• Fri. Aug 12th, 2022

RSS में संगठन स्तर पर बड़ा बदलाव

ByRameshwar Lal

Jul 12, 2021

अगले साल उत्तर प्रदेश समेत 5 राज्यों में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) ने रविवार को संगठन स्तर पर बड़े बदलाव किए हैं। संघ ने सह सरकार्यवाह अरुण कुमार को भाजपा से समन्वय का काम सौंपा है।

इसके साथ ही अरुण कुमार को संघ के राजनीतिक संपर्क कार्य का भी जिम्मा सौंपा गया है। अरुण से पहले दोनों काम डॉ. कृष्ण गोपाल देखते थे। हालांकि, उन्हें अभी हटाया नहीं गया है।

RSS ने पश्चिम बंगाल में भी बड़ा बदलाव किया है। बंगाल और ओडिशा के क्षेत्रीय प्रचारक प्रदीप जोशी को संघ का अखिल भारतीय सह सम्पर्क प्रमुख बनाया गया है। बंगाल के प्रांत प्रचारक और जोनल प्रचारकों को भी बदला गया है। बता दें कि इसी साल मार्च-अप्रैल में पश्चिम बंगाल में हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को हार का सामना करना पड़ा था। पार्टी को यहां जिस जीत की उम्मीद थी, वो पूरी नहीं हो सकी।

चित्रकूट में RSS की अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की बैठक
चित्रकूट स्थित दीनदयाल शोध संस्थान के आरोग्यधाम परिसर में 09 जुलाई से शुरू हुई अखिल भारतीय प्रांत प्रचारक बैठक का समापन 12 जुलाई को होगा। इसमें संघ प्रमुख मोहन भागवत, सह सर कार्यवाह दत्तात्रेय होसबोले, भैयाजी जोशी, राममाधव, सुरेश सोनी, मदनदास देवी, कृष्ण गोपाल समेत कई प्रांत प्रचारक भी मौजूद हैं।

कोरोना के तीसरे लहर की तैयारी में संघ
राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) कोरोना की संभावित तीसरी लहर से पहले देश भर में वर्कर्स को ट्रेनिंग देगा। ये ट्रेंड वर्कर्स कुल 2.5 लाख जगहों पर जाएंगे। ये गवर्नमेंट एडमिनिस्ट्रेशन का सहयोग करेंगे। साथ ही कोरोना पीड़ितों की मदद भी करेंगे। महामाही से बचाव के लिए इन्हें बच्चों और मांओं को लेकर विशेष ट्रेनिंग दी जाएगी। वर्कर्स को समाज का मनोबल बढ़ाने की भी ट्रेनिंग मिलेगी। इनकी ट्रेनिंग अगस्त में पूरी होगी। सितंबर से इन्हें हर गांव-बस्ती में लोगों को जागरूक करने के लिए भेजा जाएगा। इस अभियान से और भी लोगों को जोड़ा जाएगा।

अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद रहे।

अखिल भारतीय प्रांत प्रचारकों की बैठक में संघ प्रमुख मोहन भागवत भी मौजूद रहे।

मैदान में फिर से शुरू होंगी संघ की 27,166 शाखाएं
संघ की 27,166 शाखाएं फिर से मैदान में शुरू होंगी। धीरे-धीरे सामान्य होते हालात के बीच यह फैसला लिया गया है। देश भर में फिलहाल कुल 39,454 शाखाएं चल रही हैं जिसमें 27,166 अब मैदान में लग रही हैं। साथ ही 12,288 ई-शाखाएं भी जारी हैं। इसके अलावा साप्ताहिक मिलन कुल 10,130 हैं, जिसमें मैदान में 6510 फिर से शुरू हुए हैं। ई-मिलन 3620 हैं। लॉकडाउन काल में विशेष रूप से शुरू हुए कुटुंब मिलन देश भर में 9637 हैं।

देशभर में कुल 39,454 शाखाएं चल रही हैं जिसमें 27,166 अब मैदान में लग रही हैं।

देशभर में कुल 39,454 शाखाएं चल रही हैं जिसमें 27,166 अब मैदान में लग रही हैं।

चुनाव से पहले सोशल मीडिया पर रहेगा अधिक जोर
मध्यप्रदेश के चित्रकूट में चल रही RSS की बैठक के दौरान उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव 2022 को लेकर भी चर्चा हुई। यह फैसला हुआ कि चुनाव से पहले संघ सोशल मीडिया के सभी प्लेटफार्म पर अधिक जोर देगा। इस दौरान संघ प्रमुख के साथ सभी इस बात पर राजी हुए कि ट्विटर, फेसबुक और अन्य सोशल मीडिया प्लेटफॉर्म पर संघ को सक्रिय करके हाईटेक बनाया जाएगा। इस दिशा में काम शुरू भी हो गया है। फिलहाल ‘KOO’ ऐप पर संघ की राष्ट्रहित से जुड़ी गतिविधियों से अपलोड किया जा रहा है।

error: Content is protected !!