• Wed. Aug 10th, 2022

जो बाइडेन ने मानवाधिकार पर घेरा,पुतिन सायबर अटैक पर नहीं झुके अमेरिका और रूस ने एक-दूसरे को महाशक्ति बताया

ByRameshwar Lal

Jun 17, 2021

बुधवार को जिनेवा में अमेरिका के राष्ट्रपति जो बाइडेन और रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन के बीच बैठक हुई, जो चार घंटे तक चली। बैठक में अमेरिका के विदेश मंत्री एंटनी ब्लिंकन और रूस के विदेश मंत्री सर्गेई लावरोव भी मौजूद थे। वार्ता से पहले दोनों ही नेताओं को एक-दूसरे को महाशक्ति बताया। हालांकि बाइडेन ने बैठक के बाद मीडिया से बात नहीं की। वे मीडिया को हाथ दिखाकर चले गए। बाद में उन्होंने कहा कि यह बातचीत आपसी भरोसे के बारे में नहीं है। बल्कि, यह अपने अपने हित का मामला है। फिलहाल मैं भरोसा करता हूं। आगे देखते हैं क्या होता है।

मैंने उन्हें बताया कि हमारे पास महत्वपूर्ण सायबर क्षमता है और वो यह जानते हैं। अगर, वे इन बुनियादी मानदंडों का उल्लंघन करते हैं, तो हम जवाब देंगे। बाइडेन ने कहा कि मानवाधिकार उल्लंधन के मामलों को नजरअंदाज नहीं किया जा सकता। वहीं दूसरी ओर, वार्ता के बाद पुतिन ने मीडिया से बातचीत की।

उन्होंने कहा, ‘हम नहीं मानते कि दोनों देशों के बीच कोई शत्रुता है। दोनों देश अपने-अपने देशों से निष्कासित किए गए राजनयिकों को वापस बुलाने पर राजी हुए हैं।’ पुतिन ने कहा, ‘रूस ने सायबर हमले के मुद्दे पर अमेरिका को विस्तृत जानकारी दी है। लेकिन अमेरिका ने इस पर कोई जवाब नहीं दिया है।

दोनों देश सायबर सुरक्षा पर बात करने के लिए सहमत हैं।’ पुतिन ने बाइडेन को अनुभवी राजनेता बताया। उन्होंने कहा, ‘बाइडेन पूर्व अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रम्प से बहुत अलग हैं।’ पुतिन से जेल में बंद उनके विरोधी एलेक्सी नवेलनी के बारे में पूछा गया। इस पर पुतिन ने कहा कि घटना की निष्पक्ष रिपोर्टिंग नहीं हुई।’ पुतिन ने यह भी बताया कि दोनों पक्षों ने यूक्रेन के नाटो गठबंधन में लौटने पर चर्चा की है।

बाइडेन का सैन्य कार्रवाई की चेतावनी से इनकार

एक पत्रकार ने बाइडेन से पूछा कि क्या उन्होंने हालिया रैंसमवेयर अटैक को लेकर राष्ट्रपति पुतिन को सैन्य कार्रवाई की चेतावनी दी है। इस पर अमेरिकी राष्ट्रपति बोले- नहीं, सैन्य एक्शन को लेकर हमारे बीच कोई बात नहीं हुई। बाइडेन ने कहा कि जिम्मेदार देशों को अपने क्षेत्र में रैंसमवेयर गतिविधियों का संचालन करने वाले अपराधियों के खिलाफ कार्रवाई करने की आवश्यकता है।

नए शीत युद्ध की गुंजाइश नहीं, हमारी पीढ़ी में अंतर

सायबर हमलों से जुड़े एक प्रश्न पर बाइडेन ने कहा कि मुझे नहीं लगता कि वह अमेरिका के साथ शीतयुद्ध की तैयारी में है। जैसा कि मैंने उनसे कहा है कि आपकी और मेरी पीढ़ी लगभग 10 साल अलग हैं। लेकिन यह स्पष्ट है कि यह किसी के हित में नहीं है। बाइडेन ने कहा कि उन्हें भरोसा है कि पुतिन 60 के दौर का ‘आओ गले लगें और साथ चलें’ दोहराएंगे। सम्बंध आपसी रिश्तों पर ही चलेेंगे।

error: Content is protected !!