Updated -

mobile_app
liveTv

अंडर-19 विश्व कप : न्यूजीलैंड ने केन्या को रौंदा

लिंकन । आईसीसी अंडर-19 विश्व कप में मेजबान न्यूजीलैंड ने बुधवार को केन्या की टीम को 243 रनों से हरा दिया। इसके अलावा, तीन बार के चैंपियन ऑस्ट्रेलिया ने भी जीत हासिल की है। उसने जिम्बाब्वे को सात विकेट से हराया।  हेग्ले ओवल मैदान पर खेले गए मैच में टॉस हारकर पहले बल्लेबाजी करने उतरी न्यूजीलैंड ने केवल चार विकेट के नुकसान पर 436 रनों का बड़ा स्कोर खड़ा किया, जिसे केन्या तय समय पर हासिल नहीं कर पाई और 50 ओवरों में चार विकेट खोकर केवल 193 रन ही बना सकी।  न्यूजीलैंड के लिए जैकब भूला (180) और राचिन रविंद्रा (117) ने शानदार शतकीय पारियां खेली। इसके अलावा, फिन एलेन (90) ने भी अहम योगदान दिया। केन्या के लिए अमन गांधी (63) ने सबसे अधिक रन बनाए। इसके अलावा, टीम का कोई भी खिलाड़ी कुछ खास कमाल नहीं कर पाया।

दूसरा टेस्ट : भारत के खिलाफ जीत से तीन विकेट दूर

सेंचुरियन। भारत और दक्षिण अफ्रीका के बीच यहां के न्यूलैंड्स मैदान पर बुधवार को तीन मैच की सीरीज के दूसरे टेस्ट के 5वें व अंतिम दिन का खेल जारी है। अंतिम समाचार मिलने तक 287 रन के लक्ष्य का पीछा करते हुए भारत के दूसरी पारी में 38 ओवर में 93/7 रन हो गए थे। रोहित शर्मा (20) व मोहम्मद शमी (6) क्रीज पर हैं। आज आउट होने वाले भारतीय चेतेश्वर पुजारा (19), विकेटकीपर पार्थिव पटेल (19), हार्तिक पांड्या (6) व रविचंद्रन अश्विन (3) हैं। लुंजी एनजिदी ने 4 और कागिसो रबाडा ने 2 विकेट लिए हैं। पुजारा रन आउट हुए। सुबह भारत ने अपनी पारी 35/3 रन से आगे शुरू की।  इससे पहले दक्षिण अफ्रीका की पहली पारी 335 रन पर सिमटी थी। एडेन मार्कराम (94), हाशिम अमला (82) और कप्तान फाफ डु प्लेसिस (63) ने अर्धशतक जमाए। रविचंद्रन अश्विन ने चार, ईशांत शर्मा ने तीन और मोहम्मद शमी ने एक विकेट झटका। दो बल्लेबाज रन आउट हुए। जवाब में भारत पहली पारी में 307 रन बनाकर 28 रन से पिछड़ गया। 

पार्थिव पटेल से नहीं है कोई नाराज़गी, कोहली ने खेली अहम पारी' : बुमराह

सेंचुरियन। दक्षिण अफ्रीका की दूसरी पारी में दो विकेट लेने वाले भारतीय गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने भी दिन का खेल खत्म होने के बाद स्वीकारा कि गेंद स्विंग ले रही थी, लेकिन बाहरी मैदान गीली होने के कारण गेंद गीली हो गई। इसके बाद गेंद स्विंग नहीं हुई। हमने अंपायर से इसको लेकर बात भी की कि क्या किया जा सकता है। जब हम मैदान पर आए तो आउटफील्ड काफी गीली थी। हम गेंद सुखाना चाहते थे। खराब रोशनी के कारण आखिर में मैच रुकने पर उन्होंने कहा कि हम अच्छा कर रहे थे और इसलिए हम उसे जारी रखना चाहते थे, लेकिन ऐसा नहीं हो सका। 

विकेटकीपर पार्थिव पटेल के अपनी गेंद पर दक्षिण अफ्रीकी ओपनर डीन एल्गर का कैच नहीं पकड़ने पर गुस्सा होने के सवाल पर उन्होंने कहा कि नहीं, ऐसा कुछ नहीं है। वह कैच के लिए गए ही नहीं है, लेकिन मैच में ऐसा होता रहता है। आप बहुत ज्यादा गुस्सा नहीं हो सकते, क्योंकि अभी बहुत मैच बाकी है। हम उनका मजाक नहीं उड़ा सकते, उन पर दबाव नहीं बना सकते, क्योंकि अभी बहुत मैच बचा हुआ है। हम उस कैच को भूल गए और आगे बढ़ गए।

अभी बराबरी पर मैच 

बुमराह ने कहा कि मैच अभी भी बराबरी पर है। अगर हम चौथे दिन पहले सत्र में जल्दी विकेट लेते हैं तो मैच किसी भी तरफ जा सकता है। एबी डिविलियर्स को गेंदबाजी करने के सवाल पर उन्होंने कहा कि उनके खिलाफ गेंदबाजी करना हमेशा कठिन होता है। वह विश्व स्तरीय बल्लेबाज हैं।

विराट ने खेली अहम पारी

विराट और डिविलियर्स की पारियों में अंतर के बारे में पूछने पर उन्होंने कहा कि भारतीय कप्तान की पारी बहुत कठिन समय पर बनाई गई थी। हमने दूसरे दिन शुरुआती विकेट जल्दी गंवा दिए थे तो उन्होंने बेहतरीन पारी खेली और हमारी वापसी कराई। वह बहुत ही महत्वपूर्ण पारी रही। जब कोई कप्तान आगे से नेतृत्व करके इस तरह की पारी खेलता है तो वह शानदार रहता है।

कोहली ने 'विराट' पारी के दौरान अनुष्का को किया याद

नई दिल्ली । सेंचुरियन टेस्ट के दूसरे दिन विराट कोहली ने द. अफ्रीका में अपना दूसरा टेस्ट शतक ठोक दिया। 153 रन की इस पारी के दौरान कोहली ने सौरव गागुंली और ब्रायन लारा जैसे दिग्गजों को पीछे छोड़ दिया। उनकी इस बेहतरीन पारी की बदौलत ही भारत ने अपनी पहली पारी में 307 रन बनाए।

जब आप अपने सबसे कठिन दौरे पर पहला टेस्ट मैच हार चुके हों, आपके टीम चयन के तरीके पर सवाल उठ रहे हों, आपके सामने विदेशी मैदान पर मेजबानों के लंबे व तगड़े गेंदबाज पूरी ताकत से गेंद फेंक रहे हों और दूसरी छोर से लगातार विकेट गिर रहे हों..ऐसे में जब आप एक छोर पर टिककर अपने करियर की चुनिंदा पारी खेलते हो तब आपकी वाहवाही होती है। भारतीय कप्तान विराट कोहली ने सोमवार को कुछ ऐसी ही पारी खेली। उनके 153 रनों की बदौलत भारत ने अपनी पहली पारी में 307 रन बनाए।

कोहली ने शानदार तरीके से मनाया शतक का जश्न

दूसरे दिन का खेल खत्म होने पर भारत का स्कोर 183/5 था, जबकि कोहली 85 पर नाबाद थे। तीसरे दिन के तीसरे ओवर में ही भारतीय कप्तान ने लुंगी नगीदी पर बेहतरीन कवर ड्राइव सहित दो चौके लगाकर अपने तेवर दिखा दिए। दिन के छठे ओवर में ही उन्होंने लुंगी पर दो रन लेकर शतक पूरा किया। सब लोग इस बात का ही इंतजार कर रहे थे कि विराट शतक पूरा करने के बाद उसका जश्न कैसे मनाते हैं क्योंकि पिछले दिनों में उनकी काफी आलोचना हुई है और हुआ भी वैसा ही। विराट ने आक्रामक अंदाज में हेलमेट उतारकर बल्ले को दर्शकों की तरफ तरेरते हुए शेर की तरह रिएक्शन दिया। वह ड्रेसिंग रूम की तरफ आक्रामक तौर पर इशारा कर रहे थे, जैसे वह बताना चाह रहे हों जितने भी सवाल उठेंगे मैं इस तरह की पारी खेलकर उसका जवाब दूंगा। उन्हें शतक पूरा करने के लिए सिर्फ एक रन ही चाहिए था और उन्होंने उसे पूरा करके जश्न मनाना शुरू भी कर दिया था, लेकिन दक्षिण अफ्रीकी क्षेत्ररक्षकों ने ओवरथ्रो कर दिया। विराट जश्न को बीच में छोड़कर दूसरे रन के लिए दौड़े और उसके बाद फिर से जश्न मनाया। यह विराट का आक्रामक स्टाइल है और वह ऐसा ही करते हैं। उन्होंने 217 गेंदों की पारी में 15 चौके लगाए।

प्रतियोगिता से वापस लौट रहे 5 पहलवानों की सड़क हादसे में मौत

भारत के खिलाफ SA ने जीता टॉस, पहले बल्लेबाजी करने का फैसला लिया

सेंचुरियन: दक्षिण अफ्रीका ने भारत के खिलाफ शनिवार से यहां शुरू हो रहे दूसरे क्रिकेट टेस्ट में टॉस जीतकर पहले बल्लेबाकाी करने का फैसला किया।  भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दूसरे टेस्ट के लिए अंतिम एकादश में तीन बदलाव किया है। 

ओपनर शिखर धवन की जगह लोकेश राहुल, विकेटकीपर रिद्धिमान साहा की जगह पार्थिव पटेल और तेज गेंदबाज भुवनेश्वर कुमार की जगह इशांत शर्मा को टीम को टीम में शामिल किया गया है।   मेजबान दक्षिण अफ्रीका ने अपने अंतिम एकादश में एक बदलाव किया है। कप्तान फॉफ डू प्लेसिस ने चोटिल तेज गेंदबाज डेल स्टेन की जगह लुंगी एनगिदी को टीम में शामिल किया है जो अपने घरेलू मैदान से अंतरराष्ट्रीय टेस्ट करियर में पदार्पण करेंगे।   

दूसरे टेस्ट के लिए भारत और दक्षिण अफ्रीका की टीमें इस प्रकार है-  भारत- लोकेश राहुल, मुरली विजय, चेतेश्वर पुजारा, विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा, हार्दिक पांड्या, पार्थिव पटेल, रविचंद्रन अश्विन, मोहम्मद शमी, जसप्रीत बुमराह, इशांत शर्मा।  दक्षिण अफ्रीका- डीन
एल्गर, एडन मार्करम, हाशिम अमला, एबी डीविलियर्स, फाफ डू प्लेसिस (कप्तान), क्विंटन डी कॉक, वेर्नाेन फिलेंडर, केशव महाराज, केगिसो रबादा, लुंगी एनगिदी, मोर्न मोर्कल। 

हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है : बुमराह

सेंचुरियन। दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ खेले गए पहले मैच के साथ टेस्ट पदार्पण करने वाले भारतीय टीम के तेज गेंदबाज जसप्रीत बुमराह ने गुरुवार को कहा कि वह हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है। बुमराह ने कहा कि वह विकेट से मिल रही चुनौतियों और उन परिस्थतियों जिनसे वह टेस्ट पदार्पण से पहले अनजान थे, का लुत्फ उठा रहे हैं। 

बुमराह ने कहा, ‘‘जब भी आप नए देश में आते हो तो यह काफी चुनौतीपूर्ण होता है। विकेट काफी अलग होती है, मौसम काफी अलग होता है। इसलिए हमेशा नई चुनौतियों का सामना करना अच्छा होता है और जब आप ज्यादा खेलते हो तो आपको विकेट और परिस्थतियों को जानने का मौका मिलता है।’’ भारत पहले टेस्ट मैच में 72 रनों से हार गया था। अब वह तीन टेस्ट मैचों की सीरीज में 0-1 से पीछे है। बुमराह ने कहा कि टीम अपनी गलतियों को सुधारने पर ध्यान दे रही है और उसके हिसाब से तैयारी कर रही है। 

प्रो रेसलिंग लीग में वीर मराठा पर हरियाणा हैमर्स की बड़ी जीत


नई दिल्ली (एजेंसी)। प्रो रेसलिंग लीग (पीडब्ल्यूएल) के सीजन तीन में बुधवार को हरियाणा हैमर्स ने सिरीफोर्ट स्पोट्र्स कॉम्पलेक्स में खेले गए मुकाबले में वीर मराठा को 5-2 से हरा दिया। इस मुकाबले में हरियाणा के लिए व्लादीमिर खिनचेंगशिवली, सरिता, हरफूल, हेलेन माल्र्योस और खेतिक ने जीत हासिल की जबकि वीर मराठा के लिए वेसलिसा मारजाल्यूक और जॉर्जी केटोव ही जीत हासिल कर सके।  दूसरे दिन के शुरुआती दो मुकाबलों में विदेशी पहलवानों का जलवा देखने को मिला। हरियाणा हैमर्स की ओर से खेल रहे रियो ओलिम्पिक में स्वर्ण पदक जीतने वाले व्लादीमिर खिनचेंगशिवली ने 57 किलोग्राम भारवर्ग में वीर मराठा के सरवन को 7-3 से हरा दिया। वहीं अगला मुकाबला महिलाओं की 76 किलोग्राम भारवर्ग में खेला गया जहां वीर मराठा की वेसलिसा मारजाल्यूक ने हरियाणा हैमर्स की पूजा को बड़ी आसानी से महज दो मिनट में हरा दिया। इस मुकाबले का नतीजा चित-पट के आधार पर आया।  तीसरे मुकाबले में हालांकि वीर मराठा के जॉर्जी केटोव ने रुबेलजीत सिंह रांगी को तकनीकी दक्षता के आधार पर 16-0 से हरा दिया और अपनी टीम को 2-1 से आगे कर दिया। शुरुआत से ही इस मुकाबले में जॉर्जी ने अपनी पकड़ बनाए रखी और रुबेलजीत को कोई भी मौका नहीं दिया। चौथा मुकाबले में हरियाणा हैमर्स की मौजूदा राष्ट्रीय चैम्पियन रितू मलिक को वीर मराठा की सरिता ने 4-3 से हरा दिया। इस जीत के साथ हरियाणा की टीम बराबरी पर आ गई।
 दिन का सबसे रोचक मुकाबला पुरुषों के 65 किलोग्राम भारवर्ग में देखने को मिला जहां हरियाणा हैमर्स के युवा पहलवान हरफूल ने वीर मराठा की ओर से खेल रहे तीन बार के राष्ट्रीय चैम्पियन अमित धनकड़ को हरा दिया। कांटे की टक्कर में मुकाबला 5-5 की बराबरी पर खत्म हुआ, लेकिन आखिरी अंक हरफूल ने लिया जिसकी वजह से उन्हें विजेता घोषित किया गया। मौजूदा ओलम्पिक और विश्व चैम्पियन हेलेन माल्र्योस ने हरियाणा को निर्णायक मुकाबले में बेहद आसानी से जीत दिलाई।   महिलाओं के 57 किलोग्राम भारवर्ग में हेलेन ने वीर मराठा की मारवा आमरी को चित-पट के आधार पर अपनी टीम को तीसरे सीजन की पहली जीत दिलाई। हेलेन ने अपने अनुभव का भरपूर फायदा उठाया और आसान जीत दर्ज की। 
वहीं दिन के आखिरी मुकाबले में विश्व चैम्पियनशिप में रजत पदक धारी खेतिक के खिलाफ वीर मराठा के प्रवीन राणा को 0-10 से हार का सामना करना पड़ा। इससे पहले हरियाणा की कप्तान हेलेन ने टॉस जीता और इसका फायदा उठाते हुए 125 किलोग्राम भारवर्ग में लेवान को ब्लॉक किया। वहीं वीर मराठा की कप्तान वेसेलिसा ने महिला वर्ग में चीन की सुन यनान को ब्लॉक किया। इससे पहले ग्रीको रोमन शैली के प्रदर्शनी मुकाबले खेले गए जिसके पहले मुकाबले में हरियाणा हैमर्स ने जीत दर्ज की

बीएफआई करेगा इंडियन ओपन मुक्केबाजी की मेजबानी, मैरीकॉम...


नई दिल्ली (एजेंसी)। भारत इसी महीने इंडियन ओपन अंतरराष्ट्रीय मुक्केबाजी टूर्नामेंट की मेजबानी करेगा। भारतीय मुक्केबाजी महासंघ (बीएफआई) के अध्यक्ष अजय सिंह ने बुधवार को इस बात की जानकारी दी। इस टूर्नामेंट का आयोजन राष्ट्रीय राजधानी के त्यागराज स्टेडियम में 28 जनवरी से एक फरवरी तक होगा।   अजय सिंह ने यह घोषणा अनुराग कश्यप की फिल्म मुक्काबाज के लांच के मौके पर की। इंडियन ओपन में 25 देशों के मुक्केबाज हिस्सा लेंगे। अजय सिंह ने बताया कि वे इस टूर्नामेंट में अपनी चार टीम उतार रहे हैं जिसमें देश के शीर्ष मुक्केबाज शामिल होंगे। इन मुक्केबाजों में मैरीकॉम, शिव थापा, सोनिया लाथेर, मनोज कुमार जैसे नाम शामिल हैं।  पहले टूर्नामेंट में इंडिया-ए, इंडिया-बी, इंडिया-सी और इंडिया-डी की टीमें हिस्सा लेंगी। अजय सिंह ने कहा, यह भारतीय मुक्केबाजों के लिए अच्छा मौका होगा क्योंकि 2018 में अच्छे प्रतिस्पर्धी टूर्नामेंट होंगे जिनमें कॉमनवेल्थ गेम्स, एशियन गेम्स और कई अन्य टूर्नामेंट शामिल हैं। बीएफआई ने चार टीमों के लिए ट्रायल शुरू कर दी है। 
अजय सिंह को भरोसा है कि भारतीय टीम इस टूर्नामेंट में अपना दबदबा कायम रखेगी। उन्होंने साथ ही बताया कि इस टूर्नामेंट में न सिर्फ एमेच्योर बल्कि पेशेवर मुक्केबाज भी अपनी संस्था से अनापत्ति प्रमाण पत्र (एनओसी) हासिल करने के बाद हिस्सा ले सकते हैं। अजय सिंह ने साथ ही बताया कि वल्र्ड सीरीज ऑफ बॉक्सिंग के लिए भारतीय टीम का नाम इंडियन टाइगर्स रखा गया है। टीम इस टूर्नामेंट में घर से बाहर और घर दोनों जगह रूस कजाकिस्तान, चीन के खिलाफ मैच खेलेगी। भारतीय टीम रूस, कजाकिस्तान और चीन की टूर्नामेंट के पहले दौर में मेजबानी करेगी और अगला दौर क्वार्टर फाइनल होगा।

कप्तान अर्जुन अटवाल को यूरेशिया कप में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद


शाह आलम (एजेंसी)। भारतीय कप्तान अर्जुन अटवाल को आशा है कि उनकी टीम यूरोप में आयोजित होने वाले यूरेशिया कप गोल्फ टूर्नामेंट में अच्छा प्रदर्शन करेगी। इस टूर्नामेंट का आयोजन शुक्रवार से हो रहा है। अटवाल को विश्वास है कि उनकी टीम अन्य टीमों के मुकाबले अच्छा प्रदर्शन करेगी और वह ग्लेनमैरी गोल्फ व कंट्री क्लब में होने वाले इस टूर्नामेंट का इंतजार कर रही है।  उन्होंने कहा, निश्चित तौर पर हर कोई जानता है कि हम उतनी अच्छी टीम नहीं है, लेकिन मेरी टीम ऐसा नहीं सोचती। गोल्फ के खेल में कमजोर टीम वाली कोई बात नहीं होती। आपको अखबारों में कमजोर कहा जा सकता है, लेकिन जब मैच शुरू होता है, तो कुछ भी हो सकता है।  अटवाल ने कहा, मुझे लगता है कि जब मैंने एशिया टूर खेला था, तो फील्ड की गहराई उतनी अधिक नहीं थी, जितनी अब है। युवा खिलाडिय़ों को खेलते देखना शानदार होगा। टीम बहुत बेहतर स्थिति में है और इसके खिलाड़ी इस टूर में आने वाली अन्य टीमों के खिलाडिय़ों की तरह ही अच्छे हैं।

सिडनी टूर्नामेंट : लोरेंजी ने रामोस को हरा तय की इनसे भिड़ंत


सिडनी (एजेंसी)। इटली के टेनिस खिलाड़ी पाउलो लोरेंजी ने बुधवार को सिडनी अंतरराष्ट्रीय टेनिस टूर्नामेंट के शीर्ष वरीय खिलाड़ी स्पेन के अलबर्ट रामोस-विनोलास को मात देते हुए क्वार्टर फाइनल में जगह बना ली। वहीं स्पेन के फेलेसियानो लोपेज ने अर्जेंटीना के डिएगो श्वार्टज्मान को मात देते हुए क्वार्टर फाइनल का सफर तय किया।  लोरेंजी ने दो घंटे तीन मिनट तक चले मुकाबले में अपने स्पेन के विपक्षी को 6-3, 7-5 से मात दी। जीत के बाद लोरेंजी ने कहा, मेरा मानना है कि आज मैं काफी अच्छा खेल रहा था। हम अच्छे दोस्त हैं, तो यह मैच आसान नहीं था, लेकिन मैं खुश हूं। विश्व की 45वीं वरीयता प्राप्त लोरेंजी ने कहा, मेरे लिए यह टूर्नामेंट बेहद जरूरी है।  मुझे इसमें वरीयता नहीं मिली थी लेकिन दूसरे खिलाडिय़ों की रैंकिंग में ज्यादा अंतर नहीं है। लोरेंजी क्वार्टर फाइनल में डामिल मेडवेडेव के खिलाफ उतरेंगे, जिन्होंने अमेरिका के जारेड डोनाल्डसन को 6-3, 4-6, 7-5 से मात दी। इसी टूर्नामेंट में लोपेज क्वार्टर फाइनल में एलेक्स डी मिनओर के खिलाफ उतरेंगे।

'ताकि कोच को टीम के लिए खिलाडिय़ों को चुनने में सिरदर्द हो

बेंगलुरू (एजेंसी)। भारतीय फुटबॉल टीम के कप्तान सुनील छेत्री चाहते हैं कि राष्ट्रीय फुटबॉल टीम को एएफसी एशियाई कप-2019 की तैयारी के लिए विदेशी सरजमीं पर अधिक मैच खेलने का मौका मिले। वर्तमान में इंडियन सुपर लीग (आईएसएल) में बेंगलुरु एफसी का प्रतिनिधित्व कर रहे छेत्री का कहना है कि भारतीय टीम के लिए खेल चुके हर खिलाड़ी को अपने खेल के स्तर को और ऊपर लाने की जरूरत है ताकि कोच स्टीफन कांस्टेनटाइन को हर बार टीम के लिए खिलाडिय़ों को चुनने में सिरदर्द हो। छेत्री ने आईएएनएस के साथ एक साक्षात्कार में कहा, हमें विदेशी सरजमीं पर अधिक मैच खेलने की जरूरत है। घर में हम आम तौर से अच्छा प्रदर्शन करते हैं, लेकिन विदेश में हमारा रिकॉर्ड अच्छा नहीं रहा है। हमें 16 से 8 रैंकिंग (एएफसी रैंकिंग) वाली टीमों के साथ मैच खेलने चाहिए।
 दक्षिण कोरिया और जापान की टीमों के खिलाफ खेलना मुश्किल है क्योंकि वे हमारे साथ नहीं खेलना चाहते हैं। हमें ऐसी टीमों के साथ खेलना चाहिए, जो हमसे बेहतर हैं और उनकी घरेलू जमीन पर खेलना चाहिए। इसका ख्याल संगठन को रखना चाहिए।  कप्तान छेत्री ने कहा, खिलाडिय़ों की तरफ से सोचा जाए, तो हमें व्यक्तिगत रूप से अपने खेल में सुधार करने की जरूरत है। इस बात को सुनिश्चित करना है कि राष्ट्रीय टीम के लिए प्रतिस्पर्धा में इजाफा हो और यह कोच के लिए सरदर्द बन जाए कि किसे लें और किसे छोड़ें। उनके लिए बेहतरीन खिलाडिय़ों का चयन कर टीम का गठन मुश्किल काम होना चाहिए। भारत ने पिछले साल अक्टूबर में क्वालीफायर मैच में मकाऊ को हराकर एशियाई कप में अपनी जगह पक्की कर ली थी।  पिछली बार ब्रिटिश कोच बॉब हॉटन के मार्गदर्शन में भारतीय टीम ने 2011 में इस चैम्पियनशिप में हिस्सा लिया था। 
उस दौरान छेत्री टीम का अहम हिस्सा थे। उन्होंने ग्रुप स्तर के मैचों में दो गोल किए थे। भारत ने तब एक भी मैच नहीं जीता था। उस पर 13 गोल हुए थे और उसने महज तीन गोल किए थे। छेत्री ने कहा कि भारतीय टीम को संयुक्त अरब अमीरात जैसी टीमों के साथ खेलना चाहिए। संयुक्त अरब अमीरात एशियाई कप का मेजबान है।