• Tue. Aug 9th, 2022

गोगामेड़ी के नवनिर्मित द्वार का लोकार्पण

ByRameshwar Lal

Jul 24, 2021


जयपुर टाइम्स
चूरू(निसं.)। जिला मुख्यालय पर स्थित मुख्य गोगामेड़ी में भामाशाह सूर्यकरण चंदनमल सारस्वत द्वारा नवनिर्मित भव्य द्वार का लोकार्पण संत शिरोमणि प्रबल महाराज के परम शिष्य संत गुणप्रकाश चौतन्य ने किया। गुरु पूर्णिमा की पूर्व संध्या आयोजित कार्यक्रम में चंदनमल सारस्वत ,अशोक सारस्वत, महेंद्र शर्मा ने तिलकार्चन, माल्यार्पण तथा शाल ओढ़ाकर संत गुणप्रकाश चौतन्य का अभिनंदन किया। गोगामेड़ी ट्रष्ट के विश्वनाथ शर्मा व भागीरथ चौधरी ने भामाशाह चंदनमल का सम्मान माल्यार्पण व स्मृति चिन्ह भेंट कर किया। कार्यक्रम में संत गुणप्रकाश ने कहा कि जो मनुष्य समाज व मानव सेवा कार्य में अपने उपार्जन में से खर्च करते हैं वे व्यक्ति साधारण न होकर महामानव का स्वरूप है । हर व्यक्ति को ऐसे व्यक्तित्व से प्रेरणा लेकर समाज हित व देश सेवा कार्यो में तन मन धन से सेवा देनी चाहिए। उन्होंने गोगामेडी पर किए गए कार्यों में सहयोग करनेवाले व्यक्तित्वों की सेवा को अनुकरणीय बताया। सराहना की। उन्होंने हिमाचल, उत्तराखंड और हरियाणा की सीमा पर स्थित आदि बद्री धाम (यमुनानगर )आकर मौजूद सरस्वती नदी का दर्शन करने का आह्वान भी किया । कार्यक्रम का संचालन विश्वनाथ शर्मा राजगुरु ने किया। इस अवसर पर संपत धूत, राजेंद्र चौबे ,रामअवतार लोहिया ,पवन पीपलवा, श्रवण कुमार भाटी, चंद्रप्रकाश ढंड ,डॉ सुरेंद्र शर्मा, प्रमोद मंडावेवाला, विमल सारस्वत, महेश मिश्रा, संतोष महनसरिया राजेंद्र ठठेरा, लिखमाराम प्रजापत, कालू महर्षि, संदीप पाटील आदि ने संत का स्वागत किया। इस अवसर पर शहर के गणमान्य नागरिक उपस्थित थे।

error: Content is protected !!