Updated -

mobile_app
liveTv

समाज को आवश्यकता पडऩे पर हाजिर रहूंगा- मिश्रा

जिला ब्राह्मण महासभा ने बांटे 51 जरूरतमंद लोगों को कंबल
जयपुर टाइम्स
अलवर(निसं.)। जिला ब्राह्मण महासभा की ओर से जरूरतमंद लोगों को 51 कंबल वितरण किए गए। यह आयोजन जिला कांगे्रस कमेटी अलवर के कार्यकारी जिलाध्यक्ष योगेश मिश्रा के उज्जवल भविष्य की कामना को लेकर किया गया। ज्ञात रहे कि मिश्रा का जन्मदिन 30 दिसंबर को रहा, जहां जिला ब्राह्मण महासभा ने उस जन्मदिन की खुशी मनाते हुए यह पुण्य कार्य किया। इस अवसर पर जिला कांगे्रस कमेटी अलवर के कार्यकारी जिलाध्यक्ष योगेश मिश्रा ने कहा कि ब्राह्मण समाज द्वारा मेरे जन्मदिन के उपलक्ष में जरूरतमंद लोगों को कंबल वितरण कर पीडि़त मानवता की जो सेवा की है इसके लिए मैं जिला ब्राह्मण महासभा का शुक्रगुजार हूं तथा अलवर जिला ब्राह्मण महासभा का दिल से आभार व्यक्त करता हूं धन्यवाद देता हूं कि मेरे जैसे कार्यकर्ता के जन्मदिन की खुशी बांटते हुए ब्राह्मण समाज ने पीडि़त मानवता की सेवा कर जरूरत बंद लोगो को 51 कंबल वितरण कर इस हाड कंपाने वाली सर्दी में जो पुन्य कार्य किया है। उन्होंने कहा कि समाज को कभी भी मेरे जैसे कार्यकर्ता की आवश्यकता पड़े तो मैं जी-जान से समाज के लिए हाजिर रहूंगा। इस अवसर पर अलवर जिला ब्राह्मण महासभा के जिला अध्यक्ष  मोहन स्वरूप  भारद्वाज,  महामंत्री मानवेंद्र उपाध्याय, मोहनलाल अवस्थी, सत नारायण मास्टर, प्रमोद शर्मा सीओ स्काउट, राजेंद्र तिवारी, हेमंत दबंग पत्रकार, अनिल, जे.डी. आर्यन समाज के प्रबुद्धजन  मौजूद रहे।

श्रीराम मन्दिर निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान हुआ शुरु

जयपुर टाइम्स
अलवर(निसं.)। श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के तत्वावधान में श्रीराम मंदिर निर्माण के लिए संपूर्ण देशभर में निधि (धन) समर्पण अभियान कार्य प्रारम्भ हो गया है। यह जानकारी श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान अलवर जिला समिति द्वारा रविवार को आयोजित प्रेस वार्ता में दी गई। प्रेस वार्ता में अभियान प्रमुख सतीश शर्मा ने बताया कि यह जानकारी  जिला समिति के सदस्यों को भी जानकारी दी गई। जिसमें संरक्षक मंडल के संत विजय मुनि महाराज, संत प्रकाश दास महाराज के सान्निध्य में समिति का जिलाध्यक्ष विजय डाटा को बनाया गया है। उन्होंने बताया कि श्रीराम जन्मभूमि निर्माण के लिए निधि समर्पण अभियान 14 जनवरी से शुरू किया गया जो 27 फरवरी तक चलेगा। यह अभियान दो चरणों में चलेगा। पहले चरण में 30 जनवरी तक रसीदों द्वारा धन संग्रह किया जावेगा। वहीं दूसरे चरण में 31 जनवरी से 15 फरवरी तक कार्यकर्ता टोली बनाकर जिले के प्रत्येक गांव, ढाणी, बस्ती तथा प्रत्येक घर से धन संग्रह किया जाएगा। दूसरे चरण में ही धन संग्रह 10 रुपए, सौ रुपए व एक हजार रुपए के कूपन के द्वारा किया जाएगा। प्रेस वार्ता में संत विजय मुनि, संत महंत प्रकाशदास, डॉ. के के गुप्ता, महेन्द्र तनेजा, सुभाष अग्रवाल, डॉ. सुभाष अग्रवाल, राजेश यादव, नरेन्द्र भारत, अमर सिंह, सतीश शर्मा, योगेन्द्र शर्मा, सीए श्रीकिशन गुप्ता, रणजीत सैनी, दिलीप मोदी मौजूद रहे। जिन्होंने अभियान की जानकारी दी। 
संचालन के लिए जिले में किया समिति का निर्माण
अभियान प्रमुख सतीश शर्मा ने बताया कि अभियान के सफल संचालन के लिए जिले की समिति का निर्माण किया गया। जिसमें संरक्षक मंडल में संत विजय मुनि महाराज, संत प्रकाशदास, रूपनाथ महाराज, फूलनाथ महाराज, बाबा बालक नाथ, ब्रह्म मुनि, गिरधारी दास, रामदास को शामिल किया गया है। वहीं अध्यक्ष के रूप में विजय डाटा रहेंगे। वहीं उपाध्यक्ष काजला, महेंद्र तनेजा, अशोक, संदीप चौधरी, डॉ. चंद्रावती, कोषाध्यक्ष श्रीकिशन गुप्ता को बनाया गया है। वहीं मंत्री पद पर सतीश चंद्र शर्मा, सह मंत्री रणजीत सिंह व दिलीप कुमार मोदी को शामिल किया गया है। उन्होंने बताया कि सदस्यों के रूप में अमित गोयल, मनोज चाचान, निकुंज सांगी, सुरेश जलालपुरिया, डॉ. अनीता, अभय सैनी, अमर चंद मीणा, ठाकुरदास भोजवानी, अशोक, रमन देवड़ा, मोहन स्वरूप, दिनेश भार्गव, विजय जैन, विमल जैन, सोहन सुलानिया, प्रेम रुंडे, अश्वनी गुप्ता, डॉ. राजेश यादव, कैलाश मीणा, सतीश चौधरी, ओमप्रकाश, बी अडडानिया, अमित चौधरी, नरुनिदानिया, चारु अग्रवाल, हरप्रीत मेहंदीरत्ता, राजकुमार कोरजानी, भूपेश सिंह राजावत, अतुल सिंह, डॉ.  बीके अग्रवाल को शामिल किया गया है।

राज्यपाल से मिले गहलोत, राजनीतिक हलकों में सरगर्मियां तेज

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। प्रदेश के मुख्यमंत्री अशोक गहलोत ने रविवार को प्रदेश के राज्यपाल कलराज मिश्र से मुलाकात की हालांकि गहलोत और मिश्र के बीच हुई मुलाकात को महज शिष्टाचार भेंट बताया जा रहा है जिसमें गहलोत ने राज्यपाल को कोविड-19 टीकाकरण के बारे में विस्तार से जानकारी दी, मुलाकात के दौरान गहलोत और मिश्र दोनों ने गर्मजोशी से एक दूसरे का स्वागत किया दोनों ही नेताओं के चेहरों पर मुस्कान छाई हुई थी ऐसा दिख ही नहीं रहा था की राज्य सरकार और राजभवन के बीच आपस में किसी भी तरह के कोई टकराव के हालात बने हुए हो क्योंकि कुछ दिन पहले ही प्रदेश कांग्रेस ने राजभवन का किसान बिलों को लेकर घेराव किया था लेकिन रविवार को गहलोत और राज्यपाल कलराज मिश्र के बीच बहुत ही अच्छे वातावरण में बातचीत हुई बताएं हालांकि राजनीतिक हलकों में इस मुलाकात के कई मायने निकाले जा रहे हैं चर्चा यह भी है कि हो सकता है बजट सत्र से पूर्व प्रदेश में मंत्रिमंडल का विस्तार हो जाए इसलिए राजनीतिक हलकों में चर्चा है कि मुख्यमंत्री अशोक गहलोतमंत्रिमंडल विस्तार की तारीख तय करने के संबंध में शायद राज्यपाल कलराज मिश्र से आवश्यक चर्चा कर रहे हैं हालांकि इससे पहले भी कई बार इसी तरह के कयास लगाए जा चुके हैं लेकिन यह कयास सिर्फ कल्पना बनकर ही रह गए लेकिन एक बार फिर रविवार को जिस तरह से गहलोत ने राज्यपाल से मुलाकात की है उसके बाद प्रदेश कांग्रेस के नेताओं में भी चर्चा होने लगी है कि हो सकता है बजट सत्र से पहले मंत्रिमंडल का विस्तार कर दिया जाए क्योंकि मंत्रिमंडल का विस्तार करने को लेकर मुख्यमंत्री अशोक गहलोत पर काफी दबाव बना हुआ है पार्टी के प्रदेश प्रभारी और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव अजय माकन पहले ही कह चुके हैं कि मंत्रिमंडल का विस्तार और राजनीतिक नियुक्तियां इन दोनों ही कामों को लेकर पार्टी हाईकमान काफी उत्सुक है इसके अलावा विगत दिनों राज्यसभा सांसद और कांग्रेस पार्टी के राष्ट्रीय संगठन महामंत्री केसी वेणुगोपाल भी जयपुर आए थे वेणुगोपाल ने मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और पीसीसी चीफ गोविंद सिंह डोटासरा से अलग-अलग मुलाकात की थी उस समय भी प्रदेश कांग्रेस के नेताओं में चर्चा थी कि वेणुगोपाल किसी विशेष राजनीति काम से ही जयपुर आए हैं हालांकि वेणुगोपाल ने जयपुर प्रवास के दौरान मीडिया से कहा था कि वे प्रदेश के मुद्दों को राज्यसभा में उठाना चाहते हैं और प्रदेश के मुद्दे क्या-क्या हैं इस बात की जानकारी हासिल करने के लिए विशेष रुप से जयपुर आए हैं लेकिन इस बात को भी सब जानते हैं कि पार्टी हाईकमान ने वेणुगोपाल और पार्टी की दो अन्य केंद्रीय नेताओं को प्रदेश कांग्रेस में चल रही गुटबाजी को दूर करने की जिम्मेदारी सौंपी थी अब क्योंकि सचिन पायलट प्रदेश कांग्रेस के साथ कंधे से कंधा मिलाकर विगत कुछ दिनों से अपना काम कर रहे हैं और पार्टी के कार्यक्रमों में भी अपनी सक्रियता दिखा रहे हैं इसके बाद पार्टी हाईकमान पर भी यह दबाव बन रहा है कि वह सचिन पायलट उनके समर्थक नेताओं को सरकार में भी शामिल किया जाए इसलिए केसी वेणुगोपाल के जयपुर दौरे को काफी अहम माना गया था अब जिस तरह से रविवार को गहलोत और राज्यपाल के बीच आपस में मुलाकात हुई है उसमें एक बार फिर प्रदेश के राजनीतिक हलकों में इस मुलाकात के कई तरह के मायने निकाले जा रहे हैं जिसमें चर्चा यही हो रही है कि हो सकता है मंत्रिमंडल विस्तार की तारीख तय करने को लेकर गहलोत राजभवन गए हो।

किसान की बात सुनने के लिए सरकार बनाई थी, मन की बात सुनने के लिए नहीं: डोटासरा


प्रताप सिंह खाचरियावास और गोविंद सिंह डोटासरा ने किया संबोधित
प्रदर्शन में उमड़े कार्यकर्ता और उनके समर्थक
जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। कांग्रेस किसान आंदोलन के 51 दिन पूरे होने पर किसान अधिकार दिवस मना रही है। राजधानी में सिविल लाइंस फाटक पर किए जा रहे प्रदर्शन और राजभवन के घेराव के इस आंदोलन में कांग्रेसी नेता, मंत्री और कार्यकर्ता बड़ी संख्या में यहां पहुंच गए हैं। आंदोलन को संबोधित करते हुए पूर्व सीएम सचिन पायलट ने केंद्र सरकार पर हमला किया। बोले-इस बार केंद्र ने किसानों यानी देश के अन्नदाता पर हमला बोला है। यह शर्म की बात है कि केंद्र ने उन्हें क्या-क्या नहीं कहा। नक्सलवादी कहा, आतंकवादी कहा। सरकार और नेता आएंगे, चले जाएंगे, लेकिन कानून बनने के बाद वह बना रहेगा। फिर आने वाले लोग हमें माफ नहीं करेंगे।
इससे पहले परिवहन मंत्री प्रतापसिंह खाचरियावास ने भी संबोधित किया। अन्य विधायकों के साथ कई अन्य नेता भी अब तक संबोधित कर चुके हैं। प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष गोविंदसिंह डोटासरा ने कहा कि जब मोदी सरकार बनी थी तो बड़े सब्जबाग दिखाए थे। कहा था कि देश में सामाजिक समरसता लाएंगे। लोगों ने विश्वास किया और मोदीजी को देश का प्रधानमंत्री बनाया। उन्होंने पहला काम ही देश के अन्नदाता के पेट पर लात मारने का किया। उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता राहुल गांधी हमेशा किसानों के साथ खड़े रहे।
किसान की बात सुनने के लिए सरकार बनाई थी, मन की बात सुनने के लिए नहीं
पीसीसी चीफ गोविन्द सिंह डोटासरा ने कहा कि बीजेपी राज में पेट्रोल और डीजल के दाम बढ़ गए हैं। केन्द्र किसान की आवाज को नही सुन रहा है। किसान की बात सुनने के लिए सरकार बनाई थी, मन की बात सुनने के लिए नहीं। केन्द्र सरकार मंडी व्यवस्था को खत्म करना चाहती है। पहले भूमि अधिग्रहण और अबकी बार कृषि बिल। कांग्रेस इस अन्याय को नहीं सहेगी। धरने में मुख्य सचेतक महेश जोशी, परिवहन मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास, भंवर सिंह भाटी, शांति धारीवाल, बीडी कल्ला, टीकाराम जूली, अशोक चांदना और लालचन्द कटारिया समेत कई विधायक और सैंकड़ों कार्यकर्ता मौजूद रहे।
कानूनों को वापस नहीं करवाया तो आने वाली पीढियां माफ नहीं करेंगी पायलेट
पायलट ने कहा कि किसानों को माओवादी बताया जा रहा है. कांग्रेस इन सबको बर्दाश्त नहीं करने वाली है. आज कोई चुनाव नहीं है, लेकिन हमें जागरुक होने के नाते किसान के साथ खड़ा होना है. पायलट ने कहा कि केंद्र जिद नहीं छोड़ेगा तो इलाज भी करना पड़ेगा. सरकारें आएंगी और जाएंगी लेकिन किसान विरोधी इन कानूनों को वापस नहीं करवाया तो आने वाली पीढियां माफ नहीं करेंगी।
रेलवे फाटक के बाहर बनाया गया है मंच
यहां सिविल लाइंस फाटक के बाहरी हिस्से पर मंच बनाया गया है। लंबी सभा का रूप दिया गया है। सभा के बाद ही राज्यपाल को ज्ञापन दिया जाना है। महेश जोशी ने धरना प्रदर्शन में आने वाले लोगों से कोरोना के नियमों की पालना के लिए कहा है। उन्होंने कहा है कि सभी कार्यकर्ता सोशल डिस्टेंसिंग का पालन करें और मास्क लगाकर रखें। परिवहन मंत्री ने भी सभी को इसके लिए हिदायत दी। मौजूदा समय में मंच पर कई विधायक भी बैठे हैं, जिनका संबोधन चल रहा है। सभी नेता केंद्र सरकार के खिलाफ निशाना साध रहे हैं। वे किसानों के आंदोलन का समर्थन कर रहे हैं और कानूनों को काला बता रहे हैं।
रास्ता किया डायवर्ट
प्रदर्शन के लिए राजमहल होटल के टी-पॉइंट पर वाहनों को रोक दिया गया है। उनको वहीं से डायवर्ट किया गया है। राजमहल होटल के टी-पाइंट से सिविल लाइंस की तरफ आने वाले सभी वाहनों की आवाजाही को रोक दिया गया है। करीब 200 मीटर के दायरे में सिविल लाइन फाटक के पास सभा स्थल बनाया गया है जहां पर धरना प्रदर्शन शुरू हो रहा है।

स्कूलों में कहीं सफाई तो कहीं सैनेटाइजेशन शुरू हुआ, 308 दिन की छुट्टियों के बाद 18 जनवरी से खुलेंगे

जयपुर टाइम्स/बीकानेर।
प्रदेश के सरकारी व गैर सरकारी स्कूलों में एक बार फिर घंटी बजने वाली है। 308 दिन के अवकाश के बाद कक्षा 9 से 12 तक की कक्षाएं शुरू करने के लिए स्कूलों में उत्साह देखा जा रहा है। स्कूलों में इन दिनों क्लासेज की सफाई और सैनेटाइजेशन का काम चल रहा है। कोरोना गाइडलाइन्स के चलते भले ही स्टूडेंटस की संख्या आधी रहेगी लेकिन नियमित कक्षाएं शुरू होना ही टीचर्स को सुखद अहसास करा रहा है। राज्यभर में 15 मार्च को स्कूलों की छुट्टियां कर दी गई थी, जिसके बाद पिछले महीने बच्चों को मार्गदर्शन के लिए ही स्कूल आने की अनुमति दी गई। यह पहला मौका है जब 18 जनवरी से नियमित रूप से स्कूल शुरू करने की अनुमति दी गई है। राज्यभर में करीब 40 लाख बच्चों को अब स्कूल जाने का अवसर मिलेगा, जो कक्षा 9 से 12 वीं क्लास के हैं। इनमें से 21 लाख स्टूडेंट्स की तो 15 मई से परीक्षा शुरू हो जाएगी। राज्य सरकार ने 40 फीसदी कोर्स कम कर दिया है, जबकि छुट्टियां इससे भी अधिक हो गई हैं।

सीएम गहलोत आज 12:30 बजे प्रदेश में वैक्सीनेशन के काम का करेंगे शुभारंभ, जयपुर में 21 केंद्रों पर तथा प्रदेश भर में 161 केंद्रों पर है आयोजन

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। मुख्यमंत्री अशोक गहलोत आज जयपुर में दोपहर 12.30 बजे प्रदेश के वैक्सीनेशन काम का शुभारंभ करेंगे जानकारी के अनुसार सवाई मानसिंह मेडिकल कॉलेज के प्राचार्य डॉ सुधीर भंडारी को सबसे पहले वैक्सीन का टीका लगाया जाएगा इस मौके पर सुधीर भंडारी ने कहा कि कोरोना के उपचार में जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल ने पूरे देश और दुनिया में एक मिसाल कायम की थी और अब वैक्सीनेशन का जो काम प्रदेश में शुरू हो रहा है उस काम में भी राजस्थान सबसे आगे रहेगा जानकारी के अनुसार पहले राजस्थान में 282 केंद्रों पर वैक्सीनेशन किया जाना प्रस्तावित था लेकिन बाद में केंद्र सरकार के निर्देश पर अब प्रदेश में 161 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम आज से शुरू हो रहा है राजधानी जयपुर में पहले 13 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू होने वाला था लेकिन अब राजधानी जयपुर में 21 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम आज से शुरू हो रहा है, प्रदेश व्यापी वैक्सीनेशन के काम के लिए जयपुर के सवाई मानसिंह अस्पताल में स्टेट कंट्रोल रूम स्थापित किया गया है इसके अलावा प्रदेश के सभी जिलों में जिन जिन केंद्रों में वैक्सीनेशन का काम शुरू होने वाला है वहां पर वैक्सीनेशन की सभी तैयारियां राजस्थान सरकार की ओर से पूरी कर ली गई है प्रदेश के सभी 161 केंद्रों पर कड़ी सुरक्षा और तमाम तरह के प्रबंधों के बीच वैक्सीन पहुंचा दी गई है तथा वैक्सीनेशन के लिए जिन जिन लोगों का चयन किया गया है उन्हें मोबाइल के माध्यम से सूचित कर दिया गया है राजधानी जयपुर में सवाई मानसिंह अस्पताल, जयपुरिया अस्पताल, महिला चिकित्सालय, गणगौरी बाजार, जयपुरिया अस्पताल, ई एचआईसी, महात्मा गांधी अस्पताल, कांवटिया अस्पताल सहित 21 केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू हो रहा है, मुख्यमंत्री अशोक गहलोत और प्रदेश के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा खुद वैक्सीनेशन के काम पर पैनी निगाहें टिकाए हुए है चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा आज दिन भर वैक्सीनेशन के काम की अपडेट प्रदेशभर के केंद्रों से लेते रहेंगे, आज जिन लाभार्थियों को वैक्सीनेशन की डोज उपलब्ध करवाई जाएगी उन्हें 28 दिन बाद फिर से वैक्सीन की दूसरी डोज दी जाएगी जानकारी के अनुसार केंद्र सरकार ने प्रदेश को करीब 5 लाख 50,000 वैक्सीन के टीके उपलब्ध करवाए हैं जिसमें सबसे पहले 4 लाख 50 हजार हेल्थ वर्कर्स को वैक्सीनेशन की डोज उपलब्ध करवाई जा रही है, प्रदेश के सभी जिलों में स्थित निर्धारित केंद्रों पर वैक्सीनेशन के लिए प्रशिक्षण प्राप्त कर्मचारियों को चिकित्सा विभाग की ओर से तैनात किया गया है प्रत्येक केंद्र पर वैक्सीनेशन के लिए आने वाले लोगों के बैठने, उपचार करने और उनके आराम के लिए अलग-अलग व्यवस्था की गई है प्रत्येक केंद्र पर चिकित्सा विभाग की ओर से वैक्सीनेशन के काम की मॉनिटरिंग के लिए योग्य चिकित्सक की तैनाती की गई है वैक्सीनेशन के बाद अगर किसी को कोई तकलीफ होती है या फिर कोई साइड इफेक्ट सामने आते हैं तो इसके लिए पहले से ही पुख्ता प्रबंध किए गए हैं, जानकारी के अनुसार प्रदेश सरकार प्रदेश में ज्यादा से ज्यादा केंद्रों पर वैक्सीनेशन का काम शुरू करना चाहती थी इसके लिए राजस्थान सरकार ने पर्याप्त संख्या में केंद्र भी चिन्हित कर लिए थे केंद्र चिन्हित करने के साथ-साथ तमाम तरह की तैयारियां भी पूरी कर ली थी लेकिन केंद्र सरकार की ओर से फिलहाल 161 केंद्रों पर ही वैक्सीनेशन के काम की स्वीकृति दी गई है, प्रदेश के चिकित्सा मंत्री रघु शर्मा ने कहा कि कोरोना की लड़ाई में राजस्थान पूरे देश में सबसे आगे रहा है और वैक्सीनेशन की तैयारियों में भी राजस्थान सबसे आगे रहा है और वैक्सीनेशन के काम में भी राजस्थान देश में सबसे आगे रहेगा।

कायलाना झील में लापता हुए अंकित गुप्ता का शव मंगलवार को मिला

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। प्रदेश के जोधपुर जिले में स्थित कायलाना झील में वायु सेना के सैन्य प्रशिक्षण के दौरान हेलीकॉप्टर से छलांग लगाने वाले कैप्टन अंकित गुप्ता का शव आखिरकार मंगलवार को नेवी की स्पेशल गोताखोरों की टीम ने खोज ही निकाला है,जानकारी के अनुसार अंकित गुप्ता का शव झाडिय़ों में फंसा हुआ मिला है तथा झाडिय़ों के आसपास पानी कम और कीचड़ ज्यादा था जिसकी वजह से गुप्ता का शव झाडिय़ों में ही फस कर रह गया लेकिन मंगलवार को आखिरकार नेवी की स्पेशल टीम ने गुप्ता केशव को खोज निकाला उल्लेखनीय है कि विगत गुरुवार को हवाई सेना के सैन्य प्रशिक्षण के दौरान अंकित गुप्ता ने वायु सेना के चार अन्य जांबाज कमांडो के साथ हेलीकॉप्टर से कायलाना झील में छलांग लगाई थी झील में छलांग लगाने के बाद अन्य चारों कमांडो झील से सुरक्षित बाहर निकल आए लेकिन हेलीकॉप्टर से झील में छलांग लगाने के बाद अंकित गुप्ता की लोकेशन के बारे में किसी के पास कोई ठोस जानकारी नहीं थी, झील में छलांग लगाने वाले साथी कमांडो ने कुछ देर तक तो गुप्ता का इंतजार किया लेकिन जब गुप्ता झील से बाहर नहीं आए तो उन्हे इस घटना के बारे में अपने आला अधिकारियों को अवगत करवाया जिसके बाद गुप्ता की तलाश में युद्ध स्तर पर कायलाना झील में एक विशेष ऑपरेशन शुरू किया गया पुलिस, जिला प्रशासन और वायुसेना की टीमों ने संयुक्त रुप से झील में अंकित गुप्ता की तलाशी की दिन गुजरते रहे लेकिन तमाम प्रयासों के बावजूद भी अंकित गुप्ता के बारे में कोई ठोस जानकारी नहीं मिल पा रही थी इस दौरान दिल्ली से नेवी की स्पेशल टीम को भी कायलाना झील में सर्च अभियान में तैनात किया गया करीब 6 दिन गुजर जाने के बाद मंगलवार को आखिरकार सर्च अभियान में शामिल टीमों ने अंकित गुप्ता केशव को झाडिय़ों में ढूंढ निकाला अंकित गुप्ता का शव मिलने के बाद पुलिस जिला प्रशासन और वायुसेना के अधिकारियों ने भी राहत की सांस ली है।

सांगानेर एयरपोर्ट पर महिला तस्कर से 30 लाख रुपए कीमत का अवैध सोना बरामद

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। राजधानी जयपुर के सांगानेर एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग की टीम ने मंगलवार को एक बड़ी कार्रवाई को अंजाम देते हुए एक महिला यात्री से करीब 30 लाख रुपए कीमत का अवैध सोना बरामद किया है जानकारी के अनुसार जिस महिला से करीब 700 ग्राम सोना बरामद किया गया है वह महिला सर जहां से जयपुर आई थी, कस्टम विभाग ने बरामद किया गया सोना उक्त महिला से तरल पदार्थ के रूप में बरामद किया गया जानकारी के अनुसार कस्टम विभाग की गिरफ्त में आईमहिला सोने को गला कर उसे हलवा नुमा पेस्ट बनाकर लेकर आ रही थी लेकिन सांगानेर एयरपोर्ट पर फ्लाइट से उतरने के बाद कस्टम विभाग के अधिकारियों ने उक्त महिला के सामान की तलाशी की तो हलवा नुमा पेस्ट को देखकर कस्टम विभाग के अधिकारियों ने उक्त हलवा नुमा पेस्ट की छानबीन की तो सामने आया किकस्टम विभाग और पुलिस की कार्रवाई से बचने के लिए सोने को गला कर उसे तरल पदार्थ के रूप में हलवा नुमा पेस्ट बनाया गया, महिला से प्रारंभिक पूछताछ में सामने आया है कि वह मुंबई की रहने वाली है और सर जहां से जयपुर फ्लाइट से आई थी और जयपुर उतरने के बाद वह बस से मुंबई जाने की तैयारी में थी लेकिन सांगानेर एयरपोर्ट पर कस्टम विभाग की तलाशी के दौरान वह अपने मकसद में कामयाब नहीं हो पाई कस्टम विभाग के अधिकारी उक्त महिला से पूछताछ कर पता लगा रहे हैं कि वह बरामद सोने को कहां से और किन लोगों के यहां से लेकर आई थी और इस सोने को वह कहां हो और किन लोगों को पहुंचाने जा रही थी इसके अलावा उक्त महिला की पिछली विमान यात्रियों के बारे में भी जानकारी हासिल की जा रही है कस्टम विभाग सघन पूछताछ कर यह पता लगा रहा है कि क्या वह किसी सोने का कारोबार करने वाले गिरोह के सदस्य तो नहीं है, इन तमाम सवालों के जवाब उक्त महिला से लिए जाने के लिए प्रयास किए जा रहे हैं।

राजस्थान बोर्ड की 10वीं और 12वीं की परीक्षाएं 15 मई से 15 जून के बीच होंगी, अन्य कक्षाओं की जून में संभव

प्रदेश में 21 लाख छात्र 10वीं और 12वीं बोर्ड की परीक्षाओं में शामिल होंगे
जयपुर टाइम्स
जयपुर(कासं)। माध्यमिक शिक्षा बोर्ड अजमेर की 10वीं और 12वीं कक्षा की परीक्षाएं 15 मई के बाद होंगी। बोर्ड परीक्षा का कार्यक्रम जल्द ही घोषित किया जा सकता है। राजस्थान बोर्ड में संभवत: पहली बार लिखित परीक्षा के बाद 12वीं की प्रायोगिक परीक्षाएं होंगी। वहीं कक्षा 1 से 9 और 11वीं की परीक्षा जून में आयोजित होने की संभावना है।
माध्यमिक शिक्षा निदेशक सौरभ स्वामी ने बातचीत में कहा कि बोर्ड परीक्षाओं के लिए तैयारी पूरी कर ली गई। परीक्षाएं 15 मई से शुरू होंगी और 15 जून तक खत्म हो जाएंगी। आमतौर पर प्रायोगिक परीक्षाएं पहले होती हैं और लिखित परीक्षाएं उसके बाद होती है। लेकिन इस बार प्रायोगिक परीक्षा बाद में होगी। दरअसल, बोर्ड इस बार सीबीएसई परीक्षाओं के समय से ही परीक्षाएं करवाना चाहता है।
वहीं, कक्षा 1 से 9 और 11 की परीक्षा जून से शुरू हो सकती है। माना जा रहा है कि शिक्षा विभाग एक जुलाई से फिर से नया सत्र शुरू करने की कोशिश में है, ताकि शिक्षा सत्र 2021-22 पर कोविड का प्रभाव न रहे। इसीलिए पाठ्यक्रम भी कम कर दिया गया है।
21 लाख स्टूडेंट्स देंगे परीक्षा
राज्यभर में करीब 21 लाख छात्रों ने 10वीं व 12वीं कक्षाओं के लिए आवेदन किया है। इसमें 10वीं के लिए करीब 11 लाख स्टूडेंट्स और 10 लाख छात्र 12वीं की परीक्षा देंगे। परिणाम जुलाई में जारी किया जा सकता है।

सस्पेंड आईएएस इंद्र सिंह राव और उनके पीए महावीर ने कोर्ट में वॉइस सैंपल देने से किया मना

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। विगत दिनों भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की ओर से भ्रष्टाचार के आरोप में गिरफ्तार किए गए सस्पेंड आईएएस इंद्र सिंह राव और उनके पीए महावीर ने सोमवार को पीसीपीएनडीटी कोर्ट में अपना वॉइस सैंपल देने से मना कर दिया जानकारी के अनुसार एसीबी की ओर से सोमवार को इंदर सिंह राव और महावीर के वॉइस सैंपल की अनुमति के लिए पीसीपीएनडीटी कोर्ट में पेश किया था, पेशी के दौरान इंदर सिंह राव और महावीर ने वॉइस सैंपल देने से मना किया, उल्लेखनीय है कि भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की ओर से कुछ दिन पहले बारा जिले के तत्कालीन कलेक्टर इंद्र सिंह राव के पीए महावीर को रिश्वत की एक बड़ी रकम के साथ गिरफ्तार किया था महावीर ने एसीबी की पूछताछ में बताया था कि उसने यह रिश्वत की रकम तत्कालीन कलेक्टर इंद्र सिंह राव के कहने पर ली थी हालांकि उस समय एसीबी ने रिश्वत की रकम के साथ महावीर को गिरफ्तार कर लिया था लेकिन एसीबी ने उस समय इंद्र सिंह राव को गिरफ्तार नहीं किया था बाद में एसीबी के जांच अधिकारी ने इस प्रकरण में इंद्र सिंह राव के खिलाफ सभी अहम सबूत और तथ्य जुटाए और राव के खिलाफ सभी सबूत जुटाने के बाद भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो ने आखिरकार राव को भी गिरफ्तार कर लिया एसीबी ने बताया कि राव और महावीर ने पेट्रोल पंप की एनओसी जारी करने की एवज में परिवादी से रिश्वत मांगी थी इंद्र सिंह राव ने अपने पी ए महावीर के माध्यम से रिश्वत की रकम मांगी थी फिलहाल इंद्र सिंह राव को राजस्थान सरकार ने सस्पेंड कर दिया है इंद्र सिंह राव और महावीर दोनों इस समय कोटा जेल में बंद है।

नये कृषि कानून वापस लेकर किसानों को राहत पहुंचाये सरकार: पायलट

जयपुर टाइम्स
टोंक (कासं.)। प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री एवं टोक विधायक  सचिन पायलट ने आज टोंक दौरे के दूसरे दिन टोंक विधानसभा क्षेत्र की 8 ग्राम पंचायतों का दौरा कर जनसभाओं को सम्बोधित किया एवं किसानों से संवाद किया।
किसानों एवं आमजन को सम्बोधित करते हुए  पायलट ने कहा कि किसानों की आय दोगुनी करने की बात करने वाली भाजपा ऐसे किसान विरोधी कानून लेकर आयी है जिस कारण आज पूरे देश का किसान दिल्ली की सीमाओं पर धरना देकर बैठा है। इन कानूनों की ऐसी क्या जरूरत थी और इनसे किसानों को क्या फायदा होगा यह बात भाजपा अपने मंत्रियों एवं घटक दलों को नहीं समझा पायी जनता को क्या समझायेगी। इन कानूनों से साफ हो गया है कि भाजपा ने समर्थन मूल्य एवं मण्डी व्यवस्था समाप्त करने का मन बना लिया है। किसानों से अनेकों बार वार्ता करने का ढोंग रचने वाली सरकार इस मुद्दों को टालने का काम कर रही है। उन्होंने कहा कि हमारी भावी पीढी के लिए हमें जागरूक रहकर सरकार से पूछना होगा कि वो बताये कि इन कानूनों से किसानों को क्या फायदा होने वाला है।
उन्होंने टोंक की जनता को सम्बोधित करते हुए कहा कि पिछले दो सालों में हमने हर क्षेत्र में विकास के कार्य किये है। नये साल में कार्यों में दोगुनी तेजी आयेगी। शिक्षा, चिकित्सा, बिजली, पानी, सड़क सहित हर क्षेत्र में विकास में कोई कमी नहीं आने दी जायेगी।
 पायलट ने आज टोंक विधानसभा क्षेत्र की ग्राम पंचायत सोरण, देवपुरा, अरनियाकेदार, मण्डावर, देवलीभांची, हथोना, पराना एवं बरोनी में आयोजित सभाओं को सम्बोधित किया।
इस अवसर पर  पायलट ने पंचायत समिति टोंक की ग्राम पंचायतों में  ग्रामीण विकास व पचायंती राज विभाग तथा सार्वजनिक निर्माण विभाग के तहत निम्नलिखित कार्यों का लोकार्पण एवं शिलान्यास किया:
- ग्राम पंचायत हरचन्देडा में लगभग 1.45 करोड रूपये राशि के ग्राम हरचन्देडा व अहमदपुरा में टोक बमोर बनेठा तक का सीमेंट कंक्रीट सडक निर्माण कार्य तथा राउमावि हरचन्देडा के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत मण्डावर के ग्राम चिरोंज व मण्डावर में 1.10 करोड रूपये राशि की दो क्षतिग्रस्त पुलियाओं के पुनर्निर्माण कार्य का लोकार्पण।
- राउमावि बमोर के 40.20 लाख रूपये, राउमावि मेंहदवास के 41.20 लाख रूपये तथा राउमावि उम के 43.85 लाख रूपये राशि के नवनिर्मित भवनों का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत सोरण में लगभग 60 लाख रूपये राशि के चराई मैन रोड से यूनानी दवाखाना की ओर सी.सी. रोड निर्माण कार्य तथा चैराई में खेल मैदान विकास कार्य का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत छान 55 लाख रूपये राशि के एन.एच. 12 से महुआ कॉलोनी तक सी.सी. रोड तथा छान से अमीरपुरा खेडा तक नाला निर्माण का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत चंदलाई में लगभग 22 लाख रूपये राशि के तारण से बिचपुडी तक सीमेंट कंक्रीट सडक निर्माण कार्य का शिलान्यास तथा लगभग 44 लाख रूपये राशि के राउमावि चंदलाई के नवनिर्मित भवन का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत लाम्बा में लगभग 36 लाख रूपये राशि के ग्राम निमोला के खेल मैदान विकास कार्य तथा निमोला में शमशान घाट में चारीदीवारी निर्माण का लोकापर्ण किया तथा लगभग 19 लाख रूपये राशि के ग्राम लाम्बा की लाम्बा से सोनवा तक सीमेंट कंक्रीट सडक निर्माण कार्य का शिलान्यास।
- ग्राम पंचायत लवादर में लगभग 22 लाख रूपये की राशि के ग्राम रहमानदिया से लवादर सम्पर्क सडक का सीमेंट कंक्रीट सडक निर्माण कार्य का शिलान्यास।
- ग्राम पंचायत देवलीभांची में 20 लाख रूपये राशि के नवीन पंचायत भवन का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत सांखना 20 लाख रूपये राशि के सांखना से बैरवा बस्ती के पास सार्वजनिक स्थान पर विश्राम गृह निर्माण कार्य तथा सांखना में बाबा की बाडी से बावडी तक नाला रपटा निर्माण व अन्य कार्य का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत अरनियाकेदार 18 लाख रूपये राशि के अनाज भण्डार की चारदीवारी निर्माण तथा खेल मैदान की चारदीवारी निर्माण का लोकार्पण।
- ग्राम पंचायत डारडाहिन्द में 15 लाख रूपये राशि के राउमावि डारडाहिन्द के खेल मैदान की चारदीवारी निर्माण का लोकार्पण।

अवैध कॉलोनी काटना पड़ेगा महंगा, तोडफ़ोड़ के साथ ही निजी जमीन हो जाएगी सरकारी

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। लगातार अवैध कॉलोनियों की शिकायतों से परेशान सरकार ने अब भूमाफियाओं पर पूरी तरह नकेल कसने का मन बना लिया है। राज्य सरकार के निर्देश पर अब जेडीए ने अवैध कॉलोनी काटने वाले माफियाओं की निजी खातेदारी की जमीन को ही सरकारी घोषित करने का प्लान तैयार किया है। यानी अब बिना जेडीए की अनुमति के निजी खातेदारी की जमीन पर कॉलोनी काटी तो कॉलोनी में तोडफ़ोड़ तो होगी ही इसके साथ ही निजी खातेदारी की जमीन को भी सरकार कब्जे में लेकर सरकारी घोषित कर देगी।
राजस्थान के नगरीय निकायों से लगातार यह शिकायतें मिलती हैं कि बिना सक्षम स्तर की अनुमति के और कृषि भूमि पर अवैध रूप से कॉलोनियां काटी जाती हैं। इससे एक और जहां वहां भूखण्ड खरीदने वाले विकास का इंतजार करते रह जाते हैं वही बेतरतीब शहरीकरण कई बार कई बड़ी समस्यायें खड़ी कर देता है। इससे सरकार को राजस्व का चूना भी लगता है। इस तरह की लगातार बढ़ती शिकायतों के बाद जयपुर जेडीए ने टिनेंसी एक्ट को काम लेकर भूमाफियाओं पर शिकंजा कसने के प्लान पर काम शुरू किया है।
जेडीए का नया हथियार टिनेंसी एक्ट
जेडीए आयुक्त गौरव गोयल ने बताया कि अब भूमाफियाओं के खिलाफ टिनेंसी एक्ट का डंडा चलाया जायेगा। कृषि भूमि पर अवैध कॉलोनियां विकसित करने पर टिनेंसी एक्ट प्रभावी हो जाता है। कृषि भूमि को गैर कृषि उपयोग में लिये जाने पर संबंधित जमीन मालिक के खिलाफ कार्रवाई की जायेगी। निजी खातेदारों के खिलाफ धारा-175 राजस्थान काश्तकारी अधिनियम के तहत कार्रवाई की जायेगी। इसके तहत जमीन का मालिकाना हक यानि जमीन की खातेदारी सरकार के नाम करने की स्थानांतरित करने की प्रक्रिया अमल में लाई जायेगी। राजस्व न्यायालय में जेडीए जमीन मालिक के खिलाफ मुकदमा लड़ेगा।
ताकि घर का सपना देखने वालों के साथ ना हो ठगी
जेडीसी गौरव गोयल की मानें तो पहले केवल जेडीए एक्ट में कार्रवाई की जाती थी और निर्माण तोड़ दिया जाता था. लेकिन अब अगर फिर मौके पर कॉलोनी काटी जाती है तो ये प्रभावी कदम उठाये जायेंगे. गोयल ने बताया कि जेडीए ऐसी कॉलोनियों को ब्लैक लिस्टेट कर उनकी की सूची भी सार्वजनिक करने का काम करेगा ताकि घर का सपना देखने वाले लोगों के साथ ठगी की वारदात ना हो सके। जेडीए नहीं करता है ऐसी कॉलोनियों का अनुमोदन
मास्टर प्लान के विपरीत विकसित कॉलोनियों का जेडीए द्वारा अनुमोदन नहीं किया जाता है. ऐसी गैर अनुमोदित आवासीय योजनाओं के आवंटन-पत्र मालिकाना हक/लोन आदि के लिए वैध नहीं होते हैं. लगातार बढ़ रहे ऐसे मामलों के बाद जेडीए टिनेंसी एक्ट का उपयोग कर ऐसी्र कॉलोनी काटने वाली सोसायिटियों के खिलाफ विधिक कार्रवाई करने के लिये जेडीए पंजीयक और सहकारिता विभाग को लगातार पत्र भेज रहा है।