• Mon. Aug 8th, 2022

भास्कर ने मोदी सरकार की लापरवाही को निडरता से दिखाया – ममता बोलीं

ByRameshwar Lal

Jul 22, 2021

मानसून सत्र में दैनिक भास्कर ग्रुप पर सरकारी दबिश का मुद्दा विपक्ष ने जोर-शोर से उठाया है। विपक्षी सदस्यों ने राज्यसभा में भास्कर ग्रुप पर इनकम टैक्स विभाग के छापों का विरोध किया और नारेबाजी की। इसके बाद सदन दोपहर 2 बजे तक स्थगित कर दिया गया। इसके बाद कार्यवाही शुरू हुई, लेकिन भारी हंगामे की वजह से सदन कल तक के लिए स्थगित कर दिया गया। लोकसभा में भी हंगामा हुआ, यहां फोन टैपिंग और जासूसी का मुद्दा भी उठा। इसके बाद लोकसभा को पहले 4 बजे और फिर कल सुबह 11 बजे तक के लिए स्थगित कर दिया गया।

वहीं, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने पत्रकारों और मीडिया हाउस पर हमले को लोकतंत्र को कुचलने की कोशिश करार दिया है। उन्होंने कहा कि कोरोना के दौरान भास्कर ने मोदी सरकार की लापरवाही को निडरता से दिखाया। इसके बाद सरकार ने भी सफाई दी। कैबिनेट मीटिंग की ब्रीफिंग के दौरान पूछे गए सवाल के जवाब में केंद्रीय मंत्री अनुराग ठाकुर ने कहा कि एजेंसियां स्वतंत्र रूप से अपना काम करती हैं। सरकार इनमें दखलअंदाजी नहीं करती।

बता दें कि कोरोना की दूसरी लहर के दौरान देश के सामने सरकारी मिसमैनेजमेंट की असल तस्वीर रखने वाले दैनिक भास्कर ग्रुप के कई दफ्तरों पर गुरुवार तड़के इनकम टैक्स विभाग ने छापा मारा है। विभाग की टीमें दिल्ली, मध्य प्रदेश, महाराष्ट्र, गुजरात और राजस्थान स्थित दफ्तरों पर पहुंची हैं और कार्रवाई जारी है।

कांग्रेस बोली- सच को निर्भीकता से उजागर कर रहे मीडिया समूह को दबाने की कोशिश
भास्कर ग्रुप पर दबिश के बाद कांग्रेस नेता और मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री कमलनाथ ने कहा कि ये देश के सच को निर्भीकता से उजागर कर रहे मीडिया समूह को दबाने की कोशिश है। उधर दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने कहा कि छापे मीडिया को डराने का प्रयास हैं।

error: Content is protected !!