• Tue. Aug 9th, 2022

आपदा प्रबंधन के गुर सीखे कोरोना आपदा प्रशिक्षण शिविर

ByKhushbu Jain

Jun 26, 2021

सरदारशहर। उच्च अध्ययन शिक्षा संस्थान मानित विश्वविद्यालय गांधी विद्या मंदिर और भंवरलाल दुगड़ आयुर्वेद विश्व भारती गांधी विद्या मंदिर के संयुक्त तत्वावधान में कोरोना आपदा प्रबंधन प्रशिक्षण कार्यक्रम संचालित किया जा रहा है। इस कार्यक्रम में शिक्षा संकाय के प्रशिक्षणार्थियों को डॉक्टर योगेश्वर दयाल बंसल ने आहार आसन और निद्रा संयमन से कैसे हम अपने जीवन को ठीक रख सकते हैं की जानकारी दी। डॉ सुनीता गुप्ता ने एनिमेशन पिक्चर के माध्यम से कोरोना वायरस बचाव के उपाय बताएं और प्रोफ़ेसर ऑफ हाउ के वीडियो के माध्यम से वैक्सीनेशन और कोरोना से कैसे बचे की जानकारी दी। डॉ रविंद्र चौधरी प्राचार्य आयुर्वेद विश्व भारती के द्वारा नियमित रूप से प्रातः 6:00 से 7:00 बजे क्वाथ निर्माण प्रक्रिया की जानकारी दी जाती है। साथ ही ऑक्सीजन सिलेंडर और कंस्ट्रक्टर का प्रयोग कैसे करें। उसका प्रायोगिक अभ्यास करवाया जा रहा है। डॉक्टर श्रीदेवी ने कोरोना वायरस निदान की जानकारी दी। डॉक्टर ऐश्वर्या शर्मा एवं धनराज नागर के द्वारा भद्रासन ग्रीवा संचालन सुखासन जल नेती विभिन्न आसन एवं प्राणायाम का अभ्यास नियमित रूप से प्रातः कालीन सत्र में करवाया जा रहा है। डॉक्टर अजय शर्मा ने संक्रमित का चिकित्सकीय प्रबंधन किस प्रकार हो से अवगत करवाया। डॉ पंकज ने ग्रामीण क्षेत्र में शिविर का संचालन कैसे करें और साथ ही कम संसाधनों के अंदर हम कैसे मरीज को ठीक करें और नेबुलाइजर का प्रयोग विद्यार्थियों को बताया। डॉक्टर प्रिया ने संक्रमित से असंक्रमित कैसे करें और हॉस्पिटल में कौन-कौन सी सुविधाएं हमें रखनी होती है। साथ ही अपने कक्ष के अंदर कैसे हम हिट सनलाइट या सैनिटाइज का प्रयोग करके वायरस को खत्म कर सकते हैं की जानकारी दी। डॉ नेहा त्रिवेदी ने स्वच्छता के महत्व पर प्रकाश डाला। शिक्षा संकाय से डॉक्टर विकास सैनी कुलराज व्यास ने सभी प्रशिक्षणार्थियों को सायंकाल कृषि विज्ञान केंद्र की विजिट करवाई और वृक्षारोपण फसलों की किस्म की जानकारी दी। प्रोफेसर लोकेश शर्मा ने संक्रमित व्यक्ति के लक्षणों की पहचान कर निदान करने के बारे में बताया। डॉ दीपक शर्मा ने सद वृत्ति का अर्थ संप्रत्य एवं प्रकारों की जानकारी देते हुए मानसिक और शारीरिक विकारों को से कैसे दूर किया जा सकता है कि जानकारी दी डॉ राहुल कुमार ने ऑकसो मीटर एवं डॉ सुरेश लंबोरिया ने पीपीई किट की समस्त जानकारी दी। साथ ही रोगी को भर्ती करना, किट पहनना और किट पहनने के बाद कौन-कौन सी सावधानी रखनी है। उससे अवगत करवाया। गांधी विद्या मंदिर की समस्त प्रवृत्तियों की प्रशिक्षणार्थियों को विजिट करवाई गई। नियमित रूप से योग प्राणायाम और क्वाथ सेवन के साथ साथ समापन कार्यक्रम में सभी प्रशिक्षणार्थियों को प्रमाण पत्र वितरित किए गए।

error: Content is protected !!