• Fri. Aug 12th, 2022

मोदी-शाह पर फोन टेप के लगे आरोप

ByRameshwar Lal

Jul 19, 2021

15 साल पहले भी गुजरात के नेताओं और अधिकारियों के फोन टेप के लगे थे आरोप

दुनियाभर के 17 मीडिया संस्थानों की कंसोर्टियम ने दावा किया है कि दुनियाभर में सरकारें पत्रकारों और एक्टिविस्टों की जासूसी करा रही है। रविवार को पब्लिश हुई रिपोर्ट के मुताबिक भारत समेत कई देशों में सरकारों ने करीब 180 पत्रकारों, मानवाधिकार कार्यकर्ताओं और एक्टिविस्ट्स की जासूसी की।
इसके लिए इजराइली कंपनी NSO ग्रुप के हैकिंग साॅफ्टवेयर पेगासस का इस्तेमाल किया गया। इस रिपोर्ट में भारत में कम से कम 38 लोगों की जासूसी का दावा किया गया है। इसी के चलते केंद्र सरकार विपक्ष के निशाने पर है। बता दें कि पीएम नरेंद्र मोदी जब गुजरात के मुख्यमंत्री और अमित शाह राज्य के गृहमंत्री थे, तब भी इन पर कई बार गुजरात में नेताओं और अधिकारियों की फोन टेपिंग के आरोप लगे थे।
वर्तमान में गुजरात भाजपा के महासचिव और उस समय (2005) के मोदी विरोधी गोरधन झडफिया के अलावा, कांग्रेसी नेता अर्जुन मोढवाडिया, शक्तिसिंह गोहिल और शंकरसिंह वाघेला ने भी फोन टेपिंग मामले में मोदी और अमित शाह पर गंभीर आरोप लगाते हुए जांच की मांग की थी। दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल ने भी 2016 में महिला आयोग से गुजराती महिला की जासूसी मामले में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और अमित शाह के खिलाफ जांच की मांग की थी।

error: Content is protected !!