• Mon. Aug 8th, 2022

विदिशा में बड़ा हादसा : कुएं में गिरने से 4 की मौत

ByRameshwar Lal

Jul 16, 2021

सीएम ने मृतकों के परिवार वालों को 5 लाख और घायलों को 50 हजार रुपए देने की घोषणा की

मध्यप्रदेश में विदिशा जिले के गंजबासौदा में गुरुवार रात 9 बजे बड़ा हादसा हो गया। यहां कुएं में एक बच्चे के गिरने के बाद उसे निकालने के लिए पहुंचे लोगों की वजह से कुआं धंस गया। कई लोग अंदर गिर गए। इनकी संख्या स्पष्ट नहीं है, लेकिन सुबह तक 20 लोगों को निकालकर अस्पताल पहुंचाया जा चुका था। 4 लोगों के शव भी कुएं से निकाले गए हैं। अब भी वहां रेस्क्यू चल रहा है। रात में रेस्क्यू में लगा ट्रैक्टर भी पलट गया। वहीं बचाव दल के तीन लोग भी घायल हुए हैं। कुएं में अब भी पानी है। कुछ और लोगों के कुएं के मलबे में दबे होने की आशंका है।

रात को मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान भी विदिशा जिले में ही थे। उन्होंने मौके पर अधिकारियों को रवाना कर दिया था। विदिशा के प्रभारी मंत्री विश्वास सारंग भी भोपाल से विदिशा पहुंचे गए। NDRF और SDRF की टीम मौके पर पहुंच गई थीं। मौके पर राहत एवं बचाव कार्य शुरू कर दिया था। सुबह तक बचाव कार्य चल रहा है। शुक्रवार सुबह सीएम ने मृतकों के परिवार वालों को 5 लाख रुपए और घायलों को 50 हजार की सहायता का ऐलान किया है। सीएम ने कहा कि घटना की सतत निगरानी की जा रही है।

गुरुवार की शाम करीब 6 बजे लाल पठार गांव में रवि अहिरवार नामक 13 साल का एक बच्चा 40 फीट गहरे कुएं में गिर गया था। कुएं में पानी भरा था। इसके बाद वहां भीड़ लग गई। भीड़ के वजन से अचानक कुआं धंस गया। इससे वहां खड़े करीब लोग कुएं में गिर गए। घटना की जानकारी लगते ही प्रशासन के अफसर भी मौके पर पहुंच गए। तुरंत JCB और अन्य मशीनों के जरिए राहत एवं बचाव कार्य शुरू किया गया। अब तक 20 लोगों को सुरक्षित निकालकर अस्पताल पहुंचाया गया।

20 दिन पहले पंचायत से की थी मरम्मत की मांग

गांव के रहवासी मोहन अहिरवार ने बताया कि कुएं की जगत काफी क्षतिग्रस्त हो गई थी। गांव की 7 हजार की आबादी यहां से पानी भरती है। इसलिए ग्राम पंचायत के सरपंच और जनपद पंचायत से भी कुएं की जगत की मरम्मत कराने की मांग 20 दिन पहले की गई थी, लेकिन प्रशासन ने कोई कार्रवाई नहीं की।

मुख्यमंत्री ने ट्वीट कर दी जानकारी
चूंकि मुख्यमंत्री पहले से ही विदिशा जिले में ही मौजूद थे। उन्होंने ट्वीट कर घटना की जानकारी दी। इसके बाद उन्होंने तुरंत मौके पर NDRF और SDRF की टीम ने पहुंचकर रेस्क्यू शुरू कर दिया है। मुख्यमंत्री ने विदिशा में ही अपना कंट्रोल रूम बना लिया है। वहीं से पूरे मामले पर निगरानी कर रहे हैँ। CM ने कहा कि मौके पर IG, कमिश्नर, कलेक्टर, SP समेत अन्य अधिकारियों को भेजा गया है। इसके अलावा, आधुनिक उपकरण वहां बचाव कार्य में उपयोग करने के लिए भेजे गए हैं।

मुख्यमंत्री का रात में दिल्ली जाना कैंसिल
मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान को रात 9 बजे दिल्ली जाना था, लेकिन हादसे की जानकारी मिलने के बाद उन्होंने रात को विदिशा में ही रुकने का निर्णय लिया। संभवत: मुख्यमंत्री शुक्रवार को दिल्ली जा सकते हैँ। दरअसल, मुख्यमंत्री को दिल्ली में ग्वालियर के लिए शुरू हो रही फ्लाइट का वर्चुअल उद्घाटन कार्यक्रम में शामिल होना है। विमानन मंत्री ज्योतिरादित्य सिंधिया, राज्यमंत्री जनरल वीके सिंह की उपस्थिति में दोपहर 12 बजे यह कार्यक्रम होगा।

error: Content is protected !!