• Wed. Aug 10th, 2022

2 साल में सैन्य विमान दुर्घटना के हुए 4 हादसे

ByRameshwar Lal

Jul 4, 2021

फिलीपींस में रविवार को एक बड़ा विमान हादसा हुआ। यहां सैन्य बलों को लेकर जा रहा वायुसेना का C-130 विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें 29 लोग मारे गए। 17 अब भी लापता हैं। विमान में 3 चालकों और 5 क्रू मेंबर्स समेत 85 लोग सवार थे।

म्यांमार: मिलिट्री प्लेन क्रैश में 12 लोगों की मौत
म्यांमार में पिछले जून 2021 में एक बड़ा मिलिट्री प्लेन क्रैश हुआ था। 10 जून को हुए इस हादसे में 12 लोगों की मौत हो गई थी। प्लेन में 6 क्रू मेंबर्स और 8 यात्री सवार थे। बताया गया कि खराब मौसम के चलते यह हादसा हुआ था। विमान से संपर्क उस वक्त टूट गया जब वो एयरपोर्ट के पास स्थित स्टील फैक्ट्री के 400 मीटर की ऊंचाई पर उड़ान भर रहा था। हादसे के बाद जो तस्वीरें सामने आई थीं उनमें विमान के टुकड़ों को देखा जा सकता है।

 रूस: मिलिट्री प्लेन क्रैश में 3 पायलट्स की गई जान

यूक्रेन: मिलिट्री प्लेन क्रैश में मारे गए 26 लोग

सूडान: मिलिट्री ट्रांसपोर्ट प्लेन क्रैश में बच्चों समेत 18 की मौत
जनवरी 2020 में सूडान में एक मिलिट्री ट्रांसपोर्ट प्लेन क्रैश में चार बच्चों समेत 18 लोगों की मौत हो गई थी। पश्चिमी दारफुर प्रांत की राजधानी एल-जिनीना में एक हवाई अड्डे से उड़ान भरने के पांच मिनट बाद विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जो कि उस इलाके में मदद-कार्य में लगा हुआ था। यहां आदिवासी समूहों के बीच अक्सर झड़प होती रहती है। सेना के प्रवक्ता आमेर मोहम्मद अल-हसन ने बताया कि एल जिनीना से उड़ान भरने के बाद गुरुवार रात एक एंटोनोव-12 सैन्य विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया, जिसमें उसके 7 क्रू मेंबर्स, 3 जज और 4 बच्चों सहित 18 लोगों की मौत हो गई।यूक्रेन में सितंबर 2020 में बड़ा मिलिट्री क्रैश हुआ था। 26 सितंबर को हुए इस हादसे में 26 लोगों की मौत हो गई थी। विमान में 20 युवा कैडेट्स और 7 क्रू मेंबर्स सवार थे। यूक्रेन के राष्ट्रपति व्लादिमिर जेलेंस्की ने हादसे के बाद घटनास्थल का दौरा किया था। एंटोनोव -26 परिवहन विमान स्थानीय समयानुसार रात 8:50 बजे (17:50 GMT), चुहिव सैन्य हवाई अड्डे से दो किलोमीटर (1 मील) की दूरी पर दुर्घटनाग्रस्त हो गया। दुर्घटना के बाद विमान में आग लग गई। आग पर काबू पाने में एक घंटे लगे।मार्च 2021 में रूस में हुए एक मिलिट्री प्लेन क्रैश में तीन पायलट्स की मौत हो गई थी। रूसी रक्षा मंत्रालय ने बताया था कि Tu-22 स्ट्रैटजिक बॉम्बर की इजेक्शन सीट्स में खराबी के चलते हादसा हुआ। रक्षा मंत्रालय ने कहा, ‘कलुगा इलाके के हवाई क्षेत्र में एक Tu-22M3 फ्लाइट के लिए ग्राउंड पर योजनाबद्ध तैयारी के दौरान इंजेक्शन सिस्टम में खराबी आ गई थी। पैराशूट तैनात करने के लिए ‘अपर्याप्त ऊंचाई’ के कारण चालक दल के 3 सदस्यों को गंभीर चोटें आईं, जिससे उन्होंने दम तोड़ दिया।

error: Content is protected !!