Updated -

mobile_app
liveTv

नाबालिग मूकबधिर लड़की के साथ गांव के ही 6 युवकों ने किया गैंगरेप

जयपुर टाइम्स
दौसा(निसं.)। दौसा जिले के लालसोट उपखंड में एक 17 साल की मूकबधिर बालिका के गैंगरेप के मामले में पुलिस ने 3 लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है। 4 अगस्त को हुई गैंगरेप की घटना में 5 दिन बाद 9 अगस्त को शाम 6 बजे मामला दर्ज किया गया था। इस पूरे घटनाक्रम में भाजपा के नेता भी मौके पर पहुंचे थे और चेतावनी देते हुए कहा था कि अगर जल्द से जल्द मामले में आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होती तो 15 के बाद बड़ा धरना प्रदर्शन किया जाएगा। दर्ज रिपोर्ट में पीडि़त की मां ने बताया कि उसके पति विदेश कमाने के लिए गए हुए हैं। 3 अगस्त को वो भी अपने पीहर गई हुई थी। 6 अगस्त को वापस आने के बाद उसे नाबालिग मूकबधिर बेटी के साथ गैंगरेप होने की जानकारी मिली। वहीं पीडि़त के दादा ने बताया कि 4 अगस्त को सुबह नाबालिग पोती 11 बजे घर से गई थी, जो शाम 5 बजे वापस आई। गांव में सुना है कि 5 से ज्यादा लड़कों ने कंकाली माता मंदिर के पास ले जाकर जबरदस्ती की है। इस मामले में बाल संरक्षण समिति की चेयरमेन गीता मीणा की अगुवाई में एक टीम पीडि़त बालिका से मिलने पहुंची। बालिका ने इशारों में बताया कि 6 युवकों ने उसके साथ दुष्कर्म किया और उसके साथ मारपीट भी की। दौसा पुलिस अधीक्षक मनीष अग्रवाल का कहना है कि एससी समुदाय की नाबालिग मूकबधिर किशोरी के साथ ज्यादती का मामला सामने आने पर पुलिस द्वारा प्राथमिकी दर्ज कर ली गई है। जल्द ही दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी। इस मामले में अब तक तीन आरोपियों को गिरफ्तार किया गया है।

पूरा ध्यान रिकवरी रेशो में बढ़ोतरी और मृत्युदर में कमी लाने पर: चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री

जयपुर टाइम्स
जयपुर(कासं.)। चिकित्सा एवं स्वास्थ्य मंत्री डॉ. रघु शर्मा ने बताया कि प्रदेश भर में 30 हजार से ज्यादा कोरोना जांचें प्रतिदिन की जा रही हैं। सरकार कोरोना टेस्ट क्षमता और टेस्टिंग संख्या  में लगातार बढ़ोतरी कर रही है।  उन्होंने कहा कि प्रदेश में रिकवरी रेशो को बेहतर बनाने और मृत्युदर को निंरतर कम करने पर विशेष ध्यान दिया जा रहा है। डॉ. शर्मा ने बताया कि सरकार की मंशा है कि प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्युदर शून्य पर आ सके। इसके लिए सरकार हरसंभव प्रयास कर रही है। उन्होंने कहा कि सुकून देने वाली बात यह रही कि जुलाई-अगस्त में प्रदेश में कोरोना से होने वाली मृत्युदर घटकर 1 प्रतिशत तक आ गई। वर्तमान में कोरोना से होने वाली मृत्युदर  1.5 फीसद है। उन्होंने कहा कि प्लाज्मा थेरेपी और जीवनरक्षक इंजेक्शन के जरिए इसे और भी कम किया जा रहा है।  स्वास्थ्य मंत्री ने बताया कि सरकार कोरोना की रोकथाम के लिए सजग और सतर्क है। राजधानी के निजी अस्पतालों में कोविड मरीजों का इलाज बेहतर तरीके से हो सके इसके लिए अस्पतालों के प्रबंधकों की मुख्य सचिव के साथ बैठक प्रस्तावित है। उन्होंने कहा कि आरयूएचएस अस्पताल में कोरोना के मरीजों की सुविधाओं को भी बढ़ाया जाएगा। उन्होंने कहा कि कोरोना मरीजों के बेहतर उपचार के लिए 1300 नए वेंटीलेटर प्रोक्योर किए गए हैं। हालांकि प्रदेश सरकार के पास वेंटीलेटर्स की कोई कमी नहीं थी लेकिन पॉजिटिव्स केसों की बढ़ती संख्या के चलते यह वेंटीलेटर्स खासे उपयोगी होंगे। डॉ. शर्मा ने बताया कि प्रदेश में राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा से जुड़े लोग कोरोना पॉजिटिव चिन्हित पाए जाते हैं और किसी निजी अस्पताल में इलाज करवाना चाहते हैं तो पूरा पुनर्भरण सरकार द्वारा किया जाएगा। उन्होंने बताया कि वंदे भारत के तहत आने वाले करीब 26 हजार से ज्यादा बाहरी लोग राज्य में आए हैं। इनमें से 19 हजार लोगों को सरकार क्वारंटीन में रखा है। 

31 दिन में रहने-खाने पर 10 करोड़ खर्च, हवा में उड़कर गए उसका हिसाब आना बाकी: पूनियां

जयपुर टाइम्स
जयपुर (का.सं.)। राजस्थान का सियासी घटनाक्रम रोज नया अध्याय लिख रहा है। करीब एक महीने के बाद सचिन पायलट ने नई दिल्ली में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाकात की। इस मुलाकात के बाद कयास लगाए जा रहे हैं कि पायलट गुट वापस लौटेंगे। मगर इस पूरे घटनाक्रम को लेकर भाजपा प्रदेशाध्यक्ष डॉ. सतीश पूनियां ने कांग्रेस को घेरा है। पूनियां ने भाजपा मुख्यालय पर प्रेस वार्ता में कहा कि 31 दिन में विधायकों के होटल में रहने और खाने—पीने पर 10 करोड़ रुपए खर्च हुए हैं। हवा में उड़कर गए हैं, उसका हिसाब आना बाकी है। इस 31 दिन का जनता की अदालत में ऑडिट होना चाहिए। गहलोत को भाषण का हिसाब और कुल मिलाकर फेयरमोंट और सूर्यगढ़ के खर्चे का हिसाब तो बता ही देना चाहिए।
पूनियां ने कहा कि पूरे घटनाक्रम से कांग्रेस के आलाकमान की कमजोरी उजागर हुई है। हास्यास्पद की बात है कि कांग्रेस अभी तक हिन्दुस्तान में अध्यक्ष नहीं ढूंढ़ पाई। चुनाव आयोग की पीपुल्स रिप्रजेंटेशन एक्ट की मर्यादाओं के अनुरूप उन्हें आज रात तक अध्यक्ष भी तलाशना है। लेकिन यह बात सच है कि अभी तक जिस पार्टी ें अध्यक्ष का फैसला भी नहीं हुआ तो तरस आता है कि राजस्थान का फैसला कैसे करते।
ना भाई जागा ना बहन जागी
पूनियां ने कहा कि अपुष्ट जानकारी मिली है कि सचिन पायलट की मुलाकात हुई, क्या बात हुई। न आपको पता ना हमको पता। लेकिन ताज्जुब की बात है कि 31 दिन इस रामलीला के हो चुके है। ना भाई जागा, ना बहन जागी और उससे पहले कांग्रेस बेचारी लगातार इधर से उधर भागी।
नैतिकता के आधार पर गहलोत को कुर्सी छोडऩी चाहिए
पूनियां ने कहा कि राजस्थान में जो सारा घटनाक्रम हुआ। उसका जनता अपनी अदालत में उसका फैसला करेगी। लेकिन इससे कांग्रेस का असली चरित्र जनता के सामने फिर से आ गया। मुझे लगता नहीं है कि जिस तरीके के हालात राजस्थान में बने है, उसके बाद कांग्रेस स्थिर, मजबूत और ईमानदार सरकार के चला पाएगी। इस पूरे घटनाक्रम के लिए अशोक गहलोत जिम्मेदार है और उन्हें नैतिकता के आधार पर अपनी कुर्सी को छोड़ देना चाहिए।
एकता हो गई तो अब काम करो
पूनियां ने कहा कि कांग्रेस में एकता हो गई खुशी की बात है। मगर अब काम करो। सबसे पहले जो किसानों की कर्जमाफी का वादा किया था, उसे पूरा करके करामात करो। बिजली के बिल माफ करने की डिमांड, बेरोजगारी और बढ़ते अपराधों पर भी कुछ रहम करो।

चोरी की बोलेरो के नम्बर बदलकर की जा रही थी तस्करी, 35 लाख का अफीम डोडा चूरा बरामद

जयपुर टाइम्स
चित्तौडग़ढ़(निसं.)।  जिले में थाना भैंसरोडग़ढ़ पुलिस ने पिछले तीन दिनों में 57 लाख रुपये का अवैध डोडा पोस्त बरामद कर मादक पदार्थ तस्करों के विरुद्ध लगातार सख्त रुख अपनाया हुआ है। रविवार को भी नाकाबंदी के दौरान पुलिस ने एक बोलेरो से 35 लाख रुपये का कुल 765 किलो 500 ग्राम अवैध अफीम डोडा चुरा बरामद किया। जो प्लास्टिक के 38 कट्टों में भरा हुआ था। इससे पहले 6 अगस्त को भी 22 लाख का अफीम डोडा चुरा बरामद किया गया था। पकड़ी गई बोलेरो चोरी की है, जिसके नम्बर बदलकर तस्करी की जा रही थी।
चित्तौडग़ढ़ जिला एसपी दीपक भार्गव ने बताया कि अवैध मादक पदार्थों की तस्करी की रोकथाम हेतु एएसपी तृप्ति विजयवर्गीय व रावतभाटा सीओ धनफूल मीणा के सुपर विजन में अभियान चलाया जा रहा है। इसके तहत एसएचओ सुभाष बिश्नोई व उनकी टीम द्वारा रविवार को सरहद कोलपुरा से अजपुरा रोड पर नाकाबंदी की गई थी।
इसी दौरान एक सफेद रंग की पिकअप बोलेरो में सवार दो व्यक्ति मौके से कुछ दूर पहले गाड़ी को छोड़ अंधेरे का फायदा उठाकर घने जंगल मे भाग गये। इस बीच वहां पहुंची पुलिस टीम ने सड़क पर लावारिस हालत में खड़ी बोलेरो की तलाशी में 38 कट्टों से 765 किलो 500 ग्राम अवैध अफीम डोडा चूरा बरामद कर एनडीपीएस एक्ट में मुकदमा दर्ज कर लिया। केस का अनुसंधान थानाधिकारी रावतभाटा राजाराम को सौंपा गया है।

नशे में धुत युवक ने कुल्हाड़ी से वार कर की पिता की हत्या, पुलिस ने आरोपी रामकुमार को किया राउंडउप

जयपुर टाइम्स
घड़साना(निसं.)।  घड़साना के चक 3 डीडी में एक पुत्र ने अपने ही पिता की कुल्हाड़ी से वार कर हत्या कर दी। बेटा नशे में धुत था तथा दोनों में किसी बात पर बहस हो गई। इस पर बेटे ने कुल्हाड़ी से पिता पर वार कर दिया जिससे उसकी मौत हो गई। पुलिस ने सरकारी अस्पताल में पोस्टमार्टम करवाकर शव परिवार वालों को सौंप दिया।
पिता के मारने पर गुस्साए बेटे ने किया पलटवार
जानकारी के अनुसार शनिवार रात रामकुमार ने शराब पी रखी थी । किसी बात को लेकर पिता रामस्वरूप में बहस हो गई। इसी दौरान रामस्वरूप ने कुल्हाड़ी रामकुमार के हाथ पर मारा। इससे रामकुमार गुस्सा हो गया और उसने कुल्हाड़ी छीनकर अपने पिता पर ही वार कर दिया जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गया। होहल्ला सुनकर परिजन तथा आस-पास के लोग आए। सूचना पर मौके पर पहुंचीं। रामस्वरूप को अस्पताल ले गए जहां डाक्टरों ने उसे मृत घोषित कर दिया। पुलिस ने रामकुमार को राउंडअप किया।

9 अगस्त 1942 को अंग्रेजों भारत छोड़ो नारा लगा था, वैसे ही 9 अगस्त 2020 का नारा है- गहलोत कुर्सी छोड़ो: डॉ. सतीश पूनियां

उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने लिखा- जनता का मखौल क्यों उड़ा रहे हो, कुर्सी की लालसा में इतना क्यों गिरते जा रहे हो
केंद्र मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने लिखा- मरुधरा पर गहराए जादुई बादल अब छंटने चाहिए
जयपुर टाइम्स
जयपुर(कासं.)। राजस्थान में सियासी घमासान के बीच भाजपा लगातार बयानों के जरिए कांग्रेस पर हमलावर है। रविवार को भाजपा प्रदेशाध्यक्ष सतीश पूनिया ने कहा कि अब प्रदेश की जनता नहीं सहेगी अत्याचारी, अराजक, अकर्मण्य, भ्रष्ट सरकार। जैसे 9 अगस्त 1942 को अंग्रेजों भारत छोड़ो नारा लगा था, वैसे ही 9 अगस्त 2020 का नारा है- गहलोत कुर्सी छोड़ो।
सतीश पूनिया ने ट्विटर पर आगे लिखा- राजस्थान सरकार का रिपोर्ट कार्ड देखिए। अपराध नियंत्रण, महिला और दलित सुरक्षा, कोरोना नियंत्रण, टिड्डी नियंत्रण, बेरोजगारी भत्ते देने में, किसान कर्जमाफी, बिजली की दरें घटाने में फेल हुई है। महा-फेल मुख्यमंत्री को तुरंत इस्तीफा देना चाहिए।
विधानसभा में उप नेता प्रतिपक्ष राजेंद्र राठौड़ ने लिखा कि प्रदेश के इतिहास में पहली बार है जब सरकार का स्वयं से ही विश्वास उठ गया है, विकास कार्य ठप हो चुके हैं। मुख्यमंत्री गहलोत विधायकों को पांच सितारा होटल से छोड़ नहीं रहे हैं। राजस्थान की जनता एक ही सवाल पूछ रही- कुर्सी' सर्वोपरि है या प्रदेश का 'विकास।
राठौड़ ने लिखा- जनता का मखौल क्यों उड़ा रहे हो, कुर्सी की लालसा में इतना क्यों गिरते जा रहे हो, वादों को निभाने की बजाय यू-टर्न क्यों लिये जा रहे हो, हे अशोक गहलोत जी, आखिरकार तुम पाना क्या चाह रहे हो? केंद्र मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत ने लिखा कि मरुधरा पर गहराए जादुई बादल अब छंटने चाहिए।

बीपीसी बीपी की बैठक में 9 प्रकरणों का किया निस्तारण

जयपुर टाइम्स
जयपुर(कासं.)। जयपुर विकास आयुक्त  गौरव गोयल की अध्यक्षता में शुक्रवार को जेडीए के चिंतन सभागार में बीपीसी बीपी की बैठक संपन्न हुई। बैठक में 12 प्रकरण प्रस्तुत किए गए थे, जिनमें से 9 प्रकरणों का अनुमोदन किया गया। अन्य 3 प्रकरणों में 2 प्रकरणों को राज्य सरकार के मार्गदर्शन प्राप्त किए जाने हेतु एवं 1 प्रकरण को विस्तृत मौका रिपोर्ट के पष्चात् निर्णय लिये जाने हेतु आगामी बैठक में रखे जाने का निर्णय लिया गया। बीपीसी बीपी बैठक में नीतिगत निर्णय लिया गया कि जिन प्रकरणों में प्रार्थी द्वारा नागरिक उड्डयन विभाग से ऊॅचाई बाबत स्वयं के स्तर से अनापत्ति प्रस्तुत की जाती हैं तो ऐसी स्थिति में भवन मानचित्र जारी करते समय भवन निर्माण स्वीकृति पत्र की प्रति सूचनार्थ नागरिक उड्डयन विभाग को प्रेषित किया जाए। बैठक में जेडीए सचिव आलोक रंजन, निदेषक आयोजना आर.  के. विजय वर्गीय, अतिरिक्त मुख्य नगर नियोजक एवं सदस्य सचिव बीपीसी बीपी ओ. पी.  पारीक तथा संबंधित अधिकारीगण उपस्थित थे।

 

पाकिस्तान से आई नकली नोटों की बड़ी खेप के बाद खुफिया एजेंसिया सतर्क

जयपुर टाइम्स
जोधपुर(निसं.)। सीमा पर सारी सुरक्षा व्यवस्था को धता बताकर पाकिस्तान से बाड़मेर में आई नकली नोटों की बड़ी खेप के बाद खुफिया एजेंसियां सतर्क हो गई है। नकली नोटों के भारतीय सीमा में पहुंचने के तरीकों से लेकर इसके नेटवर्क का पता लगाने का प्रयास किया जा रहा है। शुक्रवार को जयपुर से एटीएस की विशेष टीम भी जांच के लिए बाड़मेर पहुंच चुकी है। बाड़मेर पुलिस की 6 टीमें पहले से इसके तार जोडऩे में जुटी है।
करीब छह साल बाद बाड़मेर जिला नकली नोटों की तस्करी से फिर सुर्खियों में आ चुका है। बॉर्डर से सटे बाखासर इलाके में मिली करीब 6.55 लाख रुपए के 500-500 के नकली नोटों की खेप ने कई सवाल खड़े कर दिए हैं। जबकि डेढ़ लाख रुपए के नकली नोट बाजार में चला भी दिए गए। बाड़मेर में नकली नोटों की खेप में पकड़े गए आरोपियों से अब तक की हुई पूछताछ में पाक तस्कर रोशन खां का नाम सामने आया है। पाक तस्कर रोशन खां ने ही पाक आईएसआई की मदद से नकली नोटों की खेप भारत-पाक के नवा तला तारबंदी इलाके से भारत में रह रहे पराडिय़ा निवासी अकबर खां के लिए सावर खान को सप्लाई की थी। वर्ष 2014 के बाद एक बार फिर पाक तस्कर रोशन खान का नाम सुर्खियों में है। पाक तस्कर इससे पूर्व भी 2014 में नकली नोट, हेरोइन की तस्करी में भी लिप्त रहा है। पराडिय़ा निवासी अकबर खान का रिश्तेदार भी है। 

ऐसे में अकबर और रोशन खां के बीच नकली नोटों की खेप को लेकर बातचीत भी होती रही है। हिरासत में लिए गए आरोपियों से पूछताछ में हुए खुलासे के बाद अब पुलिस पूरे मामले की जांच पड़ताल में जुट गई है। छह टीमें गठित कर अलग-अलग जगह दबिश देने के अलावा पूरे मामले की जांच में जुटी हुई है।

बाड़मेर में छह साल बाद आई नकली नोटों की खेप
बाड़मेर में वर्ष 2014 में बॉर्डर पार से पाक तस्कर रोशन खां ने नबिया व अन्य तस्करों को नकली नोट, हेरोइन तस्करी की चार बार खेप पहुंचाई थी। काफी दिनों तक मामला गर्माया था और करीब दो दर्जन आरोपियों की गिरफ्तारी हुई थी। इसके बाद अब एक बार फिर बाड़मेर नकली नोटों की तस्करी से सुर्खियों में है। पुराने पाक तस्कर रोशन खान से तार जुड़े होने की जानकारी मिल रही है। बॉर्डर पार से नकली नोटों की तस्करी में बॉर्डर से सटे गांवों के ही कुछ तस्कर सक्रिय है।

असली नोटों के साथ चलाते थे नकली नोट, डेढ़ लाख चला भी दिए

अकबर व सावर खान से हुई पुलिस पूछताछ में सामने आया है कि ये तस्कर पाक से आई नकली नोटों की खेप को असली नोटों के साथ मिक्स करके चलाते थे। ग्रामीण क्षेत्रों के भोले-भाले लोगों को असली के रूप में नोट दे देते थे। हालांकि नकली नोट भी दिखने में असली जैसे ही थे, पेपर देख कर पहचान करना मुश्किल था।

बीएसएफ की मिलीभगत के बगैर बॉर्डर पार से तस्करी संभव नहीं

2014 में इसी बॉर्डर पर तैनात बीएसएफ हवालदार प्रेमसिंह की गिरफ्तारी देशद्रोह जैसे मामलों में हुई थी, इसके बाद अब बीएसएफ खुद सवालों के घेरे में है। बाड़मेर बॉर्डर सालों से तस्करी का अड्डा रहा है, सरूपे का तला से भभूते की ढाणी के बीच के बॉर्डर इलाके से पिछले वर्षों में कई तस्करी के मामले सामने चुके हैं। पूर्व में भी बीएसएफ जवानों की तस्करी के मामले में गिरफ्तारी हुई थी, ऐसे में अब यह भी अंदेशा लगाया जा रहा है कि बीएसएफ जवानों की मिलीभगत के बगैर बॉर्डर पार से नकली नोटों की तस्करी संभव नहीं है।

6 टीमें कर रही है जांच, एटीएस भी पहुंची
नकली नोट प्रकरण को लेकर जयपुर मुख्यालय से आई एटीएस की टीम अतिरिक्त पुलिस अधीक्षक ओपी उज्ज्वल के नेतृत्व में बाड़मेर पहुंच चुकी है। यह टीम अपने स्तर पर जांच शुरू करेगी। बाड़मेर के पुलिस अधीक्षक आनंद शर्मा ने बताया कि बॉर्डर पर पकड़ी गई नकली नोटों की खेप को लेकर एसएचओ ग्रामीण रामनिवास, एसएचओ प्रदीप डागा, एसएचओ बाखासर, एसएचओ कोतवाली, सीओ चौहटन व बाड़मेर की छह टीमें गठित की गई है। गिरफ्तार आरोपियों से पूछताछ और छानबीन की जा रही है। अभी तक कई अन्य लोगों से भी पूछताछ चल रही है। खेप पाक से आई है, इससे भी इनकार नहीं किया जा सकता है।

14 अगस्त को राजस्थान की जनता को मिलेगी गहलोत सरकार के कुशासन से मुक्ति : केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी

जयपुर टाइम्स
जैसलमेर(निसं.)। स्वर्णनगरी जैसलमेर इन दिनों प्रदेश के सियासी घमासान का अखाड़ा बना हुआ है। पिछले एक सप्ताह से ज्यादा समय हो गया है, जब राजस्थान की गहलोत सरकार जैसलमेर के सूर्यगढ़ और गोरबंध पैलेस होटल में ठहरी हुई है। इस बीच केंद्रीय कृषि एवं किसान कल्याण राज्यमंत्री कैलाश चौधरी भी अपने तीन दिवसीय जैसलमेर दौरे पर हैं। केंद्रीय मंत्री ने शुक्रवार को स्थानीय भाजपा कार्यालय में पत्रकार वार्ता के दौरान प्रदेश की कांग्रेस सरकार को जनता विरोधी बताते हुए कहा कि प्रदेश में जो वर्तमान हालात हैं, उसके लिए कांग्रेस और मुख्यमंत्री अशोक गहलोत खुद जिम्मेदार हैं।
केंद्रीय मंत्री कैलाश चौधरी ने कहा कि प्रदेश का आमजन और किसान परेशान है। कोरोना का संकट और आपराधिक घटनाएं बढ़ रही है। दूसरी तरफ राजस्थान की कांग्रेस सरकार होटलों में कैद होकर बिरियानी खाने और स्विमिंग पूल की मौज-मस्ती में व्यस्त है। एक जिम्मेदार नागरिक होने के नाते जनता के दर्द को देखकर मन में दु:ख होता है।
कृषि राज्यमंत्री चौधरी ने कहा कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और कांग्रेस नेता बिना किसी तर्क और तथ्य के अपने घर की लड़ाई का ठीकरा भाजपा और राज्यपाल पर फोड़ रहे है। यह परंपरा निश्चित रूप से निंदनीय और चिंतनीय है।  कैलाश चौधरी ने कहा कि यह गहलोत और पायलट की आपसी लड़ाई है, जिसका खामियाजा राजस्थान की जनता भुगत रही है। परंतु कांग्रेस नेता इसका दोषारोपण भाजपा पर कर रहे है, लेकिन भाजपा का इससे कोई संबंध नहीं है। उन्होंने कहा कि गहलोत अपने विधायकों का भरोसा खो चुके हैं, इसलिए उन्हें इस तरीके से कैद किया गया है।
केंद्रीय कृषि राज्यमंत्री कैलाश चौधरी ने कहा- 'हम शक्ति परीक्षण की मांग नहीं कर रहे हैं, लेकिन उन्होंने जनमत खो दिया है और खुद ही मुख्यमंत्री अशोक गहलोत को नैतिकता के आधार पर इस्तीफा दे देना चाहिए। डेढ़ साल से ज्यादा समय बिता चुकी कांग्रेस सरकार ने अभी तक अपने घोषणापत्र का एक भी वादा पूरा नहीं किया है। न तो राहुल गांधी के खोखले वादे के मुताबिक किसानों का कर्ज माफ किया, न युवाओं को बेरोजगारी भत्ता दिया और न ही टिड्डी संकट के समय केन्द्र सरकार की कोई मदद कर रही है।

नगर पालिका इंजीनियर ने गैस स्टोव पर रखकर जला दिए रिश्वत में मिले 1 लाख रुपए

जयपुर टाइम्स
कोटा(निसं.)।  यहां एंटी करप्शन ब्यूरो (एसीबी) टीम ने बुधवार आधी रात को 12 बजे बड़ी कार्रवाई की। रामगंजमंडी नगर पालिका के अधिशाषी अधिकारी पंकज कुमार मंगल को एक लाख रुपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार किया। घूसखोर आरोपी एसीबी टीम को पीछा करते देख दरवाजा अंदर से बंदकर अपने घर में छिप गया। वहां मौजूद अपने साथी भवानी सिंह की मदद से आनन-फानन में रिश्वत से मिले नोट गैस स्टोव पर जला दिए। वहीं, कुछ नोट पानी के मटके में डाल दिए। ऐसे में मकान का दरवाजा तोड़कर घुसी एसीबी टीम ने अभियंता के साथ उसके दोस्त को भी गिरफ्तार कर लिया। इसी मामले में शिकायतकर्ता से डेढ़ लाख रुपए की रिश्वत लेते चुके रामगंजमंडी नगर पालिका के अध्यक्ष हेमलता शर्मा के बेटे सौरभ शर्मा को भी एसीबी ने गिरफ्तार कर लिया है। एसीबी कोटा देहात के प्रभारी पुलिस इंस्पेक्टर वासुदेव सिंह ने बताया कि इंद्रप्रस्थ कॉलोनी में रहने वाले अखिलेश गर्ग ने 16 जुलाई को शिकायत दी थी। इसमें उन्होंने कहा था कि बाजार नंबर एक एएसआई कंपनी के सामने रामगंजमंडी में उनकी पत्नी के नाम एक भूखंड है। उसमें निर्माण की स्वीकृति के एवज में नगर पालिका अध्यक्ष हेमलता शर्मा का पुत्र सौरभ शर्मा और नगर पालिका अधिशासी अधिकारी पंकज कुमार उनसे 4 लाख की रिश्वत मांग रहे हैं। अखिलेश ने बताया कि वह नगर पालिका चेयरमेन के बेटे सौरभ शर्मा को डेढ़ लाख रुपए पहले दे चुके हैं। पैसा मिलने के बाद उनके मकान की निर्माण स्वीकृति जारी की जा चुकी थी, लेकिन इसके बाद नगर पालिका के अधिशाषी अभियंता पंकज कुमार मंगल द्वारा रिश्वत के बाकी रुपए प्राप्त करने के लिए दबाव बना रहे हैं और मकान के निर्माण कार्य पर लाल निशान लगाकर निर्माण काम को रुकवा दिया। एसीबी ने जांच की तो मामला सही निकला। तब एसीबी टीम द्वारा शिकायत का गोपनीय सत्यापन सही पाए जाने पर ट्रेप रचा। 


अभियंता पंकज मंगल ने परिवादी अखिलेश को अपने घर बुलाया।


 तब 5 अगस्त को रात 12 बजे अखिलेश रिश्वत की रकम 1 लाख रुपए लेकर पंकज मंगल के किराए के आवास पर पहुंचा। वहां घर के बाहर आकर पंकज ने जैसे ही रिश्वत में नोटों की गड्?डी ली। तभी इशारा मिलते ही इंस्पेक्टर वासुदेव के नेतृत्व में एसीबी टीम वहां पहुंच गई। यह देखकर पंकज मंगल दौड़ते हुए अपने घर पहुंचा। उसने अंदर से दरवाजा बंद कर लिया।

इंस्पेक्टर वासुदेव के मुताबिक उन्होंने दरवाजा खुलवाने के लिए काफी आग्रह किया। एसीबी कार्रवाई का हवाला भी दिया। लेकिन पंकज ने दरवाजा नहीं खोला। उसने घर में पहले से मौजूद अपने साथी भवानी सिंह के साथ किचन में नोट जलाने शुरू कर दिए। तब जलने की गंध आने पर बाहर मौजूद एसीबी टीम ने मकान का दरवाजा तोड़ दिया। अंदर रसोई में नोट जले हुए नजर आए। तब एसीबी ने पंकज मंगल और उसके दोस्त भवानी सिंह को पकड़ लिया और नोट बरामद कर लिए। पुलिस तीनों आरोपियों को गुरुवार दोपहर कोर्ट में पेश करेगी।

गलतफहमी में ना रहें कटारिया... अब नहीं मिल रही तवज्जो: मीणा

जयपुर टाइम्स
उदयपुर (वि.सं.)। राजस्थान की बीजेपी प्रदेश कार्यकारिणी का हाल ही में विस्तार हुआ, लेकिन इसमें उदयपुर से किसी कार्यकर्ता को शामिल नहीं किया गया। इसको लेकर कांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य रघुवीर मीणा ने कटारिया को घेरते हुए कहा कि नेता प्रतिपक्ष को अब उनकी ही पार्टी के नेता तवज्जों नहीं दे रहे। अब उनको किसी गलतफहमी में नहीं रहना चाहिए। मीणा ने कटारिया पर कसा तंजकांग्रेस वर्किंग कमेटी के सदस्य रघुवीर मीणा का कहना है कि कटारिया का उनकी ही पार्टी में अब मान सम्मान नहीं रहा। इसका प्रत्यक्ष उदाहरण भाजपा प्रदेश की कार्यकारिणी विस्तार है। प्रदेश क्चछ्वक्क कार्यकारिणी विस्तार के बाद नेता प्रतिपक्ष गुलाबचंद कटारिया पर निशाना साधते हुए मीणा ने कहा कि उदयपुर से इस कार्यकारिणी में एक भी क्चछ्वक्क कार्यकर्ता को शामिल नहीं किया गया है, जबकि उदयपुर से छोटे जिलों के कार्यकर्ताओं को इसमें शामिल किया गया है।

एसीबी ने प्रोडक्शन वारंट पर संजय जैन को किया गिरफ्तार

जयपुर टाइम्स
जयपुर (का.सं.)। विधायक खरीद-फरोख्त प्रकरण में राजस्थान एसओजी की ओर से पूर्व में गिरफ्तार किए गए आरोपी संजय जैन को अब राजस्थान एसीबी की ओर से प्रोडक्शन वारंट पर जेल से गिरफ्तार किया गया है। आरोपी संजय जैन को गिरफ्तार करने के बाद एसीबी मुख्यालय लाया गया है, जहां पर प्रकरण से संबंधित अनेक बिंदुओं पर उससे पूछताछ की जा रही है। साथ ही राजस्थान एसीबी (एंटी करप्शन ब्यूरो) में प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत जो 2 एफआईआर दर्ज की गई है, उसके आधार पर आरोपी संजय जैन के बयान भी अब दर्ज किए जाएंगे।
बता दें कि विधायक खरीद-फरोख्त प्रकरण में एसीबी की ओर से प्रिवेंशन ऑफ करप्शन एक्ट के तहत जो एफआईआर दर्ज की गई है, उनमें पूछताछ करने के लिए गुरुवार को जेल से आरोपी संजय जैन को प्रोडक्शन वारंट पर एसीबी ने गिरफ्तार किया है। एसीबी की ओर से आरोपी संजय जैन को शुक्रवार को कोर्ट में पेश कर रिमांड पर लिया जाएगा।
एसीबी की ओर से विधायक खरीद-फरोख्त प्रकरण में जो एफआईआर दर्ज की गई है। उसमें विधायक भंवरलाल शर्मा और विश्वेंद्र सिंह को नामजद किया गया है। वहीं सोशल मीडिया पर वायरल ऑडियो क्लिप के आधार पर संजय जैन को गिरफ्तार कर उससे पूछताछ की जा रही है।