• Mon. Aug 8th, 2022

संसदीय समिति को फेसबुक का जवाब:नए IT रूल के तहत एक महीने में कितना कंटेंट हटाया, इस पर फाइनल रिपोर्ट 15 जुलाई को देंगे

ByRameshwar Lal

Jun 29, 2021

फेसबुक के अधिकारी आज इन्फॉर्मेशन टेक्नोलॉजी की पार्लियामेंट्री स्टैंडिंग कमेटी के सामने पेश हुए। फेसबुक के अफसरों ने कमेटी से कहा है कि नए IT नियमों के तहत हमने 15 मई से 15 जून के बीच कितना कंटेंट हटाया है, इस पर फाइनल रिपोर्ट 15 जुलाई को देंगे। इससे पहले 2 जुलाई को एक अंतरिम रिपोर्ट कमेटी को सौंप दी जाएगी। फेसबुक के अलावा गूगल के अधिकारियों को भी इस कमेटी के सामने पेश होना है।

कांग्रेस सांसद शशि थरूर की अगुआई वाली स्टैंडिंग कमेटी ने फेसबुक और गूगल को अपने प्लेटफॉर्म का गलत इस्तेमाल करने के आरोप में समन भेजा है। स्टैंडिंग कमेटी जनता के अधिकारों को सुरक्षित रखने और इन प्लेटफॉर्म के गलत इस्तेमाल की शिकायतों पर अधिकारियों का नजरिया जानना चाहती है।

10 दिन पहले ट्विटर के अधिकारी पेश हुए थे
देश में लागू हुए नए IT कानूनों और सोशल मीडिया गाइडलाइंस के पालन को लेकर 10 दिन पहले ही ट्विटर के अधिकारी इस कमेटी के सामने पेश हुए थे। कमेटी ने ट्विटर से अपने प्लेटफॉर्म के गलत इस्तेमाल को रोकने के लिए सवाल किए थे। कमेटी ने पूछा था कि क्या वह देश में लागू कानूनों का सम्मान करती है या नहीं। इसके अलावा कंटेंट को लेकर भी सवाल किए गए थे। इस पर ट्विटर ने कहा था कि हम अपनी पॉलिसी को फॉलो करते हैं।

ट्विटर ने कानून मंत्री को दिखाया था अमेरिकी कानून का डर
ट्विटर ने शुक्रवार को कानून मंत्री रविशंकर प्रसाद का ट्विटर हैंडल एक घंटे के लिए ब्लॉक कर दिया था। ट्विटर ने रविशंकर प्रसाद के अकाउंट से पोस्ट किए गए कंटेंट को लेकर आपत्ति जाहिर की थी। ट्विटर ने अमेरिकी कॉपीराइट एक्ट का हवाला देते हुए कहा था कि अकाउंट को सस्पेंड भी किया जा सकता है।

error: Content is protected !!