरा टेस्ट 135 रन से जीता। 

जोहानसबर्ग में आयोजित तीसरे टेस्ट में भारत को 63 रन से जीत मिली। सीरीज में गेंदबाजों के बोलबाले के बीच भारतीय कप्तान विराट कोहली ही एकमात्र बल्लेबाज रहे, जिन्होंने शतक जमाया। कोहली रन के मामले में पहले स्थान पर रहे। कोहली ने तीन टेस्ट की छह पारियों में 47.66 के औसत से 286 रन बनाए। उनके खाते में एक शतक (153) और एक अर्धशतक रहा। 

मिश्रित युगल के खिताब से चूके बोपन्ना-बाबोस

मेलबोर्न। भारत के रोहन बोपन्ना और हंगरी की उनकी जोड़ीदार टिमिया बाबोस को यहां रविवार को साल के पहले ग्रैंडस्लैम-टेनिस टूर्नामेंट ऑस्ट्रेलियन ओपन के मिश्रित युगल वर्ग के फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। पांचवीं सीड बोपन्ना और बाबोस की जोड़ी को कनाडा की गैब्रिएला डाब्रोव्स्की और मैट पेविक की जोड़ी ने 2-6, 6-4, 11-9 से हराया। 
यह मुकाबला एक घंटे आठ मिनट चला। यह दूसरा मौका है, जब बोपन्ना को किसी ग्रैंडस्लैम फाइनल में हार मिली है। इससे पहले वर्ष 2010 में उन्हें पाकिस्तान के ऐसाम उल हक कुरैशी के साथ खेलते हुए अमेरिकी ओपन के फाइनल में हार मिली थी।
कुरैशी और बोपन्ना को अमेरिका के ब्रायन बंधुओं-बॉब और माइक ने कड़े मुकाबले में 7-6, 7-6 से हराया था। बोपन्ना ने एक ग्रैंडस्लैम खिताब जीता है। वे वर्ष 2017 में गैब्रिएला डाब्रोव्स्की के साथ फ्रेंच ओपन में मिश्रित युगल का खिताब जीतने में सफल रहे थे। 

बाबोस-म्लाडेनोविक ने जीता युगल खिताब

मेलबोर्न। हंगरी की टिमए बाबोस और फ्रांस की क्रिस्टिना म्लाडेनोविक ने साल के पहले ग्रैंडस्लैम ऑस्ट्रेलियन ओपन के महिला युगल वर्ग का खिताब अपने नाम कर लिया है। इस जोड़ी ने फाइनल में इलेना वेसनिना और इकैटरिना माकारोवा को 6-4, 6-3 से मात देते हुए ट्रॉफी पर कब्जा जमाया।

समाचार एजेंसी एफे के मुताबिक, बाबोस और म्लाडेनोविक की जोड़ी को यह मैच जीतने में एक घंटे 20 मिनट का समय लगा। बाबोस का यह पहला ग्रैंडस्लैम खिताब है। बाबोस ने जीत के बाद कहा, जाहिर सी बात है यह अविश्वसनीय अहसास है। 

हम एक साथ खेलने का आनंद उठाते हैं। हमने कुल मिलाकर अपने खेल में सुधार किया, शायद हर मैच में। म्लाडेनोविक ने कहा, दिन के अंत में, जैसा की हम एक टेनिस खिलाड़ी के तौर पर कहते हैं, आप हमेशा एक विजेता को याद रखते हो। 

3 करोड़ रुपये में बिके मोहम्मद शमी

चौथा वनडे जीत ऑस्ट्रेलिया ने बचाया सम्मान

एडिलेड। ऑस्ट्रेलिया ने चौथे वनडे मैच में शुक्रवार को इंग्लैंड को तीन विकेट से मात देते हुए पांच वनडे मैचों की सीरीज में पहली दर्ज की है। इस मैच को हारने के बाद भी इंग्लैंड सीरीज में 3-1 से आगे है। ऑस्ट्रेलिया ने टॉस जीतकर पहले गेंदबाजी चुनी और इंग्लैंड के पांच विकेट महज छह रनों पर ही गिरा दिए।

इंग्लैंड के पांच विकेट जोश हैजलवुड और पैट कमिंस की जोड़ी ने लिए। पहला विकेट जेसन रॉय के रूप में गिरा। वे खाता भी नहीं खोल पाए थे। उनके बाद एलेक्स हेल्स (3), विकेटकीपर जॉनी बेयरस्टॉ (0), जोए रूट (0) व जोश बटलर (0) के विकेट इंग्लैंड ने खो दिए। 

इस स्थिति में इंग्लैंड के निचले क्रम ने टीम को संभाला और शानदार वापसी कराई। कप्तान इयोन मोर्गन और मोइन अली ने 33-33 रनों की पारियां खेलीं और इसके बाद क्रिस वोक्स ने 78 तथा टॉम कुरैन ने 35 रन बनाकर इंग्लैंड को 44.5 ओवरों में 196 रनों पर पहुंचाया।

ब्लाइंड क्रिकेट वर्ल्ड कप फाइनल में भारत का सामना पाकिस्तान से

अजमान: दृष्टिबाधित क्रिकेट विश्व कप के फाइनल में डिफेंडिंग चैंपियन भारत का सामना चिर-प्रतिद्वंद्वी पाकिस्तान से 20 जनवरी को शारजाह में होगा। भारत ने सेमीफाइनल में बांग्लादेश को 7 विकेट से हराया। वहीं दूसरे सेमीफाइनल में पाकिस्तान ने श्रीलंका को 156 रन से हरा दिया।

मधुकर छाए
सेमीफाइनल में मैन ऑफ द मैच गणेशभाई मधुकर ने सिर्फ 69 गेंद में 112 रन की पारी खेलकर भारत की आसान जीत की नींव रखी। बांग्लादेश की टीम टॉस जीतकर पहले बल्लेबाजी करते हुए 38.5 ओवर में 256 रन पर सिमट गई थी।
दो बार की चैंपियन है टीम इंडिया
दृष्टिबाधित क्रिकेट विश्व कप में भारतीय टीम का प्रदर्शन लाजवाब रहा है। टीम इस बार तो फाइनल में पहुंची है लेकिन इससे पहले भी दो बार खिताब जीत चुकी है। भारतीय टीम ने लीग मैच में पाकिस्तान को हराया था और इसलिए फाइनल में टीम के पास मनोवैज्ञानिक बढ़त भी होगी।

महेन्द्र सिंह धोनी ने किया टीम का बचाव, कहा- 20 विकेट तो ले रहे हैं

चेन्नई:  पूर्व कप्तान महेन्द्र सिंह धोनी ने दक्षिण अफ्रीका में भारतीय टीम के लचर प्रदर्शन का बचाव करते हुए आज यहां कहा कि टीम के लिए कई सकारात्मक पहलू है जिसमें से गेंदबाजों का शानदार प्रदर्शन प्रमुख है।          
विराट कोहली के नेतृत्व में विश्व रैंकिंग में पहले स्थान पर काबिज भारतीय टीम दक्षिण अफ्रीका से तीन मैचों की श्रृंखला में 0-2 से पिछड़ रही है। श्रृंखला का तीसरा मैच जोहानिसबर्ग में खेला जाएगा। टेस्ट मैच से संन्यास लेने के बाद भी एकदिवसीय में खेलना जारी रखने वाले इस दिग्गज ने कहा कि मैं कहूंगा कि सकारात्मक पहलू देखिए। टेस्ट मैच जीतने के लिए आपको 20 विकेट लेना होता है और हमने 20 विकेट लिए है। अगर आप 20 विकेट नहीं ले सकते तो आप टेस्ट मैच ड्रा करने की सोचते है। टेस्ट मैच ड्रा करने के लिए आपको काफी रन बनाने होंगे और विपक्षी टीम का रन बनाने से रोकना होगा । धोनी ने कहा कि तथ्य यह है कि भारतीय गेंदबाज मैच में 20 विकेट ले रहे है जो यह दिखाता है कि हम जीत से ज्यादा दूर नहीं।          
उन्होंने कहा कि आप भारत में खेले या विदेश में अगर आप 20 विकेट नहीं ले सकते तो आप टेस्ट मैच नहीं जीत सकते। बड़ा सकारात्मक पहलू यह है कि हम 20 विकेट ले रहे है। इसका मतलब यह हुआ कि हम हमेशा मैच जीतने की स्थिति में रहेंगे बस एक बार रन बनाना शुरू कर दें। 

क्रिकेट के बाद इस खेल में छुड़ाएंगे सबके छक्के: गेल

नई दिल्लीः टी-20 क्रिकेट में 800 से ज्यादा छक्के लगाने वाले वेस्टइंडीज के धाकड़ बल्लेबाज क्रिकेट के बाद यू एफ सी में करियर बनाने के संकेत दिए हैं। अपनी हाजिरजवाबी और लैविश लाइफ स्टाइल के लिए जाने जाते हैं। गेल अक्सर अपनी पोस्ट के कारण भी चर्चा में रहते हैं। बीते दिनों उनकी भारत के सप्निर युजवेंद्र चाहल के साथ हुई रोचक वार्ता भी चर्चा में रही थी। दरअसल चाहल ने जिम में ट्रेनिंग की अपनी फोटो वीडियो डाली थी इसमें वह गेल को चैलेंज करते दिख रहे थे। इस पर गेल ने रि-ट्विट किया था ये देखने से पहले मैं मर क्यों नहीं गया। 

38 साल के गेल ने ट्विटर अकाउंट पर एक वीडियो के ज़रिए अपनी फिटनेस को दर्शाया है। गेल ने अपनी वीडियो के साथ लिखा है कि, यूएफसी मैं आ रहा हूं। वीडियो में गेल यूएफसी फाईट की तैयारी कर रहे हैं। गेल क्रिकेट के महान बल्लेबाजों में से माने जाते हैं, क्रिकेट के दौरान गेल आपको यूएफसी में दिखाई दे सकते हैं। गेल ने कुछ दिनों पहले भी एक वीडियो को अपने अकाउंट पर शेयर किया था जिसमें वो वर्कआउट कर रहे हैं। 

आज ही के दिन डीविलियर्स ने बनाया था बड़ा रिकाॅर्ड

स्पोर्ट्स डेस्क : दुनिया के विस्फोटक बल्लेबाजों की बात हो आैर दक्षिण अफ्रीका के एबी डीविलियर्स का जिक्र ना हो यह भला कैसे हो सकता है। डीविलियर्स अपनी तूफानी बल्लेबाजी आैर स्वीप शॉट की बदाैलत क्रिकेट जगत में मशहूर हैं। फैंस ज्यादातर उनके स्वीप शॉट के मुरीद हैं, इसीलिए उनको 'मास्टर 360 डिविलियर्स' कहा जाता है। उन्होंने आज ही के दिन यानी 18 जनवरी, 2015 को एक ऐसा बड़ा रिकाॅर्ड बनाया था, जिसका टूटना मुश्किल नजर आता है।
क्या है वो रिकाॅर्ड?
इस दिन डिविलियर्स ने 44 गेंदों में 149 रनों की तूफानी पारी खेली थी, जिसमें 16 छक्के आैर 9 चाैके शामिल रहे। उन्होंने 31 गेंदों में साै रन पूरे किए थे आैर इसी के साथ वह अंतरराष्ट्रीय वनडे क्रिकेट में सबसे तेज शतक लगाने वाले बल्लेबाज बने। उन्होंने जोहानसवर्ग स्टेडियम में विंडीज के खिलाफ यह पारी खेली थी। डीविलियर्स ने न्यूजीलैंड के बल्लेबाज कोरी एंडरसन को पछाड़ यह रिकाॅर्ड बनाया था। एंडरसन ने 1 जनवरी, 2014 को विंडीज के खिलाफ हुए वनडे मैच में 36 गेंदों में शतक जड़ा था। ऐसा लग रहा था कि एंडरसन का यह रिकाॅर्ड आसानी से नहीं टूटेगा, लेकिन डीविलियर्स ने साल बाद उनसे तेज शतक लगा दिया।  

डीविलियर्स की तूफानी पारी से विंडीज खेमा पस्त
डिविलियर्स की इस रिकाॅर्ड तूफानी पारी की बदाैलत विंडीज खेमा पूरी तरह से पस्त होता दिखाई दिया। साउथ अफ्रीका ने पहले बल्लेबाजी करते हुए डीविलियर्स के अलावा ओपनर जोड़ी हाशिम अमला(153 आैर रिली रोसोउ(128) की शतकीय पारी की बदाैलत 50 ओवर में 2 विकेट के नुक्सान पर 439 रन बनाए। बड़े लक्ष्य का पीछा करने उतरी विंडीज ने तेज खेलना शुरू तो किया लेकिन अफ्रीकी गेंदबाजों के आगे ज्यादा देर तक टिक नहीं सके। विंडीज की टीम 7 विकेट पर 291 रन ही बना सकी आैर अफ्रीका ने यह मैच 148 रनों से जीत लिया।

वर्ल्ड रिकाॅर्ड बनाने से चूक गए विराट

नई दिल्ली: साउथ अफ्रीका से टेस्ट सीरीज गंवा देने के साथ ही टीम इंडिया के कप्तान विराट कोहली टेस्ट क्रिकेट में वर्ल्ड रिकाॅर्ड बनाने से चूक गए। कोहली की कप्तानी में भारतीय टीम ने लगातार 9 टेस्ट सीरीज अपने नाम की। अगर टीम इंडिया अफ्रीका के खिलाफ चल रही टेस्ट सीरीज अपने नाम कर लेती तो वह कोहली की कप्तानी में टेस्ट क्रिकेट के इतिहास में लगातार 10 सीरीज जीतने वाली इकलाैती टीम बन जाती। 
श्रीलंका को हराकर की थी आस्ट्रेलिया की बराबरी
साल 2017 के नवंबर में भारत ने श्रीलंका से तीन टेस्ट मैचों की सीरीज 1-0 से जीती थी। इसी के साथ टीम इंडिया ने आॅस्ट्रेलिया के लगातार 9 सीरीज जीतने के रिकाॅर्ड की बराबरी की थी। जिस लय में विराट सेना दिख रही थी उससे यह अंदाजा लगाया जा रहा था कि वह अफ्रीका से सीरीज जीतकर आॅस्ट्रेलिया के लगातार सर्वाधिक सीरीज जीतने के रिकाॅर्ड को धवस्त कर देगी, लेकिन ऐसा नहीं हुआ। अफ्रीका ने अपनी धरती पर शानदार प्रदर्शन किया आैर तीन मैचों की सीरीज के पहले दो मैच जीतकर सीरीज अपने नाम कर ली। 

प्रणीत, अश्विनी-सिक्की प्री क्वार्टर फाइनल में

सिबू: भारत के साई प्रणीत तथा अश्विनी पोनप्पा और एन सिक्की रेड्डी की महिला युगल जोड़ी ने बुधवार को 120,000 डालर इनामी मलेशिया मास्टर्स ग्रां प्री गोल्ड बैडमिंटन टूर्नामेंट के प्री क्वार्टर फाइनल में प्रवेश किया। प्रणीत ने थाईलैंड के कंटाफोन वांगचरोन को पहले दौर में 44 मिनट में 21-13, 21-13 से हराया। अश्विनी और सिक्की की जोड़ी ने जर्मनी की योहाना गोलिजेवस्की और लारा कीपलीन को केवल 25 मिनट में 21-15, 21-12 से पराजित किया। पुरूष एकल में डेनमार्क के मौजूदा विश्व चैंपियन विक्टर एक्सेलसन को छोड़कर अन्य शीर्ष खिलाडिय़ों को पहले दौर में बाहर का रास्ता देखना पड़ा। इनमें चीन के लिन डैन, चेन लोंग, दक्षिण कोरिया के सोन वान हो और मलेशिया के ली चोंग वेई शामिल हैं।  

हॉकी टूर्नामेंट : भारत ने किया विजयी आगाज

टौरंगा । भारत की पुरुष हॉकी टीम ने बुधवार को 4-नेशंस इंविटेशनल टूर्नामेंट में जापान को 6-0 से मात देकर विजयी आगाज किया है। ब्लैक पार्क में खेले गए इस मैच में विवेक सिंह प्रसाद और दिलप्रीत सिंह ने भारतीय टीम के लिए दो-दो गोल किए। 
इन दोनों खिलाडिय़ों ने इस मैच के साथ ही अंतरराष्ट्रीय स्तर पर पदार्पण किया है। भारत ने मैच की अच्छी शुरुआत की। सातवें मिनट में ही अनुभवी खिलाड़ी रुपिंदर पाल सिंह के गोल से टीम को 1-0 की बढ़त मिली। इसके बाद 12वें मिनट में अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मैच खेलने वाले विवेक ने गोल कर टीम को 2-0 से आगे किया।  दूसरे क्वार्टर में भी भारत ने अपना हमला जारी रखा। जापान को गोल का एक भी मौका न देते हुए विवेक ने 28वें मिनट में टीम के लिए तीसरा गोल किया। भारतीय टीम ने तीसरे क्वार्टर में तीन गोल किए।