• Fri. Aug 12th, 2022

HPCL पेट्रोल पंप मालिकों से वसूली का खेल

ByRameshwar Lal

Jun 22, 2021

राजस्थान में हिंदुस्तान पेट्रोलियम कार्पोरेशन लिमिटेड (HPCL), कोटा जोन में फैले भ्रष्टाचार के खिलाफ एसीबी की ताबड़तोड़ कार्रवाई जारी है। मामले में एसीबी ने HPCL के एक और सेल्स मैनेजर वंदित कुमार (34) को सोमवार देर रात गिरफ्तार कर लिया। वहीं जांच में सामने आया है कि एचपीसीएल कोटा जोन में पेट्रोल पंप मालिकों से वसूली का खेल चल रहा था। जिसमें हर महीने डीजीएम तक रिश्वत पहुंचाई जा रही थी।

साथ ही जांच में यह पता चला है कि दलाल किशन विजय ने अपने भतीजे कपिल विजय के मार्फत निवाई में दीक्षा पेट्रोल पंप के मालिक प्रदीश वर्मा से दो लाख रुपए रिश्वत की रकम इकट्‌ठा की थी। लेकिन चाचा भतीजे ने डीजीएम राजेश सिंह को दो लाख रुपए देने के बजाए एक लाख रुपए ही दिए। बाकी एक लाख रुपए दोनों दलालों ने अपने पास रख लिए।

अब 6 लोगों की गिरफ्तारी

एसपी समीर कुमार सिंह के मुताबिक मामले में अब तक एचपीसीएल के डिप्टी जनरल मैनेजर राजेश सिंह, एक सेल्स मैनेजर वंदित कुमार, दलाली कर रहे दो पेट्रोल संचालक किशन विजय व प्रदीश वर्मा के अलावा रिश्वत के लेनदेन में सहयोगी बने दो युवकों अविनाश और कपिल विजय सहित कुल छह लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है।

कल रात गिरफ्तार हुआ वंदित कुमार उत्तरप्रदेश के अयोध्या जिले में कहघरा गांव, पटरांगा का रहने वाला है। वह राजस्थान के सवाईमाधोपुर जिले में HPCL का सहायक सेल्स मैनेजर है। आरोपी वंदित कुमार को मंगलवार को कोर्ट में पेश किया जाएगा। वह डीजीएम राजेश सिंह के भ्रष्टाचार में रिश्वत वसूलने में सहयोगी की भूमिका निभा रहा था।

error: Content is protected !!