• Tue. Aug 9th, 2022

आयुर्वेद औषधीय पौधों की स्वास्थ्य संरक्षण एवं आरोग्य में भूमिका बेहद अहम है-श्रीवास्तव केन्द्रीय विद्यालय मोती डूंगरी में 101 औषधीय पौधों का किया रोपण

ByRameshwar Lal

Jul 21, 2021


जयपुर टाइम्स
अलवर(निसं.)। जय गणपत जन कल्याण ट्रस्ट अलवर द्वारा केन्द्रीय विद्यालय न.1 मोती डूंगरी में औषधीय पौधरोपण अभियान के तहत 101 औषधीय पौधों का रोपण विद्यालय परिसर में किया गया।
जय गणपत जन कल्याण ट्रस्ट की अध्यक्ष मिथलेश राघव ने बताया कि कार्यक्रम में बतौर मु य अतिथि पधारे जिला वन अधिकारी ए. के. श्रीवास्तव ने कहा कि ट्रस्ट द्वारा विद्यालयों, विभागों एवं सार्वजनिक स्थानों पर औषध उद्यान वाटिका विकसित करने का विचार एवं प्रायोगिक कार्य बेहद सराहनीय है, इससे एक ओर जहाँ पर्यावरण संरक्षण का कार्य हो रहा है वही दूसरी ओर औषधीय पादपों के संरक्षण एवं संवर्द्धन को भी बढ़ावा मिल रहा है। आमजन के स्वास्थ्य संरक्षण एवं आरोग्य प्रदान करने में औषधीय पादपों की भूमिका बेहद अहम है। राजस्थान सरकार की घर घर औषधि योजना भी जन- जन को आरोग्य प्रदान करने की दिशा में महत्वपूर्ण कदम है। इस दौरान केन्द्रीय विद्यालय के प्राचार्य डॉ. एल. आर. सैनी ने कहा कि विगत तीन वर्षों से ट्रस्ट सयोंजक आयुर्वेदाचार्य डॉ. पवन सिंह शेखावत के दिशा-निर्देशन में विद्यालय परिसर में औषध उद्यान वाटिका विकसित करने के उद्देश्य से औषधीय पौधरोपण कार्यक्रम आयोजित कर सहयोग प्रदान किया गया है, परिणामस्वरूप वर्त्तमान समय में विद्यालय में औषध उद्यान वाटिका विकसित रूप ले चुकी है जहाँ से विद्यार्थियों को इनकी पहचान एवं महत्व की जानकारी निरन्तर मिल पा रही है। ट्रस्ट सयोंजक डॉ. पवन सिंह शेखावत ने बताया कि आयुर्वेद औषधि पादपों के संवर्धन-संरक्षण, आमजन के स्वास्थ्य संरक्षण एवं आरोग्य लाभ प्रदान करने की दिशा में ट्रस्ट विगत 5 वर्षों से निरन्तर जनहित में सेवाएं प्रदान कर रहा है। केंद्रीय विद्यालय की औषध उद्यान वाटिका को मूर्त रूप देने में प्राचार्य डॉ. एल आर सैनी एवं विद्यालय स्टॉफ की भूमिका बेहद अहम रही है। कार्यक्रम में ट्रस्ट सदस्य डॉ. मुकेश चन्द प्रजापत, डॉ. अनिल जैन, नंद किशोर, रजनी यादव, इमरत लाल, मनीष भार्गव, घनश्याम, योगेश इत्यादि विद्यालय स्टॉफ मौजूद रहा।

error: Content is protected !!