• Wed. Aug 10th, 2022

आमजन को मिले बेहतर बिजली, पानी और स्वास्थ्य सेवाएं : भाटी

ByRameshwar Lal

Jun 29, 2021

प्रभारी मंत्री ने जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में कोविड प्रबंधन, बिजली, पानी आपूर्ति सहित विभिन्न बिंदुओं पर समीक्षा कर अधिकारियों को दिए निर्देश, कहा-राज्य सरकार ने किया कोविड का अभूतपूर्व प्रबंधन, कोरोना की तीसरी लहर से बचाव के लिए अभी से ही करें पुख्ता तैयारी



जयपुर टाइम्स
चूरू(निसं.)। उच्च शिक्षा राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) एवं जिला प्रभारी मंत्री भंवर सिंह भाटी ने कहा है कि कोविड-19 की पहली व दूसरी लहर के प्रबंधन में राजस्थान ने बहुत अच्छे ढंग से काम किया है। कोरोना की तीसरी लहर की आशंका के मध्येनजर उससे बचाव एवं नियंत्रण के लिए अभी से ही पूरी तैयारी करके रखें ताकि कम से कम लोग संक्रमित हों तथा हम ज्यादा से ज्यादा लोगों की सुरक्षा कर सकें। प्रभारी मंत्री सोमवार को जिला परिषद सभागार में आयोजित जिला स्तरीय अधिकारियों की बैठक में कोविड-19 प्रबंधन, बिजली, पानी सहित विभिन्न मसलों पर अधिकारियों एवं जनप्रतिनिधियों से चर्चा कर रहे थे। बैठक में सादुलपुर विधायक कृष्णा पूनिया, जिला कलक्टर सांवर मल वर्मा, एडीएम पीआर मीना, एएसपी योगेंद्र फौजदार सहित अधिकारीगण मौजूद थे। प्रभारी मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार के निर्देशानुसार कोविड स्वास्थ्य सहायक सहित स्वास्थ्यकर्मियों की भर्ती का काम शीघ्र पूरा करें। मुख्यमंत्री चिरंजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना से निजी अस्पतालों को जोड़ें, वैक्सीनेशन की स्थिति में सुधार करें। स्वास्थ्य केंद्रों पर उपलब्ध कराए गए कंसन्ट्रेटर उपयोग के अभाव में खराब नहीं हो जाएं, यह सुनिश्चित करें। प्रभारी मंत्री ने कहा कि डोर टू डोर सर्वे का काम पूरे राजस्थान में ही बहुत अच्छा हुआ है। डोर टू डोर सर्वे के लिए जाने वाली टीम लोगों को कोविड वैक्सीनेशन एवं मुख्यमंत्री चिंरजीवी स्वास्थ्य बीमा योजना में रजिस्ट्रेशन के लिए प्रेरित करें। जन-जागरुकता के लिए सभी विभागों के लोगों को साथ जोड़ें। लोगों को समझाएं कि कोविड की तीसरी लहर की आशंका है, इसलिए किसी प्रकार की लापरवाही नहीं बरतें। प्रभारी मंत्री ने अधिकारियों से कहा कि क्षेत्र की समस्याओं एवं विकास कार्यों के संबंध में जनप्रतिनिधियों के फीडबैक पर विशेष ध्यान दें तथा उनकी राय की उपेक्षा नहीं करें। जनप्रतिनिधि जनता की आवाज होता है तथा उसे क्षेत्र एवं कार्यों की व्यावहारिक समस्याओं का पता रहता है, इसलिए विकास कार्यों एवं योजनाओं के क्रियान्वयन में उनकी मदद लें।
गर्मियों में नहीं हो पेयजल की समस्या
प्रभारी मंत्री ने कहा कि गर्मियों के मौसम में लोगों को पेयजल की समस्या नहीं आनी चाहिए। ग्रामीणों को समुचित पेयजल एवं बिजली आपूर्ति हो, यह सुनिश्चित करें। गर्मियों के दौरान पेयजल के सभी स्रोत ठीक रखें, टैंकर वगैरह की जरूरत हो तो चलाएं लेकिन पेयजल के लिए किसी को परेशान नहीं होना पड़े, यह ध्यान रखें। प्रभारी मंत्री ने डिस्कॉम एसई के के कस्वां से कहा कि जनवरी तक डिमांड नोटिस जमा कराने वाले समस्त किसानों को अगली फसल से पहले कृषि कनेक्शन दिया जाना सुनिश्चित करें। उन्होंने कहा कि किसान सारा पैसा खर्च करके बैठा है, उसे जल्दी कनेक्शन मिलना चाहिए ताकि वह अपने खेत में उपज ले सके।
सरकार की योजनाओं का मिले जरूरतमंदों को लाभ
प्रभारी मंत्री ने कहा कि राज्य सरकार ने कोविड का बहुत शानदार प्रबंधन किया, जिसके लिए स्वयं प्रधानमंत्री ने भी मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि मुख्यमंत्री चिरंजीवी योजना के अलावा राज्य सरकार ने कोविड-19 महामारी के कारण प्रभावित परिवारों, अनाथ, विधवाओं के लिए अत्यंत महत्त्वपूर्ण कोरोना बाल कल्याण योजना शुरू की है। सभी अधिकारी यह सुनिश्चित करें कि इन योजनाओं का लाभ पात्र परिवारों तक पहुंचे। उन्होंने विधायक निधि के विकास कार्यों पर चर्चा करते हुए कहा कि अभिशंषा के साथ ही तत्काल प्रक्रिया पूर्ण कर समस्त स्वीकृतियां जारी होनी चाहिए ताकि लोगों को उसका लाभ मिलना शुरू हो। उन्होंने कहा कि विधायक निधि से स्वास्थ्य उपकरणों की खरीद आदि समय पर कर लें। प्रभारी मंत्री ने जयपुर रोड पर आरओबी की जांच के संबंध में पूछा, जिस पर सानिवि एसई ने बताया कि 15 जुलाई तक एमएनआईटी की टीम आकर जांच करेगी। उन्होंने वन विभाग की घर-घर औषधीय पौधे बांटने की योजना के समुचित क्रियान्वयन के निर्देश दिए।
पौधरोपण के सर्वाइवल की भी हो समीक्षा : पूनिया
सादुलपुर विधायक कृष्णा पूनिया ने बैठक में विभिन्न मसलों पर चर्चा करते हुए कहा कि अधिकारी संवेदनशीलत और सक्रियता के साथ सरकारी योजनाओं को जनता तक पहुंचाएं। उन्होंने सादुलपुर क्षेत्र के विभिन्न गांवों की पेयजल समस्याओं पर चर्चा करते हुए कहा कि जिन अधिकारियों की लापरवाही के कारण समस्या हो रही है, उन पर समुचित कार्यवाही होनी चाहिए। उन्होंने बताया कि कई गांवों में प्रतिदिन जलापूर्ति नहीं हो रही है। विधायक के ध्यानाकर्षण पर प्रभारी मंत्री ने जलदाय विभाग के अधीक्षण अभियंता जे आर नायक को निर्देश दिए कि वे स्वयं मौके पर जाकर विधायक द्वारा बताई जा रही जलापूर्ति संबंधी शिकायत और अधिकारियों की लापरवाही की जांच करें। पूनिया ने कहा कि शहरी एवं ग्रामीण क्षेत्र में चिकित्सा सुविधाओं पर विशेष ध्यान दिया जाना चाहिए।

वृक्षारोपण अभियान पर चर्चा करते हुए पूनिया ने कहा कि पौधे लगाने के साथ-साथ उनकी देखभाल भी बहुत महत्त्वपूर्ण है। हर साल जितना पौधरोपण होता है, उसके सर्वाइवल की भी समीक्षा होनी चाहिए। महात्मा गांधी जीवन दर्शन समिति के संयोजक रियाजत खान ने गाजसर गेनाणी समस्या के स्थाई समाधान का अनुरोध किया, जिस पर प्रभारी मंत्री ने नगर परिषद कमिश्नर को निर्देशित किया।

वृक्षारोपण के नवाचारों की राष्ट्रीय स्तर पर चर्चा

जिला कलक्टर सांवर मल वर्मा ने जिले में विकास कार्यों एवं कल्याणकारी योजनाओं के क्रियान्वयन की जानकारी देते हुए बताया कि तारानगर ब्लॉक में महानरेगा अंतर्गत पौधरोपण में पारिवारिक वानिकी आदि विशेष नवाचार किए गए हैं तथा मटका पद्धति से पौधेरोपण किया जा रहा है, इन नवाचारों की चर्चा राष्ट्रीय स्तर तक हुई है। उन्होंने अधिकारियों से कहा कि बैठक में दिए गए निर्देशों की समुचित पालना करें और बैठक में पूरी तैयारी के साथ आना सुनिश्चित करें। उन्होंने वैक्सीन के वेस्टेज संबंधी वास्तविकताओं की जानकारी देते हुए कहा कि आवंटित वैक्सीन की डबल एंट्री के कारण भ्रामक स्थिति उत्पन्न हुई। वर्तमान में प्राप्त हो रही वैक्सीन का अधिकतम उपयोग सुनिश्चित किया जा रहा है।

अधिकारियों ने दी प्रगति की जानकारी

सीईओ सत्तार खान ने महानरेगा सहित ग्रामीण विकास से जुड़ी विभिन्न योजनाओं की जानकारी दी। सीएमएचओ डॉ मनोज शर्मा ने जिले में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति एवं स्वास्थ्य केंद्रों पर संसाधनों की सुदृढीकरण के बारे में बताया। सानिवि एसई सुनील कालानी ने जिले में विधायकों की अनुशंषा पर स्वीकृत कार्यों सहित विभिन्न विकास परियोजनाओं की प्रगति के बारे में बताया। कृषि उपनिदेशक दीपक कपिला ने बताया कि जिले में डीएपी, यूरिया एवं बीज पर्याप्त मात्रा में उपलब्ध है। आईसीडीएस के उपनिदेशक डॉ नरेंद्र शेखावत ने बताया कि जिले में 133 आंगनबाड़ी केंद्रों पर न्यूट्री गार्डन बनाए गए हैं तथा 200 अन्य केंद्रों पर पोषण वाटिकाएं स्थापित की जा रही हैं। इस दौरान एडीएम पीआर मीना, एएसपी योगेन्द्र फौजदार, एसीईओ डॉ नरेंद्र चौधरी, एसडीएम अभिषेक खन्ना, पुलिस उपाधीक्षक ममता सारस्वत, पीएमओ डॉ एफएच गौरी, डिस्कॉम एसई के के कस्वां सहित अधिकारीगण मौजूद थे।


error: Content is protected !!