• Wed. Aug 10th, 2022

टैक्स माफ करने व 25 प्रतिशत किराया बढ़ोतरी करने को लेकर यूनियन ने सौंपा ज्ञापन

ByRameshwar Lal

Jul 23, 2021


जयपुर टाइम्स
चूरू(निसं.)। जिला परिवहन विभाग में डीटीओ को ज्ञापन सौंपते हुवे प्राइवेट बस यूनियन के अध्यक्ष रणवीर सिंह कस्वां ने बताया कि पिछले 16 माह से कोरोना की वैश्विक महामारी आपदा के कारण आम जनजीवन अस्त-व्यस्त हो गया है राजस्थान राज्य अपितु पुरे भारत में वायुयान, रेलयान के साथ-साथ हमारी सभी यात्री बसें भी पूर्ण रूप से प्रभावित होकर पतन की ओर अग्रसर हैं यात्री भार के अभाव में गत 16 माह से अब तक हमारी बसें खड़ी हुई हैं या कुछ बसें ही चल पाई हैं वह भी घाटे में रह कर क्योंकि मार्ग पर यात्री नहीं हैं तथा डिजल-पैट्रोल के भाव आसमान छू रहे हैं व राज्य में शादी, बारात, धार्मिक यात्रा, पिकनिक, पार्टी, पर्यटक स्कूल कॉलेज, फैक्ट्री संस्थान, अस्पताल आदि में कार्य हेतु आने-जाने हेतु यात्रियों का भी भारी अभाव रहा है। इसके बावजूद परिवहन विभाग का टैक्स भी कर्जा करके समय पर जमा करवाया है। इन्श्योरेन्स का रूपया भी बरबाद हुआ है, बैंक के लोन की किस्त बस मालिकों पर टैक्स, फाइनेन्स, इन्सोरेन्स, टायर व मोटर मैन्टेनेन्स, कार्यालय खर्च आदी का कर्ज चड़ चुका है और कोई रास्ता नहीं सुझ रहा है आगे निकट भविष्य में भी व्यापार की कोई सकारात्मक सम्भावना नजर नहीं आ रही है। इस बार हम निजी बस ऑपरेटरों को जीवनदान देने की सख्त आवश्यकता है। इस बस व्यवसाय में ज्यादातर छोटे-छोटे बस संचालक हैं। जिन्होने भारी कर्जे के कारण डिप्रेशन में आकर या तो आत्म हत्या कर ली या अकाल मृत्यू को गले लगा लिया। यदि जल्द हि हम सब को सरकार की ओर से आर्थिक सहायता पैकेज नहीं मिली तो कई बस ऑपरेटर बेरोजगार हो जायेगे व बसे-बसाये घर उजड़ जायेंगे। इस वैश्विक महामारी के चलते हमारी बसों का पूर्ण रूप से संचालन होने की कोई उम्मिद नहीं कि जा सकती अत: निवेदन है कि हमें टैक्स में राहत देते हुए कम-से-कम एक वर्ष का टैक्स माफ किया जावे, बिना किसी शर्त के आरसी सरेण्डर की जावे, लॉक डाउन के दौरान बीमा अवधि बढ़ाने के लिए राज्य सरकार द्वारा अनुशंसा बीमा कम्पनियों को किया जावे व 25 प्रतिशत किराये में बढ़ोतरी की जावे। तथा राज्य सरकार द्वारा लगातार प्रतिदिन हो रही डीजल की मूल्य वृद्धी पर रोक लगा कर दूसरे राज्यों के समतुल्य भाव किये जायें। इससे पहले भी 14 जून को इन्हीं मांगों को लेकर परिवहन मंत्री और परिवहन आयुक्त के नाम जिलेवार आरटीओ व डीटीओ को ज्ञापन सौंपा था जिस पर सरकार ने कोई कार्यवाही नहीं की है। मजबूरन अब आन्दोलन शुरू किया जायेगा चेतावनी के तौर पर फिलहाल आज एक दिन का चक्का झाम किया है यदि सरकार फिर भी मांगों को नहीं मानती है तो प्रदेश भर में निजी बस संचालक अनिश्चित कालिन हड़ताल पर चले जायेंगे। बस यूनियन के वाहन चालकों ने डीटीओ के समक्ष वाहन की चाबियां सौंपी। इस अवसर पर शीशराम बेनीवाल, सरवर, विष्णु स्वामी, प्रमोद भाकर, राजेश जांगिड़, मनोज सहारण, शमशेर खा, शरीफ कुरेशी, राजू पातुसर, डेडराज, मनोज लोसनिया, मनोज सैनी, राजू खां, सांवरमल सैनी, ताराचंद , विजय कुमार, चंदगीराम, शेर खां, राजेन्द्र सिंह हनुमानपुरा, आदि ने डीटीओ को ज्ञापन सौंपा।

error: Content is protected !!