Updated -

mobile_app
liveTv

मोटिवेशनल सेमिनार का आयोजन

जयपुर टाइम्स 

सुजानगढ (नि.स.) निकटवर्ती ग्राम जोगलिया स्थित राजकीय विद्यालय  में कक्षा 10 एवं 12 के बोर्ड के विद्यार्थियों हेतु बोर्ड परीक्षा 2020 के सफल उन्नयन हेतु डीईओ संपतराम बारूपाल माध्यमिक के सानिध्य में मोटिवेशनल सेमिनार का आयोजन किया गया। इस अवसर  स्थानीय विद्यालय के अलावा  जनकल्याण राजकीय बालिका एवं उच्च माध्यमिक  विद्यालय छापर के कक्षा 10 एवं 12 के सभी विद्यार्थियों ने भाग लिया। सेमिनार में  मोटिवेटर के रूप में धनाराम प्रजापत प्रधानाचार्य पीसीबी स्कूल एवं  सरोज पूनिया वीर प्रधानाचार्या कंनोई स्कूल एवं भागीरथ गुरडा व्याख्याता रसायन विज्ञान पीसीबी स्कूल सुजानगढ़ के साथ ही डीईओ बारूपाल  ने बोर्ड परीक्षा में शत प्रतिशत परीक्षा परिणाम हेतु छात्र व छात्राओं को महत्वपूर्ण जानकारी विभिन्न उद्धरणों के माध्यम से देते हुए गुणात्मक रूप से बोर्ड परीक्षा में उत्कृष्ट  परीक्षा परिणाम हेतु प्रेरित किया। प्रधानाचार्या भगवती वर्मा ने सभी अतिथियों का आभार व्यक्त किया। संचालन राम नारायण सैनी ने किया।

कॉलोनी में सड़क नहीं बनी तो लोगों ने किया पार्षद के खिलाफ विरोध प्रदर्शन

जयपुर टाइम्स 

हरमाड़ा (नि.स.) हरमाड़ा क्षेत्र के जयपुर सीकर हाईवे स्थित वार्ड नंबर 1 के राता खान की ढाणी हरमाड़ा घाटी मैं सड़क व नालियों का निर्माण नहीं होने से मंगलवार को पार्षद के खिलाफ लोगों का गुस्सा फूट पड़ा और जमकर लोग वार्ड नंबर 1 के पार्षद गोपाल कृष्ण शर्मा के खिलाफ जमकर नारेबाजी कर विरोध प्रदर्शन किया जानकारी के  अनुसार कॉलोनी अध्यक्ष चौथमल, कजोड़ मल, सोहन लाल जाटावत ने बताया कि यहां पर 1990 में नगर निगम द्वारा सड़क और नालियों का बजट पास हो रखा है लेकिन आज तक कितने विधायक कितने पार्षद आए और चले गए लेकिन किसी ने भी इस कॉलोनी की ओर ध्यान नहीं दिया जब भी विधायक और पार्षद के चुनाव आते हैं तो नेता वोट मांगने आते हैं और जीतने के बाद कॉलोनी की ओर ध्यान भी नहीं देते वही सड़क व नालियां नहीं होने से घरों का गंदा पानी बीच रास्ते में जमा हो जाता है जिससे राहगीरों व कॉलोनी वासियों व स्कूली बच्चों को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ता है और बताया कि वार्ड नंबर 1 से भाजपा पार्षद प्रत्याशी गोपाल कृष्ण शर्मा भी कॉलोनी में वोट मांगने आए तभी लोगों ने कहां था आप को वोट दे देंगे लेकिन यह सड़क बननी चाहिए और पार्षद साहब ने हां भी कर दी लेकिन जीतने के बाद एक बार भी कॉलोनी की तरफ मुड़कर नहीं देखा

अधिकारी आगे बढ़कर पात्र एवं जरूरतमंद लोगों को दें राहत : डॉ गर्ग

जयपुर टाइम्स 

चूरू, (नि.स.) चिकित्सा एवं स्वास्थ्य, सूचना एवं जनसंपर्क तथा तकनीकी शिक्षा राज्य मंत्री डॉ सुभाष गर्ग ने अधिकारियों से कहा है कि वे राज्य सरकार एवं मुख्यमंत्री की मंशा को समझते हुए आमजन को पारदर्शी एवं जवाबदेह सुशासन दिया जाना सुनिश्चित करें। डॉ गर्ग मंगलवार को जिलापरिषद सभाकक्ष में अधिकारियों के साथ जिले के विकास से जुड़े कार्यक्रमों, बजट घोषणाओं एवं कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की समीक्षा कर रहे थे। उन्होंने विभिन्न कार्यक्रमों, योजनाओं की बिंदुवार समीक्षा कर अधिकारियों को आवश्यक निर्देश दिए और कहा कि स्वास्थ्य नीति लागू होने के बाद राज्य में स्वास्थ्य बीमा योजनाओं में थर्ड पार्टी मेडिकल ऑडिट शुरू की जाएगी तथा नए सिरे से अस्पतालों को इन योजनाओं से जोड़ा जाएगा। उन्होंने चिकित्सा अधिकारियों से कहा कि इन योजनाओं में सरकारी अस्पतालों में अधिक से अधिक रोगियों को लाभ मिलना चाहिए। उन्होंने उपखंड अधिकारियों से भी कहा कि गंभीर बीमारियों से ग्रसित लोगों को एनएफएसए से जोडऩे में संवेदनशीलता बरतें ताकि गरीब व पात्र लोगों को योजना का लाभ मिल सके। उन्होंने बताया कि राज्य सरकार से 900 चिकित्सकों की भर्ती की स्वीकृति मिल चुकी है तथा दो हजार चिकित्सकों की भर्ती के लिए वित्त विभाग ने मंजूरी दे दी है। आगामी दो-तीन वर्ष में राज्य में चिकित्सकों की कमी नहीं रहेगी। उन्होंने सामान्य वर्ग को आर्थिक आधार पर दिए जाने वाले प्रमाण पत्रों को लेकर भी उपखंड अधिकारियों से कहा कि वे राज्य सरकार की मंशा के अनुसार संवेदनशीलता के साथ लोगों को प्रमाण पत्र जारी करें। यदि कोई गलत तथ्य पेश कर प्रमाण पत्र बनवाता है तो वह स्वयं उसके लिए जिम्मेदार होगा। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि वे आमजन के किसी भी काम के लिए उसे संबंधित लिपिक के पास भेजने की प्रवृत्ति खत्म करें तथा खुद लोगों की समस्याएं सुनें और आवेदन लें। जनता बेहिचक आपसे सीधे मिल सके, ऐसी व्यवस्था होनी चाहिए। थोड़ी सी संवेदनशीलता और मिलनसारिता से ही बहुत सी समस्याएं हल हो जाती हैं। जन्म, मृत्यु एवं विवाह प्रमाण पत्रों के लिए लोगों को चक्कर नहीं लगाने पड़ें। यदि किसी विद्यार्थी को नौकरी आदि के लिए तत्काल किसी प्रमाण पत्र की जरूरत हो तो उसमें संवेदनशीलता दिखाते हुए उसे सर्वोच्च प्राथमिकता दें। अधिकारी आगे बढकर पात्र एवं जरूरतमंद लोगों को योजनाओं का लाभ दें। प्रभारी मंत्री ने जिला कलक्टर संदेश नायक से कहा कि बजट घोषणााओं के क्रियान्वयन के लिए समुचित मॉनीटरिंग करें। विधायक डॉ कृष्णा पूनिया ने राजगढ़ क्षेत्र के कुछ गांवों में पेयजल व्यवस्था में सुधार तथा कुछ सड़कों के पेंचवर्क की जरूरत बताई जिस पर प्रभारी मंत्री ने संबंधित अधिकारी को निर्देश दिए। पूर्व विधायक मकबूल मंडेलिया ने अस्पताल की व्यवस्थाओं को अधिक बेहतर बनाने की जरूरत जाहिर की।  जिला कलक्टर संदेश नायक ने बताया कि जिले में नरेगा अंतर्गत 2617 काम चल रहे हैं, जिन पर 21 हजार 892 श्रमिक नियोजित हैं। उन्होंने बताया कि सभी विकास कार्यक्रमों एवं योजनाओं का समुचित क्रियान्वयन किया जा रहा है तथा राज्य सरकार की मंशा के अनुसार संवेदनशील एवं जवाबदेह प्रशासन सुनिश्चित किया जा रहा है। बैठक में चूरू नगर परिषद सभापति पायल सैनी, सीईओ रामस्वरूप चौहान, एडीएम नरेंद्र थोरी,  एसडीएम गौरव सैनी, एसडीएम रतन कुमार स्वामी, अर्पिता सोनी, रीना छींपा, श्योराम वर्मा, कमिश्नर अभिलाषा सिंह, सहकारिता विभाग के प्रबंध निदेशक शेर सिंह,  उप पंजीयक राजेंद्र सैनी, वरिष्ठ प्रबंधक सर्वेश वर्मा सहित संबंधित अधिकारी, कर्मचारी, जनप्रतिनिधि मौजूद थे।

मॉर्निंग वॉक के दौरान महिलाओं से लूटपाट

जयपुर टाइम्स
अलवर (निसं.)। जिले के भिवाड़ी उद्योग नगरी में बदमाशों ने सुबह ट्री हाउस के समीप मॉर्निंग वॉक के लिए निकली महिलाओं से हथियार की नोक पर जेवरात लूट लिए और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने भिवाड़ी एसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। 
घटना जिले के भिवाड़ी की है, जहां बदमाशों ने मॉर्निंग वॉक के लिए निकली महिलाओं से लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने 4 महिलाओं से हथियारों के बल पर सोने की चेन, मंगलसूत्र, अंगूठी जैसे आभूषण आदि लूट लिए और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद गुस्साये लोगों ने भिवाड़ी एसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। 
पीडि़त महिलाओं ने बताया कि बदमाश एक स्विफ्ट कार में सवार होकर आए थे। बदमाशों के पास लोहे की रोड़ व पिस्टल थी। पीडि़त महिलाओं और लोगों के द्वारा आपातकालीन न बर 100 पर काल किया तो नम्बर खराब होने के कारण पुलिस से संपर्क नही हुआ। इसके बाद लोगों ने घटना की जानकारी फूलबाग थाना पुलिस को दी। 

मॉर्निंग वॉक के दौरान महिलाओं से लूटपाट

जयपुर टाइम्स
अलवर (निसं.)। जिले के भिवाड़ी उद्योग नगरी में बदमाशों ने सुबह ट्री हाउस के समीप मॉर्निंग वॉक के लिए निकली महिलाओं से हथियार की नोक पर जेवरात लूट लिए और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद गुस्साए लोगों ने भिवाड़ी एसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया और आरोपियों की जल्द गिरफ्तारी की मांग की है। फिलहाल पुलिस आरोपियों की तलाश में जुट गई है। 
घटना जिले के भिवाड़ी की है, जहां बदमाशों ने मॉर्निंग वॉक के लिए निकली महिलाओं से लूटपाट की वारदात को अंजाम दिया। बदमाशों ने 4 महिलाओं से हथियारों के बल पर सोने की चेन, मंगलसूत्र, अंगूठी जैसे आभूषण आदि लूट लिए और मौके से फरार हो गए। घटना के बाद गुस्साये लोगों ने भिवाड़ी एसपी कार्यालय के बाहर प्रदर्शन किया। 
पीडि़त महिलाओं ने बताया कि बदमाश एक स्विफ्ट कार में सवार होकर आए थे। बदमाशों के पास लोहे की रोड़ व पिस्टल थी। पीडि़त महिलाओं और लोगों के द्वारा आपातकालीन न बर 100 पर काल किया तो नम्बर खराब होने के कारण पुलिस से संपर्क नही हुआ। इसके बाद लोगों ने घटना की जानकारी फूलबाग थाना पुलिस को दी। 

पत्नी की हत्या के आरोपी को 24 घण्टे में किया गिरफ्तार

जयपुर टाइम्स
कोटपूतली (निसं)। कस्बे के निकटवर्ती ग्राम खेड़की वीरभान में विगत 8 नवम्बर की रात्रि को पति द्वारा की गई अपनी ही पत्नी की हत्या के आरोपी पति को स्थानीय थाना पुलिस ने मामला दर्ज होने के 24 घण्टे में गिरफ्तार किये जाने में सफलता हांसिल की है। जयपुर ग्रामीण एसपी शंकरदत्त शर्मा ने बताया कि 9 नवम्बर को बानसूर (अलवर) थाना क्षेत्र के ग्राम विशालू निवासी सुभाष पुत्र जौहरी लाल मेघवाल ने दर्ज करवाया कि उसकी बहन कमलेष पत्नी अमरसिंह निवासी ग्राम खेड़की वीरभान, कोटपूतली की 8 नवम्बर की रात्रि को उसके पति अमरसिंह, ससुर श्रीराम व सास कलावती देवी ने षडय़ंत्र पूर्वक हत्या कर दी।
 जिसका शव राजकीय बीडीएम अस्पताल कोटपूतली में है। इस पर पुलिस ने मामला दर्ज कर जांच एसआई रविन्द्र कुमार को सौंपी। एसपी शंकरदत्त शर्मा ने आईजी जयपुर रेंज एस. सेंगाथिर के निर्देषानुसार प्रकरण की गंभीरता को देखते हुए एएसपी भरतलाल मीणा व डीएसपी दिनेश कुमार यादव को घटना के जल्द से जल्द खुलासे के निर्देश दिये। इसके लिए थानाधिकारी नरेन्द्र कुमार के नेतृत्व में एसआई रविन्द्र व राजेश कुमार, एसआई केशुराम, एएसआई राजपाल, कानि.जमशेद की टीम का गठन किया। टीम के सदस्यों ने आरोपी की तलाश में मुखबीर की सूचना पर कोटपूतली, बानसूर समेत आसपास के थाना क्षेत्रों में विभिन्न जगहों पर दबिष दी। वहीं पुलिस टीम ने तत्परता दिखाते हुए घटना के 24 घण्टे के भीतर आरोपी अमरसिंह पुत्र श्रीराम जाति मेघवाल उम्र 38 वर्ष निवासी ग्राम खेड़की वीरभान कोटपूतली को कस्बे के ट्रांसपोर्ट नगर से गिरफ्तार कर वारदात में प्रयुक्त लकड़ी के हथियार को भी जप्त कर लिया। पुछताछ में आरोपी अमरसिंह ने घटना कारित करना स्वीकार किया। 
उसने बताया कि 8 नवम्बर की रात्रि को पति-पत्नी में आपसी कहासुनी हो गई। जिस पर उसने आवेष में आकर पत्नी के सिर में लकड़ी के हथियार से वार कर दिया। सिर में गंभीर चोट आने पर उसकी पत्नी कमलेष की ईलाज के दौरान मृत्यु हो गई। एसपी ने घटना का खुलासा करने वाली पुलिस टीम के सदस्यों की सफलता की सराहना करते हुए पुरूस्कार दिये जाने की घोषणा 
की है।  

खारे पानी की सबसे बड़ी सांभर झील में हजारों देशी-विदेशी पक्षी मृत मिले

जयपुर टाइम्स
सांभर (निसं)। प्रदेश की खारे पानी की सबसे बड़ी सांभर झील मेेंं देशी-विदेशी हजारों पक्षी मृत मिले हैं। इसकी सूचना मिलते ही प्रशासनिक, फारेस्ट व एनजीओ के लोग मौके पर पहुंचे। जयपुर से  मेडिकल टीम बुलाकर मृत पक्षियों के सैंपल लुधियाना व भोपाल लैबों में भिजवाए गए। जांच रिपोर्ट 4-5 दिन में आएगी। इसके बाद ही पक्षियों की मौत के कारणों का खुलासा होगा। 
जानकारी के अनुसार झील क्षेत्र में 15 प्रजातियों के करीब 1000 पक्षी मृत पड़े हुए थे। कई पक्षियों की हालत ऐसी थी कि वो अपने दम पर उठ भी नहीं पा रहे थे। वन कर्मचारियों ने झील क्षेत्र के मध्य से घायल पक्षियों को इलाज के लिए किनारे पर लेकर आए। वन विभाग के अधिकारियों ने बताया कि पक्षियों के मरने की घटना 10-15 दिन पुरानी प्रतीत हो रही है। जांच करने के बाद ही पक्षियों की मौत के कारण के बारे में स्पष्ट कहा जा सकता हैं। सूचना पर सांभर तहसीलदार हरिसिंह राव, दूदू  एसीएफ संजय कौशिक, गिरदावर अरुण जाजोरिया, वेटनरी डॉक्टर अशोक राव, वनपाल जोबनेर सुरेंद्र सिंह, श्यामश्री शर्मा, सहायक वनपाल उपेंद्र कुमार, ललुगोपाल, एनजीओ डब्यूसीओ व जनकल्याण एवं पर्यावरण संस्थान के लोगों ने घटना के बारे में जानकारी ली।


मृत पक्षियों मेें मुख्यत : रिंगू फ्लेवर, केंटिस फ्लेवर, टिनिप फ्लेवर, ब्लेक टेल स्टिल्ट, ग्रीन स्टइंट, गार्गने, कॉमन कूट, लेसर विजसलिग, रफ, नॉर्दन सर्वलर, पलास गर्ल, कैस्पियन गल, पाइड इवोसेट शामिल हैं। 

भारत में डायबिटिज के अध्ययन के लिए अनुसंधान सोसाइटी की 47वीं वार्षिक कांफ्रेंस सम्पन्न

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं)। डायबिटिज से जुड़ी बीमारियों पर चर्चा करने के लिए अयोजित चार दिवसीय ''भारत में डायबिटिज के अध्ययन के लिए अनुसंधान सोसाइटी की 47वीं वार्षिक कांफ्रेंस 2019ÓÓ (आर एस एस डी आई) सीतापुरा स्थित जयपुर प्रदर्शनी व कन्वेशन सेन्टर (जेईसीसी) में विधीवत सम्पन्न हुआ। देश-विदेश के 6000 से भी अधिक विशेषज्ञों ने 7 से 10 नवम्बर तक चले इस कांफ्रेंस में अपने-अपने अनुभव साझा किये। इस कांफ्रेंस के दौरान 12 इंटरनेशनल विशेषज्ञों और भारत से 400 विशेषज्ञों ने कुल 4 दिन में कुल 33 सेशन लिए। इनमें टेक्नोलॉजी सेशन डायबिटीज रिवर्सल, आर एस एस डी आई गाइडलाइन फॉर पेपर राइटिंग और सॉफ्ट स्किल डेवलपमेंट पर स्पेशल सेशन भी रखे गए। आयोजन सचिव, डॉ. प्रकाश केसवानी बताया। इस दौरान 150 से अधिक रिसर्च पेपर का वाचन किया गया। विभिन्न सत्रों में डायबिटिज के क्षेत्र में नये अनुसन्धान, प्रयोग, डायबिटिज को रोकने व प्रभावी ढंग से इलाज पर विस्तार से चर्चा हुई। साथ ही डायबिटिज के प्रति जागरूकता बढ़ाने के लिए 'वॅाकथन' का अयोजिन किया गया जिसमें दुनिया भर के डॉक्टरों और जयपुराइट्स सहित 3000 से अधिक लोगों ने कदम से कदम मिलाए। सम्मेलन के मुख्य समन्वयक, डॉ. सी.एल. नवल ने आज यह जानकारी दी।  वैज्ञानिक सत्र के कोचेयरमैन, डॉ. अरविंद गुप्ता ने बताया कि कॉन्फ्रेंस समापन के अवसर पर विभिन्न श्रेणियों में पुरस्कार भी वितरित किए गए। जिसमें ओरल रिसर्च पेपर के लिए कोलकाता के संजय शाह को पहला पुरस्कार, अंबाला से सुरुचि जैन को दूसरा और अभिषेक पांडे और बेंगलुरु के जस्टिन को संयुक्त रूप से तीसरा पुरस्कार दिया गया। वहीं पोस्टर्स में डॉक्टर टीना राजन और डॉक्टर चंद्रशेखर को पहला पुरस्कार, विपिन तलवार और डॉ आनंद मोहक को दूसरा और जयपुर के विष्णु गुप्ता व देवाशीष गुलजायरे को तीसरा पुरस्कार दिया गया। आर एस एस डी आई की ओर से सभी पटन्रज को प्रमाण पत्र भी प्रदान किए गए। भारत में डायबिटिज के अध्ययन के लिए अनुसंधान सोसाइटी की 48वीं वार्षिक कांफ्रेंस 2020 (आर एस एस डी आई) कांफ्रेंस के ऑर्गेनाइजर चेयरमैन, विनय पानिकर ने बताया कि अगली  वार्षिक कॉन्फ्रेंस मुंबई में आगामी 3 से 6 दिसंबर को होगी।

लगभग 10 हजार ग्रामीण महिला एंव सहायता समूहों को दिया गया ऋण : पायलट

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। शुक्रवार को उप मुख्यमंत्री एवं मंत्री ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग सचिन पायलट ने पंचायत स्थरीय महात्मा गांधी ग्रामोत्थान शिविरों प्रगति रिपोर्ट जारी की। उन्होंने कहा कि प्रदेश में 15 अगस्त से 2 अक्टूबर तक चले शिविरों के दौरान 1 लाख 40 हजार से अधिक पात्र परिवारों को पट्टे जारी किये गये हैं। वहीं महिलाओं के संबलीकरण हेतु अभिनव प्रयास भी किये गये। 
पायलट ने शिविरों की प्रगति रिपोर्ट जारी करते हुए बताया कि महात्मा गांधी की 150 वीं जयन्ती के उपलक्ष्य में ग्रामीण विकास एवं पंचायती राज विभाग द्वारा 15 अगस्त से 2 अक्टूबर तक आयोजित किये गये इन शिविरों ने महिलाओं को रोजगार के अवसर दिलाए। साथ ही आर्थिक रूप से स्वावलम्बी बनाया है। उन्होंने बताया कि शिविरों में राजस्थान ग्रामीण आजीविका विकास परिषद् के तहत 21,340 गांवों के 10,875 ग्रामीण महिला एवं सहायता समूहों को 99 करोड़ 18 लाख 73 हजार रुपये के ऋण उपलब्ध करवाकर महिलाओं को आर्थिक एवं समाजिक रूप से सशक्त बनाने के प्रयास किए। 
उप मुख्यमंत्री ने बताया कि प्रदेश में महिला स्वयं सहायता समूह द्वारा किये जा रहे व्यवसाय को बढ़ावा देने के लिए विभिन्न हस्त निर्मित उत्पादों का प्रशिक्षण दिया जा रहा है। 
राजीविका की ओर से ग्रामीण महिला स्वयं सहायता समूहों द्वारा निर्मित उत्पाद बेचने हेतु राज्य एवं जिला स्तर पर क्राफ्ट रचनात्मक कौशल में वृद्धि हो रही है। हस्तनिर्मित एवं हस्तशिल्प के स्थानीय उत्पादों में बेहतरीन कलाकारी निकलकर आ रही है। महिलाओं को रोजगार मिलने से परिवार आर्थिक दृष्टि से मजबूत हो रहे हैं। 
पायलट ने बताया कि शिविरों में लगभग 1.25 लाख पुराने भवनों के नियमितिकरण, लगभग 14 हजार पात्र व्यक्तियों के कब्जों के नियमितिकरण रियायती दर पर भूखंड आवंटन व बी.पी.एल. परिवारों को नि:शुल्क भूखंड आवंटन के पट्टे जारी किए। साथ ही 50 घुमक्कड़ भेड़पालक परिवारों को नि:शुल्क भूखंड भी आवंटित किए गए है। इसके अलावा 8 हजार से अधिक श्रमिकों को जॉब कार्ड जारी हुए हैं। साथ ही 90 दिवस पूर्ण कर चुके लगभग 2 लाख श्रमिकों को श्रम कार्ड दिए। 

राज्य में क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों का नहीं होगा नया पंजीयन

जयपुर टाइम्स
जयपुर (कासं.)। रजिस्ट्रार, सहकारिता डॉ. नीरज के. पवन ने कहा है कि राज्य की जनता की गाड़ी कमाई को किसी भी क्रेडिट सोसायटी को लूटने की इजाजत नही दी जाएगी। उन्होंने कहा कि अब से राज्य में क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों का नया पंजीयन नहीं होगा। उन्होंने निर्देश दिए कि प्रदेश की 387 निष्क्रिय क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों को अवसायन में लाकर पंजीयन रद्द करने की कार्यवाही की जाए।
डॉ. पवन शुक्रवार को यहां सहकार भवन में खण्डीय अतिरिक्त रजिस्ट्रार, जिलों के उप रजिस्ट्रार एवं क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियों के प्रतिनिधियों के साथ आयोजित बैठक को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि कार्यरत क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटी द्वारा प्रतिमाह की 7 तारीख को उप रजिस्ट्रार को मासिक प्रगति रिपोर्ट नही भेजने वाली सोसायाटियों के खाते सीज किए जाएंगे। उन्होंने कहा कि सभी क्रेडिट सोसायटियों की ऑडिट विभागीय ऑडिटर से करवाई जाएगी। किसी भी पंजीकृत सीए से ऑडिट मान्य नही होगी।
उन्होंने कहा कि सभी क्रेडिट को-ऑपरेटिव सोसायटियां अपनी डिपोजिट केन्द्रीय सहकारी बैंक या अपेक्स बैंक में 31 अक्टूबर तक जमा कराएंगी ऐसी डिपोजिट पर इन बैंकों द्वारा 0.50 प्रतिशत अतिरिक्त ब्याज दिया जाएगा। जिन सोसायटियों ने दूसरे बैंकों में डिपोजिट करा रखी है, उनकी सूचना देनी होगी तथा डिपोजिट पूर्ण होने पर उसे सहकारी बैंक में जमा कराना होगा। निर्देश दिए कि एजेंट के आधार पर कार्य करने वाली क्रेडिट सोसायटियों के खिलाफ नियामनुसार कार्यवाही की जाएगी।

मालपुरा में 2 घंटे कफर््यू में मिली ढील, बड़ी संख्या में लोग बाजार में उमड़े

जयपुर टाइम्स
मालपुरा (टोंक)। मालपुरा में शुक्रवार को तीसरे दिन कर्फ्यू में दो घंटे की ढील दी गई। सुबह 8.30 से 10.30 बजे तक कफर््यू हटाया गया। प्रशासन ने इस दौरान केवल दुपहिया वाहनों के आवागम की ही इजाजत दी। कफर््यू में ढील के दौरान मालपुरावासियों ने दूध-सब्जियां व परचून सामान की खरीदारी की। इससे सब्जी-विक्रेताओं व परचून की दुकानों और दूध पार्लर पर लोगों की भीड़ रही। बड़ी संख्या में लोग बाजार में उमड़े।
इससे पहले गुरुवार शाम को शांति समिति, सीएलजी की बैठक थाना परिसर में हुई। बैठक में सभी समुदाय के लोगों ने भाग लिया। इसमें सभी समाज के लोगों ने घटना की निंदा करते हुए खेद जताया। संभागीय आयुक्त एल.एन.मीणा ने कहा कि विजयादशमी पर जुलूस के दौरान पुलिस व्यवस्था पर्याप्त थी। घटना में कोई प्रशासनिक चूक नहीं है। इस अवसर पर पुलिस महानिरीक्षक संजीव नार्जरी ने भी आवश्यक जानकारी दी। कलक्टर के के शर्मा ने कहा कि कैमरे तोडऩे की घटना हुई थी। कैमरे वाले ने सूचित किया था लेकिन बाद में वहां के लोगों को बुला कर कैमरे वहीं स्थापित कर दिए थे। घटना को जुलूस निकलने से बहुत पहले दुरुस्त कर दिया गया था। शांति समिति की बैठक में भी यह बात खुल 
कर हुई।
मालपुरा में लोग कफर््यू के चलते घरों में कैद रहे। शहर में अचानक कफर््यू लगने से जहां घरों में जरूरी वस्तुएं खरीदने से चूके लोग दो दिन से कर्फ्यू में ढील नहीं मिलने के कारण परेशान रहे। 
हालांकि गुरुवार व शुक्रवार को अखबारों का पूर्व की तरह वितरण हुआ। बसों का आवागमन बिल्कुल बंद रहा। कफर््यू दौरान मालपुरा में सभी रास्तों को सीज कर दिया। शहर में सामान्य स्थिति कायम करने के लिए आईजी संजीव नार्जरी, संभागीय आयुक्त एल.एन.मीणा सहित कलक्टर के के शर्मा व एसपी आदर्श सिद्धू सहित एएसपी व डीएसपी, सीआई, एसआई व एएसआई सहित विभिन्न विशेष सुरक्षा बल के जवान अपने अपने प्वांइट पर तैनात रहे। कलक्टर व एसपी ने बताया कि पथराव के आरोप में अभी तक दो आरोपितों को गिरफ्तार किया है। शेष की पहचान की जा रही। अब शहर में शांति है।
कस्बे में गुरुवार को सफाई का कार्य शुरू किया गया जो शुक्रवार को भी जारी रहा। सफाई कर्मचारी दिनभर सडक़ों पर पड़े कचरे के ढेरों को साफ करते रहे। पथराव मामले में अब तक तीन मामले दर्ज किए गए है। इनमें एक पुलिस की ओर से व दो मामले समुदाय विशेष के लोगों की ओर से दर्ज कराए गए है। उल्लेखनीय है कि मालपुरा में विजयादशमी पर यात्रा के दौरान पथराव के बाद हालात बिगड़ते देख बुधवार को कफ्र्यू लगा दिया गया था।

रीको एरिया में महिला सेक्शन इंचार्ज 25 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार

जयपुर टाइम्स
अलवर (निसं.)। अलवर. शहर में भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो की टीम ने गुरूवार को बड़ी कार्रवाई करते हुए रीको इंडस्ट्रीयल एरिया में सेक्शन इंचार्ज को 25 हजार रूपए की रिश्वत लेते रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया। यह कार्रवाई डीएसपी सलेह मोहम्मद के नेतृत्व में गठित एसीबी टीम ने की।
डीएसपी सलेह मोहम्मद ने बताया कि रिश्वत लेते पकड़ी गई आरोपी संतोष देवी गोस्वामी है। वह रीको, अलवर स्थित क्षेत्रीय वरिष्ठ प्रबंधक कार्यालय में सेक्शन इंचार्ज के पद पर कार्यरत है। उनके खिालफ गुरुग्राम, हरियाणा निवासी चंद्रप्रकाश ने एसीबी में 3 अक्टूबर को शिकायत दर्ज करवाई थी।
जिसमें चंद्रप्रकाश ने बताया कि उन्होंने एमआईए, भिवाडी अलवर स्थित मिनी क्राफ्ट अलवर फैक्ट्री के किराएदार की अनुमति जारी करने के लिए रीको कार्यालय में आवेदन किया था। जिसमें सेक्शन इंचार्ज संतोष गोस्वामी ने चंद्रप्रकाश से 25 हजार रूपए की रिश्वत मांगी।
एसीबी ने शिकायत का सत्यापन कर गुरूवार को ट्रेप रचा। जिसमें परिवादी चंद्रप्रकाश से अपने ऑफिस में 25 हजार रूपए की रिश्वत लेकर संतोष गोस्वामी ने अपने हैंडबैग में रख लिया। तब ईशारा मिलते ही एसीबी टीम ने संतोष गोस्वामी को गिरफ्तार कर लिया। बैग में रखी रिश्वत की रकम बरामद कर ली। उनसे पूछताछ की जा रही है।