Updated -

mobile_app
liveTv

लो बैटरी की परेशानी से निजात दिलाएंगे ये तरीके, घंटो बढ़ा सकते हैं बैकअप

क्या आप अपने फोन में लो बैटरी से परेशान हैं? क्या आपका दिन बार-बार फोन को चार्ज करने में ही बीतता है? अगर ऐसा है, तो हम आपको कुछ ऐसे तरीकों के बारे में बताने जा रहे हैं, जिनके इस्तेमाल से आप अपने फोन की बैटरी की तेज खपत को कम कर सकते हैं। इतना ही नहीं इन तरीकों की मदद से आप घंटों अपनी बैटरी बैकअप को बढ़ा सकते हैं। डालते हैं इन तरीकों पर एक नजर।

फोन को फुल चार्ज और फुल डिस्चार्ज होने से बचाएंआपके स्मार्टफोन में या तो लिथियम आयन बैटरी होगी या फिर लिथियम पॉलिमर बैटरी। इन दोनों ही बैटरी में एक बात ध्यान देना जरूरी है कि, फोन को न तो पूरा चार्ज करें और न ही पूरे तरह से डिस्चार्ज होने दें। फोन की बैटरी को कभी भी 100 फीसदी तक चार्ज न होने दें, इसके अलावा इस बात का भी ख्याल रखें कि आपके फोन की बैटरी 20 फीसदी से कम न हों। अगर आप अपने फोन की बैटरी को ज्यादा चार्ज या ज्यादा डिस्चार्ज होने दे रहे हैं, तो इसका मतलब आप अपने फोन की बैटरी को खराब कर रहे हैं।

भारत में लॉन्च हुआ माइक्रोसॉफ्ट सरफेस प्रो, दुनिया के सबसे पतले लैपटॉप से कितना है अगल

शैटरशील्ड डिस्प्ले के साथ लॉन्च हुआ Z2 फोर्स, एलजी V30 से मुकाबला

नई दिल्ली(टेक डेस्क)। मोटोरोला ने लगभग एक साल के बाद भारत में अपना फ्लैगशिप स्मार्टफोन मोटो Z2 फोर्स लॉन्च किया है। कंपनी ने फोन की कीमत 34999 रुपये रखी है। इस फोन की खासियतों में शैटरप्रूफ क्वाडएचडी डिस्प्ले, ड्यूल कैमरा और मोटो Mod सपोर्ट है। मोटो Z2 फोर्स सिर्फ एक वैरिएंट 6GB रैम और 64GB स्टोरेज में उपलब्ध होगा। भारत में मोटो इस फोन को एक कलर वैरिएंट सुपर ब्लैक में लाया है। यह फोन सेल के लिए उपलब्ध है। इस फोन की तुलना एलजी V30 जैसे स्मार्टफोन्स से की जाएगी।

फोन की दो बड़ी खासियतें इसका शैटरप्रूफ डिस्प्ले और मोटो मोड्स हैं। मोटो मोड्स फोन की एक्सेसरी है जिसे फोन के रियर पर लगा कर इस्तेमाल किया जा सकता है। मोटोरोला ने हाल ही में भारत में तीन मोटो मोड्स- जेबीएल साउंडबूसट 2, मोटो गेमपैड और मोटो टर्बोपावर पैक पेश किये थे।

बैटरी: उपभोक्ताओं को आकर्षित करने के लिए Z2 फोर्स में 2730 mAh की इंटरनल बैटरी दी गई है। मोटोरोला हर मोटो Z2 फोर्स के साथ 5999 रुपये का मोटो टर्बोपावर पैक बंडल करेगा। टर्बोपावर पैक 3490 mAh की बैटरी के साथ आता है।

5G सुपर स्पीड टेक्नोलॉजी की झलक विंटर ओलंपिक्स में

नई दिल्ली । 5G का इंतजार जल्द ही खत्म होने वाला है। 5G का अनुभव सबसे पहले साउथ कोरियाई लोग करने वाले हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि 5G - 5th जनरेशन वायरलेस नेटवर्क दुनियाभर में अपनी शुरआत विंटर ओलंपिक्स में करने वाला है। साउथ कोरिया का दुनिया को 5G दिखाने की यह पहली कोशिश है। पूरी दुनिया में 5G का पहली बार कमर्शियल इस्तेमाल किया जाएगा।

5G कैसे होगा खास?

5G टेक्नोलॉजी 2020 से पहले रोल-आउट नहीं होगी। विंटर गेम्स  में चलने वाली शटल बसों में कोई ड्राइवर नहीं हैं। साथ ही स्केटर्स की रियाल-टाइम 360 डिग्री फोटोज भी ली जाएंगी। 5th जनरेशन वायरलेस नेटवर्क को काफी तेजी से काम करने के लिए तैयार किया गया है। यानि की 4G के मुकाबले 5G 100 गुना फास्ट होगा। 10 गीगाबाइट प्रति सेकंड की स्पीड के साथ 5G एक पूरी हाई-डेफिनिशन मूवी को कुछ सेकंड्स में भेज सकता है। इसी के साथ 5G इंटरनेट ऑफ थिंग्स का रास्ता भी खोल देता है। इसके अंतर्गत रेफ्रिजरेटर्स से लेकर ट्रैफिक लाइट्स तक आपस में बात कर पाएंगे।

5G इनेबल करेगा अगले स्तर की टेक्नोलॉजी

कैलिफोर्निया आधारित इंटेल कॉर्पोरेशन के वाईस प्रेजिडेंट सैंड्रा ने कहा- टेक इंडस्ट्री इस टेक्नोलॉजी की नई क्षमताओं पर गौर कर रही है। 5G टेक्नोलॉजी आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लेकर ड्रोन्स, सेल्फ-ड्राइविंग वाहन, रोबोट्सआदि के लिए बहुत महत्वपूर्ण साबित होगी। दूसरे शब्दों में अगर 4G के साथ कम्प्यूटर्स बच्चों की तरह बातें कर सकते हैं तो 5G के साथ ये ग्रोन-अप्स की तरह बातें करेंगे। इसे मशीन का युग कहा जा सकता है। मशीनों का आविष्कार तो हो ही रहा है। 5G इन मशीनों को कंप्यूटिंग और कम्युनिकेशन के मामले में इनेबल कर देगा।

जीमेल को मिलेगा AMP का सपोर्ट, जानिए कैसे बदलेगा यूजर्स का अनुभव

नई दिल्ली। गूगल अब जीमेल के लिए एक्सेलरेटेड मोबाइल पेजेज यानि की AMP का डेवलपर प्रीव्यू लेकर आने वाला है। आपकी जानकारी के लिए बता दें, गूगल AMP पेजेज को नए आर्टिकल्स मोबाइल पर तुरंत लोड करने के लिए डिजाइन किया गया था। ईमेल के लिए AMP आने पर ईमेल का मॉडर्न इस्तेमाल किया जाने लगेगा। ये सब कैसे होगा, इससे यूजर्स को क्या फायदा होगा और AMP पेजेज का मतलब क्या है? जानते हैं इन सब के बारे में:

क्या होता है AMP

AMP खासतौर से मोबाइल के लिए डिजाइन किया जाता है। इसमें यूजर्स को ईमेल का बेहतर और नया अनुभव देने की क्षमता है। AMP की क्षमताएं पहले से भी अधिक बढ़ गई हैं और अब यह बढ़िया वेबपेजेज बनाने के सबसे बेहतरीन तरीकों में से एक हो गया है।

AMP एक ओपन सोर्स फ्रेमवर्क होता है। इसकी मदद से किसी भी पेज को मोबाईल फ्रेंडली पेज में बदला जा सकता है। मोबाइल फ्रेंडली पेज बनाए की जरुरत इसलिए है क्योंकि अधिकतर यूजर्स मोबाइल पर ही कंटेंट कंज्यूम करते हैं। AMP एक ऐसी एप्लीकेशन की तरह काम करता है जिसकी मदद से कसी भी वेब पेज को मोबाइल फ्रेंडली बनाया जा सकता है। इससे यूजर के मोबाइल पर वेब पेज जल्दी/फास्ट खुलते हैं। इससे लोड टाइम भी काम होता है। इससे यूजर्स को किसी पेज, वीडियो, ऑडियो, पीडीएफ आदि के लोड होने का अधिक इंतजार नहीं करना पड़ता क्योंकि AMP इसे लाइट बना देता है।

भारत सरकार फीचर फोन्स में GPS को कर सकती है अनिवार्य

नई दिल्ली(टेक डेस्क)। भारत सरकार ने फीचर फोन्स में जीपीएस की अनिवार्यता को कुछ समय पहले छूट दे दी थी। लेकिन अब सरकार अपना यह निर्णय वापस लेकर फीचर फोन्स में जीपीएस को अनिवार्य करने वाली है। इस कदम के बाद सरकार मोबाइल फोन्स में पैनिक बटन रोल-आउट कर पाएगी। पैनिक बटन महिलाओं को किसी संदिग्ध स्थिति में सुरक्षित रहने में मदद के लिए लाने की योजना है। भारत सरकार ने सभी मोबाइल निर्माताओं से 2016 में सेल फोन्स में पैनिक बटन और जीपीएस उपलब्ध करवाने का आदेश दिया था। इससे मुश्किल स्तिथि में महिलाओं की मदद करने में आसानी होगी। लेकिन पिछले नवम्बर फीचर और नॉन-स्मार्टफोन्स को इस आदेश से छूट मिल गई थी। छूट मिलने के पीछा का कारण यह रहा था की मोबाइल निर्माताओं का कहना था इससे फोन की कॉस्ट बढ़ जाएगी।

व्हाट्सएप का यूपीआई पर आधारित पेमेंट फीचर लेटेस्ट बीटा वर्जन्स में उपलब्ध

नई दिल्ली। व्हाट्सएप के पेमेंट फीचर का लम्बे समय से इंतजार हो रहा है। अब ऐसी खबर है की व्हाट्सएप पेमेंट फीचर जल्द ही लॉन्च होने वाला है। इस फीचर को एंड्रॉयड और आईओएस एप्स के लेटेस्ट बीटा वर्जन में देखा गया है।

व्हाट्सएप का नया बीटा वर्जन अटैचमेंट विकल्प के अंदर पेमेंट ऑप्शन के रूप में आएगा। यह पेमेंट फीचर यूनिवर्सल पेमेंट इंटरफेस यानि की यूपीआई पर आधारित होगा। यह फीचर अभी भी बीटा मोड में है ताकि फाइनल रोल-आउट से पहले इसमें जरुरी बदलाव किये जा सकें।

एंड्रॉयड और आईओएस के बीटा वर्जन में व्हाट्सएप में पेमेंट फीचर और इससे जुड़े पार्टनर बैंक्स की लिस्ट दिखाई दे रही है। लिस्टेड बैंक्स की लिस्ट में एक्सिस, एचडीएफसी, आईसीआईसीआई और स्टेट बैंक ऑफ इण्डिया जैसे बैंक्स सम्मिलित हैं।

रिपोर्ट में यह भी बताया गया है की व्हाट्सएप यूजर्स को अकाउंट लिंक करने की अनुमति नहीं दे रहा है। अगर लिस्टेड बैंक में आपका अकाउंट है तो आप यूपीआई लॉगिन आईडी बना कर पेमेंट फीचर का इस्तेमाल कर सकते हैं। खबर थी की व्हाट्सएप अपना पेमेंट फीचर फरवरी में रोल-आउट करेगा। अब jab यह फीचर बीटा वर्जन में उपलब्ध हो गया है तो उम्मीद है की जल्द ही इसका फाइनल रोल-आउट उपलब्ब्ध करवा दिया जाएगा।

वोडाफोन ने VoLTE सेवा की शुरू

देश की दूसरी सबसे बड़ी टेलिकॉम कंपनी वोडाफोन ने दिल्ली-एनसीआर, मुंबई, गुजरात (सूरत और अहमदाबाद) में अपनी VoLTE सेवाएं लॉन्च कर दी हैं। इसका मतलब यह है की अब वोडाफोन सब्सक्राइबर्स तेजी से कॉल कनेक्ट और एचडी क्वालिटी वॉयस कॉल्स का अपने 4G स्मार्टफोन्स में लाभ उठा सकते हैं। वोडाफोन यूजर्स को इसके लिए अतिरिक्त राशि अदा नहीं करनी होगी। फिलहाल, बाजार में ऐसे कुछ ही स्मार्टफोन्स उपलब्ध हैं जो वोडाफोन VoLTE सर्विस को सपोर्ट करते हैं। वोडाफोन यूजर्स VoLTE फीचर को मैन्युअली अपने स्मार्टफोन्स में वेरीफाई कर सकते हैं।

आईओएस यूजर्स कैसे करें पता

• एप्पल आईओएस यूजर्स को फोन की सेटिंग्स में मोबाइल डाटा में जाना होगा।

• इसके बाद मोबाइल डाटा ऑप्शंस पर टैप करें।

• इसके अंदर इनेबल 4G पर जाकर वॉयस और डाटा को टर्न ऑन आकर दें।

अगर यूजर के पास एंड्रायड स्मार्टफोन है तो फोन की सेटिंग्स में जाने के बाद मोबाइल नेटवर्क पर जाए।

कॉलिंग ऑफर को BSNL ने 3 महीनों के लिए और बढ़ाया

नई दिल्ली  सोशल नेटवर्किंग साइट फेसबुक ने एक टेक्नोलॉजी के लिए पेटेंट एप्लीकेशन फाइल किया है। इस तकनीक की मदद से फेसबुक यूजर के आर्थिक हालात का पता लगाएगा। यूजर्स को तीन हिस्सों में बांटा जाएगा- वर्किंग क्लास, मीडिल क्लास और अपर क्लास।

ख़बरों की माने तो पेटेंट के मुताबिक फेसबुक इस तकनीक से अपने यूजर की व्यक्तिगत जानकारी जैसे, शिक्षा, घर और इंटरनेट के इस्तेमाल का पता लगाएगा। इस आधार पर कंपनी अपने यूजर्स को आर्थिक रुप से 3 हिस्सों में बांटेगी।

पेटेंट के मुताबिक फेसबुक इस अलगोरिथम से अपने यूजर्स को आथिक आधार पर और सही से टारगेट कर सकेगी। इससे एडवटाइजर्स को अपनी ऑडियंस तक पहुंचने में ज्यादा मदद मिलेगी।

इससे पहले 4 फरवरी को फेसबुक ने अपने 14 साल पूरे किए। इस बीच फेसबुक ने जानकारी दी थी कि उसके प्लेटफॉर्म पर करीब 20 करोड़ फर्जी अकाउंट चलाये जा रहे हैं। फेसबुक के मुताबिक 20 करोड़ खाते या तो फर्जी या फिर एक ही व्यक्ति के दोहरे अकाउंट हो सकते हैं। इसके साथ कंपनी ने यह जानकारी भी दी है कि भारत में इस तरह के खातों की संख्या बहुत अधिक है।

कंपनी ने लॉन्च किया भारत में 5जी स्मार्टफोन

नई दिल्ली । 4जी स्मार्टफोन को भारतीय बाजार में यूजर्स का बखूबी साथ मिला। सस्ते दामों वाले स्मार्टफोन और टेलीकॉम कंपनियों से मिल रहे शानदार ऑफर्स की बदौलत भारत में 4जी स्मार्टफोन की जबरदस्त मांग है। इस बीच चीन की स्मार्टफोन कंपनी G5 ने 5जी स्मार्टफोन लॉन्च करके तहलका मचा दिया है।

दुनिया के कई देशों समेत भारत में अभी 5जी की टेस्टिंग जारी है। ऐसे में G5 कंपनी के ऐलान ने सभी की निगाहें अपने प्रोजेक्ट की तरफ खींच ली हैं। G5 ने 6 फीचर फोन के साथ घरेलू बाजार में इंट्री की है। कंपनी ने इन फोन्स की कीमत 700 रुपये से लेकर 1500 रुपये तक रखी है।

G5 के इन किफायती फोन्स में ड्यूल सेल्फी कैमरा के साथ ऑटो कॉल रिकार्डिंग और वायरलेस स्टीरियो एफएम ब्लूटूथ जैसे फीचर्स दिए गए हैं। स्मार्टफोन्स की मेमोरी को 16 जीबी तक बढ़ाया जा सकता है। इन 6 फोन्स में 1200 एमएएच से लेकर 4000 एमएएच तक की बैटरी दी गई है। कंपनी के मुताबिक एक बार फुल चार्ज करने पर स्मार्टफोन लंबे समय तक काम करेगा। फोन में पॉवरफुल स्पीकर्स दिए गए हैं, जिससे आवाज की क्वालिटी साफ सुनाई देगी।

स्मार्टफोन के वीडियो कॉल से लेकर टेस्ट मैसेज तक को इस तरह करें रिकॉर्ड

नई दिल्ली(टेक न्यूज)। क्या आपको भी कभी लगा, कि आप अपने फोन के किसी भी एक्टिविटी को रिकॉर्ड कर सकते तो अच्छा होता? तो अब सोचिये मत बल्कि हमारे इस खबर को पढ़ने के बाद अपने फोन की किसी भी एक्टिविटी को कर डालिए रिकॉर्ड। गूगल प्ले स्टोर पर कई एप्स मौजूद हैं, जिन्हें डाउनलोड करके आप अपने फोन की स्क्रीन को रिकॉर्ड कर सकते हैं। इस तरह आप अपने व्ह़ॉट्सएप वीडियो कॉल से लेकर मैसेंजर टेक्स्ट को वीडियो फॉर्मेट में सेव कर पाएंगे। DU Recorder, AZ Screen Recorder, HD Screen Recorder और Rec.(Screen Recorder) जैसे एप्स से आप अपने स्मार्टफोन की स्क्रीन को रिकॉर्ड कर सकते हैं। हम आपको इन्ही एप्स में से एक Rec.(Screen Recorder) के बारे में बताने जा रहे हैं कि ये काम कैसे करता है।

  1. स्टेप 1- गूगल प्ले स्टोर पर जाकर Rec. Screen Recorder एप डाउनलोड करें।
  2. स्टेप 2- एप को ओपेन करने पर आपको कई विकल्प दिखाई देंगे। इनमें वीडियो की साइज, बिट रेट, ड्यूरेशन और फाइल नेम दिखाई देगा।
  3. स्टेप 3- एप की सेटिंग्स के बाद रिकॉर्ड बटन पर क्लिक करें।
  4. स्टेप 4- एप आपसे फोटो, मीडिया और फाइल्स एक्सेस करने की परमिशन मांगेगा। Ok ऑप्शन पर टैप करें।
  5. स्टेप 5- एप आपके स्मार्टफोन की स्क्रीन की हर एक्टिविटी को रिकॉर्ड करने की परमिशन मांगेगा। Start Now बटन पर टैप करें ।
  6. स्टेप 6- एप आपके फोन की स्क्रीन पर चल रही सारी एक्टिविटी को रिकॉर्ड करना शुरू कर देगा