• Tue. Aug 9th, 2022

इराक में अमेरिकी दूतावास पर हमला:बगदाद में US एम्बेसी पर एक के बाद एक तीन रॉकेट दागे गए

ByRameshwar Lal

Jul 8, 2021

पिछले साल न्यूयॉर्क में कोरोना पर काफी हद तक नियंत्रण में कामयाबी मिली। लेकिन उसके बाद यहां बंदूक हिंसा में 75% की बढ़ोतरी हो गई। यह देख गवर्नर एंड्रयू क्यूमो ने न्यूयॉर्क में ‘बंदूक हिंसा आपातकाल’ लगा दिया है। राज्य सरकार यहां हिंसा रोकने के लिए 1,038 करोड़ रु. खर्च करेगी।

इस फंड से 567 करोड़ रु. 21 हजार नौकरियों के सृजन पर खर्च होंगे। उम्मीद है इससे युवा रोजगार पाकर सही राह पर आएंगे। क्यूमो के अनुसार गरीब, अश्वेत और लैटिनी समुदायों पर दूसरे समुदायों के मुकाबले 10 गुना तक अधिक हमले हो रहे हैं।

इस साल अब तक 886 लोगों को गोली मारी गई
न्यूयॉर्क शहर में 2020 में गोलीबारी के 1,500 से अधिक मामले दर्ज किए गए। यह 2019 की तुलना में करीब दोगुने हैं। इस साल 4 जुलाई तक 765 घटनाओं में 886 लोगों को गोली मारी गई। बफेलो, रोचेस्टर जैसे शहरों में भी बंदूक हिंसा में तेजी से बढ़ोतरी हुई है।

बंदूक तस्करों पर अंकुश लगाने फोर्स भेजेंगे: बाइडेन
राष्ट्रपति जो बाइडेन ने अफसरों को कोरोना के साथ बंदूक हिंसा पर भी फोकस करने को कहा है। उन्होंने हिंसा पर रोकथाम के लिए 37,320 करोड़ रु. खर्च करने का प्रस्ताव रखा है। उन्होंने कहा कि बंदूक तस्करों पर अंकुश लगाने के लिए देशभर में स्ट्राइक फोर्स भेजी जाएगी।

error: Content is protected !!