• Wed. Aug 10th, 2022

जेट एयरवेज की घर वापसी

ByRameshwar Lal

Jun 22, 2021

भारतीय एयरलाइन इंडस्ट्री में जेट एयरवेज की वापसी लगभग तय हो चुकी है। नेशनल कंपनी लॉ ट्रिब्यूनल (NCLT) ने मंगलवार यानी 22 जून को कंपनी के रिज्योलूशन प्लान को मंजूरी दे दी है। इसे कंपनी के नए ओनर कालरॉक कैपिटल और मुरारी लाल जालान ने भरा था।

अब एयरपोर्ट पर जेट एयरवेज को अपने स्लॉट का इंतजार है। इस पर NCLT ने सिविल एविएशन मिनिस्ट्री (MCA) और डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) को स्लॉट देने के लिए 90 दिन का समय दिया है। स्लॉट पर अंतिम फैसला DGCA का ही होगा।

जेट एयरवेज के लिए इंसॉल्वेंसी रिज्योलूशन प्रोफेशनल (IRP) आशीष झावरिया ने कहा कि वे NCLT के इस फैसले से खुश हैं। उन्होंने यह भी कहा कि उन्हें DGCA द्वारा फैसले को चुनौती देने का कोई कारण नहीं दिखता। हालांकि, सरकारी सूत्रों ने बताया कि DGCA और सिविल एविएशन मिनिस्ट्री स्लॉट जारी करने से पहले NCLT के फैसले का स्टडी करेंगे।

स्लॉट को लेकर सिविल एविएशन मिनिस्ट्री (MCA) और डायरेक्टोरेट जनरल ऑफ सिविल एविएशन (DGCA) ने कोर्ट में एफिडेविट जमा किया है, जिसके मुताबिक जेट एयरवेज अपने पुराने स्लॉट के लिए दावा नहीं कर सकता है। दोनों ने कहा कि स्लॉट के लिए तय गाइडलाइन का ही पालन किया जाएगा।

नए एयरक्राफ्ट के लिए एयरबस और बोइंग से बातचीत जारी
बिजनेस चैनल CNBC -TV18 के मुताबिक जेट एयरवेज नए एयरक्राफ्ट के लिए बोइंग और एयरबस जैसी बड़ी कंपनियों से बातचीत कर रही है। दरअसल, जेट एयरवेज की योजना सभी पुराने 11 एयरक्राफ्ट को फ्लीट से रिटायर करने की है। इसकी जगह नए फ्यूल क्षमता वाले एयरक्राफ्ट को लीज पर लेने की तैयारी है।

कर्मचारियों की भर्ती होगी
मीडिया रिपोर्ट के मुताबिक कंपनी हर एयरक्राफ्ट के लिए 50-75 एंप्लॉई की हायरिंग कर सकती है। बता दें कि आर्थिक संकट की वजह से अप्रैल 2019 को जेट एयरवेट की सभी उड़ानें बंद हो गई थीं। जेट के पास कुल 120 फ्लाइट थी। हालांकि जब कंपनी बंद हुई तो इसके पास केवल 16 फ्लाइट रह गई थी।

error: Content is protected !!