• Fri. Aug 12th, 2022

पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय ‘नेता’ नहीं ‘बाबा’ बन गए

ByRameshwar Lal

Jun 26, 2021

VRS लेने के बाद अब अयोध्या में रमाते हैं धूनी, प्रवचन में तर्क के साथ बताते हैं- कैसे भगवान से मिलें

गेरुए रंग के कपड़े में इस व्यक्ति को पहचानने में थोड़ी दिक्कत जरूर होगी, लेकिन आप ध्यान से देखेंगे तो इन्हें पहचान भी जाएंगे। साथ में इनकी बातें भी याद आ जाएंगी। जी हां, ये हैं बिहार के पूर्व DGP गुप्तेश्वर पांडेय।

यह वही गुप्तेश्वर पांडेय हैं, जिन्होंने दिवंगत अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत केस में सुर्खियां बटोरी थी। बिहार चुनाव से पहले VRS लेकर चुनाव लड़ने की मंशा भी जताई थी। हालांकि, इस्तीफा देकर नेता बनने के चक्कर में राजनीतिक पेंच में फंस गए और टिकट भी नहीं मिला।

गुप्तेश्वर पांडेय अब प्रवचनकर्ता बन गए हैं। गेरुए रंग का कपड़ा पहनते हैं, माला पहनते हैं, आसन पर बैठते हैं और लोगों को ज्ञान की बातें सुनाते हैं। यह वीडियो अयोध्या का है। 16 जून को इन्होंने यह प्रवचन दिया था। प्रवचन में इन्होंने भगवान के अस्तित्व की चर्चा की थी कि उन्हें कैसे देखा जा सकता है, उन्हें देखने का साधन क्या हो सकता है।

इसको लेकर उन्होंने कई उदाहरण दिए। बताया कि भगवान को देखने के लिए यंत्र-तंत्र और साधन होते हैं। तभी कोई भगवान के पास पहुंच सकता है। गुप्तेश्वर पांडेय का यह रूप देखकर सभी आश्चर्य कर रहे हैं।

गुप्तेश्वर पांडे का इस तरह का यह पहला रूप नहीं है। इससे पहले वो गायक के रूप में भी दिख चुके हैं। भगवान भोलेनाथ पर इनका एल्बम भी आ चुका है और उसमें एक्टिंग भी कर चुके हैं।

सुपर कॉप के रूप में जाने जाने वाले गुप्तेश्वर पांडेय का यह चेहरा लोगों के सामने कम ही आ पाया था। VRS लेने के बाद इन्होंने अपने आपको अध्यात्म की तरफ मोड़ लिया है। आजकल इनका ज्यादा समय अयोध्या के हरिदास कॉलोनी के हरि सुदर्शन आश्रम में बीतता है। वे वहीं लोगों को धर्म की बात सुनाते हैं।

error: Content is protected !!