• Mon. Aug 8th, 2022

लोगों को रास आ रहा गोल्ड ETF, अप्रैल-जून तिमाही में इसमें 1,328 करोड़ रुपए का निवेश हुआ

ByRameshwar Lal

Jul 18, 2021

निवेशकों को गोल्ड एक्सचेंज ट्रेडेट फंड (Gold ETF) काफी रास आ रहा है। एसोसिएशन ऑफ म्यूचुअल फंड्स इन इंडिया (MFII) द्वारा जारी आंकड़ों के अनुसार 2021 की अप्रैल-जून तिमाही में इसमें 1,328 करोड़ रुपए का निवेश किया है। पिछले साल समान तिमाही में गोल्ड ETF में निवेश का आंकड़ा 2,040 करोड़ रुपए रहा था। एक्सपर्ट्स के अनुसार आने वाले दिनों में इसमें निवेश बढ़ सकता है।

16,225 करोड़ रुपए हुआ AUM
MFII के आंकड़ों के अनुसार 2021 के पहले 3 महीनों में गोल्ड ETF में 1,779 करोड़ रुपए का निवेश आया। उसके बाद के 3 महीनों में निवेश का आंकड़ा 1,328 करोड़ रुपए रहा। निवेश का प्रवाह घटने के बावजूद गोल्ड ईटीएफ के प्रबंधन के तहत परिसंपत्तियां (AUM) जून, 2021 के अंत तक बढ़कर 16,225 करोड़ रुपए पर पहुंच गईं। जून 2020 के आखिर तक AUM 10,857 करोड़ रुपए रहा था।

सोने में निवेश दिला सकता है फायदा
IIFL सिक्योरिटीज के वाइस प्रेसिडेंट (कमोडिटी एंड करेंसी) अनुज गुप्ता कहते हैं कि जुलाई के बाद अगस्त से सराफा बाजार में सोने की मांग बढ़ेगी। इससे ये साल के आखिर तक फिर 55 हजार तक जा सकता है। इसीलिए निवेशकों को इस गिरावट से घबराने की जरूरत नहीं है। ज्वैलरी संगठन इंडियन बुलियन एंड जूलर्स एसोसिएशन की वेबसाइट के अनुसार सर्राफा बाजार में सोना अभी 48,273 पर है। वहीं MCX पर ये शनिवार को 48,058 रुपए प्रति 10 ग्राम पर बंद हुआ था।

सोने में सीमित निवेश फायदेमंद
रूंगटा सिक्योरिटीज के सर्टिफाइड फाइनेंशियल प्लानर हर्षवर्धन रूंगटा कहते हैं भले ही आपको सोने में निवेश करना पसंद हो तब भी आपको इसमें सीमित निवेश ही करना चाहिए। एक्सपर्ट के अनुसार कुल पोर्टफोलियो का सिर्फ 10 से 15% ही सोने में निवेश करना चाहिए। किसी संकट के दौर में सोने में निवेश आपके पोर्टफोलियो को स्थिरता दे सकता है, लेकिन लंबी अवधि में यह आपके पोर्टफोलियो के रिटर्न को कम कर सकता है।

error: Content is protected !!